हेलीकॉप्टर का आविष्कार किसने किया था

अपने उड़ते हुए इस मशीन को जरूर आसमान में देखा होगा जिससे हम लंबी दूरी बड़ी आसानी से तय कर लेते हैं इसका व्यापार के लिए इस्तेमाल नहीं होता बल्कि सार्वजनिक और सरकारी कामों के लिए किया जाता है। तो चलिए जानते हैं कि आखिर Helicopter Ka Avishkar kisne kiya?

आकाश में उड़ते हुए हेलीकॉप्टर को देखकर आपके मन में सवाल उठता होगा क्या खेलने का ख्याल तब से पहले मन में किसके आया। आपको बता दें कि इटली के चित्रकार लियोनार्दो डा विंची वह इंसान थे जिन्होंने उड़ने की मशीन का डिजाइन बनाया था। हालांकि उन्होंने किसी चीज का अविष्कार नहीं किया था लेकिन ना वैज्ञानिकों का मानना है कि हेलीकॉप्टर बनाने की प्रेरणा लोगों को लियोनार्दो डा विंची के चित्र से मिली थी। 

हेलीकॉप्टर के अविष्कार का इतिहास

इतिहासकारों ने काफी खोजबीन करके एक खास बात का पता लगाया है कि चाइना में मिले कुछ पिरामिड और इजिप्ट में मिले कुछ पूरा मैटर में हेलीकॉप्टर की निशानियां है अगर हम इस तरह की बात ना करें तो भी आज से 400 ईसा पूर्व चाइना में बांस के बने हुए खिलौने बिकते थे जो आज के हेलीकॉप्टर की तरह दिखते थे कुछ वैज्ञानिकों का मानना है कि हेलीकॉप्टर बनाने की प्रेरणा उन खिलौनों को देख कर आई थी। 

वहीं दूसरी तरफ इटली के महान चित्रकार लियोनार्दो डा विंची ने 1500वी सदी में एक चित्र बनाया था। उस चित्र में उन्होंने उड़ने वाली मशीन का जिक्र किया वहां उन्होंने दो बड़े बड़े पंख बनाए थे और उसके बीच में एक इंसान को फंसा हुआ दिखाया था जिसमें वह इंसान अपने पंखों को हिला कर उड़ सकता था। विंची के बनाए हुए इस चित्र में उड़ने वाली मशीन का नाम ornithopter था। कुछ वैज्ञानिकों का मानना है कि इस ऑर्निथेपटर से प्रेरणा लेकर ही हेलीकॉप्टर का सिद्धांत बनाया गया। 

मैसेज 16 वी सदी में ऑर्निथेपटर बनाने की बहुत कोशिश की गई। कई लोगों ने इस प्रक्रिया में अपनी जान तक दे दी मगर कोई भी कभी इस प्रशिक्षण में सफल नहीं हो पाया। उसके बाद कई लोगों ने तकनीक को जरा बदलकर उसे बनाने की कोशिश की और इस प्रक्रिया के बाद हमें दो ऐसे व्यक्ति मिले जिन्होंने एक उड़ने वाली मशीन को बनाया और उसका नाम हेलीकॉप्टर दिया। 

1907 में paul cornu ने सबसे पहले एक उड़ने वाली मशीन बनाई जिसे हेलीकॉप्टर का नाम दिया इसमें एक बड़ा सा पंखा लगा हुआ था जो इस हवाई जहाज को ऊपर की ओर उठाता था और एक व्यक्ति आगे की ओर बैठकर इसे उड़ा सकता था। दूसरी ओर 14 सितंबर 1939 वह दिन था जिस दिन इगोर सिकोरास्क (Igor Sikorsky) ने हेलीकॉप्टर का खोज किया वह दूसरे आविष्कारक थे जिन्होंने हेलीकॉप्टर का खोज किया और उनकी खोज को भी सर्वप्रिय माना गया क्योंकि उनका हेलीकाप्टर काफी देर तक आकाश में उड़ सका था। 

सिक्योरिटी का यह हेलीकॉप्टर V 300 सार्वजनिक रूप से पूरे विश्वभर में इस्तेमाल किया गया। सिक्योरिटी ने अपने इस हेलीकॉप्टर को अमेरिका के सैनिकों को भी दिया उसके बाद इस हेलीकॉप्टर में अनेकों सुधार किए गए और अमेरिका का पहला लड़ाकू हेलीकॉप्टर 1940 में XR 4 बनाया गया। 

उसके बाद हेलीकॉप्टर में कई सुधार किए गए और आज हमारे पास अनेकों प्रकार के सार्वजनिक इस्तेमाल के लिए और लड़ाकू हेलीकॉप्टरों की कमी नहीं हैं। 

हेलीकॉप्टर का आविष्कार किसने किया

हेलीकॉप्टर बनाने की पूरी प्रक्रिया और ऊपर बताए गए पूरे इतिहास को समझने के बाद आपके समक्ष दो नाम आए होंगे पहला – paul cornu और Igor Sikorsky इन दोनों के बनाए हुए हेलीकॉप्टर काफी सफल हुए पॉल ने 1960 में एक उड़ने वाला मशीन बनाया जिसे हेलीकॉप्टर का नाम दिया गया मगर वह ज्यादा दूरी तक उड़ने में सक्षम नहीं था मगर हेलीकॉप्टर बनाने का श्रेय paul cornu को जाता है क्योंकि इन्होंने सबसे पहले हेलीकॉप्टर बनाया।

मगर इगोर के बनाए हुए डिजाइन ने पूरे अमेरिका को चौंका कर रख दिया और उनके जैसा हेलीकॉप्टर और लड़ाकू विमान उस जमाने में दूसरा कोई नहीं बना पाया धीरे-धीरे उनके इस तकनीक को सभी लोगों ने अपनाया और आज हमारे बीच बहुत सारे अच्छे हेलीकॉप्टर आ पाए। 

