Domicile Certificate कैसे बनाये स्टेप बी स्टेप गाइड

जब आप नौकरी के लिए या आगे पढ़ाई करने के लिए आवेदन करेंगे तो आप तो आपको अपना निवास प्रमाण पत्र देना होगा जिसके लिए आपको Domicile Certificate Kaise Banaye के इस लेख की आवश्यकता पड़ेगी। 

डोमिसाइल सर्टिफिकेट का अर्थ होता है एक ऐसा दस्तावेज जिसकी सहायता से आप यह साबित कर सकें कि आप भारत के किसी राज्य के निवासी है। भारत मैं जब आप किसी नौकरी के लिए आवेदन करेंगे या फिर आप अपनी पढ़ाई आगे जारी रखने के लिए किसी स्कूल कॉलेज या विश्वविद्यालय में आवेदन करेंगे। 

तो आपको यह साबित करना होगा कि आप भारत के किसी राज्य के नागरिक हैं इसके लिए आपको एक खास प्रकार के दस्तावेज की आवश्यकता होगी जिसे हम निवास प्रमाण पत्र कहते है और इस लेख में हम आपको उसी दस्तावेज Domicile Certificate कैसे बनाये की संपूर्ण जानकारी देने जा रहे हैं। 

Domicile Certificate क्या होता है

Domicile certificate को निवास प्रमाण पत्र भी कहते है। यह एक खास किस्म का दस्तावेज होता है जिसे आप के जिला के तहसीलदार द्वारा जारी किया जाता है जिस दस्तावेज में इस बात का सबूत होता है कि आप पिछले 15 साल से उसी राज्य में रह रहे हैं। 

अगर आप भारत के नागरिक है तो आप भारत के किसी राज्य में पिछले 15 सालों से रह रहे है इस बात को साबित करने के लिए आपको डोमिसाइल सर्टिफिकेट है या निवास प्रमाण पत्र की आवश्यकता होती हैं। 

आप पिछले कई वर्षों से भारत के किसी राज्य में रह रहे है और भारत के राज्य और केंद्र सरकार द्वारा दी जाने वाली विभिन्न प्रकार की सुविधाओं का लाभ उठा रहे है तो इस बात को साबित करने के लिए आपके पास निवास प्रमाण पत्र होना आवश्यक है। अगर आप इस दस्तावेज के बारे में अच्छे से समझ गए है तो इस लेख में बताई जाने वाली सभी निर्देशों का आदेश अनुसार अनुसरण करें। 

Domicile Certificate को बनवाने के लिए जरूरी डाक्यूमेंट्स

जैसा कि हमने आपको बताया कि निवास प्रमाण पत्र जिला के तहसीलदार द्वारा जारी किया जाता है मगर इसके लिए आपको किन दस्तावेजों के साथ आवेदन करना होगा यह समझना भी आवश्यक है नीचे कुछ जरूरी दस्तावेज के नाम दिए गए है जिनकी सहायता से आप अपना निवास प्रमाण पत्र बनवा सकते हैं। 

आपको केवलिया साबित करना है कि आप भारत के नागरिक हैं जिसके लिए नीचे बताए गए दस्तावेजों में से किसी एक दस्तावेज है का जेरोक्स और ओरिजिनल दोनों आपके पास होना चाहिए। 

  • आपके पास आधार कार्ड या कोई अन्य पहचान प्रमाण पत्र होना चाहिए।
  • आपके एड्रेस को प्रमाणित करने के लिए एलपीजी का कनेक्शन का पासबुक या फिर बिजली कनेक्शन का पासबुक लगेगा।
  • अगर आपके पास राशन कार्ड है तो आप राशन कार्ड का भी उपयोग कर सकते हो।
  • उम्मीदवार का नवीनतम दो पासपोर्ट साइज फोटो लगेगा।
  • उम्मीदवार का कोई भी एक स्थाई मोबाइल नंबर लगेगा।
  • आवेदन फॉर्म में उम्मीदवार का सिग्नेचर लगेगा। 

