Professor कैसे बने पूरी जानकारी जानिए हिंदी में

अगर आपको जिंदगी में कुछ भी करना है तो पढ़ाई करने की आवश्यकता है। कुछ लोगों को पढ़ाई करना इतना अच्छा लगता है कि वह इस क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते है। अगर आपको पढ़ाई के क्षेत्र में अपना करियर बनाना है तो प्रोफ़ेसर काफी अच्छा विकल्प हो सकता है इस लेख में Professor Kaise Bane के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई है। नीचे बताए गए सभी जानकारी को ध्यानपूर्वक पढ़ने से आप इस बात को अच्छे से समझ सकते है कि कैसे आप प्रोफेसर बने। 

Professor कौन होता है

प्रोफेसर एक कॉलेज में पढ़ाने वाले को कहते है। हमारे रोजमर्रा के जीवन में कुछ ही ऐसे व्यक्ति होते है जिन्हें समाज में उनके काम की वजह से काफी इज्जत दिया जाता है प्रोफेसर भी उनमें से एक है। आपने कॉलेज में हर विषय के लिए एक शिक्षक को देखा होगा जैसा कि हम सब जानते है कॉलेज की पढ़ाई उच्च स्तर की पढ़ाई है वहां पढ़ाने के लिए व्यक्ति को अपने क्षेत्र की उत्तम जानकारी होनी चाहिए। इस वजह से प्रोफेसर एक उत्तम श्रेणी की नौकरी है जिसमें व्यक्ति को अपने क्षेत्र की सबसे उत्तम और अधिक जानकारी होनी चाहिए। 

भारत में विभिन्न प्रकार के कॉलेज और विश्वविद्यालय है वहां पढ़ाने के लिए अपने क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ जानकारी रखने की आवश्यकता होती है जो व्यक्ति यूनिवर्सिटी और कॉलेज में छात्रों को उनके आने वाले कार्य के लिए उचित मार्गदर्शन देता है उसे हम प्रोफ़ेसर कहते है। आपको यह भी जानना चाहिए कि समाज में प्रोफेसर की नौकरी को काफी ऊंचे पद की नौकरी माना जाता हैं। 

Professor क्या काम करता है

अगर आपने यह समझ लिया है कि समाज में प्रोफेसर को एक ऊंची नौकरी या पद माना जाता है तो आपको यह भी जानना चाहिए कि प्रोफेसर का काम जिम्मेदारियों से भरा होता है। एक प्रोफेसर को बच्चों के भविष्य की चिंता होती है क्योंकि कॉलेज में पढ़ने वाले छात्र अब कॉलेज से निकल कर अपना वयस्क जीवन जिएंगे और अपने करियर को चुनेंगे ज्यादातर बच्चे जिस क्षेत्र की पढ़ाई कर रहे है उस क्षेत्र में नौकरी करना चाहेंगे तो एक प्रोफेसर का कार्य होता है कि वह सभी बच्चों को उस क्षेत्र की उत्तम व्यवसाय या नौकरी के बारे में सही मार्गदर्शिता दें साथ ही अपने विषय की उत्तम जानकारी प्रदान करने का कार्य करें।  

आप कॉलेज में किसी एक विषय के बारे में पढ़ाई करते है और कॉलेज के पास करने के बाद आपको उस विषय की डिग्री हासिल होती है जो इस बात को दर्शाता है कि आप उस विषय के बारे में उच्च जानकारी रखते है। प्रोफ़ेसर का काम पहले तो आपकी उस जानकारी को बनाना और इस कॉलेज के बाद आप इस विषय के जरिए किस प्रकार अपने जीवन में अच्छी नौकरी हासिल कर सकते है इस के लिए मार्गदर्शन देना हैं। 

Professor कैसे बने

आप किस प्रकार की ऑफिसर बन सकते है उसकी प्रक्रिया को विस्तार पूर्वक नीचे समझाया गया है उसे ध्यान से पढ़ें। 

Step 1– 12वीं कक्षा को अपने पसंदीदा विषय से पास करें। 

प्रोफेसर बनने का सपना आपकी बारहवीं कक्षा से शुरू हो जाता है क्योंकि यहां आपको अपने विषय का चयन करने का पहली बार मौका दिया जाता है। अब तक आप यह समझ चुके होंगे कि प्रोफेसर का काम पूरी जिंदगी पढ़ना और पढ़ाना है। अगर आप अपने मनपसंद विषय का चयन नहीं करते है तो आप ना तो अच्छे से पढ़ पाएंगे और ना ही इस क्षेत्र के बारे में सही जानकारी दूसरों तक पहुंचा पाएंगे। इस वजह से यह आवश्यक है कि आप 12वीं कक्षा में सही विषय का चयन करें केवल उस विषय का चयन करें जिसे आप मन से पढ़ और पढ़ा सकते हैं। 

