B Pharma क्या है – B Pharma बनने के लिए योग्यता, फीस, सैलरी आदि

आजकल हर कोई बढ़िया से बढ़िया मेडिकल कोर्स करना चाहता है। मेडिकल कोर्स एक ऐसी डिग्री होती है जो समाज में आपको काफी अच्छा होता देती है और नौकरी के मामले में आपको बेहतर कमाई के रास्ते दिखाती है। आज के इस लेख में हम आपको B Pharma Kya Hai, यह कोर्स कैसे कर सकते है और इस कोर्स को करने के बाद आपको कितनी अच्छी नौकरी मिलेगी इसके बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी देने का प्रयास कर रहे हैं।

हर विद्यार्थी को एक ऐसे कोर्स की तलाश होती है जिसे करने के बाद उसे एक शानदार नौकरी मिल सके और वह सुरक्षित और सुनहरे भविष्य की कामना कर सकें अगर आप मेडिकल क्षेत्र में ऐसी कोई डिग्री करना चाहते हैं तो बी फार्मा एक बेहतरीन डिग्री हो सकती है B Pharma Kya Hai, बी फार्मा कैसे कर सकते है, और बी फार्मा के लिए कौन सी एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया होती है साथ ही किस तरह की जॉब के लिए आवेदन करेंगे इसके बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी नीचे दी गई है इसलिए अनुरोध है कि इस लेख के साथ अंत तक बने रहे।  

B Pharma क्या है

बी फार्मा एक मेडिकल के क्षेत्र में स्नातक डिग्री है जिसे करने के बाद आप अपना ग्रेजुएशन मेडिकल के क्षेत्र में पूरा करेंगे इसे 12वीं के बाद किया जाता है और इस डिग्री में आपको दवाइयों के बारे में ज्ञान दिया जाता है। यह कोर्स एक स्नातक कोर्स है जिसे पूरा करने के बाद आप ग्रेजुएशन के लिए जितनी नौकरी है उन सब में आवेदन कर सकते हैं।

हम यह कह सकते हैं कि यह दवाइयों का स्नातक कोर्स है जिसे करने के बाद आप औषधि ड्रग्स और दवाइयों के इस्तेमाल के बारे में समझ पाते है। साथ हि यह जान पाते है कि आप दवाइयों को कहा रख सकते हैं और किस बीमारी में किस तरह की दवाई खानी चाहिए दवाइयों से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारी आपको इस कोर्स में दी जाती है जिसका इस्तेमाल आप अपने रोजमर्रा के जीवन में करके अपने जीवन को भी आसान बना सकते हैं।

B Pharma का फुल फॉर्म 

B Pharma का फुल फॉर्म Bachelor of Pharmacy होता हैं। 

हिंदी में इस कोर्स को फार्मेसी स्नातक कहा जाता है इस कोर्स को करने के बाद आप दवाइयों के क्षेत्र से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारी हासिल कर लेंगे आप यह समझ जाएंगे कि किस दवाई को कब इस्तेमाल किया जाता है और किस बीमारी में किस चीज से बनी हुई दवाई को खाना चाहिए जो ना केवल आपको नौकरी और व्यवसाय में बल्कि अपने रोजमर्रा के जीवन को आसान बनाने में भी मदद करेगी। 

B Pharma का क्या कार्य होता है

जैसा कि हमने आपको बताया बी फार्मेसी एक स्नातक डिग्री है जो आपको मेडिकल के क्षेत्र से जुड़ी नौकरियां प्रदान करता है इस नौकरी का कार्य आपको दवाई ड्रग्स औषधि के बारे में समझाना है इस डिग्री में आपको बताया जाता है कि किस दवाई का इस्तेमाल कब किया जाता है कि इस तरह की बीमारी के लिए किस तरह की दवाइयों को बनाया जाता है अर्थात बीमारी के इलाज के बारे में अच्छे से भले ना जानते हो मगर दवाइयों के बारे में अच्छे से समझ जाएंगे।

अपने अपने चारों तरफ केमिस्ट की दुकान में या बड़े बड़े हॉस्पिटल में दवाई देने वाले विशेषज्ञों को देखा होगा उनके पास बी फार्मेसी की डिग्री होती है वह जानते हैं कि दवाइयों को कहां रखा जाता है और किस तरह की बीमारी में किस तरह की चीजों की दवाइयों का इस्तेमाल किया जाता है कुछ साधारण बीमारियों का इलाज तो केवल दवाई से ही किया जा सकता हैं।

आज के समय में यह डिग्री बहुत ही आवश्यक हो चुकी है क्योंकि इसका कार्य आपको दवाई के क्षेत्र के बारे में जानकारी देता है और आप इसे करने के बाद बड़ी आसानी से दवाई के बारे में समझ जाते है। अगर आपको दवाई और मेडिकल के क्षेत्र में रुचि है साथ ही आप दवाइयों से जुड़ी कोई ऐसी डिग्री करना चाहते है जो आपके लिए जीवन में उम्मीदों के नए नए दरवाजे खोल सके, तो यह कोर्स आपके लिए हैं।

