Artificial Intelligence In Hindi – आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या होता है

क्या अपने Iron Man फिल्म देखा है अगर आपने यह फिल्म देखा है तो उसमें अपने जारविस का नाम जरूर सुना होगा क्या आपने कभी सोचा है कि यह जारविस कौन है और इस प्रकार की चीजें कैसे काम करती है आपकी इसी जिज्ञासा का जवाब देने के लिए इस लेख में हम आपको बताने जा रहे है Artificial intelligence in Hindi?

जैसे कि हम जानते है जब से कंप्यूटर का आविष्कार हुआ है इंसान अपने सभी कामों के लिए कंप्यूटर पर निर्भर होता जा रहा है और हम यह चाहते हैं कि हमारा कंप्यूटर हमारे लिए सभी प्रकार के कार्य करें इसी जिज्ञासा ने कृत्रिम बुद्धि या आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को जन्म दिया। 

Artificial Intelligence In Hindi

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एक खास प्रकार के कंप्यूटर होते है जिसे बनाने के लिए कंप्यूटर को इतना उन्नत किया जाता है कि वह इंसानों की तरह सोच सके और इंसानों की तरह विभिन्न फैसले स्वयं ले सकें। 

आसान भाषा में हम यह कह सकते है कि एक कंप्यूटर सिस्टम को इस प्रकार से तैयार करना जिसमें कंप्यूटर को इतना उन्नत बनाया जाता है कि वह इंसान की तरह विभिन्न परिस्थिति में विभिन्न फैसले लेना सीखे जिसके लिए उस कंप्यूटर सिस्टम में कुछ नियम डाले जाते है जिन नियमों का पालन करके विभिन्न परिस्थिति में वह दिमाग विभिन्न फैसले ले सके और इंसान की तरह सोच सके जिससे हमारा काम और भी जल्दी और बिना ज्यादा परेशानी के हो सके। 

Artificial intelligence को इस प्रकार से तैयार किया जाता है जिसमें वह कंप्यूटर किसी भी परिस्थिति को पहले समझता है और उस परिस्थिति में कंप्यूटर को क्या करना चाहिए वह हमारे बताए गए निर्देशों से सीखता है फिर वह कंप्यूटर निर्देशों और समस्या के अनुसार फैसले लेता है अंततः हमें फाइनल रिजल्ट देता है जो कि किसी मनुष्य के मुकाबले ज्यादा सटीक और सही होने के साथ साथ जल्दी करता हैं।

इस टेक्नोलॉजी के बारे में सबसे पहले John McCarthy ने 1956 के एक कॉन्फ्रेंस में बताया था। उनका मानना था कि अगर हम कंप्यूटर के सिस्टम को इस प्रकार तैयार करें जिससे हमें बार-बार आदेश देने की आवश्यकता ना हो और कंप्यूटर हमारे बताए गए पिछले आदेश से आने वाली समस्या का सामना करना स्वयं सीख जाए और इंसानी दिमाग की ही तरह कुछ खास विशेषताएं हम उस सिस्टम में डाल सके तो ना केवल हमारा काम जल्दी होगा बल्कि हम बड़े से बड़े काम को काफी अच्छे तरीके से कम समय में कर सकते हैं। 

इस टेक्नोलॉजी का बीज सर्वप्रथम 1956 में बो दिया गया था आज वह बीज एक पेड़ का रूप ले चुका है बीते कुछ सालों में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ने काफी प्रचलिता हासिल की है और आज हर कोई इस टेक्नोलॉजी को अपने रोजमर्रा के जीवन में अपनाना चाहता है आज आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ने विभिन्न प्रकार के रोबोट और बिग डाटा जैसी असामान्य चीजों को जगह देते हुए इसे इंसानी जीवन के दोराहे पर खड़ा कर दिया है जहां इंसान यह समझ नहीं पा रहा है कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का बढ़ावा सही है या गलत। 

Artificial Intelligence के प्रकार

आज हमारे पास सभी प्रकार के आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस नहीं है मगर जो भी है उसे मुख्य तौर पर चार भागों में विभाजित किया गया है। अर्थात आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को चार भागों में विभाजित किया गया है उनमें से कुछ भाग ऐसे भी है जिन्हें इंसान अभी काबू नहीं कर सकता। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के सभी प्रकारों को विस्तार पूर्वक नीचे बताया गया हैं।