Step 2– अपने चुनी हुई विषय में ग्रेजुएशन पूरी करें। 

वह विषय अगर आपकी मनपसंद होगी तो आपको उसके बारे में अधिक से अधिक जानकारी जानने में अच्छा लगेगा इस वजह से आपको उस विषय के बारे में अधिक जानकारी जाना चाहिए और भारत में ग्रेजुएशन वह स्टेज है जहां बच्चों को उनके चुने हुए विषय के बारे में अधिक जानकारी दी जाती हैं। 

तो आपने जिस विषय को 12वी में चुना था या आप जिस विषय के प्रोफेसर बनना चाहते है उस विषय के बारे में ग्रेजुएशन करें। 

Step 3– अपनी चुनावी विषय में मास्टर डिग्री पूरा करें

आपको जिस भी विषय का प्रोफेसर बनना है या अब जिस विषय को कॉलेज में पढ़ाना चाहते है उस विषय है मैं आपको मास्टर डिग्री हासिल करनी होगी। मास्टर डिग्री का केवल इतना अर्थ होता है कि आप चुने हुए विषय के बारे में संपूर्ण जानकारी रखते है और आपसे इस विषय के बारे में कुछ भी पूछा जाए तो आप बता सकते है। याद रखें इस प्रक्रिया के दौरान आपको अपने मास्टर डिग्री और ग्रेजुएशन डिग्री में कम से कम 55% मार्क्स लाना हैं। 

Step 4– UGC NET Test के लिए आवेदन करे और उसे पास करें। 

यूजीसी नेट टेस्ट सरकार के द्वारा करवाया जाता है जिससे टेस्ट को पास करने पर आप किसी भी कॉलेज के लिए असिस्टेंट प्रोफेसर के तौर पर आवेदन कर सकते है। इस परीक्षा में आप अपना विषय खुद चुन सकते है उसके बाद आपको आपके विषय से सवाल पूछे जाएंगे अगर आपने उसका उतना सही जवाब दिया जितना एक प्रोफेसर बनने के लिए आवश्यकता है तो आप किसी भी कॉलेज में प्रोफेसर के लिए आवेदन कर सकते हैं।

बिना इस परीक्षा को पास किए आप किसी कॉलेज में पढ़ाने योग्य नहीं माने जाएंगे आपको सरकार के द्वारा बनाई गई यूजीसी नेट की परीक्षा को अच्छे से उत्तरण करना होगा अगर आप उस परीक्षा में कट ऑफ के बराबर मार्क्स लेकर आते है तो ही आपको प्रोफेसर बनने योग्य माना जाएगा और उसके बाद आप अपने विषय में भारत के किसी भी कॉलेज या विश्वविद्यालय में असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए आवेदन कर सकते हैं। 

Step 5– M.Phil या PhD करें

जब आप यूजीसी नेट की परीक्षा उत्तरण कर लेंगे तब आपको असिस्टेंट प्रोफेसर बनाया जाएगा मगर प्रोफेसर बनने के लिए आपके पास डॉक्टर डिग्री होनी चाहिए और था तो पीएचडी या एमफिल की डिग्री होनी चाहिए। इन दोनों डिग्रियों का अर्थ होता है कि आप अपने विषय के किसी एक श्रेणी में हर प्रकार की जानकारी रखते है और उसके बारे में पूरी तरह से रिसर्च कर चुके हैं।

पीएचडी करने के दौरान आपको अपना एक रिसर्च पेपर लिखना पड़ता है अर्थात आप किस विषय के बारे में रिसर्च कर रहे है और उसके बारे में कितनी जानकारी हासिल किए है इसको अच्छे से लिखें और जब आपकी पीएचडी पूरी हो जाएगी तब आप भारत के किसी भी कॉलेज व विश्वविद्यालय में प्रोफेसर बनने के लिए योग्य हो जाएंगे। 

महत्वपूर्ण लेख: ऐसा नहीं है कि बिना पीएचडी किए आपको प्रोफेसर नहीं बनाया जाएगा ऐसे बहुत सारे विश्वविद्यालय और कॉलेज है जहां असिस्टेंट प्रोफेसर को प्रमोशन देकर प्रोफेसर बना दिया जाता है मगर आम तौर पर कुछ कॉलेजों में प्रोफेसर बनने के लिए PhD या MPhilअनिवार्य होती हैं। 

यह भी पढ़ें

Professor बनने के लिए एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया

हम आपको बताने जा रहे है कि प्रोफेसर बनने के लिए आपके पास किन-किन चीजों के एलिजिबिलिटी होनी चाहिए। 