B Pharma में एडमिशन कैसे लें

आज लोग अलग-अलग तरह की डिग्री करने के लिए एक से एक कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते है अगर आप बी फार्मा के कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते है तो हम आपको बता दें की यह कोर्स आप सरकारी और प्राइवेट कॉलेज से कर सकते है अगर आप सरकारी कॉलेज से बी फार्मा का काम करते है तो तो सबसे पहले आपको एंट्रेंस एग्जाम पास करना होगा हर सरकारी कॉलेज में एडमिशन देने से पहले एक एंट्रेंस एग्जाम लिया जाता है जिस में अच्छे अंक लाने वाले विद्यार्थी को सरकारी कॉलेज में एडमिशन दी जाती हैं।

कुछ प्राइवेट कॉलेज में भी इंट्रेंस एग्जाम लिया जाता है मगर ज्यादातर प्राइवेट कॉलेज में एंट्रेंस एग्जाम नहीं होता है आप तो प्राइवेट कॉलेज में अपने मेरिट और 12वीं के मार्क्स के आधार पर एडमिशन पा सकते हैं।

B Pharma कितने साल में होता है

बी फार्मा एक प्रचलित कोर्स है जिसे 4 साल में पूरा किया जाता है यह कोर्स 12वीं कक्षा पास करने के बाद किया जाता है यह एक स्नातक डिग्री देने वाला कोर्स है। 4 साल के बी फार्मा को 8 सेमेस्टर में विभाजित किया गया है प्रत्येक 6 महीने पर एक सेमेस्टर पूरा होता है और हर सेमेस्टर की परीक्षा पास करने के बाद आप अगले सेमेस्टर में जाते हैं।

4 साल के कोर्स को छे छे महीने पर विभाजित किया गया है प्रत्येक छह महीने पर आपको अलग विषय है और अलग तरीके का ज्ञान दिया जाता है जिसके बाद अगले सेमेस्टर में जाते हैं और इस तरह इस कोर्स को 8 सेमेस्टर की परीक्षा पास करने के बाद 4 साल में पूरा किया जाता हैं। 

B Pharma करने के लिए एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया

बी फार्मा एक बहुत ही प्रचलित कोर्स है जिसे आप बड़ी आसानी से किसी भी कॉलेज से पूरा कर सकते हैं मगर किसी कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए बी फार्मा के लिए कौन सी योग्यता होनी चाहिए इसे समझाने के लिए हमने एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया की एक सूची नीचे प्रस्तुत की है उसे ध्यानपूर्वक पढ़ें।

B Pharma करने के लिए क्वालिफिकेशन

  • बी फार्मा करने के लिए किसी भी छात्र को सबसे पहले 12वीं कक्षा पास करने की आवश्यकता हैं।
  • 12वीं कक्षा पास करने के दौरान 12 वीं कक्षा के बोर्ड एग्जाम में आपको कम से कम 50% अंक लाना हैं।
  • अगर आप किसी सरकारी कॉलेज से बी फार्मा करते है तो सरकारी कॉलेज के एंट्रेंस एग्जाम को पास करना जरूरी हैं। 

B Pharma करने के लिए आयु सीमा

ऐसे तो सरकार के द्वारा किसी भी कोर्स को करने के लिए उम्र सीमा नहीं रखी गई है आप किसी भी उम्र में किसी भी तरह की पढ़ाई कर सकते है मगर कुछ कॉलेज में किसी कोर्स में एडमिशन लेने के लिए उम्र की पाबंदी रखी गई है कुछ कॉलेजों के अनुसार अगर आप बी फार्मा में एडमिशन लेने जाते हैं तो आप की न्यूनतम उम्र 18 वर्ष और अधिकतम उम्र 25 वर्ष होनी चाहिए। 

B Pharma के लिए एग्जाम

जैसा कि हमने आपको बताया बी फार्मा में एडमिशन लेने के लिए आपको सरकारी कॉलेज के इंट्रेंस एग्जाम को पास करने की आवश्यकता है हम आपको बता देना चाहते हैं कि बी फार्मा में एडमिशन लेने के लिए सार्वजनिक रूप से किसी भी तरह की परीक्षा का आयोजन नहीं किया जाता है। इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए कुछ कॉलेज और यूनिवर्सिटी के द्वारा परीक्षा आयोजित करवाया जाता है आप उस परीक्षा में बैठकर अच्छा अंक प्राप्त करते हैं तो उस कॉलेज या यूनिवर्सिटी में आप का दाखिला हो जाएगा।

सरल शब्दों में बी फार्मा में एडमिशन लेने के लिए अलग-अलग यूनिवर्सिटी और कॉलेज अपना परीक्षा आयोजित करवाती है आप जिस कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते है उस कॉलेज के द्वारा अगर किसी भी प्रकार की परीक्षा आयोजित करवाई जाती होगी तो दाखिला लेते वक्त आपको इसके बारे में बता दिया जाएगा।

B Pharma करने के लिए सिलेबस

अगर आप बी फार्मा का कोर्स करना चाहते है तो आपको किस चीज के बारे में बताया जाएगा किस तरह की पढ़ाई करवाई जाएगी इसे समझाने के लिए हमने विषयों की सूची या बी फार्मा के सिलेबस को नीचे प्रस्तुत किया है उसे ध्यान पूर्वक देखे।