हेलीकॉप्टर के प्रकार

आज हमारे बीच विभिन्न प्रकार के हेलीकॉप्टर आ चुके है उनमें से सभी का इस्तेमाल अलग-अलग कामों के लिए किया जाता है हमने हेलीकॉप्टर के प्रकारों को विस्तार पूर्वक समझाने का प्रयत्न किया है जिसे विस्तार पूर्वक नीचे पढ़ें। 

1. अटैक हेलीकॉप्टर

यह एक खास किस्म का हेलीकॉप्टर है जिसे हेलीकॉप्टर की पहली श्रेणी बनाने के तुरंत बाद बनाया गया था। इस प्रकार के हेलीकॉप्टर को युद्ध के लिए बनाया गया था इसका मुख्य काम देश की रक्षा करना या दूसरे देश पर हमला करना होता है। इस प्रकार के हेलीकॉप्टर में रडार टेक्नोलॉजी होती है जिससे वह हवा में उड़ते हुए भी जमीन पर दुश्मन कहां है इस बात का पता लगा लेता हैं। 

इस प्रकार के हेलीकॉप्टर में विभिन्न प्रकार के हथियार लगे होते है जिससे वह दुश्मनों के घर में घुसकर मार करने में सक्षम रहता हैं। 

2. रेस्कु हेलीकॉप्टर

यह दूसरा किस्म का हेलीकॉप्टर है जिसका इस्तेमाल हम प्राकृतिक आपदा के वक्त करते है। इस हेलीकॉप्टर को काफी मजबूत बनाया गया है यह तरह के मौसम में उड़ने में सक्षम है साथ ही इसका उड़न कौशल इतना सक्षम है कि यह कठिन से कठिन मौसम स्थिति में भी बड़ी आसानी से अपना रास्ता ढूंढ लेता हैं। 

3. ट्रांसपोर्ट हेलीकॉप्टर

इस प्रकार के हेलीकॉप्टर आकार में बहुत बड़े होते हैं जिनमें आगे और पीछे दो पंक्तियां लगी होती है यह काफी ऊंचाई तक उड़ सकते हैं और इनका मुख्य तौर पर इस्तेमाल भारी वजन को उठाने के लिए किया जाता हैं। 

आपको बता दें कि इसकी खोज Paul Cornu ने की थी जिन्होंने 1907 में पहला हेलीकॉप्टर बनाया था। उनके द्वारा बनाया गया यह हेलीकॉप्टर आज तक इस्तेमाल किया जाता है इसका मुख्य तौर पर काम है हजारों टन के वजन को एक स्थान से उठा कर दूसरे स्थान पर जल्द से जल्द ले जाना होता हैं। 

भीषण युद्ध के वक्त ट्रांसपोर्ट हेलीकॉप्टर ने काफी अहम भूमिका निभाई है यह हेलीकॉप्टर खाना गाड़ी मिसाइल यहां तक की आपको भी एक स्थान से दूसरे स्थान तक जल्दी ले जाने में कारगर साबित हुआ हैं। 

यह भी पढ़ें

हेलीकॉप्टर के बारे में पूछे जाने वाले प्रश्न

यहाँ पर मैंने ऐसे पांच सवालों के जवाब दिए है जो की अक्सर लोग हेलीकॉप्टर के बारे में पूछते रहते हैं।

Q. हेलीकॉप्टर की खोज किसने की?

हेलीकॉप्टर की खोज Paul Cornu ने 1907 में की। 

Q. आज के हेलीकॉप्टर को अच्छे से बनाने का श्रेय किसे जाता हैं?

मॉडिफाइड या एडवांस हेलीकॉप्टर बनाने का श्रेय इगोर सरकोस्की को जाता हैं। 

Q. आज हम कितने प्रकार का हेलीकॉप्टर इस्तेमाल कर रहे हैं?

आज हम तीन प्रकार के हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल कर रहे है अटैक हेलीकॉप्टर, रेस्क्यू हेलीकॉप्टर, और ट्रांसपोर्ट हेलीकॉप्टर। 

Q. सबसे पहले हेलीकॉप्टर का नाम क्या था?

सबसे पहले हेलीकॉप्टर का नाम V 300 था। 

Q. अमेरिका के सबसे पहले लड़ाकू विमान का क्या नाम था?

अमेरिका के सबसे पहले अटैक हेलीकॉप्टर का नाम XR 4 था। 

निष्कर्ष

अगर आपको Helicopter Ka Avishkar kisne kiya लेख हेल्पफुल रहा है तो फिर आप यह लेख अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करना। इसके अलावा अगर आपको इस लेख से सम्बंधित कोई भी जानकारी चाहिए तो उसके लिए आप निचे कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

Abhishek Maurya

मेरा नाम अभिषेक मौर्य है और मैं उत्तर प्रदेश वाराणसी डिस्ट्रिक्ट का रहने वाला हूं और मैं एक दिव्यांग हूं। मुझे अलग-अलग विषयों पर आर्टिकल लिखना बहुत अच्छा लगता है और इसी को मैंने अपना जुनून बनाया है। मैं पिछले 3 वर्षों से आर्टिकल लेखन का कार्य कर रहा हूं। आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख कैसे लगते हैं? आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। मेरा भी एक हिंदी ब्लॉग है जिस पर मैं रिलेशनशिप के ऊपर आर्टिकल लिखता हूं जिसका यूआरएल इस प्रकार से है। माय वेबसाइट यूआरएल - https://hindibaatchit.com/

Leave a Reply