Demat Account कैसे खोले (स्टेप बाय स्टेप गाइड) इन हिंदी

दोस्तों अगर आप आज के संबंध में घर बैठे शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करके पैसा कमाना चाहते हो और आपको इसके बारे में थोड़ा बहुत जानकारी मौजूद दी है तब अपने पैसे से पैसे को कमाने का यह सबसे आसान और सबसे सही तरीका आपके लिए साबित हो सकता है। शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट के लिए हमें डिमैट अकाउंट की जरूरत पड़ती है और बिना डिमैट अकाउंट खोले हम शेयर मार्केट में किसी भी प्रकार का छोटा या फिर बड़ा इन्वेस्टमेंट नहीं कर सकते। अब सवाल उठता है कि आखिर हम Demat Account Kaise Khole। 

आज के समय में डिमैट अकाउंट खोलने के लिए आपको ज्यादा कुछ करने की जरूरत नहीं है और अगर आपके पास आपका मोबाइल फोन या फिर लैपटॉप है तो आप बड़ी आसानी से 5 से 10 मिनट के अंदर अंदर ही अपना डीमैट खाता आसानी से खोल सकते हो। डिमैट अकाउंट खोलने से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में विस्तार पूर्वक जाने हेतु आज आप हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को शुरुआत से लेकर अंतिम तक ध्यान पूर्वक जरूर पढ़ें। 

Table Of Contents
  1. Demat Account क्या होता है 
  2. Demat Account कैसे काम करता है
  3. Demat Account खोलने के लिए क्या-क्या चाहिए
  4. Demat Account कैसे खोलें
  5. Demat Account के फायदे 
  6. Demat Account और ट्रेडिंग अकाउंट में क्या अंतर है 
  7. Demat Account के बारे में पूछे जाने वाले प्रश्न

क्योंकि हमने अपने आज के इस लेख में डिमैट अकाउंट खोलने से संबंधित लगभग सभी प्रकार की आवश्यक जानकारी के बारे में विस्तार पूर्वक से बताया हुआ है और आपके लिए हमारा आज का यह लेख काफी उपयोगी और सहायक पूर्ण साबित हो सकता है इसीलिए हम चाहते हैं कि आप इस लेख में दी गई जानकारी को बिल्कुल भी मिस ना करें और इसे शुरुआत से लेकर अंतिम तक ध्यानपूर्वक पढ़े और बताए गए प्रोसेस को फॉलो भी करें।

Demat Account क्या होता है 

जिस प्रकार से हमें अपने बैंक में पैसा को सुरक्षित रखने के लिए बैंक खाते की जरूरत होती है ठीक उसी प्रकार से शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट के लिए हमें डिमैट अकाउंट की जरूरत होती है। साधारण शब्दों में एक ऐसा डिजिटल खाता जिसमें हम अपने सभी शेयर को सुरक्षित रख सकते है और उसे सेल कर सकते है इसी को डिमैट अकाउंट कहा जाता है।

बिना डिमैट अकाउंट के आप शेयर मार्केट में बड़ा या फिर छोटा किसी भी प्रकार का इन्वेस्टमेंट नहीं कर सकते और ना ही शेयर मार्केट में ट्रेडिंग कर सकते है। शेयर मार्केट में किसी भी प्रकार की इन्वेस्टमेंट गतिविधि को पूरा करने के लिए हमारे पास डिमैट अकाउंट का होना बहुत ही ज्यादा जरूरी है और बिना डिमैट अकाउंट के आप शेयर मार्केट का इस्तेमाल नहीं कर सकते और ना ही इस से पैसे कमा सकते हो।

यदि आपको अभी भी समझ में नहीं आया कि डीमैट अकाउंट क्या होता है? तो कोई बात नहीं चलिए अब हम इसे आपको एक उदाहरण के जरिए समझाने का प्रयास करते है बस आप हमारे इस उदाहरण को ध्यान पूर्वक से समझने का प्रयास करें फिर आप बड़ी ही आसानी से डिमैट अकाउंट को समझने में सफल रहोगे।

उदाहरणार्थ:  मान लीजिए आप किसी भी साबुन कंपनी के व्यापारी है तो आपको सबसे पहले साबुन निर्माता कंपनी से संपर्क करना होगा और उसके बाद आपको एक गोदाम में साबुन को स्टोर करना होगा ताकि आप इसकी स्पेलिंग खुदरा विक्रेताओं को आसानी से कर सको बिना गोदाम के आप साबुन का भंडारण नहीं कर पाओगे। 

और ना ही समय पर खुदरा विक्रेताओं को उनकी आवश्यकता अनुसार साबुन की डिलीवरी कर पाओगे ठीक इसी प्रकार से शेयर मार्केट में किसी भी प्रकार के शेयर को खरीदने के लिए, उसे सुरक्षित रखने के लिए और उसे सेल करने के लिए हमें एक डीमैट अकाउंट की आवश्यकता होती है। 

आप अपने साबुन के गोदान के सहारे ही अपने इस व्यापार को बड़ा करते हो और अपनी सेलिंग बढ़ाते हो ठीक इसी प्रकार से डिमैट अकाउंट हमारे लिए काफी उपयोगी है। डिमैट अकाउंट में सभी प्रकार के लेनदेन और खरीदारी से संबंधित पूरी जानकारी रिकॉर्ड के तौर पर सुरक्षित रखी जाती है ताकि आपके साथ किसी भी प्रकार का धोखा ना होने पाए इसीलिए शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट करने के लिए या फिर ट्रेडिंग करने के लिए आपके पास डिमैट अकाउंट का होना बेहद जरूरी है।

