1Mb Me Kitne Kb Hota Hai

जब इंटरनेट एक्सेस करने की बात आती है तो सबसे पहले हमारे मन में सवाल उठता है कि हमारे मोबाइल फोन में कितना एमबी या फिर कितना केबी बचा है जिसके जरिए हम अपने इंटरनेट को कितना इस्तेमाल कर पाएंगे इसके बारे में पता लगा सके अगर आपको एमबी और केबी में अंतर को समझने में दिक्कत होती है और आपको पता नहीं है कि 1Mb Me Kitne Kb Hota Hai तो आपको बिल्कुल भी चिंता करने की जरूरत नहीं है। 

आज हम आपको अपने इस महत्वपूर्ण लेख के जरिए एक एमबी में कितना केबी होता है? के बारे में जानकारी देंगे और आप के लिए हमारा यह लेख काफी महत्वपूर्ण और उपयोगी साबित हो सकता है। इसके अलावा अगर आपको एमबी और केबी के बीच के अंतर को समझना है। 

तो ऐसे में आपको यह जानकारी भी हमारे लेख में मिल जाएगी। अगर आपने हमारे आज के इस महत्वपूर्ण लेख को शुरू से लेकर अंतिम तक नहीं पढ़ा तो आज आपको इस विषय पर जानकारी समझ नहीं आएगी और आपको फिर से अपना टाइम वेस्ट करके इस जानकारी को दोबारा इंटरनेट पर सर्च करना होगा इसीलिए हम चाहते है कि आप अपना समय बताएं और लेख में दी गई जानकारी को शुरुआत से अंतिम तक ध्यान से पढ़ें।

MB किसे कहते है

अगर आप ऑनलाइन वीडियो देखना पसंद करते हो तो आपको ऑनलाइन वीडियो देखने के लिए आपके पास इंटरनेट होने चाहिए जब आपके पास इंटरनेट होंगे तभी जाकर आप ऑनलाइन देख पाओगे और जब आप रिचार्ज करवा दोगे तब आपको एमबी मिलते हैं इसी को हम एमबी कहते हैं।

दोस्तों आज के समय में इंटरनेट का उपयोग बहुत ही ज्यादा किया जा रहा है क्योंकि आज इंटरनेट के जरिए लोग किसी भी चीज की बहुत ही आसानी से जानकारी पालेते हैं।

अगर आपको एक एमबी में कितने केबी होते हैं इसकी जानकारी चाहिए तो ऐसे में आप हमारे बीच महत्वपूर्ण लेख को शुरू से अंत तक अवश्य पढ़े ताकि आपको हमारा या लेख समझ में आ सके और कहीं पर भी भटकने की आवश्यकता बिल्कुल भी ना पड़े।

KB किसे कहते है

केबी का फुल फॉर्म किलोबाइट होता है और इस छोटी इकाई का इस्तेमाल करके हम कंप्यूटर में डाटा और स्टोरेज  मेमोरी को मापने का काम कर सकते है यह एक छोटी इकाई होती है इसीलिए इसमें ज्यादातर इमेजेस और पीडीएफ फाइल का भंडारण किया जा सकता है।

दोस्तों जिस प्रकार हमें वीडियो देखने के लिए एमबी की आवश्यकता पड़ती है ठीक उसी प्रकार हमें किसी भी फाइल में डॉक्यूमेंट को सुरक्षित रखने के लिए केबी की आवश्यकता पड़ती है और केवी अपने पूरे संरचना में सबसे छोटा होता है यह केवल मेमोरी के आंकड़ों को संग्रहित करता है इस तरीके से केवी अपना काम करता हैं।

अगर आपको कभी भी अपने लैपटॉप या फोन में किसी भी फोटो को नापने की जरूरत पड़ जाती है तो ऐसे में आप उस फोटो को अपने फोन या लैपटॉप में केबी की मदद से नाप सकते हो हमें केवी की आवश्यकता बहुत ही ज्यादा पड़ती है क्योंकि हमारे विश्व में एमबी का इस्तेमाल करने के साथ-साथ केबी का भी यूज़ किया जाता हैं।

1Mb Me Kitne Kb Hota Hai

हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 1MB में लगभग 1024 केबी होता है। इसी प्रकार से 2 एमबी में 2048 के भी होता है और आप इस अंदाजे से आसानी से पता लगा सकते हो 1GB में कितने भी हो सकता है।

जब हम अपने मोबाइल फोन में डाटा रिचार्ज करते है तो हमें एमबी में डाटा मिलता है और एमबी के पहले केबी होता है। इंटरनेट डाटा मापने के लिए एमबी और केबी पैमाने का उपयोग किया जाता है।