1. Reactive AI

ये एक खास प्रकार के आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस होते है जिन्हें 19वीं सदी के द्वार में बनाया गया था इस तरह के कृत्रिम बुद्धि अपने बीते हुए कार्य से कुछ भी सीखते नहीं है यह हर बार वैसा ही बर्ताव दिखाते है जैसा उन्होंने पहले दिए हुए इनपुट पर दिखाया था। 

उदाहरण के तौर पर आपके ईमेल में स्पेन को साफ करने वाला फिल्टर, यह फिल्टर आज्ञा देने पर आपके ईमेल में मौजूद सभी प्रकार के स्पर्म को हटा देगा मगर यह कभी यह सीख नहीं पाएगा कि आप किसी मेल को हटा रहे हैं और किसी मेल को नहीं हटा रहे हैं। 

दूसरा उदाहरण है आईबीएम का सुपर कंप्यूटर जिसे 19वीं सदी में खासतौर पर चेस खेलने के लिए इस्तेमाल किया गया था इस कृत्रिम बुद्धि को उस समय के विश्व चैंपियन ग्यारी कासप्रो ने चेस में हराया भी था। 

2. Limited Memory AI

यह एक और भी बेहतरीन और खास किस्म का आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस है यह कृत्रिम बुद्धि अपने किए हुए कार्य से सीख लेता है और इस बात को समझने का प्रयास करता है कि किस तरह वह अपने आने वाले कार्य को और भी अच्छा बना सके। 

इस तरह की कृत्रिम बुद्धि का आजकल सर्वाधिक इस्तेमाल किया जा रहा है इसका सर्वोत्तम उदाहरण आप यह देख सकते है कि किस प्रकार एक गाड़ी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की बात को समझता है कि इंजन को रोड पर मौजूद भीड़ के हिसाब से कैसे एडजस्ट करना है। उसे पहले बताया गया है कि भीड़ को देखकर क्या निर्णय लेना है और अपने उस बीते हुए निर्णय के अनुसार वह ये सीखता है कि आने वाले परिस्थिति में किस प्रकार का फैसला लिया जाए। 

आजकल इस तरह के कृत्रिम बुद्धि का इस्तेमाल सर्वाधिक तो किया जा रहा है मगर इसकी एक परेशानी यह है कि यह अपने किए हुए फैसले को लंबे समय तक याद नहीं रख पाता है अर्थात अगर एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से चलने वाली गाड़ी 10 कदम पर अदाएं मुड़ती है तो यह जरूरी नहीं है कि वह इस बात को याद रखें और हर बार 10 कदम पर अदाएं ही मोड़े कई जगहों पर यह फायदे का सौदा है और कई जगहों पर यह घाटे का।  

3. Theory of Mind AI

यह खास किस्म का कृत्रिम बुद्धि है जिस पर इंसान अभी तक काबू नहीं पा पाया है इस तरह के AI का इस्तेमाल आपने फिल्मों में जरूर देखा होगा Iron Man मूवी में जारविस इसी प्रकार का एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस था। 

इस प्रकार के आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की खासियत यह होती है कि ये इंसानों की तरह ही सोच सकते है और अपने इमोशन को दर्शा सकते है, अपने बीते हुए कल से सीख सकते है और इसके साथ ही वह परिस्थिति के अनुसार अपने इमोशन को एडजस्ट करना जानते हैं। 

हम यह कह सकते है कि इस तरह के आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बिल्कुल इंसानों की तरह बात करते है इसका एक छोटा नमूना गूगल या एलेक्सा हो सकता है मगर उनमें भी पूरी तरह से अपनी इमोशन को व्यक्त करने की काबिलियत नहीं है। 

4. Self Aware AI

यह वो खास किस्म के कृत्रिम बुद्धि होती है जो परिस्थिति के अनुसार अपनी भावनाओं को व्यक्त तो कर सकती है साथ ही अपने आसपास के लोगों के भावनाओं को समझ और उनके अनुसार बर्ताव करने का हुनर भी रखती है। 

