BHMS Course Details in Hindi – BHMS के एडमिशन, करियर, सैलरी आदि

भारत में मेडिकल पढ़ाई की बहुत मांग है इसमें विभिन्न प्रकार के कोर्स करवाए जाते है जिसमें से एक प्रचलित कोर्स होम्योपैथिक का है। इस डिग्री में होम्योपैथिक चिकित्सा प्रणाली और सर्जरी के ज्ञान को शामिल किया गया है। अगर आप मेडिकल क्षेत्र में पढ़ाई करना चाहते है तो आप BHMS की डिग्री हासिल कर सकते है। आज के लेख में BHMS Course Details in Hindi के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी प्रस्तुत करते हुए इस डिग्री को करने में कितना खर्च आएगा या फिर किस प्रकार अपनी डिग्री को हासिल कर सकते हैं इसके बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई हैं। 

इंसान जितनी तेजी से तकनीक पर निर्भर होता जा रहा है यह हमें दर्शाता है कि आने वाले समय में डॉक्टरों की मांग बड़ी तेजी से बढ़ने वाली है होम्योपैथिक चिकित्सा प्रणाली एक ऐसी चिकित्सा प्रणाली है जिसमें बिना साइड इफेक्ट वाली दवाइयों के जरिए इलाज किया जाता है अगर आप केवल दवाई के जरिए किसी भी बीमारी का इलाज ढूंढना चाहते है तो बीएचएमएस कोर्स डिटेल इन हिंदी? के बारे में सरल शब्दों में इस लेख में पढ़िए। 

BHMS Course Details in Hindi

यह एक स्नातक डिग्री कोर्स है जो होम्योपैथिक चिकित्सा प्रणाली और सर्जरी का ज्ञान देता है। जैसा कि आपको पता होगा इंसान का शरीर बहुत विचित्र है इसके हर हिस्से को समझने के लिए आपको गहन पढ़ाई करनी होगी जिसके लिए अलग-अलग प्रकार के कोर्स बनाए गए है, इंसान के शरीर को केवल दवाई के मदद से भी ठीक किया जा सकता है जिस चिकित्सा प्रणाली को होम्योपैथिक चिकित्सा प्रणाली कहा जाता है। इस कोर्स में आपको इसी चिकित्सा प्रणाली के बारे में संपूर्ण जानकारी में दी जाती हैं।

यह कोर्स 4 साल 6 महीने का होता है जिसके बाद 1 साल का इंटर्नशिप करना पड़ता है। इस कोर्स को करने के बाद आपके नाम के आगे डॉक्टर लगता है और आपको दवाइयों की थियोरेटिकल पढ़ाई के अलावा सर्जरी की प्रैक्टिकल पढ़ाई भी इस कोर्स में करवाई जाती हैं। 

BHMS Course का फुल फॉर्म 

BHMS का फुल फॉर्म Bachelor of Homeopathy Medicine and Surgery होता है। होम्योपैथिक एक चिकित्सा प्रणाली होती है जिसमें बीमारियों का इलाज केवल दवाई के माध्यम से किया जाता है और इस श्रेणी के दवाई की सबसे बड़ी खासियत होती है कि उनका कोई साइड इफेक्ट नहीं होता। यह कोर्स 4 साल 6 महीने का होता है जिसके बाद 1 साल की इंटर्नशिप करवाई जाती है और आपको homeopathic दवाइयों की प्रैक्टिकल और थियोरिटिक जानकारी दी जाती है। जिसके बाद आप किसी हॉस्पिटल में डॉक्टर के तौर पर काम कर सकते है या स्वयं का अस्पताल या क्लीनिक शुरू कर सकते हैं। 

BHMS में एडमिशन कैसे लें

अगर आप इस कोर्स में एडमिशन लेना चाहते है तो इसके लिए आपको नीचे बताए गए तरीके को दिमाग में रखते हुए आदेश अनुसार उसका पालन करना होगा हैं।