Demat Account कितने प्रकार के होते है

दोस्तों डिमैट अकाउंट खोलने से पहले हमें इसके प्रकार के बारे में जानना भी जरूरी है जी हां आपने बिल्कुल सही पड़ा है जिस प्रकार से बैंक में सेविंग खाता, फ़िक्स खाता और बिजनेस खाता होता है ठीक उसी प्रकार से डिमैट अकाउंट भी लगभग 3 प्रकार का होता है और इसका इस्तेमाल भारती और एन आर आई दोनों ही अपने आवश्यकतानुसार आसानी से कर सकते है।

1. रेगुलर डिमैट अकाउंट

इस प्रकार का डिमैट अकाउंट रेगुलर डिमैट अकाउंट होता है जिसमें सिर्फ आवासीय भारतीय नागरिकों को ही शेयर मार्केट में कार्य करने की अनुमति प्रदान की जाती है। आप इस प्रकार के डीमैट अकाउंट में जब चाहो तब खाता खोल सकते हो और इतना ही नहीं अकाउंट बनाने के बाद तुरंत ही आप इसमें अपना इन्वेस्टमेंट भी शुरू कर सकते हो। इस प्रकार के अकाउंट के अंतर्गत सभी प्रकार के ट्रांजैक्शन रिकॉर्ड और अन्य आवश्यक जानकारी का भंडारण किया जाता है।

2. रिपेट्रिएबल डीमैट अकाउंट

रिपेट्रिएबल डीमैट अकाउंट खास करके अप्रवासी भारतीयों के लिए ही बनाया गया है और वे इनका इस्तेमाल आसानी से करके कहीं पर भी शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट को प्रारंभ कर सकते है। रिपेट्रिएबल डीमैट अकाउंट का विकल्प चुनने वाले NRI को विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम के नियमों का पालन करना होता है। इस प्रकार का डीमैट अकाउंट एन आर आई को विदेशों में भी फंड ट्रांसफर करने की अनुमति प्रदान करता है। हालांकि, नियमित डीमैट अकाउंट धारकों के विपरीत, प्रत्यावर्ती डीमैट अकाउंट धारकों को डीमैट अकाउंट के साथ अपने NRE (अनिवासी बाहरी) अकाउंट को लिंक करना होता है। रिपेट्रिएबल डीमैट अकाउंट सभी बैंकों और डिस्काउंट ब्रोकरों पर उपलब्ध है और इतना ही नहीं शेयर मार्केट इन्वेस्टमेंट आपने भी इस प्रकार के अकाउंट को खोलने की अनुमति दी जाती है। फंड का रिपेट्रिएशन दोनों देशों के नियम पर निर्भर करता है और इस तथ्य पर भी निर्भर करता है कि दोनों देशों की सरकार को उस विशेष व्यक्ति के लिए फंड ट्रांसफर को ब्लॉक करने का कोई इरादा नहीं है।

3. नॉन-रिपेट्रिएबल डीमैट अकाउंट

नॉन-रिपेट्रिएबल डीमैट अकाउंट NRI के लिए उपलब्ध दूसरा डीमैट अकाउंट विकल्प है। हालांकि, नॉन-रिपेट्रिएबल डीमैट अकाउंट NRI को विदेश में किसी भी प्रकार का फंड ट्रांसफर करने की बिल्कुल भी अनुमति प्रदान नहीं करता है। इस प्रकार के डिमैट अकाउंट को खोलने के लिए सबसे पहले आपके पास भारत में एनआरओ का बैंक में खाता होना चाहिए यानी कि आपको अपने बैंक में एनआरओ से संबंधित जाकर खाता खुलवाना अनिवार्य है तभी आप इस प्रकार के डिमैट अकाउंट को ओपन कर सकते हो। NRI की स्थिति प्राप्त करने से पहले, नियमित डीमैट वाले इन्वेस्टर बिना किसी शेयर के भारत छोड़ने के बाद नॉन-रिपेट्रिएबल डीमैट अकाउंट कैटेगरी में ट्रांसफर कर सकते है या नए अकाउंट को पूरी तरह से खोलने का विकल्प चुन सकते हैं। 

Demat Account कैसे काम करता है

आपने जब डिमैट अकाउंट के बारे में इतना सब कुछ जाना तो आपके मन में सवाल उठ रहा होगा कि आखिर डिमैट अकाउंट कैसे कार्य करता है। हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जब आप किसी भी प्रकार का शेयर खरीदते हो और उसे सुरक्षित रखते हो। 

तब उस दौरान आपके द्वारा खरीदा गया शेयर डिमैट अकाउंट में डिजिटली सुरक्षित रहता है। इसके बाद जब हम अपने शेयर को बेचते है तो तब उस दौरान जब हमारा शेयर सेल होता है तब हमारे डिमैट अकाउंट में से ही शेयर डेबिटेड किया जाता है। 