मोबाइल में एमबी कैसे चेक करे

अगर आपको अपने मोबाइल फोन में एमबी चेक करना है और आपको समझ में नहीं आ रहा है कि आप किस प्रकार से अपने मोबाइल फोन में बची हुई एमपी को चेक कर सकते हो तो आप इसके लिए हमारे द्वारा नीचे बताए गए प्रोसेस को फॉलो कर सकते हो यहां पर हम आपको जिओ के एमबी डाटा का स्टेटस चेक करने के बारे में जानकारी देंगे और इसके लिए नीचे दिए गए इसलिए आपको ध्यान पूर्वक फॉलो करना होगा। 

1. माय जिओ ऐप इंस्टॉल करें

सबसे पहले आपको गूगल प्ले स्टोर के ऑफिशल एप्लीकेशन को ओपन कर लेना है और एप्लीकेशन को ओपन करने के बाद आपको यहां पर सर्च बॉक्स दिखाई देगा और आपको इस सर्च बॉक्स पर क्लिक कर देना है और उसके बाद आपको यहां पर माय जिओ लिखना है। 

और फिर सर्च बटन पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपको माय जिओ की ऑफिशल एप्लीकेशन दिखाई देगी और आप इसे अपने फोन में इंस्टॉल कर लीजिए अगर आपके फोन में पहले से ही माय जिओ ऐप इंस्टॉल है तो आपको इसे दोबारा इंस्टॉल करने की जरूरत नहीं है।

2. अपना जिओ नंबर रजिस्टर्ड करें

आपके मोबाइल फोन में जैसे ही माय जियो एप्लीकेशन इंस्टॉल हो जाए आप इसे ओपन कर लीजिए और अब आपको यहां पर अपना रजिस्ट्रेशन पूरा करने के लिए कहां जाएगा और यहां पर आप अपना जिओ का मोबाइल नंबर इंटर कर दीजिए। 

इसके बाद आपके द्वारा इंटर किए गए मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा और आपको   उस ओटीपी को वेरीफाई करने के लिए और आप प्राप्त ओटीपी को वेरीफाई करने के लिए इस प्रकार से आपका माय जिओ ऐप में रजिस्ट्रेशन पूरा हो जाता है।

3. डॉट पर क्लिक करें

आप जैसे ही अपने जियो के मोबाइल नंबर को माय जिओ ऐप में रजिस्टर कर दोगे वैसे ही आपका अकाउंट माय जिओ ऐप में बन जाएगा और आप तुरंत ही इस के होम इंटरफ़ेस पर चले जाओगे। 

यहां पर आपको होम इंटरफेस पर अनेकों ऑप्शन दिखा देंगे और आपको इनमें से सिर्फ दिखाई दे रहे टॉप लेफ्ट साइड में तीन डॉट के आइकन पर क्लिक कर देना है।

4. माय प्लान के ऑप्शन पर क्लिक करें 

आप जैसे ही इतना प्रोसेस पूरा कर लेते हो वैसे ही आपको यहां पर बहुत सारे ऑप्शन दिखाई देंगे और आपको उन हॉप्सन मैसेज दिखाई दे रहे माय प्लान नामक ऑप्शन पर क्लिक करना होगा और आप इस वाले ऑप्शन पर क्लिक कर दीजिए।

5. अपना लेफ्ट एमबी स्टेटस देखें

अब यहां पर आपके सामने जैसे ही ऊपर बताए गए ऑप्शन पर क्लिक करते हो वैसे ही आपके मोबाइल फोन में बचे हुए एमबी की जानकारी दिखाई देगी और साथ ही साथ आपको यह भी बताएगा कि यहां पर आपकी एमबी दोबारा कब रिन्यू होगी और आपका डाटा पैक कब एक्सपायर होगा इसकी जानकारी भी आप आसानी से देख पाओगे। 

मोबाइल में एमबी का महत्व

दोस्तों आपने एमबी और केबी से संबंधित बहुत कुछ जानकारी हासिल कर ली है अब हम बात करेंगे कि मोबाइल में एमबी का क्या महत्व होता है इस विषय पर हमने आपको नीचे कुछ स्टेप बाय स्टेप महत्व के बारे में बताया हुआ है जिसे आप पढ़ कर बहुत ही आसानी से समझ सकते हो।

  • आपको इंटरनेट पर किसी भी चीज की जानकारी पाने के लिए सबसे पहले आपके पास एमबी होना चाहिए।
  • एमबी के बिना आप इंटरनेट पर कोई भी काम नहीं कर सकते हो।
  • अगर आपको ऑनलाइन फॉर्म भरना होगा तो ऐसे में आपके पास इंटरनेट होना चाहिए।
  • एमबी की मदद से हम बहुत ही आसानी से कोई भी वीडियो देख सकते हैं।
  • अगर आप कोई ऑनलाइन जॉब करना चाहते हो तो उस जॉब को करने के लिए आपके पास इंटरनेट होना चाहिए।
  • अगर इंडिया में इंटरनेट ना हो तो कोई भी ऑनलाइन काम नहीं किया जा सकता हैं।
  • अगर आप कोई भी मूवी डाउनलोड करना चाहते हो तो ऐसे में आप इंटरनेट के जरिए बहुत ही आसानी से इस मूवी को डाउनलोड कर सकते हो।