Step 1 – सबसे पहले नीट की परीक्षा पास करें

अगर भारत में आपको अच्छे कॉलेज से कम पैसा खर्च किए मेडिकल की डिग्री या पढ़ाई करनी है तो आपको नीट (NEET) की परीक्षा पास करनी होगी। नीट की परीक्षा पास करने पर आपके मार्क्स के अनुसार आपको कॉलेज दिया जाता है अगर आप अच्छा मार्क्स लाते है, तो आप अच्छे सरकारी कॉलेज से पढ़ाई कर सकते है, जहां कम पैसे में अच्छी शिक्षा प्रदान की जाएगी। 

Step 2 – अपनी नीट की परीक्षा में 660 से 690 मार्क्स लेकर आए। 

आपको कुछ दिन नीट की परीक्षा की तैयारी करनी चाहिए इस परीक्षा में अगर आप 660 से 690 अंक हासिल कर पाते हैं तो आप भारत के कुछ नामचीन और सर्वोच्च सरकारी मेडिकल कॉलेज में अपना दाखिला करवा सकते है, और BHMS की पढ़ाई पूरी कर सकते हैं। 

Step 3 – मार्क्स के अनुसार अपने कॉलेज का चयन करें।

अप नीत की परीक्षा पास करने के बाद अपने मार्क्स के अनुसार अपने कॉलेज का चयन करें अपना मार्कशीट और 12वीं पास लेकर उस कॉलेज में जा सकते हैं और दाखिला के लिए आवेदन कर सकते हैं।

आपने चयनित कॉलेज में आप जब दाखिला के लिए आवेदन करेंगे तो मार्क्स के अनुसार आपकी फीस तय की जाएगी। अगर आपका माल अच्छा है तो आप सरकारी कॉलेज में एडमिशन ले सकते है, सरकारी कॉलेज की फीस किसी प्राइवेट कॉलेज के मुकाबले बहुत कम होती है इस वजह से ज्यादातर लोग मेडिकल की पढ़ाई सरकारी कॉलेज से करना चाहते हैं। 

Step 4 – अपने एडमिशन की प्रक्रिया को आदेश अनुसार पूर्ण करें।

जब आप अपने कॉलेज में जाएंगे तो जरूरी दस्तावेज प्रस्तुत करने के बाद आपका बीएचएमएस कोर्स में दाखिला हो जाएगा जहां आपको 4 साल 6 महीने तक इस कोर्स की पढ़ाई करनी होगी और उसके बाद 1 साल का इंटर्नशिप करना होगा जिसके बाद आपके नाम के आगे डॉक्टर लगा दिया जाएगा। 

BHMS का कोर्स करने के लिए योग्यता

अगर ऊपर बताई गई जानकारियों को पढ़ने के बाद आप मेडिकल के फील्ड की इस डिग्री को हासिल करना चाहते है तो इसके लिए कुछ न्यूनतम योग्यता रखी गई है जिसे नीचे सरल शब्दों में आपके समक्ष प्रस्तुत किया गया है उन्हें ध्यानपूर्वक पढ़ें – 

  • इस कोर्स में दाखिला लेने के लिए आपको सबसे पहले 12वीं कक्षा विज्ञान विभाग से पास करनी होगी जिसमें आप के विषय रसायन विज्ञान, भौतिक विज्ञान और गणित होने चाहिए। 
  • नीट की परीक्षा में बैठने के लिए आपको कम से कम 12वीं की परीक्षा में 50% मार्क्स लाने होंगे। 
  • इसके अलावा इस कोर्स में दाखिला लेते वक्त आपकी उम्र 17 वर्ष से अधिक होनी चाहिए। 
  • जैसा कि हमने आपको बताया BHMS Course मेडिकल फील्ड से संबंध रखता है जिस वजह से आपको इस कोर्स को सफलतापूर्वक पूर्ण करने के लिए मेडिकल फील्ड में रूचि होना आवश्यक हैं। 