इस तरह के कृत्रिम बुद्धि एक उच्च स्तर पर सोच सकते है साथ ही इनमे इंसानों की तरह विभिन्न परिस्थिति में विभिन्न फैसले लेने की काबिलियत होती है यह मशीन फैसले लेने के लिए हर बार किसी आज्ञा की मोहताज नहीं होती यह खुद सोच सकती है कि किस प्रकार के फैसलों से आसपास के लोगों पर कैसा प्रभाव पड़ेगा। इंसान ने अभी इस प्रकार का कोई भी कृत्रिम बुद्धि निर्मित नहीं किया है जो स्वयं के भावनाओं पर काबू कर सके और साथ ही अपने आसपास के लोगों के भावनाओं के अनुसार काम कर सके। 

Artificial Intelligence के कुछ उदाहरण

आपने अब तक यह समझा कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या है और यह कितने प्रकार के होते है आपको यह भी जानना चाहिए कि हमारे रोजमर्रा के जीवन में हम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का कब और कहां इस्तेमाल कर रहे हैं। 

आपको यह जानकर हैरानी होगी मगर हम अपने रोजमर्रा के जीवन में बहुत सारे जगहों पर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से या कृत्रिम बुद्धि का इस्तेमाल करते है। कुछ रोचक कृत्रिम बुद्धि का उदाहरण नीचे विस्तार पूर्वक बताया गया हैं। 

  • आप जब यू-ट्यूब पर कोई एक वीडियो देखते है और आपको वैसा ही वीडियो बार-बार दिखाया जाता है तो बता दें की यह एक कृत्रिम बुद्धि का काम हैं।
  • आप गूगल पर सर्च करने के लिए कुछ कहते है और आप जैसा कहते है गूगल उस तरह की चीजें सर्च करता है यह भी एक कृत्रिम बुद्धि का उदाहरण हैं।
  • इसके अलावा आप कंप्यूटर में चैस खेलते हैं या फिर कोई भी दूसरा खेल खेलते है तो कंप्यूटर आपके विरोधी की तरह खेलता है यह भी एक कृत्रिम बुद्धि का उत्तम उदाहरण हैं।
  • आज टेस्ला जैसी अनेक गाड़ियां हमारे चारों ओर आ गई है जो बिना ड्राइवर के चल सकती है केवल हमारे इच्छा अनुसार वह गाड़ी आगे पीछे या दाएं बाएं जा सकती है यह सब एक कृत्रिम बुद्धि का उदाहरण है एक ऐसा कृत्रिम बुद्धि जो यह जानता है कि आपको कहां जाना है और वह रास्ता में आने वाले हर एक बाधा को अपनी बुद्धि के अनुसार सही कर सकता हैं।
  • ऑटोमेशन एक खास किस्म की प्रक्रिया होती है जिसमें हम किसी काम को करने के लिए ऑटोमेटिक सेट कर देते है और हमारे एक बार कहने के बाद वह कार्य बार बार अच्छे से होता जाता है इस प्रकार के कार्य करने वाले को रोबोट कहते है जो कृत्रिम बुद्धि का एक उन्नत उदाहरण हैं। 
  • मशीन लर्निंग एक खास किस्म का तरीका जिसमें बिना कंप्यूटर की भाषा का इस्तेमाल की है हम एक ऐसा कृत्रिम बुद्धि तैयार करते है जो हमारे कार्य को और भी आसान कर सके। 
  • Pattern recognition यह एक प्रक्रिया है जिसमें आप अपने अंगूठे के छाव से अपना काम करते है या फिर मोबाइल को खोलते वक्त एक पैटर्न बनाते है क्या आपने कभी गौर किया है कि यह मशीन आप के बनाए हुए पैटर्न को याद रखता है और हर बार इसी पैटर्न के अनुसार कार्य करता है यह सब एक कृत्रिम बुद्धि का उत्तम उदाहरण हैं।

इन उदाहरणों के अलावा इंसान इस वक्त ऐसे कृत्रिम बुद्धि बनाने का प्रयत्न कर रहा है जो इंसान के हुक्म के मोहताज ना हो। अर्थात वह कृत्रिम बुद्धि अपने भावनाओं पर पूरी तरह काबू पा सकें और अपने आसपास मौजूद इंसानों के भावनाओं के अनुसार कार्य कर सकें। 