एमबी और केबी में क्या अंतर है

दोस्तों एमबी और केबी में बहुत ही ज्यादा अंतर होते है क्योंकि एमबी और केबी का उपयोग अलग-अलग जगहों पर किया जाता है अगर आपको यह जानना है कि इन दोनों के बीच में क्या डिफरेंस है इससे संबंधित कुछ पॉइंट के माध्यम से जानकारी दी हुई है जिसे आप पढ़ कर बहुत ही आसानी से इनके बारे में जान सकते हो।

  • दोस्तों एमबी का प्रयोग हम वीडियो देखने के लिए करते है परंतु केबी का इस्तेमाल हम फाइल को सुरक्षित रखने के लिए करते हैं।
  • दोस्तों के भी और एमडीकेबी सबसे बड़ा अंतर यह होता है कि 1MB में 1024 केबी होते हैं।
  • अगर आपको कोई छोटा सा एप्लीकेशन डाउनलोड करना होता है तो आप उस एप्लीकेशन को केबी में डाउनलोड करते हो लेकिन वही बात करें बड़े एप्लीकेशन की तो उस बड़े एप्लीकेशन को डाउनलोड करने के लिए आपके पास एमबी होना चाहिए तभी जाकर आप उस एप्लीकेशन को डाउनलोड कर सकते हो।
  • अगर आप एक कंप्यूटर के छात्रों तो आप बहुत ही आसानी से इन दोनों के बीच के डिफेंस के बारे में जान सकते हो क्योंकि कंप्यूटर की क्लासेस में इन दोनों के बीच के डिफरेंस के  बारे में बताया जाता हैं।

MB के बारे में पूछे जाने वाले प्रश्न

यहाँ पर मैंने ऐसे चार सवालों के जवाब दिए है जो की अक्सर लोग MB के बारे में पूछते रहते हैं।

Q. 1 एमबी कितना होता हैं?

अगर आपको 1MB कितना होता है इसके बारे में जानकारी नहीं है तो आप फोन का इस्तेमाल सही से नहीं कर पाओगे क्योंकि आज के समय में एमबी का इस्तेमाल बहुत ही अधिक जगहों पर किया जा रहा है अगर आप जॉब करना चाहते हो तब पर भी आपको एमबी की आवश्यकता पड़ती है ऐसे में आपके ऊपर डिपेंड करता है कि आपको कितने एमबी की आवश्यकता पड़ती है 1 एमबी = 1024 केबी होता हैं।

Q. डाटा का केबी क्या होता हैं?

जब आप अपने फोन में रिचार्ज करवाते हो तो उसमें आपको कुछ डाटा मिलते हैं वह डाटा केबी या एमबी के रूप में होते हैं।

Q.  मेरा डाटा कितना बचा हैं?

अगर आप यह जानना चाहते हो कि आपका डाटा कितना बचा है तो ऐसे में हमने आपके ऊपर इस विषय से संबंधित जानकारी बताई हुई है जिसे आप पढ़ कर बहुत ही आसानी से समझ सकते हो और अपना बचा हुआ डाटा के बारे में पता कर सकते हो।

निष्कर्ष

अगर आपको 1Mb Me Kitne Kb Hota Hai लेख हेल्पफुल रहा है तो फिर आप यह लेख अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करना और इसके अलावा अगर आपको इस लेख से संबंधित कोई भी जानकारी चाहिए तो उसके लिए आप नीचे कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Abhishek Maurya

मेरा नाम अभिषेक मौर्य है और मैं उत्तर प्रदेश वाराणसी डिस्ट्रिक्ट का रहने वाला हूं और मैं एक दिव्यांग हूं। मुझे अलग-अलग विषयों पर आर्टिकल लिखना बहुत अच्छा लगता है और इसी को मैंने अपना जुनून बनाया है। मैं पिछले 3 वर्षों से आर्टिकल लेखन का कार्य कर रहा हूं। आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख कैसे लगते हैं? आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। मेरा भी एक हिंदी ब्लॉग है जिस पर मैं रिलेशनशिप के ऊपर आर्टिकल लिखता हूं जिसका यूआरएल इस प्रकार से है। माय वेबसाइट यूआरएल - https://hindibaatchit.com/

Leave a Reply