और जब शेयर पूरे तरीके से डेबिटेड हो जाता है तब मिलने वाला अमाउंट हमारे डिमैट अकाउंट में 2 दिन के अंदर अंदर दिखाई देने लगता है और डिमैट अकाउंट से जिस भी हमने अपने बैंक खाते को लिंक किया होगा उसमें हम अपने पैसे को आसानी से स्थानांतरित कर सकते है। 

एक्सचेंज रेट के अनुसार शेयर की कीमत आपने जितनी भी कमाई होगी उसे आपके बैंक में डिमैट अकाउंट से  स्थानांतरित होने में लगभग तीन से चार दिनों का वक्त आराम से लग जाता है और इसी तरीके से डिमैट अकाउंट कार्य करता है इसकी कार्यप्रणाली इसी हिसाब से डिजाइन की गई है जो सभी शेयर मार्केट की शर्तों और नियमों के आधार पर काम करती है।

Demat Account खोलने के लिए क्या-क्या चाहिए

अब सवाल उठता है कि जब हम डिमैट अकाउंट बनाने के लिए जाते है तब हमें उस दौरान डीमैट खाता खोलने के लिए क्या-क्या चाहिए होता है यानी कौन कौन से दस्तावेज की जरूरत होती है। दोस्तों हमें डिमैट अकाउंट खोलने के लिए कई सारे महत्वपूर्ण दस्तावेजों की जरूरत होती है। 

और उसके बारे में आपको पता होना चाहिए तभी आप अपना डिमैट अकाउंट बना पाओगे और शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट करना शुरू कर पाओगे चलिए अब हम आप सभी लोगों को आगे डिमैट अकाउंट खोलने के लिए लगने वाले आवश्यक दस्तावेजों की जानकारी देते हैं और इसके लिए नीचे दी गई जानकारी को ध्यानपूर्वक से जरूर पढ़ें।

1. पहचान प्रमाण पत्र

आपको अपना डिमैट खाता खोलने के लिए सबसे पहले कुछ पहचान प्रमाण पत्र की जरूरत होगी जैसे कि वोटर आईडी कार्ड या फिर आधार कार्ड की जरूरत आपको इस दौरान पड़ेगी। इसके अलावा आप ड्राइवरी लाइसेंस को भी पहचान प्रमाण पत्र के तौर पर इस्तेमाल में ले सकते हो।

2. पते का प्रमाण

जब आप डिमैट अकाउंट खोलने जाओगे तब आपको उस दौरान आपको पते का दस्तावेज देना पड़ेगा। आप इसके लिए पानी का बिल, इलेक्ट्रिसिटी बिल या फिर राशन कार्ड का जेरोक्स कॉपी भी इस्तेमाल में ले सकते हो। यह सभी  पते के प्रमाण पत्र के तौर पर इस्तेमाल किए जा सकते हैं।

3. आपके बैंक खाते का कैंसिल चेक

आपको आवश्यक दस्तावेज के रूप में अपने बैंक खाते का कोई भी एक कैंसिल चेक अकाउंट बनाने के दौरान अपलोड करना होगा। अगर आपके पास कैंसिल चेक नहीं है तो सबसे पहले आप अपने कैंसिल चेक बनाने की व्यवस्था पूरा कर लिया उसके बाद ही डिमैट अकाउंट बनाने की प्रोसेस को कंप्लीट करें।

4. पैन कार्ड की कॉपी

यदि आपके पास पैन कार्ड नहीं है तो आप अपना डिमैट अकाउंट नहीं बना सकते। डिमैट अकाउंट बनाने के दौरान पैन कार्ड का फोटो कॉपी संबंधित वेबसाइट या फिर एप्लीकेशन में अपलोड करना होता है जहां पर भी आप अपना डिमैट अकाउंट बनाने वाले हो वहां पर। अगर आपके पास पैन कार्ड नहीं है तो सबसे पहले आप 18 वर्ष से ऊपर के वाला पैन कार्ड बना लीजिए और इसकी फोटो कॉपी अपने पास रख लीजिए।

5. वीजा की फोटो कॉपी

अगर आप एक एन आर आई हो तो आपको डिमैट अकाउंट बनाने के दौरान अपना वीजा का इस्तेमाल करना होगा। आपके पास जिस किसी भी प्रकार का वीजा हो आप उसका फोटो कॉपी कर लीजिए और डिमैट अकाउंट बनाने के दौरान इसका इस्तेमाल आपको करना पड़ेगा क्योंकि बिना वीजा के आप एक इंडियन होने के बावजूद डीमैट अकाउंट नहीं ओपन कर सकते।

6. फेमा घोषणा पत्र 

एन आर आई होने के के बाद आपको अगर शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट करना है और अपना डिमैट अकाउंट बनाना है तब आपको ऐसे में फेमा घोषणा पत्र बनाना अनिवार्य है। इस प्रमाण पत्र को बना लेने के पश्चात जब आप शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट करोगे और अपने इंडियन रुपीस में करेंसी प्राप्त करोगे तब इस दौरान यह प्रमाण पत्र कार्य करता है। 

ताकि आपके पैसे को इंडियन रुपीस में परिवर्तित होने या फिर इंडियन रुपीस से किसी अन्य विदेशी मुद्रा में परिवर्तित होने में किसी भी प्रकार की समस्या ना हो और ना ही आपके पैसों को ट्रांसफर होने के लिए ब्लॉक किया जाए। 

