बैंक से लोन कैसे ले पूरी जानकारी जानिए हिंदी में

जीवन में कई बार जब हमे पैसे की आवश्यकता होती है तो हम अलग-अलग जगह पैसे लोन लेने के लिए जाते है जिसमें लोग अपने दोस्त रिश्तेदार के पास पैसे मांगने जाते है मगर आप बैंक से भी पैसे ले सकते है, Bank Se Loan Kaise Le यह हर व्यक्ति को पता होना चाहिए ताकि आप अपनी मुसीबत के वक्त किसी विश्वासी बैंक से अपनी जरूरत के हिसाब से पैसे ले पाए और दोस्त रिश्तेदार के मुकाबले जल्दी और एक निश्चित कम दर पर आपको पैसे मिल जाते हैं।

लोगों को लगता है कि बैंक कार्यालय में जाकर पैसे की मांग करने पर आपको विभिन्न प्रकार के दस्तावेज प्रस्तुत करने होंगे जो काफी लंबा प्रोसेस होगा मगर ऐसा नहीं है आप कुछ साधारण पहचान पत्र और आए प्रमाण पत्र जैसे साधारण दस्तावेज को प्रस्तुत करके बैंक से लोन ले सकते है, बैंक से लोन कैसे ले इसके बारे में आज का लेख विस्तार पूर्वक आपको समझाएगा।

लोन क्या होता है

लोन को दूसरे शब्दों में कर्ज कहा जाता है अगर आपको कुछ पैसे की आवश्यकता है तो आप अपनी आवश्यकता के हिसाब से एक निश्चित राशि कर्ज के रूप में लेते है जिस पर समय के अनुसार निर्धारित रकम बढ़ती जाती है जिसे ब्याज कहा जाता है जो खाते वक्त आप ब्याज और असल मूल को झुकाते हैं।

सरल शब्दों में आप यह समझ सकते है कि किसी से कर्ज लेने को ही हम लोन कहते है जब आप किसी बैंक से जब पैसे लेते है तो बैंक आपको एक तारीख देता है जिस दिन आपको अपने लोन की सारी रकम चुका देनी होती है उस तारीख से पहले आपको एक छोटी निर्धारित रकम ब्याज के रूप में देते रहना होता है जब आप अपना असल चुका देते है तब आपको ब्याज देने की कोई आवश्यकता नहीं होती।  

लोन के प्रकार

जब हम किसी बैंक से लोन या कर्ज के रूप में कोई पैसा लेते है, तो यह एक जैसा नहीं होता अलग-अलग प्रकार के लोन किस बैंक के द्वारा दिए जाते है उनमें से कुछ प्रमुख बैंक लोन के प्रकार के बारे में नीचे विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई हैं। 

1. Personal loan

पर्सनल लोन को गैरजमात लोन कहा जाता है, अर्थात स्वयं के लिए लोन लेना हालांकि हर लोन स्वयं के लिए ही लिया जाता है मगर पर्सनल लोन का मतलब होता है बच्चों के फीस के लिए लोन लेना, दवा के लिए लोन लेना, घर में कोई सामान खरीदने के लिए, या किसी को कोई गिफ्ट देने के लिए बैंक के तरफ से कर्ज लेना इस तरह के लोन पर सबसे ज्यादा ब्याज देना पड़ता है। एक उदाहरण के लिए बता दें कि भारत की सबसे प्रचलित बैंक एसबीआई पर्सनल लोन पर 17.65% सालाना ब्याज लगाती हैं।

2. Gold Loan

अगर आपके पास सोना है तो आप अपने सोना के बदले पैसा ले सकते हैं भारत में सोना को सबसे कीमती धातु के रूप में देखा जाता है आपके पास जो भी सोने के गहने हैं आप उसे बैंक के लॉकर में रख कर उसके बदले बैंक से पैसे ले सकते हैं आमतौर पर देखा गया है कि प्रचलित बैंक आपके सोने की क्वालिटी के आधार पर जो कीमत होती है उसका 80% लोन के रूप में देती है, उदाहरण के तौर पर अगर आपके सोने की कीमत ₹100 है तो बैंक आपको ₹80 तक का लोन देगी।

अगर आपको अपना सोना वापस चाहिए होता है तो आपको बैंक के कर्ज को ब्याज सहित लौटा ना होता है अगर हम भारत के सबसे प्रचलित बैंक एसबीआई की बात करें तो गोल्ड लोन पर 11.15% का सालाना ब्याज देना पड़ता है। याद रहे इस ब्याज के साथ आपका लिया हुआ असल पैसा भी समय पर आपको लौट आना पड़ेगा।

