Months Name In Hindi and English । 12 महीनों के नाम – जानिए हिंदी में

हम सब अपने रोजमर्रा के जीवन में जनवरी-फरवरी जैसे महीनों के नाम का इस्तेमाल करते है मगर यह सब अंग्रेजों के बाद शुरू हुआ है आपको जानकर आश्चर्य होगा कि अंग्रेजों से पहले हिंदी में महीनों के नाम हुआ करता था। अगर आप भारत के निवासी है तो आपको हिंदी में महीने का नाम कैसे लेते है इसके बारे में पता होना चाहिए इसलिए इस लेख में हम आपको Months Name In Hindi and English के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देने जा रहे हैं। 

हिंदी और इंग्लिश दोनों भाषा में हमें अपने महीनों के बारे में पता होना चाहिए छोटे बच्चों को अक्सर इसके बारे में पता नहीं होता इसलिए इस लेख को सभी छोटे बच्चों तक जरूर पहुंचाएं। 

Months Name In English

अगर आपको महीने का नाम पता करना है तो इसकी एक संपूर्ण सूची नीचे दी गई हैं।  

Januaryजनवरी
Februaryफरवरी
Marchमार्च
Aprilअप्रैल
Mayमई
Juneजून
Julyजुलाई
Augustअगस्त
Septemberसितंबर
Octoberअक्टूबर
Novemberनवंबर
Decemberदिसंबर

Months Name In Hindi and English

जैसा कि हमने आपको बताया महीना दुनिया में विभिन्न विभिन्न देशों में विभिन्न प्रकार से रखे गए है। हम जिन महीना के नाम को जनवरी-फरवरी के नाम से जानते हैं उसे भारत में चयन फागुन के नाम से जाना जाता है अर्थात अगर आप भारत के निवासी हैं तो आपको यह मालूम होना चाहिए कि भारत में महीना का नाम किस तरह से लिया जाता है इसलिए Months Name In Hindi and English नीचे बताया गया हैं। 

चैतमार्च-अप्रैल
वैसाखअप्रैल -मई
ज्येष्ठमई -जून
आषाढ़जून-जुलाई
श्रावणजुलाई-अगस्त
भाद्रपदअगस्त-सितम्बर
आश्विनसितम्बर-अक्टूबर
कार्तिकअक्टूबर-नवम्बर
मार्गशीर्षनवम्बर-दिसम्बर
पौषदिसम्बर-जनवरी
माघजनवरी-फरवरी
फाल्गुनफरवरी-मार्च

ऊपर बताए गए कुछ नाम आप अपने घर में दादा दादी के मुंह से सुनते होंगे उनसे आप क्या पता भी कर सकते हैं कि भारत में पहले महीने जनवरी से शुरू ना होकर के 7:00 से शुरू हुआ करते थे जिसे हम इस वक्त अप्रैल के नाम से जानते हैं अर्थात अगर हम भारतीय संस्कृति की बात करें तो हमारा नया साल मार्च में और साल का अंत फरवरी में होता था। उस वक्त तक नए साल को फागुन और साल के अंत को चैत कहा जाता था। 

अगर आप बिहार के यूपी से ताल्लुक रखते हैं तो ऊपर बताए गए नाम में आपको कुछ दिक्कत लगी होगी हम आपको बता दें कि बिहार या यूपी में भाद्रपद को भादो,  आश्विन को कुआंर, और मार्गशीर्ष को अगहन के नाम से जाना जाता हैं। 

अगर आप सभी महीनों के बारे में अच्छे से समझ गए है तो अब हम आपको उन मौसमों के बारे में कुछ अन्य बातें बताने जा रहे हैं। 

यह भी पढ़ें

फरवरी में 29 दिन क्यों होते है

अपने कैलेंडर में देखा होगा कि किसी महीने में 30 दिन होते हैं तो किसी महीने में 31 दिन मगर फरवरी ही एकमात्र ऐसा महीना है जिसमें 28 दिन होते है और हर 4 साल पश्चात फरवरी में 29 दिन होता है, मगर ऐसा क्यों होता है और इसका क्या मुख्य कारण है इसके बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी नीचे बताई गई हैं।

जब कैलेंडर की खोज की गई थी तो उसे धरती की परिक्रमा के अनुसार बनाया गया था अर्थात धरती का एक चक्कर 24 घंटे का होता है और सूर्य का एक चक्कर 365 दिन में पूरा होता है इस वजह से कैलेंडर को इस तरह से तैयार किया गया कि साल में 365 दिनों हों और 1 दिन में 24 घंटे। मगर हमें क्या पता है कि धरती पूरा 365 देना नहीं लेती वह सूरज का एक चक्कर काटने में 365 दिन और 6 घंटे लेती है। 1 साल 365 दिन होता है मगर वह 6 घंटे बच जाते हैं हर साल यह 6 घंटे बचते बचते 4 साल के बाद 24 घंटे बन जाते है जो 1 दिन के बराबर होता है इसलिए हर 4 साल बाद हमारे पास एक ज्यादा देना आता है जिसे फरवरी में जोड़ दिया जाता हैं। 

हमारे महीनों से जुड़ी कुछ रोचक बातें

आपने देखा कि 1 साल में 12 महीने आते हैं हम आपको हर महीने के बारे में कुछ रोचक बात बताने जा रहे हैं जिनके बारे में स्पष्ट रूप से जानने के लिए नीचे दी गई जानकारी को ध्यानपूर्वक पढ़ें। 

1. जनवरी

जनवरी एक बहुत ही ऊर्जा भरा महिला है क्योंकि इस दिन साल की शुरुआत होती है यह महिला हर किसी के अंदर उर्जा भरने का कार्य करता हैं। 