भारत में BHMS के टॉप 5 कॉलेज

अब भारत में कहां से अपने बीएचएमएस की पढ़ाई पूरी कर सकते है इसके बारे में संक्षिप्त जानकारी नीचे दी गई है उसे ध्यानपूर्वक पढ़ें और उन सभी कॉलेजों में दाखिला पाने के लिए आपको नीट की परीक्षा पास करना आवश्यक है इसे याद रखें।

1. All India Institute Of Medical Sciences New Delhi

नई दिल्ली भारत की राजधानी है आपको यहां पर हर चीज की बेहतरीन सुविधा मिल जाएगी अगर वर्तमान समय में हम भारत के सबसे बेहतरीन मेडिकल कॉलेज की बात करें तो उसमे दिल्ली का AIIMS कॉलेज आता हैं।

या भारत का सबसे बेहतरीन कॉलेज है जहां से आप मेडिकल की कोई भी डिग्री किस सबसे अच्छी शिक्षा प्राप्त कर सकते है जहां एडमिशन पाने के लिए आपको को नीट की परीक्षा में बेहतरीन अंक लाने की आवश्यकता हैं। 

2. St. John’s Medical College

भारत के कुछ सबसे बेहतरीन कॉलेज में से एक संत जॉन्स मेडिकल कॉलेज को माना जाता है यह बहुत ही पुराना मेडिकल कॉलेज है जहां से आप किसी भी प्रकार की मेडिकल डिग्री को हासिल कर सकते हैं। 

यहां एडमिशन पाने के लिए आपको नीट की परीक्षा पास करनी होगी और अगर आप यहां से अपनी पढ़ाई पूरी करते हैं तो आपको भारत के सबसे बेहतरीन हॉस्पिटल में डॉक्टर की नौकरी मिल सकती हैं। 

3. Madras Medical College

भारत के कुछ प्रचलित मेडिकल कॉलेज में से एक मद्रास मेडिकल कॉलेज है जिसकी शुरुआत 19वीं सदी में हुई थी तब से लेकर आज तक भारत के कुछ सर्वश्रेष्ठ सर्जन इस कॉलेज से पढ़कर निकले है और विश्व भर में ख्याति हासिल की हैं। 

4. Dayanand Medical College

भारत में कुछ बेहतरीन कॉलेज और स्कूल दयानंद संस्था के द्वारा बनाया गया है इस संस्था के मदद से दयानंद मेडिकल कॉलेज की भी स्थापना की गई है जहां से आप अपनी मेडिकल की पढ़ाई पूरी कर सकते है। या भारत का एक बेहतरीन कॉलेज है जिसकी शुरुआत तो 19वीं सदी में की गई थी इस कॉलेज में एडमिशन पाने के लिए आपको नीट की परीक्षा पास करनी होगी साथ ही यहां भारत के कुछ बड़े बड़े मेडिकल दिगाज सर्जन पास हुए हैं। 

5. Armed Forces Medical College Pune

इस कॉलेज की स्थापना मुख्य रूप से भारतीय आर्मी के लिए की गई थी जहां डॉक्टरों को तैयार किया जाता है इस कॉलेज से आप मेडिकल के बेहतरीन तरीके सीख पाएंगे ना केवल पढ़ाई बल्कि डेसिपलाइन भी इस कॉलेज में सबसे बेहतरीन तरीके से सिखाया जाता हैं।

BHMS कोर्स करने के लिए फीस

आप इस कोर्स को भारत के विभिन्न जगहों से पढ़ सकते है इस कोर्स को खत्म करने में आपको कितना फीस देना पड़ेगा इसके बारे में संक्षिप्त जानकारी नीचे दी गई हैं। 

BHMS Course में अगर किसी सरकारी कॉलेज या पब्लिक कॉलेज से इस डिग्री को प्राप्त करते है तो इसमें आपको ₹20000 से ₹50000 वार्षिक शुल्क के तौर पर जमा करना होगा। इसके अलावा अगर आप किसी निजी कॉलेज से इस कोर्स की पढ़ाई को पूरी करते है तो आपको ₹100000 से ₹200000 रुपए वार्षिक शुल्क के तौर पर जमा करना होगा। 