3. Security Loan

बड़ी बड़ी कंपनी और व्यापार में सिक्योरिटी लोन एक साधारण बात है इस लोन का मतलब होता है कि आप अपने किसी सुरक्षित कागज को बैंक के पास रख कर पैसा ले सकते है, सवाल उठता है कि आपके पास कौन सा कागज सुरक्षित हैं।

सुरक्षित कागज या सिक्योरिटी से तात्पर्य है किसी कंपनी के कागज, या आपने कभी किसी कंपनी के शेयर पर पैसा लगाया है तो उस शेयर या मैचुअल फंड में निवेश के कागज, इसके अलावा इसी सरकारी बॉन्ड में निवेश किया गया है, तो उस बांड का कागज इस तरह के जितने भी पेपर है आप इनमें से किसी भी पेपर को बैंक में रखकर उसके एवज बैंक से पैसा ले सकते हैं।

इस तरह के कागज के बदले ओवरड्राफ्ट की सुविधा भी बैंक के तरफ से दी जाती है ओवरड्राफ्ट का मतलब होता है आप जितना पैसा अपने बैंक से निकलना चाहते है उतना पैसा ना होने के बावजूद बैंक आपको उतना पैसा निकालने की छूट देता है उसे ओवरड्राफ्ट कहा जाता है इसके लिए आपको ऊपर बताए गए किसी भी पेपर को बैंक में जमा करना होता है अगर आप निर्धारित समय पर अपने लोन या ओवरड्राफ्ट की रकम बैंक को नहीं चुकाते है, तो वह आपके कागज के आधार पर आप की प्रॉपर्टी को बाजार में नीलाम कर देता हैं। 

4. Property Loan

यह एक खास किस्म का लोन होता है जिसमें आप अपने घर या किसी अन्य प्रॉपर्टी के कागज को बैंक में गिरवी रखकर पैसे लेते है आमतौर पर घर को गिरवी रख कर पैसा 15 साल में चुका देना होता है, मगर अलग-अलग बैंक में अलग-अलग नियम हो सकते हैं साधारण तौर पर किसी बैंक के जरिए आप अपने घर के रकम की 40 से 60% की रकम लोन के रूप में ले सकते हैं।

5. Home Loan

घर बनाने के लिए बैंक से जो पैसा कर्ज लिया जाता है उसे होम लोन कहते है। घर बनाने में मजदूर और सामान के खर्च के अलावा स्टांप ड्यूटी रजिस्ट्रेशन फीस जैसे अलग-अलग जगह पर पैसा लगता है अगर आपको घर बनाने के लिए पैसा कम पड़ता है तो अलग-अलग बैंक आपको कर्ज देने के लिए तैयार रहती है। इस तरह के होम लोन में बैंक घर बनाने के पैसे का 75 से 80% आपको डाउन पेमेंट करती है बाकी का रकम का जुगाड़ आपको खुद करना होता हैं।

अगर आप किसी बैंक से होम लोन लेते हैं तो इस कर्ज को चुकाने की अवधि 5 साल से 20 साल की होती है इसके अलावा बैंक आपको पूरी रकम एक साथ नहीं देता जब आप घर बनाने का कार्य शुरू करेंगे तो आपके लोन का 30% बैंक आपको देगा। उदाहरण के तौर पर – अगर आपको ₹100 का घर बनाना है तो बैंक आपको ₹80 कर्ज के रूप में देखा उसमें भी एक साथ ₹80 नहीं देगा सबसे पहले इसका 30% अर्थात ₹24 देगा उसके बाद जैसे-जैसे घर बनता जाएगा आपको रकम उसके अनुसार मिलती जाएगी।

6. Education Loan

आजकल पढ़ाई बहुत महंगी हो गई है अलग-अलग स्कूल और कॉलेजों में बहुत ज्यादा फीस लिया जा रहा है बहुत सारे परिवार ऐसे है, जो पढ़ाई की रकम अपनी कमाई से अदा नहीं कर पाते इसके लिए अलग-अलग तरह के बैंक एजुकेशन लोन देते है। मगर एजुकेशनल लोन लेना इतना आसान नहीं है छात्र कहां पढ़ना चाहता है जहां पढ़ना चाहता है वहां से पढ़ने के बाद उसे नौकरी लगेगी या नहीं बैंक यह सब कुछ देखता है अगर आप किसी कॉलेज में पढ़ाई करना चाहते हैं तो उस कॉलेज से निकलने वाले कितने प्रतिशत बच्चों को नौकरी लग जाती है इसका सबूत बैंक में जमा करना होगा।