यह दो देशों के बीच का एक समझौता प्रमाण पत्र होता है जिससे पैसों को अपने देश की करेंसी में आसानी से स्थानांतरित किया जाता है और यह खासतौर पर सिर्फ और सिर्फ शेयर मार्केट या फिर किसी दूसरे इन्वेस्टमेंट प्लान जैसे कि म्यूचुअल फंड आदि में इन्वेस्ट करने के लिए इस्तेमाल में लिया जाता है। इसीलिए आपके पास अगर यह घोषणा प्रमाण पत्र नहीं है तो सबसे पहले इसे आप बनवा लीजिए यह आपके काफी काम का है।

Demat Account कैसे खोलें

चलिए अब हम आप सभी लोगों को आगे अपने इस लेख के माध्यम से डिमैट अकाउंट खोलने से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी देते है। यहां पर हमने अपस्टॉक्स में डिमैट अकाउंट खोलने की प्रोसेस को स्टेप बाय स्टेप तरीके से समझाया हुआ है और आप नीचे दी गई जानकारी को ध्यानपूर्वक से पढ़कर बड़ी ही आसानी से अपस्टॉक्स में डिमैट अकाउंट को खोलने की प्रोसेस को समझ सकते हो बस नीचे दी गई जानकारी को ध्यान से पढ़ें और फॉलो भी करें।

1. अपस्टॉक्स इंस्टॉल करें

सबसे पहले आपको गूगल के प्ले स्टोर पर चले जाना है या फिर आप एप्पल के एप स्टोर पर भी जा सकते हो और वहां जाने के बाद आपको अपने फोन में अपस्टॉक्स का ऑफिशियल एप्लीकेशन इंस्टॉल कर लेना है।

2. एप्लीकेशन को ओपन करें

अप स्टॉक्स का ऑफिशल एप्लीकेशन अपने फोन में इंस्टॉल कर लेने के पश्चात अब आपको आगे एप्लीकेशन को अपने फोन में ओपन कर लेना है और जैसे ही आप एप्लीकेशन को अपने फोन में ओपन करते हो वैसे ही आपके सामने यहां पर मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी इंटर करने के लिए कहा जाता है और आप इन दोनों ही जानकारी को वहां पर इंटर कर दीजिए। 

अब इसके बाद आपको सेंड ओटीपी नामक एक ऑप्शन दिखाई देगा और आप इस वाले ऑप्शन पर क्लिक करें। जैसे ही आप इस वाले ऑप्शन पर क्लिक करोगे वैसे ही आपके द्वारा इंटर किए गए मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी दोनों पर ही ओटीपी सेंड किया जाएगा जहां पर भी आपको ओटीपी प्राप्त होता है आप सबसे पहले यहां पर अपना ओटीपी वेरीफाई कर लीजिए।

3. साइन अप के ऑप्शन पर क्लिक करें

आप जैसे ही आप यहां पर अपना ओटीपी वेरीफाई कर लोगे वैसे ही आपको यहां पर साइन अप का एक ऑप्शन दिखाई देगा और आप इस वाले ऑप्शन पर क्लिक कर देगी इसके बाद आपके सामने एक नया इंटरफेस खुलकर आ जाएगा।

4. पैन कार्ड नंबर और डेट ऑफ बर्थ इंटर करें

अब यहां पर जो आपके सामने एक नया इंटरफेस खुलकर आया है यहां पर आपको दो जानकारी इंटर करने के लिए कहीं जाएगी पहली जानकारी आपको अपना पैन कार्ड नंबर इंटर करने के लिए कहा जाएगा और दूसरी जानकारी के रूप में आपको अपना डेट ऑफ बर्थ इंटर करने के लिए कहा जाएगा और आप इन दोनों की जानकारियों को सही सही तरीके से दिए गए जगह पर इंटर कर दें। अब इन जानकारियों को इंटर का लेने के पश्चात आपको यहां पर नेक्स्ट का एक ऑप्शन दिखाई देगा और आप इस वाले ऑप्शन पर क्लिक कर दीजिए।

5. आवेदन फॉर्म में जानकारी भरें

आप जैसे ही इतना प्रोसेस कंप्लीट कर लेते हो ऐसे ही आपके सामने एक नया इंटरफेस खुलकर आ जाएगा और यहां पर आपसे कुछ आवश्यक जानकारी पूछी जाएगी जैसे कि आप मैरिड हो या अनमैरिड, आपकी सालाना इनकम कितनी है, आपका शेयर मार्केट में कितना अनुभव अब तक का रहा है? आदि जैसी जानकारी आपसे यहां पर पूछी जाएगी और आप यहां पर पूछी जा रही जानकारी को ध्यान से पढ़ें और उसी हिसाब से यहां पर अपना जवाब सेलेक्ट करें। आप जैसे ही यहां पर पूछे जा रहे प्रश्नों का जवाब दे दोगे वैसे ही आपको यहां पर नेक्स्ट का एक ऑप्शन दिखाई देगा और आप इस वाले ऑप्शन पर क्लिक करें।