ऊपर बताए गए उदाहरणों के अलावा कृत्रिम बुद्धि के अनेकों और उदाहरण हमारे आसपास मौजूद है। मगर हमने इस वक्त आपको जितने भी प्रकार के कृत्रिम बुद्धि का उदाहरण दिया है इस वक्त विश्व में सबसे ज्यादा प्रचलित यही उदाहरण हैं।

Artificial Intelligence के फायदे

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के अनेक फायदे है उनमें से कुछ महत्वपूर्ण फायदों को नीचे विस्तार पूर्वक बताया गया हैं। 

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस हॉस्पिटल में: कृत्रिम बुद्धि या AI का सर्वोत्तम इस्तेमाल हॉस्पिटल में हो सकता है क्योंकि हॉस्पिटल में हम लोगों का इलाज करते है इस इलाज की प्रक्रिया को और भी बेहतर बनाने के लिए कृत्रिम बुद्धि का इस्तेमाल किया जाता है जिससे खर्चा भी कम होगा और आसानी से इलाज भी हो सकेगा। 

हॉस्पिटल में ऐसी बहुत सारी बीमारियां होती है जिनके इलाज के दौरान मरीज को काफी दर्द सहना पड़ता है उदाहरण के तौर पर जब एक मां बच्चे को जन्म देती है तो उस वक्त काफी दर्द सहती है मगर कृत्रिम बुद्धि के आ जाने से यह रोबोट इतने उन्नत होंगे कि वह इंसान के मस्तिष्क को काबू कर सकते है और उन्हें दर्द का अहसास होने नहीं देंगे। 

क्या आपको पता है इस वक्त IBM Watson एक ऐसा हॉस्पिटल है जहां बहुत सारे कृत्रिम बुद्धि या रोबोट का इलाज के दौरान इस्तेमाल किया जाता है यहां वो रोबोट एक हेल्थ असिस्टेंट की तरह काम करते हैं। 

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस खेती में: आपको यह जानकर हैरानी होगी मगर विश्व में ऐसे बहुत से प्रसिद्ध और उत्तम देश है जहां खेती में रोबोट और AI का इस्तेमाल किया जा रहा है इन जगहों पर रोबोट बीज बोने, फसल काटने, के अलावा सिंचाई और कटाई में भी इंसानों की मदद करते है और कार्य को काफी आसान और तेज बना देते हैं। 

कृत्रिम बुद्धि बिजनेस में: आजकल कृत्रिम बुद्धि का इस्तेमाल हम अपने व्यापार में भी बड़े जोरों शोरों से कर रहे है। इस प्रक्रिया में बहुत सारे मुश्किल काम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बहुत ही कम समय में बड़ी तेजी से और सटीकता के साथ कर देते है इसके अलावा आपके प्रोडक्ट की लिस्टिंग से लेकर कस्टमर को इस प्रकार का प्रचार प्रसार दिखाना जिससे वह आपके व्यापार की ओर आकर्षित हो इस सभी प्रकार के कार्य में AI का इस्तेमाल किया जा रहा हैं।

आप अपने यूट्यूब पर या फेसबुक पर जिस भी प्रकार का प्रचार देख रहे है क्या आपको पता है यह सभी प्रकार आपके सर्च किए हुए कीवर्ड के अनुसार सेट किए जाते है इन सारे जगहों पर इस प्रकार की कृत्रिम बुद्धि का निर्माण किया गया है कि वह आपके व्यवहार को समझ कर इस प्रकार का प्रचार दिखाएं जिससे आप प्रचार की ओर आकर्षित हो और किसी सेवा या प्रोडक्ट को खरीदने के बारे में और तेजी से सोचें। 

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस इन एजुकेशन: हम कृत्रिम बुद्धि का इस्तेमाल बड़ी तेजी से पढ़ाई में भी देख रहे है आज बाईजूस क्लास हो या वाइट हट जूनियर इन सभी जगहों पर बच्चों को पढ़ाने के लिए कृत्रिम बुद्धि का इस्तेमाल किया जा रहा है वह इस प्रकार से पढ़ाते है जिसे बच्चे याद रख सके पढ़ाई में वीडियो और फोटो का सर्वाधिक इस्तेमाल किया जा रहा हैं।