Domicile Certificate कैसे बनाये

अब हम आपको निवास प्रमाण पत्र बनाने की प्रक्रिया के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी देने जा रहे हैं नीचे बताए गए सभी निर्देशों का आदेश अनुसार पालन करें। 

1. राज्य सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं

विभिन्न राज्यों में रहने वाले लोगों के लिए विभिन्न वेबसाइट बनाई गई है। अगर आप बिहार राज्य में निवास करते है तो आपके लिए अलग वेबसाइट होगी और दिल्ली में निवास कर रहे व्यक्ति के लिए अलग वेबसाइट होगी। आपके राज्य के लिए कौन सी अधिकारिक वेबसाइट है इसका पता लगाने के लिए अपने राज्य का नाम और डोमिसाइल सर्टिफिकेट लिखकर सर्च करें जैसे – अगर आप बिहार से हैं तो Bihar Domicile certificate लिखकर गूगल पर सर्च करें और जो वेबसाइट सबसे पहले आएगी वह सरकार की आधिकारिक वेबसाइट होगी। 

2. रजिस्टर न्यू यूजर के विकल्प का चयन करें

अपने राज्य की आधिकारिक वेबसाइट पर जब आप जाएंगे तो वहां आपको लॉगइन ओर रजिस्टर न्यू यूजर का विकल्प दिखेगा उसमें से रजिस्टर न्यू यूजर के विकल्प पर क्लिक करें। 

3. अपना पंजीकरण प्रक्रिया पूर्ण करें

इसके बाद आपके समक्ष एक पेज खुलेगा जिस पर आपको रजिस्ट्रेशन करना है और इस रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया में आपको अपना मोबाइल नंबर इस्तेमाल करना है जिसके बाद आपके मोबाइल पर एक ओटीपी भेजा जाएगा जिसका इस्तेमाल करके आपके पास करा प्रक्रिया पूर्ण हो जायेगी। 

4. अपना डिटेल डालकर लॉग इन करें

जवाब ऊपर बताए गए निर्देशों के अनुसार अपना पंजीकरण कर लेंगे तब आपको कुछ डिटेल डालकर लॉगइन करना होगा उन डिटेल के रूप में पंजीकरण करते वक्त आपका जो यूजर आईडी है वह और आपका पासवर्ड इसके साथ अपना जिला डालकर आप लॉगिन कर सकते हैं। 

5. रेवेन्यू सर्विस के विकल्प पर क्लिक करें

लॉग इन करने के बाद आपके समक्ष एक पेज खुलेगा जिसमें आपको रेवेन्यू डिपार्टमेंट का सेक्शन जुड़ना है। रेवेन्यू डिपार्टमेंट के पेज में नॉन क्रीमी लेयर का एक विकल्प होगा उस लर्न क्रीमी लेयर के विकल्प को जब आप सुनेंगे तो उसमें आपको निवास प्रमाण पत्र का एक सेक्शन मिल जाएगा। 

आपके समक्ष एक पेज आएगा जिसमें  एज,  नेशनलइटी और डोमिसाइल के पेज को चुने जिसके पश्चात आप निवास प्रमाण पत्र बनाने की प्रक्रिया में आगे बढ़ सकते हैं। 

6. कंटिन्यू पर क्लिक करने के बाद आप एप्लीकेशन फॉर्म को भरें

आप एज नेशनलएलिटी डोमिसाइल वाले पेज का चयन करें और कंटीन्यू के बटन पर क्लिक करें। कंटिन्यू पर क्लिक करने के बाद आपके समक्ष एक पेज खुलेगा जिसमें आपको कुछ जरूरी डिटेल फील करनी हैं। 

वह पूछे गए सभी जानकारी को सही तरीके से भरें और उसके बाद आई एक्सेप्ट के बॉक्स पर क्लिक करें और अपने इस एप्लीकेशन फॉर्म को सबमिट कर दें। 

7. अपलोड डॉक्युमेंट

एप्लीकेशन फॉर्म भरने के बाद आपके सामने एक पेज खुलेगा और उस पेज पर अपलोड डॉक्यूमेंट का विकल्प होगा जिस पर क्लिक करके आप उन सभी जरूरी दस्तावेज के फोटो को वेबसाइट पर अपलोड कर दें जिनके बारे में आपसे कहा जाए। 