6. अपना सेगमेंट सेलेक्ट करें

आगे की प्रोसेस में आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा और यहां पर आपको अपना सेगमेंट कलेक्ट करने के लिए कहा जाएगा। अगर आप सिर्फ शेयर ही खरीद कर बेचना चाहते है, तो सिर्फ Equity को ही चुने। अगर आप यहां पर शेयर बेचने और खरीदने के साथ-साथ इंट्राडे ट्रेडिंग आदि करना चाहोगे तो ऐसे में आपको यहां पर दिए गए सेगमेंट Futures and Options को चुन लेना है। दूसरे वाले ऑप्शन का चुनाव करने के बाद आपको कम से कम आय का प्रमाण जो की आपका बैंक स्टेटमेंट या फिर ITR Return होता है वह अपलोड करने के लिए कहा जाएगा और आप इस जानकारी को वहां पर अपलोड कर दीजिए और उसके बाद नेक्स्ट के विकल्प पर क्लिक करें।

7. यश के ऑप्शन पर क्लिक करें

आप जैसे ही इतना प्रोसेस कंप्लीट कर लेते हो वैसे ही आपके सामने एक नया पेज ओपन होकर आ जाएगा और आपको यहां पर कांग्रेचुलेशन का एक मैसेज दिखाई देगा और साथ ही साथ आपको यहां पर एप्लीकेशन की तरफ से फ्री में शेयर प्रदान किया जाएगा और इस शेयर को एक्सेप्ट करने के लिए आपको दिए गए यस वाले ऑप्शन पर क्लिक करना होगा और आप इस वाले ऑप्शन पर क्लिक कर दीजिए।

8. बैंक डिटेल इंटर करें

अब यहां पर आप सभी लोगों को एक नया पेज दिखाई देगा और इस नए पेज में आपको अपने बैंक डिटेल को इंटर करने के लिए कहा जाएगा। यहां पर आपसे जो भी बैंकिंग संबंधित जानकारी पूछी जा रही है आप उन सभी जानकारी को एक-एक करके सबसे पहले तो ध्यान से पढ़े और उसके बाद उसी हिसाब से यहां पर जानकारी को ध्यानपूर्वक से भरे। अपने बैंक से संबंधित आवश्यक जानकारी को भर लेने के पश्चात आपको यहां पर नेक्स्ट का ऑप्शन दिखाई देगा और आप इस वाले ऑप्शन पर क्लिक कर दीजिए।

9. अपना e-signature अपलोड करें

अब एक बार फिर से आपके सामने एक नया पेज आ जाएगा और यहां पर आपको अपना e-signature अपलोड करने के लिए कहा जाएगा। अपना ही ई सिगनेचर अपलोड करने के लिए आप कोई भी एक सफेद खाली पेपर ले लीजिए और उसके बाद आप अपना सफेद खाली पेज पर अपना सिग्नेचर कर दीजिए और सिग्नेचर करने के पश्चात आपको इसका फोटो क्लिक करने के लिए कहा जाएगा। एप्लीकेशन में आपको यह विकल्प मिल जाएगा और आप उस विकल्प पर क्लिक करके अपने फोटो को वहां पर क्लिक करें और उसके बाद आपको आगे की प्रोसेस में यहां पर अपलोड e-signature का ऑप्शन दिखाई देगा और आपको इस वाले ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।

10. कनेक्ट योर डिजी लॉकर विद अप स्टॉक्स पर क्लिक करें

अब आपके सामने एक नया पेज ओपन होकर आ जाएगा और यहां पर आपको अपना डीजी लॉकर अपने अप स्टॉक्स अकाउंट से लिंक करने के लिए कहा जाएगा अगर आपके पास डिजी लॉकर में अकाउंट नहीं है तो सबसे पहले आप अपना डीजी लॉकर पर जाकर के अकाउंट बना लीजिए और उसके उसके बाद इस वाले ऑप्शन पर क्लिक कर दीजिए। इस वाले ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपको नेक्स्ट का ऑप्शन दिखाई देगा और आप नेक्स्ट वाले ऑप्शन पर क्लिक करें।

11. अपना आधार नंबर लिखें और ओटीपी वेरीफाई करें

आपको यहां पर एक नया पेज दिखाई देगा और आपको यहां पर अपना आधार संख्या दर्ज कर देना है और जैसे ही आप आधार संख्या दर्ज करोगे वैसे ही आपको यहां पर एक नेक्स्ट का ऑप्शन दिखाई देगा और आप इस वाले ऑप्शन पर क्लिक कर दीजिए। आप जैसा ही इस वाले ऑप्शन पर क्लिक करते हो वैसे ही आपके आधार नंबर से  लिंक किए गए मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी भेजा जाएगा और आपको उस ओटीपी को यहां पर इंटर कर देना है इसके बाद आप फिर से एक बार नेक्स्ट के ऑप्शन पर क्लिक कर दीजिए।

12. डिजी लॉकर को एक्सेस करने के लिए परमिशन अलाव करें

अब इतना प्रोसेस कंप्लीट कर लेने के पश्चात आपको यहां पर अप स्टॉक्स से लिंक करने के लिए कुछ परमिशन को अलग करने के लिए कहां जाएगा और यहां पर जो भी परमिशन अलाव करने के लिए कहीं जा रही है उन सभी परमिशन को अलाव कर दीजिए और उसके बाद यहां पर आपको कंटिन्यू नामक एक ऑप्शन दिखाई देगा और आप इस वाले ऑप्शन पर क्लिक करें।