  • Applications
  • Advanced Mathematics
  • Anatomy, Physiology & Health Education
  • Basic Electronics and Computer
  • Pharmaceutical Analysis
  • Remedial Mathematical Biology
  • Pharmacognosy
  • Pharmaceutical Chemistry 
  • Pharmaceutical Microbiology
  • Pathophysiology of Common Diseases
  • Pharmaceutical Jurisprudence & Ethics

ऊपर बताए गए विषय को आप अपने कोर्स के दौरान पड़ेंगे और जानेंगे की दवाइयों का इस्तेमाल कैसे किया जाता हैं।

भारत में बी फार्मा करने के लिए टॉप 5 कॉलेज

हर किसी को भारत के सबसे प्रतिष्ठित कॉलेज में एडमिशन लेना है अगर आपको भी ऐसा लगता है तो हम आपको बता देना चाहते है की नीचे हमने कॉलेज की कुछ सूची प्रस्तुत की है जिसे पढ़ने के बाद आपको भारत के बेस्ट प्राइवेट कॉलेज में अपना एडमिशन करा पाएंगे हमने नीचे आपको जितने भी कॉलेज की सूची बताई है वह निजी संस्था द्वारा चलाई जा रही है अर्थात वह कॉलेज प्राइवेट कॉलेज में आता है इसमें से किसी भी कॉलेज में आपको इंट्रेंस एग्जाम पास करने की आवश्यकता नहीं है आप अपने 12वीं के मार्क्स के आधार पर इस में एडमिशन पा सकते हैं – 

  1. गुरु गोविंद सिंह इन्द्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी, न्यू दिल्ली
  2. पूना कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी, पुणे
  3. एलएम कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी, अहमदाबाद
  4. इंस्टिट्यूट ऑफ़ केमिकल टेक्नोलॉजी, मुंबई
  5. महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी, रोहतक

B Pharma करने के लिए फीस

अगर आप बी फार्मा में अपना एडमिशन कराना चाहते है तो आपका कितना खर्च आएगा यह कॉलेज के ऊपर निर्भर करता है अलग-अलग कॉलेज में अलग अलग तरह का खर्च आता है। कॉलेज का खर्च किस बात पर निर्भर करता है कि वह कॉलेज आपको किस तरह की सुविधा दे रही है आमतौर पर एक प्राइवेट कॉलेज में ज्यादा फीस लगता है और एक सरकारी कॉलेज में कम फीस लगता है इस वजह से ज्यादातर लोग चाहते हैं कि उनका एडमिशन सरकारी कॉलेज में हो हालांकि किसी भी कॉलेज में एक जैसा फीस नहीं होता है मगर एक अंदाजन रकम हमने आपको नीचे बताई हैं।

अगर आप किसी सरकारी कॉलेज से बी फार्मा का कोर्स करते हैं तो आपको साल में ₹40,000 से ₹50000 का खर्च आ सकता है मगर आप जब प्राइवेट कॉलेज से बी फार्मा का कोर्स करते हैं तो आपको एक साल में ₹100000 से ₹300000 का खर्चा आ सकता हैं। 

B Pharma करने के बाद कितनी सैलरी मिलती है

हम किसी भी तरह का कोर्स इसलिए करते हैं ताकि हमें अच्छे से अच्छी तनख्वाह मिल सके और आने वाले समय में व्यवसाय और नौकरी के बेहतर दरवाजे खुल सके अगर आप बी फार्मा करते हैं तो आप अपना खुद का क्लीनिक खोल सकते हैं जो कि एक व्यवसाय होगा जो आपके क्लीनिक के चलने या ना चलने पर निर्भर करता है मगर आप इस कोर्स को करके किसी बड़ी हॉस्पिटल संस्था में फार्मा स्पेशलिस्ट या केमिस्ट के तौर पर काम कर सकते हैं ऐसी परिस्थिति में आप की शुरुआती तनख्वाह ₹30000 से ₹40000 होगी।

मगर यह तनख्वाह आपके अनुभव के आधार पर बढ़ेगी साधारण तौर पर महज 1 या 2 साल के अनुभव पर आपकी तनख्वाह ₹50000 तक जा सकती हैं।

निष्कर्ष

अगर आपको B Pharma Kya Hai लेख हेल्पफुल रहा है तो फिर आप यह लेख अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करना और इसके अलावा अगर आपको इस लेख से संबंधित कोई भी जानकारी चाहिए तो उसके लिए आप नीचे कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Junaid Bashir

Hi friends!! मेरा नाम Junaid Bashir है और मैं इस ब्लॉग का मालिक हूँ। इसके साथ-साथ मैंने इस ब्लॉग इसलिए बनाया है। क्योंकि मुझे लोगों की मदद करना बहुत ही अच्छा लगता है और अगर आप मेरे बारे में विस्तार से जानना चाहते है तो फिर उसके लिए आप इस ब्लॉग का About Us पेज पढ़ सकते हैं।

Leave a Reply