क्रिश्चियन सभ्यता के अनुसार इसी दिन जीसस का जन्म हुआ था। 

भारत में जनवरी काफी ठंड का मौसम होता हैं।

2. फरवरी

यह भी एक ठंडी का मौसम है भारत में इस महीने काफी कड़ाके की ठंड होती हैं। 

क्रिश्चियन सभ्यता के अनुसार इस महीने को वैलेंटाइन डे की वजह से जाना जाता है जिसे प्यार का दिन कहा जाता है और हम इसे हर साल 14 फरवरी को बनाते हैं। 

हिंदू सभ्यता के अनुसार सूरजकुंड मेला हरियाणा के सूरजकुंड गांव में लगता है जो मेला पूरे भारत भर में प्रचलित हैं। 

3. मार्च 

हिंदी कैलेंडर के अनुसार इस महीने को फागुन के नाम से जाना जाता है और हिंदू सभ्यता में साल की शुरुआत मार्च से होती हैं। 

ठंड के शुरुआत में लगाई गई फसल मार्च महीने में काटी जाती है और होलिका दहन और होली जैसे त्योहारों के लिए इस महीने को पूरे भारत ही नहीं विश्व भर में जाना जाता हैं। 

4. मई

अगर आप यह सोच रहे हैं कि इस महीने में कुछ खास नहीं है तो आपको बता दें कि इस महीने की शुरुआत महीने से होती है साथ ही इसमें अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस, bird day, wordpresa day, जैसे विभिन्न प्रकार के जरूरी दिन मनाए जाते हैं। 

5. अगस्त

भारतीयों के लिए यह महीना काफी मायने रखता है क्योंकि 15 अगस्त को भारत अंग्रेजी शासकों से आजाद हुआ था उस दिन बरसात मौसम की शुरुआत होती है साथ ही विभिन्न प्रकार के फसल का बाजार में आगमन होता हैं। 

6. सितंबर

इस महीने को हम शिक्षा को अर्पित करते हैं क्योंकि इस महीने की शुरूआत शिक्षक दिवस से की जाती है उसके बाद हिंदी दिवस, इंजीनियर दिवस, International Literacy Day जैसे जरूरी त्यौहार मनाए जाते हैं। 

7. अक्टूबर

भारतीय संस्कृति के अनुसार यह भी काफी महत्वपूर्ण त्योहार है इसे हम दिवाली और दुर्गा पूजा की वजह से जानते है इस महीने में भारत के बाजारों में काफी रौनक रहती है। इसके अलावा गांधी जयंती और अमेरिका में एनएबीएस अर्थात शाकाहारी लोगों के संगठन को बनाने के वजह से यह महीना और खास हैं। 

महीनो के नाम के बारे में पूछे जाने वाले प्रश्न

यहाँ पर मैंने ऐसे कुछ सवालों के जवाब दिए है जो की अक्सर लोग आज कौन सा डे है के बारे में पूछते रहते हैं।

Q. 1 साल में कितने हफ्ते होते हैं?

1 साल में 52 हफ्ते होते हैं हर महीने 4 हफ्ते आते है मगर चार हफ्तों के अलावा हर महीने में कुछ दिन ज्यादा होते हैं उन सभी दिनों को जोड़ने पर अंत में हमारे पास एक हफ्ते अधिक हो जाते हैं जिस हिसाब से 1 साल में 52 हफ्ते होते हैं। 

Q. 1 साल में 30 दिन वाले कितने महीने होते हैं?

1 साल में 30 दिन वाले 4 महीने होते हैं अप्रैल, जून, सितंबर और नवंबर। 

Q. 1 साल में कितने घंटे होते हैं?

1 साल में 8760 घंटे होते हैं। 

Q. फरवरी में 4 साल बाद 29 दिन क्यों होता हैं?

धरती को सूरज का चक्कर काटने में 365 दिन और 6 घंटे लगते हैं 4 सालों होने के बाद वह 6 घंटे मिलकर 24 घंटा बनाते हैं जो धरती पर एक दिन के बराबर है इस वजह से फरवरी में 1 दिन ज्यादा हो जाता हैं। 

Q. भारत में विभिन्न महीने में कौन सा मौसम आता हैं?

भारतीय संस्कृति के अनुसार हमारा साल मार्च में शुरू होता है मार्च से गर्मी प्रारंभ होती है जून तक गर्मी रहती है और अगस्त से वर्षा ऋतु प्रारंभ होती है जो अक्टूबर तक रहती है नवंबर से ठंड शुरू होती है और मार्च तक रहती हैं। 

निष्कर्ष

अगर आपको Months Name In Hindi and English लेख हेल्पफुल रहा है तो फिर आप यह लेख अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करना और इसके अलावा अगर आपको इस लेख से संबंधित कोई भी जानकारी चाहिए तो उसके लिए आप नीचे कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Abhishek Maurya

मेरा नाम अभिषेक मौर्य है और मैं उत्तर प्रदेश वाराणसी डिस्ट्रिक्ट का रहने वाला हूं और मैं एक दिव्यांग हूं। मुझे अलग-अलग विषयों पर आर्टिकल लिखना बहुत अच्छा लगता है और इसी को मैंने अपना जुनून बनाया है। मैं पिछले 3 वर्षों से आर्टिकल लेखन का कार्य कर रहा हूं। आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख कैसे लगते हैं? आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। मेरा भी एक हिंदी ब्लॉग है जिस पर मैं रिलेशनशिप के ऊपर आर्टिकल लिखता हूं जिसका यूआरएल इस प्रकार से है। माय वेबसाइट यूआरएल - https://hindibaatchit.com/

Leave a Reply