13. अपना फोटो अपलोड करें

आपको अब आगे की प्रोसेस में अपना फोटो अपलोड करने के लिए कहा जाएगा और यहां पर आपको रियल फोटो तुरंत खींचने के लिए ऑप्शन मिल जाएगा और आप यहां पर तुरंत अपना अपने मोबाइल फोन की कैमरा की सहायता से साफ साफ फोटो खींच लीजिए और उसे एप्लीकेशन पर अपलोड कर दीजिए।

14. अपना ईमेल आईडी कंफर्म करें

अब यहां पर को अपनी ईमेल आईडी करने के लिए कहा जाएगा और आगे आपको अपनी ईमेल आईडी को कंफर्म करना होगा। आपने पहले जो ईमेल आईडी इंटर की थी उस ईमेल आईडी को यहां पर इंटर कर दीजिए और उसके बाद गेट ओटीपी नामक ऑप्शन पर क्लिक कर दीजिए। आप जैसे ही इतना प्रोसेस कंप्लीट करते हो वैसे ही आपके द्वारा इंटर किए गए ईमेल आईडी पर ओटीपी आ जाएगा और आप उस ओटीपी को एप्लीकेशन में वेरीफाई कर लीजिए। अब आगे आपको नेक्स्ट का ऑप्शन दिखाई देगा और आप इस वाले ऑप्शन पर क्लिक कर दीजिए।

15. फ्री फॉर साइन अप वाले ऑप्शन पर क्लिक करें

आप जैसे ही इतना प्रोसेस कंप्लीट कर लेते हो ऐसे ही आपके सामने फ्री फॉर साइन अप नामक ऑप्शन दिखाई देगा और आप इस वाले ऑप्शन पर क्लिक करें। अगर आप प्रीमियम डिमैट अकाउंट ओपन करोगे तो आपको थोड़ा बहुत चार्ज देना पड़ सकता है और अगर आप लाइफ टाइम के लिए फ्री में डिमैट अकाउंट चलाना चाहते हो तो आपको एक मिनिमम चार्ज देना होगा और वह आगे चलकर आपको रिटर्न भी हो जाएगा। इतना प्रोसेस को आप कंप्लीट कर लीजिए।

16. आधार नंबर को मोबाइल से लिंक करना है या नहीं पर क्लिक करें

अगर आपका आधार कार्ड किसी भी मोबाइल नंबर से लिंक नहीं है तो आपको यहां पर अपना आधार कार्ड मोबाइल नंबर से लिंक करने का ऑप्शन मिल जाएगा और अगर आपका आधार कार्ड पहले से ही मोबाइल नंबर पर लिंक है तो आप यहां पर दिए गए नो वाले ऑप्शन पर क्लिक कर दीजिए। अब आपको कंटिन्यू नामक एक ऑप्शन दिखाई देगा और आप इस वाले ऑप्शन पर क्लिक करें।

17. कंटिन्यू वाले ऑप्शन पर क्लिक करें

अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा और यहां पर आपको बताएगा कि आप अपना डिमैट अकाउंट खोलने से बस कुछ ही स्टेप्स से दूर है और यहां पर आपको बस कंटिन्यू वाले ऑप्शन पर क्लिक करने के लिए कहा जाएगा और यहां पर आप इस वाले ऑप्शन पर क्लिक कर दीजिए।

18. ई सिगनेचर विद आधार ओटीपी पर क्लिक करें

अब आपके सामने एक नया इंटरफेस खोल कर आ जाएगा और यहां पर आपको सिर्फ और सिर्फ एक ही ऑप्शन दिखाई देगा। आपको यहां पर e-signature विद आधार ओटीपी नामक ऑप्शन दिखाई देगा और आप इस वाले ऑप्शन पर क्लिक कर दीजिए इस वाले ऑप्शन पर क्लिक करने के पश्चात आपके सामने एक बार फिर से नया पेज ओपन हो जाएगा और यहां पर आपको जो आपसे Aadhaar के द्वारा e-Sign करने के लिए अनुमती मांग रहा है। अनुमती देने के लिए आपको ESIGN NOW के Blue Button पर क्लिक करना होगा। इस प्रकार से आपका ओटीपी के माध्यम से ई सिगनेचर का प्रोसेस कंप्लीट हो जाता है।

19. अपने आधार कार्ड में नाम को यहां पर इंटर करें और टर्म एंड कंडीशन एक्सेप्ट करें

अब यहां पर आपका जो भी आधार कार्ड में नाम लिखा हुआ है वही नाम इस पेज पर लिखने के लिए कहा जाएगा और आप अपना आधार कार्ड पर लिखा हुआ नाम यहां पर इंटर कर दीजिए और इसके बाद आपको कुछ टर्म एंड कंडीशन को पढ़ने के लिए कहा जाएगा और कुछ ऑप्शन पर टिक मार्क करने के लिए कहा जाएगा और आप इन सभी काम को वहां पर आसानी से ध्यान से पूरा कर लीजिए। इतना प्रोसेस कंप्लीट कर लेने के पश्चात अब आपको यहां पर सबमिट नामक एक ऑप्शन दिखाई देगा और आप इस वाले ऑप्शन पर क्लिक कर दीजिए।