आजकल पढ़ाई को रोचक, मजेदार और आसानी से याद रखने के लिए बड़ी तेजी से कृत्रिम बुद्धि का इस्तेमाल किया जा रहा है यह बुद्धि इस प्रकार बच्चों को उनके पड़ी हुई चीजों को दर्शाता है कि वह इसे भूल न पाए। 

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कानून में: पहले आपको अपनी समस्या बताने के लिए पुलिस स्टेशन या कोर्ट में काफी लंबी कतार में लगना पड़ता था मगर आप आज यह काम ऑनलाइन कर सकते हैं। 

पहले किसी भी डॉक्यूमेंट को वेरीफाई कराने में काफी समय लग जाता था मगर आज आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से हम किसी भी प्रकार के कागज या डॉक्यूमेंट को बड़ी आसानी से वेरीफाई करवा सकते हैं। 

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मैन्युफैक्चरिंग में: आपने आजकल घर बनाने की प्रक्रिया में 3D प्रिंटिंग का नाम जरूर सुना होगा यह एक प्रक्रिया है जिसमें बिना मजदूर की मदद से हम घर बना सकते है आपको यह जानकर हैरानी होगी मगर यह एक कृत्रिम बुद्धि प्रक्रिया हैं।

इसके अलावा आज घर बनाने के लिए हम कृत्रिम बुद्धि का इस्तेमाल बड़े जोरों शोरों से कर रहे है हमें बस अपने मनचाहे घर के बारे में कहना है और कृत्रिम बुद्धि आपके कहे अनुसार घर की डिजाइन आपके सामने बना कर रख देगा यह प्रक्रिया काफी तेज और काफी आसान हैं।

Artificial Intelligence के नुकसान

जिस प्रकार आपने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के फायदों के बारे में जाना अब हम आपको बताने जा रहे है कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के कितने नुकसान हैं। 

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से नौकरी जाने का खतरा है: हम जानते है कि कृत्रिम बुद्धि हमारे जीवन को काफी आसान बना देती है मगर कृत्रिम बुद्धि के आ जाने से बहुत सारे लोगों की नौकरी जा रही है। जैसा कि हमने आपको बताया कृत्रिम बुद्धि का चलाना 1960 से शुरू हुआ है उस समय से लेकर आज तक कोई करोड़ लोगों की नौकरियां कृत्रिम बुद्धि की वजह से चली गई। 

कृत्रिम बुद्धि यार रोबोट वह काम अकेले ही कर सकता है जिस काम के लिए 5 या 10 लोगों की आवश्यकता पड़ेगी इस वजह से लोग कृत्रिम बुद्धि को चुनते है और उन लोगों की नौकरियां चली जाती हैं।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस इंसान को नहीं हटा सकता: Artificial intelligence या कृत्रिम बुद्धि अपने काम में कितना ही अच्छा क्यों ना हो मगर वह इंसानों के जगह पर काम नहीं कर सकता इस बात को भी हमें समझना होगा। कृत्रिम बुद्धि का सबसे बड़ा नुकसान यह है की ये इंसानों की तरह भावनाओं और इंसानियत पर काम नहीं कर सकता इसे केवल काम करना है वह उस जगह पर इंसानियत को भूल जाता हैं।

कृत्रिम बुद्धि कहां मिस तमाल रिलेशन वाले काम में नहीं कर सकते: कृत्रिम बुद्धि को उन जगहों पर इस्तेमाल नहीं कर सकते जहां हमें रिश्ते में काम करने की जरूरत पड़ती है जैसे किसी होटल में अगर आपको अच्छी सर्विस दी जाती है या वह आपकी तारीफ करते है तो आपको अच्छा लगता है या कॉल सेंटर की नौकरी जहां आप सामने वाले के बात से प्रभावित होकर खुश होते है इन जगहों पर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस उतना कारगर साबित नहीं हो सकता क्योंकि वह इंसानों की तरह भावनाओं में बात नहीं कर सकते।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के अधिक इस्तेमाल से हैकिंग बढ़ जाएगी: रोबोट को हम हैक कर सकते है अर्थात कृत्रिम बुद्धि का इस्तेमाल करने पर एक समस्या यह है कि इसे हैक किया जा सकता है। हैक या वायरस से प्रभावित करने के लिए लोग विभिन्न प्रकार के तरीकों का इस्तेमाल करते है और अगर हम रोबोट या कृत्रिम बुद्धि पर पूरी तरह से निर्भर हो जाएंगे तो हमारा जीवन किसी वायरस या हैक के आधार पर प्रभावित हो सकता हैं।