अगर कोई अच्छा कॉलेज है जहां से नौकरी मिलने की संभावना अधिक है तो भी आपको अपने साथ एक रिश्तेदार को रखना होगा जो इस बात की गारंटी देगा कि यह छात्र या छात्रा पढ़ने के बाद पैसा दे सकता है। पूरी तरह से गारंटी होने के बाद ही बैंक पैसे को अप्रूव करता है जहां अगर हम भारत के सबसे प्रचलित बैंक एसबीआई की बात करें तो इस बैंक में आप ₹750000 की रकम 11.15% के ब्याज पर मिलता हैं।

7. Corporate Loan

बड़े-बड़े कंपनी अपने व्यापार को आगे बढ़ाने के लिए बड़े स्तर पर लोगों को रोजगार देते हैं और मशीनरी का इस्तेमाल करते हैं जिसमें बहुत ज्यादा पैसा खर्च होता है इसलिए उन्हें बैंक से बहुत बड़ा लोन चाहिए होता है इस तरह की परिस्थिति में आज से कुछ साल पहले नियम था कि बड़े-बड़े कैपिटल लिस्ट अपनी पूरी प्रॉपर्टी के 55% के जितने कीमत का लोन उठा सकते है। मगर हाल ही में नीरव मोदी और विजय माल्या जैसे बड़े-बड़े डिफॉल्टर केस होने के कारण 1 जनवरी 2019 को आरबीआई ने घोषणा की है कि अब भारत में बड़े-बड़े कैपिटल लिस्ट अपने पूरे प्रॉपर्टी के केवल 25% के रकम को लोन के रूप में उठा सकते है। इस तरह के लोन को हम कॉरपोरेट लोन कहते हैं।

लोन लेने के लिए क्या जरूरी दस्तावेज़ 

किसी भी तरह का लोन लेने के लिए सबसे जरूरी गारंटी है मतलब आपको कोई भी लोन ले रहे है तो उसके पीछे के कागज को जरूर ले जाएं, मगर उस गारंटी और कागज के अलावा कुछ अन्य आवश्यक दस्तावेज है जिनकी आवश्यकता लोन लेते वक्त पड़ती है। कुछ आवश्यक है, जिन की आवश्यकता किसी भी प्रकार के लोन में पड़ेगी उनके बताए गए इस तरह के जरूरी दस्तावेज की सूची को पढ़ें। 

  • पहचान पत्र: बैंक से लोन लेते वक्त आपके पास पहचान पत्र होना चाहिए जिस आधार कार्ड, वोटर कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट राशन कार्ड, जैसे चीजों का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • आपका निवास का प्रमाण: इसके लिए आप अपना राशन कार्ड, आवासीय निवास प्रमाण पत्र, या बिजली बिल, जैसे कागज का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • आय प्रमाण पत्र: जस बैंक खाता में आपका आए आता है उसके 6 महीने की विवरण कॉपी आय प्रमाण पत्र के रूप में जमा करें।
  • रोजगार प्रमाण पत्र: आप पिछले 1 साल से निरंतर कहीं काम कर रहे है तो उस काम का एक लिखित कागज लेकर रोजगार प्रमाण पत्र के रूप में बैंक में जमा करवाएं।

इन सबके अलावा लोन लेने के लिए एक फॉर्म आपको बैंक में मिल जाएगा जिसमें आपको अपना एक पासपोर्ट साइज फोटो और कुछ अन्य पूछी गई आवश्यक जानकारी को भरकर लोन के लिए अप्लाई करना हैं।

बैंक से लोन कैसे लें

अगर ऊपर बताए गए सभी दस्तावेज सही तरीके से आपके पास मौजूद है तो बैंक से लोन लेना कोई बहुत बड़ी चीज नहीं है। अगर आप को बैंक से लोन लेने की प्रक्रिया के बारे में कोई जानकारी नहीं है तो नीचे हमने कदम दर कदम जानकारी दी है उसे ध्यानपूर्वक पढ़ें। 

1. नजदीकी बैंक ब्रांच में जाएं

लगभग सभी प्रकार के बैंक में सारे तरह के लोन देने की सुविधा दी जाती है, इस वजह से आपको सबसे पहले यह चुनना है कि आप किस बैंक से लोन लेना चाहते हैं और उसके बाद आप जिस बैंक से आप लोन लेना चाहते है, उस बैंक के सबसे नजदीकी ब्रांच में जाना होगा।

2. बैंक ब्रांच के ब्रांच मैनेजर से बात करें

बैंक में जाने के बाद लोन लेने के लिए ब्रांच मैनेजर से बात करें प्रत्येक बैंक के ब्रांच में आपको उससे ब्रांच के मैनेजर का एक केबिन दिखेगा अपॉइंटमेंट के साथ आप उनसे लोन के बारे में बात कर सकते है। अपने अपॉइंटमेंट में ब्रांच मैनेजर को अपनी आय प्रमाण पत्र रोजगार प्रमाण पत्र जैसी कुछ आवश्यक दस्तावेज को दिखाएं और किस चीज के लिए लोन चाहिए इसके बारे में चर्चा करें।