किसी गैर सरकारी संस्था से आप अगर इस कोर्स को पूरा करते है तो आपको इससे कॉलेज के द्वारा दी जाने वाली सुविधा के अनुसार फीस का भुगतान करना होगा। 

BHMS Course का लाभ

ऊपर बताई गई सभी जानकारियों को पढ़ने के पश्चात अगर आपको यह कोर्स लाभदायक लगता है और आप इस असमंजस में फंसे हुए है कि इस कोर्स को पढ़ने से क्या लाभ हो सकता है तो नीचे हमने इस कोर्स के फायदे को बताने के लिए कुछ संक्षिप्त जानकारी दी हैं। 

  • इस कोर्स को करने के बाद आप हेमोपथिक और सर्जरी के अच्छे जानकार हो जाएंगे। 
  • यह एक स्नातक डिग्री है जिसे करने के बाद आप हर उस नौकरी के लिए आवेदन कर सकते है जो स्नातक की डिग्री के बाद किया जाता हैं। 
  • डॉक्टरों की मांग पूरे विश्व में बड़ी तेजी से बढ़ रही है जिस वजह से इस कोर्स को करने के बाद आप विश्व के किसी भी क्षेत्र में नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं। 
  • इस कोर्स को करने के बाद आपको है होम्योपैथि के दवाइयों के जानकार हो जाएंगे तब आप अपना खुद का होम्योपैथिक क्लीनिक खोल सकते हैं। 

BHMS से पैसे कमाने के बारे में पूछे जाने वाले प्रश्न

यहाँ पर मैंने ऐसे कुछ सवालों के जवाब दिए हुए जो की अक्सर लोग BHMS के बारे में पूछते रहते हैं।

Q. BHMS का फुल फॉर्म क्या हैं?

BHMS का फुल फॉर्म Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery होता हैं। 

Q. BHMS क्यूं करते हैं?

यह एक मेडिकल डिग्री है जिसे करने के बाद आप होम्योपैथिक दवाइयों के बारे में जानकारी और सर्जरी की जानकारी एकत्रित कर सकते हैं।

Q. BHMS Course करने में कितना खर्च आएगा?

यह एक प्रचलित मेडिकल कोर्स है जिसे आप सरकारी और गैर सरकारी कॉलेज से कर सकते हैं अगर आप इसकी पढ़ाई सरकारी कॉलेज से करते हैं तो आमतौर पर ₹20 हजार से ₹50 हजार का खर्चा आएगा इसके अलावा अगर आप किसी गैर सरकारी संस्था से इसकी पढ़ाई करते हैं तो वार्षिक ₹300000 तक का खर्च आ सकता हैं। 

निष्कर्ष

अगर आपको BHMS Course Details in Hindi लेख हेल्पफुल रहा है तो फिर आप यह लेख अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करना। इसके अलावा अगर आपको इस लेख से सम्बंधित कोई भी जानकारी चाहिए तो उसके लिए आप निचे कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

Abhishek Maurya

मेरा नाम अभिषेक मौर्य है और मैं उत्तर प्रदेश वाराणसी डिस्ट्रिक्ट का रहने वाला हूं और मैं एक दिव्यांग हूं। मुझे अलग-अलग विषयों पर आर्टिकल लिखना बहुत अच्छा लगता है और इसी को मैंने अपना जुनून बनाया है। मैं पिछले 3 वर्षों से आर्टिकल लेखन का कार्य कर रहा हूं। आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख कैसे लगते हैं? आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। मेरा भी एक हिंदी ब्लॉग है जिस पर मैं रिलेशनशिप के ऊपर आर्टिकल लिखता हूं जिसका यूआरएल इस प्रकार से है। माय वेबसाइट यूआरएल - https://hindibaatchit.com/

Leave a Reply