Artificial Intelligence में करियर कैसे बनाएं

ऊपर सभी प्रकार की जानकारी को पढ़ने के बाद अगर आपको आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस या कृत्रिम बुद्धि में अपना करियर बनाने की जिज्ञासा उठी है तो यह लाजमी है। आजकल बहुत सारे लोग भविष्य को देखते हुए अपना कैरियर कृत्रिम बुद्धि के क्षेत्र में बनाना चाहते है यह काफी अच्छी बात है इसके लिए आपके पास कुछ खास योग्यता या फिर कुछ खास बातों का ध्यान रखना होगा जिसे विस्तारपूर्वक नीचे बताया गया हैं। 

AI या आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में अपना करियर बनाने के लिए आपके पास इंजीनियरिंग की डिग्री होने की आवश्यकता है क्योंकि क्षेत्र में नौकरी पाने के लिए आपको किसी कॉलेज से कृत्रिम बुद्धि का कोर्स करना होगा और इस कोर्स को करने के लिए खास तौर पर इंजीनियरिंग की डिग्री मांगी जाती हैं।

इस क्षेत्र में नौकरी पाने के लिए यह जरूरी है कि आपके पास इंजीनियरिंग की डिग्री हो और वो डिग्री कम्युनिकेशन, गणित, इलेक्ट्रॉनिक, सॉफ्टवेयर या कंप्यूटर साइंस जैसे विभाग से होनी चाहिए। 

आपको बता दें कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में अपना करियर बनाने में आपको रोबोट या कृत्रिम बुद्धि का निर्माण करना होगा ऐसा नहीं है कि केवल इंजीनियरिंग की डिग्री के बाद ही आप किसी कृत्रिम बुद्धि और रोबोट के निर्माण में काम कर सकते है मगर यह देखा जाता है कि अगर आपको किसी कंपनी में AI के क्षेत्र में नौकरी चाहिए तो आपके पास इंजीनियरिंग की डिग्री होने पर उन सभी कामों को समझने में आसानी होगी। 

आप कंप्यूटर की विभिन्न भाषाओं का ज्ञान या मशीन लर्निंग का ज्ञान लेने के बाद किसी कंपनी में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के क्षेत्र में नौकरी पा सकते है। ऐसी बहुत सारी बड़ी-बड़ी कंपनियां है जो डिग्री के जगह पर आपकी काबिलियत देखना पसंद करती है तो अगर आप कंप्यूटर की भाषा का ज्ञान रखते है और कृत्रिम बुद्धि का विभिन्न प्रकार से समझ रखते है तो आप इसमें अपना करियर बना सकते है याद रखें इसमें अपना करियर बनाने के बाद आपको विभिन्न प्रकार के AI और रोबोट का निर्माण करने का कार्य दिया जाएगा। 

Artificial Intelligence में करियर बनाने के लिए योग्यता

जैसा कि आप यह समझ गए होंगे कि आई में करियर बनाने के लिए आपको क्या कार्य करना होगा आपको बता दें कि एआई में अपना करियर बनाने के लिए आपके पास कृत्रिम बुद्धि और विभिन्न प्रकार के कंप्यूटर भाषाओं का ज्ञान होना आवश्यक हैं।

भले ही कृत्रिम बुद्धि और रोबोट को बनाने के लिए कंप्यूटर के विभिन्न भाषाओं के ज्ञान की आवश्यकता है मगर किसी कंपनी में आप केवल इस आधार पर नौकरी नहीं पा सकते। किसी कंपनी में नौकरी पाने के लिए आपको सबसे पहले स्नातक की डिग्री हासिल करनी होगी और इस क्षेत्र में नौकरी पाने के लिए आपको इंजीनियरिंग के डिग्री की आवश्यकता होगी। 

अगर आपके पास इंजीनियरिंग की डिग्री है जो गणित, कम्युनिकेशन, इलेक्ट्रॉनिक या कंप्यूटर साइंस जैसे विभाग से है तो आप बड़ी आसानी से किसी कंपनी में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के क्षेत्र में नौकरी पाने के लिए आवेदन कर सकते हैं। 