8. पेमेंट का भुगतान करें

अगर ऊपर बताए सभी निर्देशों का आप आदेश अनुसार पालन करेंगे तो आपके समक्ष पेमेंट का विकल्प आएगा जिसे आप क्रेडिट कार्ड डेबिट कार्ड नेट बैंकिंग या UPI के जरिए भुगतान कर सकते हैं। 

इन सभी प्रक्रिया का आदेश अनुसार पालन करने के बाद आप सम्मिट पर क्लिक करें जिसके ठीक 15 दिन बाद आप का निवास प्रमाण पत्र आपके जिला के तहसीलदार के द्वारा जारी कर दिया जाएगा जिसे आप इस वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं। 

Domicile Certificate को ऑफलाइन बनवाने की प्रक्रिया

आजकल आप किसी भी चीज को अपने घर में मोबाइल या कंप्यूटर का इस्तेमाल करके ऑनलाइन बनवा सकते है मगर इसका अर्थ यह नहीं है कि ऑफलाइन कार्य करने की प्रक्रिया बंद हो चुकी हैं। 

आप अपने इस जरूरी दस्तावेज को ऑफलाइन किसी डिजिटल सेवा केंद्र में जाकर बनवा सकते है। अपने घर के समीप किसी भी डिजिटल सेवा केंद्र में जाएं और अपने सभी जरूरी दस्तावेज को वहां देकर आप अपने लिए एक मूल निवास प्रमाण पत्र बनवा सकते हैं। 

ऑफलाइन मूल निवास प्रमाण पत्र बनवाने के लिए एक मुख्य बात का ध्यान रखें कि आपको एफिडेविट सर्टिफिकेट भी देना पड़ेगा जिससे आप उसी डिजिटल सेवा केंद्र में 60 से ₹100 देकर बनवा सकते हैं। 

Domicile Certificate कैसे चेक करें

जैसा कि हमने आपको बताया कि ऑन डोमिसाइल सर्टिफिकेट को ऑनलाइन बनवाने के लिए कम से कम 15 दिन का वक्त लगता है अगर आपको इन 15 दिनों में अपना सर्टिफिकेट ट्रैक करना हो कि वह कितना बना है या फिर कब आने वाला है या उसमें कोई गलती हुई है या नहीं इन सभी बातों का पता आप बताए गए निर्देशों का पालन करके लगा सकतें हैं। 

Step 1- सबसे पहले आप अधिकारिक वेबसाइट पर जाएं जहां से आपने मूल निवास प्रमाण पत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन किया था। 

Step 2- उस पेज में आपके समक्ष एक लॉगिन का विकल्प आएगा जिस पर क्लिक करके आप लॉगिन करें और उसके बाद आपके समक्ष ट्रेक योर एप्लीकेशन का एक विकल्प आएगा जिस पर आप को क्लिक करना हैं। 

Step 3- उसके बाद आपके समक्ष एक विंडो खुलेगा जिस पर आपको अपना एप्लीकेशन आईडी देना है जिसके बाद आपके समक्ष आपका एप्लीकेशन ट्रेक होता हुआ दिखाई देगा कि वह एप्लीकेशन कब तक आपको मिलेगा या उसमें कोई त्रुटि पाई गई है या नहीं। 

Step 4- मूल निवास प्रमाण पत्र के आवेदन करने पर कम से कम 15 दिन का वक्त लगता है आप अपने एप्लीकेशन को ट्रैक 15 दिन बाद ही करें क्योंकि 15 दिन का समय लगता ही है उसके बाद ट्रैक करें ताकि आपको पता चल सके कि क्या टूटी या किस समस्या से आप का मूल निवास प्रमाण पत्र नहीं बन पाया। 

यह भी पढ़ें

Domicile Certificate के लाभ

मूल निवास प्रमाण पत्र क्या डोमिसाइल सर्टिफिकेट का जरूरत आपको आए दिन पड़ सकता है यह एक महत्वपूर्ण दस्तावेज है जो भारत में आप के अस्तित्व को साबित करता है इसके बारे में निर्देश नीचे दिए गए हैं। 