20. आधार नंबर इंटर करें और सेंड ओटीपी पर क्लिक करें

अब एक बार फिर से आपके सामने एक नया इंटरफ़ेस आ जाएगा और यहां पर एनएसडीएल की आधिकारिक वेबसाइट पर आप चले जाओगे और यहां पर आपको अपना आधार नंबर वेरीफाई करने के लिए कहां जाएगा और यहां पर आप अपना आधार नंबर सबसे पहले इंटर कर दीजिए और उसके बाद सेंड ओटीपी नामक ऑप्शन पर क्लिक कर दीजिए फिर आपको आपके आधार नंबर से लिंक मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आ जाएगा और आप उस ओटीपी को यहां पर वेरीफाई कर दीजिए। यहां पर आपको अपने आधार ओटीपी को वेरीफाई करने के लिए ग्रीन कलर का वैलिडेट ओटीपी नामक एक ऑप्शन दिखाई देगा और आप इस वाले ऑप्शन पर क्लिक करें।

21. अपने डॉक्यूमेंट को डाउनलोड करें और प्रोसीड पर क्लिक करें

अब आगे की प्रोसेस में आपके सामने एक नया इंटरफेस दिखाई देगा और आप एक नए पेज पर पहुंच जाओगे और यहां पर आपको अपना डॉक्यूमेंट डाउनलोड करने के लिए कहा जाएगा और प्रोसीड के ऑप्शन पर क्लिक करने के लिए कहा जाएगा और आप इस वाले ऑप्शन पर क्लिक कर दीजिए। अगर आप इस वाले ऑप्शन पर क्लिक करोगे तो आगे का स्टेप आप पूरा नहीं कर पाओगे।

22. डीमैट अकाउंट एक्टिवेट करने का वेट करें

आप जैसे ही ऊपर बताए गए सारे स्टेप्स को पूरा कर लेते हो वैसे ही आपका यहां पर डिमैट अकाउंट ओपन करने के लिए एप्लीकेशन फॉर्म सबमिट हो जाता है और एक-दो दिन के अंदर अंदर ही आपका डिमैट अकाउंट पूरी तरीके से एक्टिवेट हो जाएगा और आप इसका इस्तेमाल करके शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करना शुरू कर पाओगे।

Demat Account के फायदे 

चलिए अब हम आप सभी लोगों को आने डिमैट अकाउंट ओपन करना होने वाले फायदों के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देते है और आप इसके लिए नीचे दी गई जानकारी को ध्यानपूर्वक से पूरा जरूर पढ़े ताकि आपको डिमैट अकाउंट करने की आवश्यक फायदों के बारे में मालूम हो।

  • जब आप ऑनलाइन डिमैट अकाउंट खोलते हो तो आपको ज्यादा कोई फिजिकल दस्तावेज अपने पास सुरक्षित रखने की आवश्यकता नहीं होती है बस आप अपने यूजर नेम और पासवर्ड का इस्तेमाल करके बड़ी ही आसानी से अपने डिमैट अकाउंट को एक्सेस कर पाते हो।
  • अगर आपके पास डिमैट अकाउंट है तो आप शेयर मार्केट में जहां से भी चाहो वहां से इन्वेस्टमेंट करना शुरू कर सकते हो।
  • डीमैट अकाउंट के जरिए शेयर मार्केट में घर बैठे या फिर कहीं पर भी अपनी सुविधा अनुसार शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट करना और कंपनियों के शेयर खरीदना काफी आसान हो चुका है।
  • अगर आपके पास डीमैट अकाउंट होता है तो आपके साथ ऑनलाइन शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट से संबंधित किसी भी प्रकार की धोखाधड़ी नहीं हो पाती है और आप पूरे तरीके से अपने शेयर को यहां पर सुरक्षित रख सकते हो।
  • कहीं-कहीं परिस्थितियों में अगर आपके पास डिमैट अकाउंट होता है तो आपको आसानी से लोन भी प्रदान कर दिया जाता है।
  • पहले के समय में जब लोगों को शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट करना पड़ता था तब लोगों को इनडायरेक्ट ब्रोकर के जरिए अपना इन्वेस्टमेंट करना पड़ता था परंतु आज अगर आपके पास डीमैट अकाउंट है तो आप बड़े ही आसानी से शेयर मार्केट में बिना ब्रोकर के आसानी से इन्वेस्टमेंट कर सकते हो।
  • आप अपने शेयर मार्केट के इन्वेस्टमेंट के सभी प्रकार के ट्रांजैक्शन का ट्रैक रिकॉर्ड रख सकते हो।
  • अगर आप किसी भी कंपनी का शेयर लॉन्ग टर्म के लिए सुरक्षित रखना चाहते हो तो ऐसे में आपका डिमैट अकाउंट में काफी लंबे समय तक आसानी से सुरक्षित रहता है जब तक कि आप अपना शेयर बेच नहीं देते हो। 

Demat Account के नुकसान 

चलिए आप हम आप सभी लोगों को आगे डीमैट अकाउंट को ओपन करने के कुछ महत्वपूर्ण नुकसान के बारे में भी जान लेना जरूरी है और आप इसके लिए नीचे दी गई जानकारी को ध्यानपूर्वक से जरूर पढ़ें ताकि आपको डिमैट अकाउंट ओपन करने के होने वाले नुकसान के बारे में भी पहले से पता हो।