1. शिक्षण योग्यता

प्रोफेसर बनने के लिए आपको किसी एक पसंदीदा चयन विषय में इंटर या 12वीं की परीक्षा पास करनी होगी जिसके बाद आपको ग्रेजुएशन या स्नातक करना होगा और उसके बाद जिस विषय के प्रोफेसर बनना चाहते है उस विषय में मास्टर करना होगा फिर पीएचडी या एम फिल करके किसी विश्वविद्यालय या कॉलेज में प्रोफेसर के लिए आवेदन करें। 

सरल भाषा में आपको – Graduation, Post Graduation, PhD करना होता हैं।

2. आयु

अगर आप प्रोफेसर बनना चाहते है तो आपकी उम्र कम से कम 23 वर्ष और अधिक से अधिक 50 वर्ष होनी चाहिए। 

Professor बनने के लिए एग्जाम

जैसा कि हमने आपको बताया प्रोफेसर कॉलेज में पढ़ाने वाले व्यक्ति को कहते है यह एक पढ़ाई के क्षेत्र का सबसे उच्चतम पद है। इतना उच्च पद होने की वजह से प्रोफेसर बनने के लिए आपको एक कठिन परीक्षा पास करनी होती है जिसके बारे में नीचे बताया गया हैं। 

1. सरकारी कॉलेज का प्रोफेसर

अगर आप सरकारी कॉलेज में के प्रोफेसर बनना चाहते है या ऐसे विश्वविद्यालय में पढ़ाना चाहते है जो पूरी तरह से सरकार के अंतर्गत चलता हो। आपको बता दें कि भारत में ऐसे बहुत सारे विश्वविद्यालय है जिनकी पूरी संस्था सरकार द्वारा काबू की जाती हैं। 

ऐसे किसी भी विश्वविद्यालय में पढ़ाने के लिए आपको UGC NET या CSIR NET की परीक्षा उत्तरण करनी होगी सरकार हर साल यह परीक्षा आयोजित करवाती है आप अपने विषय का चयन करके इस परीक्षा में बैठ सकते है जहां आप के विषय के सवाल आपसे पूछे जाएंगे और आपको इस परीक्षा में कम से कम 55% मार्क्स लाने की आवश्यकता हैं। 

अगर आप उन दोनों परीक्षा के अलावा कोई और ऐसी परीक्षा में उतरे ना होते है जिनकी मान्यता UGC NET या CSIR NET के बराबर है तो भी आपको भारत के किसी भी कॉलेज व विश्वविद्यालय में प्रोफेसर बनने योग्य माना जाएगा। मगर जब आप राज्य सरकार के अंतर्गत काम करने वाली किसी कॉलेज या विश्वविद्यालय की संस्था से प्रोफेसर के तौर पर जुड़ना चाहते हो तो आपको NTA’s SLET की परीक्षा उत्तरण करने की आवश्यकता हैं। 

2. प्राइवेट कॉलेज का प्रोफेसर

अगर आप किसी प्राइवेट कॉलेज के प्रोफेसर बनना चाहते है तो आपको बता दें कि इस भारत में ऐसी बहुत सारी विश्वविद्यालय और कॉलेज है जो अर्थ सरकारी है अर्थात उनकी आधी संस्था को सरकार द्वारा काबू किया जाता है और बाकी संस्था को प्राइवेट द्वारा चलाया जाता है अगर आप किसी अर्थ सरकारी कॉलेज के साथ जुड़ रहे है तो इसके लिए आपको उस कॉलेज के अनुसार चलना होगा। 

ऐसे बहुत सारे अर्थ सरकारी कॉलेज है जो केवल उन्हें असिस्टेंट प्रोफेसर या प्रोफेसर के तौर पर नौकरी करने का मौका देते है जो UGC NET या CSIR NET की परीक्षा उत्तीर्ण की है हो अन्यथा ऐसे बहुत सारे प्राइवेट कॉलेज मौजूद है जो केवल मास्टर की डिग्री के आधार पर आपको प्रोफेसर के तौर पर नियुक्त कर लेंगे। 

Professor की तैयारी कैसे करें

प्रोफेसर बनने के लिए आपको जिस UGC NET की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती है उसे भारत के कुछ चुनिंदा कठिन परीक्षाओं में से एक माना जाता है अर्थात आपको अपने पढ़ाई पर काफी ध्यान देने की आवश्यकता हैं। 

किसी कॉलेज या विश्वविद्यालय में प्रोफेसर के तौर पर पढ़ाना कोई मजाक नहीं है इस पद तक पहुंचने के लिए काफी कठिन परिश्रम करना पड़ता है आपको अपने विषय के बारे में कुछ जानकारी होने की आवश्यकता हैं। 