  • मूल निवास प्रमाण पत्र की सहायता से आपको किसी भी प्रकार की नौकरी भारत में मिल सकती है। 
  • अगर आपको भारत में या विदेश में जाकर आगे की पढ़ाई करनी है तो इसके लिए भी आपके पास मूल निवास प्रमाण पत्र होना चाहिए। 
  • कुछ है ऐसे योजना होते है जो राज्य और केंद्र सरकार द्वारा लागू किए जाते हैं जिनके लिए आपको मूल निवास प्रमाण पत्र का दस्तावेज पेश करना पड़ता है ताकि आप उन योजनाओं का लाभ उठा सकें। 
  • आप भारत के किसी राज्य में रहते हैं इस बात का प्रमाण होता है मूल निवास प्रमाण पत्र। 

Domicile Certificate के नाम के बारे में पूछे जाने वाले प्रश्न

यहाँ पर मैंने ऐसे कुछ सवालों के जवाब दिए है जो की अक्सर लोग आज कौन सा डे है के बारे में पूछते रहते हैं।

Q. मूल निवास प्रमाण पत्र क्या होता हैं?

यह एक खास किस्म का दस्तावेज होता है जिसे जिला के तहसीलदार द्वारा जारी किया जाता है जिसकी सहायता से आप किस राज्य में कहां रहते हैं इस बात को साबित कर सकते हैं। 

Q. Domicile certificate का क्या अर्थ होता हैं?

डोमिसाइल सर्टिफिकेट का अर्थ मूल निवास प्रमाण पत्र निवास प्रमाण पत्र होता है। इस प्रमाण पत्र की सहायता से इस बात को साबित किया जाता है वह नागरिक भारत के किसी राज्य में कितने दिन से रह रहा है। 

Q. Domicile Certificate की आवश्यकता कहां पड़ती हैं?

आपको डोमिसाइल सर्टिफिकेट क्या मूल निवास प्रमाण पत्र की आवश्यकता एडमिशन कराते वक्त किसी नौकरी के लिए आवेदन करते वक्त या किसी केंद्र या राज्य सरकार के योजना कल आप उठाते वक्त पड़ेगी। 

Q. निवास प्रमाण पत्र बनवाने के लिए कितना रुपया लगता हैं?

मूल निवास प्रमाण पत्र बनवाने के लिए आपको कितना रुपए खर्च करना होगा यह विभिन्न राज्य के लिए विभिन्न दाम है। मगर आमतौर पर ₹40 से ₹70 के बीच में आपको कितना भी रुपया भुगतान करना पड़ सकता हैं। 

Q. निवास प्रमाण पत्र बनाने की आधिकारिक वेबसाइट कौन सी हैं?

आपको बता दें कि निवास प्रमाण पत्र बनवाने के लिए किसी भी प्रकार के अधिकारिक वेबसाइट नहीं है, अलग अलग राज्य के लिए अलग-अलग अधिकारिक वेबसाइट बनाई गई हैं। 

निष्कर्ष

अगर आपको Months Name In Hindi and English लेख हेल्पफुल रहा है तो फिर आप यह लेख अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करना और इसके अलावा अगर आपको इस लेख से संबंधित कोई भी जानकारी चाहिए तो उसके लिए आप नीचे कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Abhishek Maurya

मेरा नाम अभिषेक मौर्य है और मैं उत्तर प्रदेश वाराणसी डिस्ट्रिक्ट का रहने वाला हूं और मैं एक दिव्यांग हूं। मुझे अलग-अलग विषयों पर आर्टिकल लिखना बहुत अच्छा लगता है और इसी को मैंने अपना जुनून बनाया है। मैं पिछले 3 वर्षों से आर्टिकल लेखन का कार्य कर रहा हूं। आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख कैसे लगते हैं? आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। मेरा भी एक हिंदी ब्लॉग है जिस पर मैं रिलेशनशिप के ऊपर आर्टिकल लिखता हूं जिसका यूआरएल इस प्रकार से है। माय वेबसाइट यूआरएल - https://hindibaatchit.com/

Leave a Reply