  • यदि आप डिमैट अकाउंट ओपन करते हो तो आपको वार्षिक मेंटेनेंस चार्ज चुकाना पड़ता है जो कि हमारे लिए एक अतिरिक्त खर्चे के रूप में होता है।
  • अगर आपने कभी भी इंटरनेट पर कोई एप्लीकेशन इस्तेमाल नहीं किया है और ना ही शेयर मार्केट का तकनीकी ऐप इस्तेमाल किया है तो हो सकता है आपको इसे इस्तेमाल करने में समस्याओं का सामना करना पड़ेगा या फिर आप इसमें कोई गलत विकल्प का चुनाव भी कर दें जिससे आपको हानि भी हो सकती है।
  • अगर इंटरनेट कनेक्शन ठीक से कार्य नहीं करता है तो आप डीमैट अकाउंट रहते हुए भी सही समय पर शेयर को बेचने और खरीदने का काम समय पर नहीं कर पाती हो इससे आपको नुकसान भी हो सकता है।

Demat Account और ट्रेडिंग अकाउंट में क्या अंतर है 

चलिए अब हम आप सभी लोगों को आगे अपने इस महत्वपूर्ण लेख में डिमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट के बीच में क्या अंतर होता है इसके बारे में बताते है क्योंकि कई सारे लोग ट्रेडिंग अकाउंट और डिमैट अकाउंट के बीच के अंतर को समझ नहीं पाते इसीलिए उन्हें इन दोनों के बीच के अंतर को समझना बेहद जरूरी है और इसके लिए आप नीचे दी गई जानकारी को ध्यानपूर्वक से जरूर पढ़ें।

  • आपको किसी भी प्रकार की ट्रेनिंग करने के लिए डिमैट अकाउंट क्या हो सकता नहीं होती है। आप ट्रेडिंग अकाउंट में जब चाहो तब अपना ट्रेनिंग करना शुरू कर सकते हो परंतु अगर आप शेयर मार्केट में शेयर को खरीद कर रखना चाहते हो और उसमें इन्वेस्टमेंट करना चाहते हो तब आपको डिमैट अकाउंट की जरूरत होती है।
  • डीमैट  अकाउंट समय में एक विशिष्ट टाइम पर मापा जाता है, ट्रेडिंग समय की अवधि में मापा जाता है। 
  • जब हम ट्रेडिंग अकाउंट से ट्रेडिंग करते है तब हमें कंपनी के पिछले परफॉर्मेंस और पिछले कई वर्षों के रिकॉर्ड आईडी को ध्यान में रखकर ट्रेडिंग करना होता है परंतु डिमैट अकाउंट में सिर्फ हम शेर की वैल्यूएशन और उसका अपन डाउन देखकर ही शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट करते हैं।
  • ट्रेडिंग अकाउंट ओपन करने के लिए आपको कोई भी इन्वेस्टमेंट करने की जरूरत नहीं होती है परंतु अगर आप डिमैट अकाउंट बनाते हो तो उस दौरान आपको डिमैट अकाउंट ओपन करने के लिए चार्ज देना होता है।
  • डिमैट अकाउंट का प्रतिवर्ष मेंटेनेंस चार्ज देना होता है परंतु ट्रेडिंग अकाउंट का कोई भी चार्ज देने की जरूरत नहीं होती है हम इसे इंस्टेंट इस्तेमाल भी कर सकते हैं। 

Demat Account के बारे में पूछे जाने वाले प्रश्न

यहाँ पर मैंने ऐसे पांच सवालों के जवाब दिए है जो की अक्सर लोग Demat Account के बारे में पूछते रहते हैं।

Q. क्या डिमैट अकाउंट के जरिए लोन लिया जा सकता है?

जी हां बिल्कुल डिमैट अकाउंट अगर आपके पास है तो आप इसके जरिए बड़ी आसानी से लोन ले सकते हो।

Q. डिमैट अकाउंट से पैसा कैसे कमाए?

आप डिमैट अकाउंट से शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करके और ट्रेडिंग करके आसानी से पैसा कमाया जा सकता है।

Q. क्या शेयर मार्केट में ट्रेडिंग और इन्वेस्टमेंट करने के लिए डिमैट अकाउंट जरूरी है?

अगर आपके पास डिमैट अकाउंट नहीं है तो आप शेयर मार्केट में नाही इन्वेस्टमेंट कर पाओगे और ना ही ट्रेडिंग। 

निष्कर्ष

अगर आपको Demat Account Kaise Khole लेख हेल्पफुल रहा है तो फिर आप यह लेख अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करना और इसके अलावा अगर आपको इस लेख से संबंधित कोई भी जानकारी चाहिए तो उसके लिए आप नीचे कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Abhishek Maurya

मेरा नाम अभिषेक मौर्य है और मैं उत्तर प्रदेश वाराणसी डिस्ट्रिक्ट का रहने वाला हूं और मैं एक दिव्यांग हूं। मुझे अलग-अलग विषयों पर आर्टिकल लिखना बहुत अच्छा लगता है और इसी को मैंने अपना जुनून बनाया है। मैं पिछले 3 वर्षों से आर्टिकल लेखन का कार्य कर रहा हूं। आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख कैसे लगते हैं? आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। मेरा भी एक हिंदी ब्लॉग है जिस पर मैं रिलेशनशिप के ऊपर आर्टिकल लिखता हूं जिसका यूआरएल इस प्रकार से है। माय वेबसाइट यूआरएल - https://hindibaatchit.com/

Leave a Reply