3. लोन के लिए फॉर्म भरे

आपको जैसा लोन चाहिए उस लोन से जुड़ा फॉर्म आपको भरना होगा जो बैंक मैनेजर के केबिन में आपको मिल जाएगा। ब्रांच मैनेजर के निर्देश अनुसार निर्धारित लोन के लिए बैंक से फॉर्म ले लें और उसे अपने फोटो और कुछ अन्य आवश्यक जानकारियों के साथ सही तरीके से भरें साथ ही उसमें अन्य दस्तावेज को लगाकर बैंक में जमा कर दें।

4. बैंक के तरफ से रिपोर्ट आने तक इंतजार करें

आपको एक निर्धारित समय बताया जाएगा तब तक बैंक आपकी इन सभी दस्तावेजों की जांच करेगी और अपनी एक रिपोर्ट तैयार करेगी कि आपके द्वारा बताई गई जानकारी सत्य है या झूठ। अगर आपके द्वारा बताई गई जानकारी सत्य होगी तो बैंक अपनी रिपोर्ट में इस लिखेगी और बैंक मैनेजर के हस्ताक्षर के साथ आपके दस्तावेज अप्रूव हो जाएंगे। 

5. अपने लोन का पैसा ले

जब आप के दस्तावेज सही साबित हो जाएंगे और ब्रांच मैनेजर के तरफ से वे सभी कागज अप्रूव कर दिए जाएंगे तब आपके निर्धारित बैंक अकाउंट में पैसा भेज दिया जाएगा।

लोन लेने के फायदे

ऊपर बताई गई सभी जानकारियों को पढ़ने के बाद अगर आप लोन लेने की जानकारी को समझ चुके हैं तो यह भी जानना आवश्यक है कि लोन लेने से आपको क्या लाभ होता है जिसे नीचे सूचीबद्ध तरीके से आपको बताया गया हैं।

  • लोन लेने से तुरंत आपके पैसे की जरूरत दूर हो जाती हैं।
  • बैंक से लोन लेने से आपको किसी भी तरह के फ्रॉड का डर नहीं होता और एक अच्छा ब्याज देना पड़ता है किसी भी तरह की मनमानी नहीं होती।
  • लोनलीनेस आपको तुरंत अपनी जरूरत के हिसाब से पैसा मिल जाता है जो आपके कार्य को आसान बना देता हैं।

लोन लेने के नुकसान

लोन लेने के कुछ नुकसान भी है आखिर लोन का मतलब कर्ज होता है किसी के पास किसी चीज को कर्ज लेना अच्छी बात नहीं होती है ऐसा क्यों है और इसके क्या नुकसान है इसे नीचे बताया गया हैं।

  • लोन लेने से तुरंत आपको खूब सारा पैसा मिल जाता है मगर उस पैसे का सही समय पर भुगतान न करने पर आपको बहुत सारी समस्या का सामना करना पड़ता हैं।
  • आपको अगर पैसे की जरूरत है तो लोन लेने से वह जरूरत पूरी हो जाती है मगर इससे आपको एक बुरी लत लग जाती है कि जब भी आपको पैसे का जरूरत हो आप कर्ज ले ले और उसके बाद वह आदमी आपको पैसे ना चुकाने की वजह से बेइज्जत करें।
  • कर्ज लेना बुरा नहीं है मगर सही समय पर उसका भुगतान ना करना बुरा है जो आपको अलग-अलग तरह की मुसीबत में डाल सकता है और समाज में आपके इमेज को खराब कर सकता हैं।

निष्कर्ष

अगर आपको Bank Se Loan Kaise Le लेख हेल्पफुल रहा है तो फिर आप यह लेख अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करना।इसके अलावा अगर आपको इस लेख से सम्बंधित कोई भी जानकारी चाहिए तो उसके लिए आप निचे कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

Abhishek Maurya

मेरा नाम अभिषेक मौर्य है और मैं उत्तर प्रदेश वाराणसी डिस्ट्रिक्ट का रहने वाला हूं और मैं एक दिव्यांग हूं। मुझे अलग-अलग विषयों पर आर्टिकल लिखना बहुत अच्छा लगता है और इसी को मैंने अपना जुनून बनाया है। मैं पिछले 3 वर्षों से आर्टिकल लेखन का कार्य कर रहा हूं। आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख कैसे लगते हैं? आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। मेरा भी एक हिंदी ब्लॉग है जिस पर मैं रिलेशनशिप के ऊपर आर्टिकल लिखता हूं जिसका यूआरएल इस प्रकार से है। माय वेबसाइट यूआरएल - https://hindibaatchit.com/

Leave a Reply