इस वक्त गूगल और फेसबुक विश्व की सबसे बड़ी कंपनियों में एक मानी जाती है इन सभी कंपनियों में गूगल एक ऐसी कंपनी है जो जीसॉक का एग्जाम आयोजित करवाती है। अगर आप जीसॉक का एग्जाम उत्तरण कर लेते है तो इसका अर्थ यह होता है कि आपके पास विभिन्न प्रकार के कंप्यूटर भाषाओं का उत्तम ज्ञान है और आप कंप्यूटर के विभिन्न भाषाओं पर कार्य करने के लिए बिल्कुल तैयार हैं। 

गूगल के जीसॉक एग्जाम की काफी प्रचलित पूरे विश्व भर में है अगर आप इस परीक्षा को उत्तीर्ण कर लेते है तो आप बड़ी आसानी से किसी कंपनी में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के क्षेत्र में नौकरी पा सकते है उस वक्त आपके पास एक सबूत होगा यह दर्शाने के लिए कि आपके पास कंप्यूटर के विभिन्न भाषाओं का सर्वोत्तम ज्ञान हैं।

उम्मीद करते हैं आप यह समझ गए होंगे कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में नौकरी पाने के लिए आपके पास इंजीनियरिंग की डिग्री की आवश्यकता है अगर आपके पास इंजीनियरिंग की डिग्री नहीं है तो आपको अपनी योग्यता इस बात में साबित करनी होगी की आपके पास किसी कंप्यूटर भाषा का ज्ञान हैं। 

Artificial Intelligence के कोउर्सेस

इस वक्त विश्वभर में विभिन्न प्रकार के आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के कोर्स मौजूद है आपको अगर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के क्षेत्र में नौकरी चाहिए तो आपके पास है इस चीज का ज्ञान होने की आवश्यकता हैं।

  • Artificial Intelligence Certification Program by Stanford University
  • AI course for Everyone by Coursera
  • IBM Applied AI certification course by Coursera
  • Introduction to Artificial Intelligence with Python by EdX
  • AI application with Watson by edX

1. Artificial Intelligence Certification Program By Stanford University

यह कोर्स आप ऑनलाइन किसी भी एजुकेशन एप से पढ़ सकते है स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का ज्ञान देने के लिए इस कोर्स को बनाया है जिसमें उसने विस्तारपूर्वक कृत्रिम बुद्धि का वर्णन किया हैं।

2. AI Course For Everyone By Coursera

Coursera एक पढ़ाई करने का वेबसाइट है जहां पर आपको अलग-अलग प्रकार के कोर्स मिल जाएंगे इस वेबसाइट पर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के बारे में विस्तार पूर्वक बताने के लिए एक कोर्स दिया गया है यह कोर्स beginner के लिए है अगर आपको कृत्रिम बुद्धि के बारे में कुछ नहीं पता तो आपको इस कोर्स के साथ शुरुआत करनी चाहिए। 

3. IBM Applied AI Certification Course By Coursera

Coursera पर एक और कोर्स दिया गया है जिसमें यह बताया गया है कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस किस प्रकार इस्तेमाल की जाती है IBM कंपनी किस प्रकार से कृत्रिम बुद्धि का इस्तेमाल कर रही है और आपको इसमें क्या जानना चाहिए इस बारे में विस्तार पूर्वक इस कोर्स में बताया गया हैं।

4. Introduction To Artificial Intelligence With Python By EdX

इस कोर्स को करना और व्यक्ति के लिए ज्यादा महत्वपूर्ण है जो इस क्षेत्र में नौकरी पाना चाहते है इस कोर्स में खासतौर पर उन बातों पर रोशनी डाली गई है जिसे पढ़कर आप बड़ी आसानी से कृत्रिम बुद्धि के क्षेत्र में नौकरी पा सकते हैं। 

5. AI Application With Watson By edX

यह एक और प्रचलित कोर्से इसका इस्तेमाल करके आप यह सीख सकते है कि AI का इस्तेमाल कहां कहां किया जा रहा है और किस प्रकार किया जा रहा है साथ ही आप AI का सही तरीके से इस्तेमाल करने की प्रक्रिया को समझ जाएंगे। जो आपको भविष्य में इस क्षेत्र में नौकरी पाने में मदद करेगा। 