  • तो अगर आप ऑफिसर बनना चाहते है तो सबसे पहले अपने विषय के बारे में उत्तम जानकारी हासिल करें हर तरह से अपने विषय को पढ़ने की कोशिश करें।  
  • आपको बाजार में बड़ी आसानी से यूजीसी नेट के पीछे 10 साल के क्वेश्चन पेपर मिल जाएंगे उन सबको लेकर हल करने का प्रयास करें और देखें कि क्या आप उस तरह के प्रश्नों को हल कर पा रहे हैं। 
  • विभिन्न संस्थानों में मॉक टेस्ट करवाया जाता है जिसमें आने वाले टेस्ट का एक प्रारूप पेश किया जाता है जिसे पास करने के दौरान आपको यह पता चलता है कि आप इस तरह के परीक्षा को उत्तीर्ण करने योग्य है या नहीं उस मॉक टेस्ट को भी रोजाना दें। 
  • अपने विषय के बारे में विभिन्न लेखकों की किताब को पढ़ें जिससे आपको अलग-अलग नजरिए से अपने विषय में आने वाली समस्याओं और उसके समाधान के बारे में पता चलेगा और आप तैयारी और अच्छे से कर पाएंगे। 

Professor की कितनी सैलरी होती है 

जब आप किसी कॉलेज व विश्वविद्यालय में प्रोफेसर बनने के लिए आवेदन करते है तो सबसे पहले आपको असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर नौकरी मिलती है उस पद पर एक नए व्यक्ति की सैलरी 15000 से 40000 के बीच होती हैं।

जब आपको किसी क्वालिटी ऑफिस को विद्यालय में प्रोफेसर के तौर पर नौकरी मिल जाती है तब आपकी तनख्वाह ₹50000 प्रति माह से ₹100000 प्रति माह तक होती है जो आपके अनुभव के आधार पर निर्भर करता हैं।

यह भी पढ़ें

Professor बनने के बारे में पूछे जाने वाले प्रश्न

यहाँ पर मैंने ऐसे कुछ सवालों के जवाब दिए है जो की अक्सर लोग फिल्म प्रोफेसर के बारे में पूछते रहते हैं।

Q. प्रोफेसर बनाने के लिए शिक्षण योग्यता कितनी होनी चाहिए?

प्रोफेसर बनने के लिए आपको अपने चयनित विषय में रिजर्वेशन फिर मास्टर्स और आवश्यकता अनुसार पीएचडी या एमफिल की डिग्री लेनी आवश्यक हैं। 

Q. एक प्रोफ़ेसर की तनख्वाह कितनी होती हैं?

प्रोफेसर बनने से पूर्व व किसी कॉलेज या विश्वविद्यालय मे असिस्टेंट प्रोफेसर की नौकरी मिलती है जहां आपकी तनख्वाह 15000 से 40000 के मध्य होती है उसके बाद प्रोफेसर बनने पर ₹50000 से ₹100000 प्रति माह आपके अनुभव के अनुसार मिलता हैं। 

Q. प्रोफेसर बनने के लिए कौन सी परीक्षा पास करनी होती हैं?

प्रोफेसर बनने के लिए आपको UGC NET या CSIR NET की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती हैं। 

Q. भारत के सबसे पहले शिक्षक कौन थे?

भारत हमेशा से पुरुष प्रधान देश रहा है इस वजह से पुरुष में इस बात की गिनती करना संभव नहीं है मगर सरस्वती बाई फुले को सबसे प्रथम महिला शिक्षक के रूप में हम जानते हैं।

यह भी पढ़ें

निष्कर्ष

अगर आपको Professor Kaise Bane लेख हेल्पफुल रहा है तो फिर आप यह लेख अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करना और इसके अलावा अगर आपको इस लेख से संबंधित कोई भी जानकारी चाहिए तो उसके लिए आप नीचे कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Abhishek Maurya

मेरा नाम अभिषेक मौर्य है और मैं उत्तर प्रदेश वाराणसी डिस्ट्रिक्ट का रहने वाला हूं और मैं एक दिव्यांग हूं। मुझे अलग-अलग विषयों पर आर्टिकल लिखना बहुत अच्छा लगता है और इसी को मैंने अपना जुनून बनाया है। मैं पिछले 3 वर्षों से आर्टिकल लेखन का कार्य कर रहा हूं। आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख कैसे लगते हैं? आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। मेरा भी एक हिंदी ब्लॉग है जिस पर मैं रिलेशनशिप के ऊपर आर्टिकल लिखता हूं जिसका यूआरएल इस प्रकार से है। माय वेबसाइट यूआरएल - https://hindibaatchit.com/

Leave a Reply