दुनिया में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के टॉप कोल्लेगेस

इस वक्त भारत में ऐसे कितने कॉलेज या विश्वविद्यालय मौजूद है जो आपको कृत्रिम बुद्धि का ज्ञान प्रदान कर रहे है। अगर आप भी कृत्रिम बुद्धि का ज्ञान विस्तारपूर्वक जानना चाहते है तो आपको किसी कॉलेज या विश्वविद्यालय को चुनना होगा और उसमें इसकी पढ़ाई करनी होगी इस वजह से नीचे आपको कुछ अच्छे कॉलेज और विश्वविद्यालय के नाम बताए जा रहे है जहां आप अपनी AI की पढ़ाई कंप्लीट कर सकते हैं। 

Top AI College in World 

  1. Stanford University
  2. Carnegie Mellon University
  3. Massachusetts Institute of Technology
  4. University of Washington
  5. University of California, Berkeley
  6. The University of Texas at Austin
  7. Harvard University, Cambridge
  8. Columbia University, New York
  9. University of Michigan, Ann Arbor
  10. California Institute of Technology, Pasadena

भारत में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के टॉप कोल्लेगेस

निचे दिए गये भारत के टॉप आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के कोल्लेगेस जहाँ पर आप बढ़ी ही आसानी के साथ AI की पढ़ाई कर सकते हैं।

Top AI College in India 

  1. Indian Institute of Technology, Hyderabad
  2. Indian Institute of Technology, Kharagpur
  3. Jain University: Bangalore
  4. Chandigarh University: Chandigarh
  5. Indian Institute of Technology, New Delhi
  6. Amity University, Noida

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के बारे में पूछे जाने वाले प्रश्न

यहाँ पर मैंने ऐसे पांच सवालों के जवाब दिए है जो की अक्सर लोग आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के बारे में पूछते रहते हैं।

Q. AI का फुल फॉर्म क्या होता है?

AI का फुल फॉर्म Artificial Intelligence होता हैं।

Q. कृत्रिम बुद्धि क्या होता है?

कृत्रिम बुद्धि कंप्यूटर का वह प्रकार होता है जिसमें कंप्यूटर हमारी इच्छा या हमारे बताए हुए किसी पुराने आदेश के अनुसार आगे के काम को स्वयं सोच लेता हैं।

Q. कृत्रिम बुद्धि का सबसे अच्छा उदाहरण क्या है?

आज के समय में गूगल और एलेक्सा से हम बात करते है यह कृत्रिम बुद्धि का सर्वोत्तम उदाहरण हैं।

Q. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का सर्वाधिक इस्तेमाल कहां किया जाता है?

आज के समय में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का सर्वाधिक इस्तेमाल हॉस्पिटल में और रिसर्च के कामों में किया जा रहा हैं।

Q . कौन सा देश आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में सबसे आगे है?

इसराइल, जापान और अमेरिका को कुछ ऐसे देशों में माना जाता है जहां आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का सर्वाधिक इस्तेमाल किया जा रहा हैं।

यह भी पढ़ें

निष्कर्ष

अगर आपको Artificial Intelligence In Hindi लेख हेल्पफुल रहा है तो फिर आप यह लेख अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करना। इसके अलावा अगर आपको इस लेख से सम्बंधित कोई भी जानकारी चाहिए तो उसके लिए आप निचे कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

Abhishek Maurya

मेरा नाम अभिषेक मौर्य है और मैं उत्तर प्रदेश वाराणसी डिस्ट्रिक्ट का रहने वाला हूं और मैं एक दिव्यांग हूं। मुझे अलग-अलग विषयों पर आर्टिकल लिखना बहुत अच्छा लगता है और इसी को मैंने अपना जुनून बनाया है। मैं पिछले 3 वर्षों से आर्टिकल लेखन का कार्य कर रहा हूं। आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख कैसे लगते हैं? आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। मेरा भी एक हिंदी ब्लॉग है जिस पर मैं रिलेशनशिप के ऊपर आर्टिकल लिखता हूं जिसका यूआरएल इस प्रकार से है। माय वेबसाइट यूआरएल - https://hindibaatchit.com/

Leave a Reply