Television का आविष्कार किसने किया जानिए हिंदी में

दोस्तों जब एंटरटेनमेंट की बात आती है तो हमारा दिमाग तुरंत टीवी की तरफ केंद्रित होने लगता है। आजकल टीवी में हम अनेकों प्रकार के शो देखते है परंतु क्या आपको पता है कि Television Ka Avishkar Kisne Kiya शायद ही आपको पता होगा कि टेलीविजन का आविष्कार किसने किया? क्योंकि हम चीजों को इस्तेमाल करना तो जानते है परंतु उसके पीछे किसका हाथ है यह जानने का बिल्कुल भी प्रयास नहीं करते हैं।

दोस्तों ठीक इसी प्रकार से हमने अपने पिछले लेख में आपको मोटरसाइकिल का आविष्कार किसने किया है? और बल्ब का आविष्कार किसने किया? के बारे में विस्तार पूर्वक से जानकारी प्रदान की हुई है। दोस्तों हम इन चीजों का इस्तेमाल तो करते है परंतु इसके पीछे किस ने अपना योगदान दिया और इसका जनक कौन है यह जानने का बिल्कुल भी प्रयास नहीं करते। 

आज हम अपने इस लेख के माध्यम से आप सभी लोगों को टेलीविजन का आविष्कार किसने किया? के बारे में विस्तार पूर्वक से जानकारी प्रदान करने वाले है। अगर आपको आज की इस जानकारी के बारे में जानना है तो ऐसे में आपको हमारा यह महत्वपूर्ण लेकर अंतिम तक पढ़ना होगा तभी आपको इस विषय पर जानकारी समझ में आ पाएगी तो चलिए लेख को प्रारंभ करते हैं।

Television क्या है

टेलीविजन एक ऐसा यंत्र है जिसके जरिए हम चलचित्र को देख पाते है। टेलीविजन को हिंदी में ‘दूरदर्शन’ के नाम से भी जानते है। टेलीविजन का आविष्कार इंटरटेनमेंट के दृष्टिकोण से किया गया मतलब अगर किसी को कुछ इंटरटेनमेंट का साधन चाहिए हो तो उस दौरान वे टीवी का इस्तेमाल करते थे।

टेलीविजन का आविष्कार से पहले रेडियो का आविष्कार हुआ था परंतु रेडियो में केवल लोग आवाज ही सुना करते थे मगर जब टीवी का आविष्कार हुआ तो इसमें लोग आवाज के साथ साथ उसका चित्र भी देखा करते थे जो हमारे मनोरंजन के लिए और भी इंटरेस्टिंग बना था।

जब टीवी का आविष्कार हुआ तब टीवी में ब्लैक एंड वाइट चित्र दिखाई देता था और पिक्चर क्वालिटी भी कुछ ज्यादा खास नहीं हुआ करती थी परंतु फिर भी लोग इसका उपयोग किया करते थे क्योंकि इसमें उन्हें आवाज के साथ साथ चित्र को भी देखने को मिलता था।

जब टीवी का आविष्कार हुआ तो टीवी बड़े बड़े आकार में आती थी और इसे लकड़ी के बक्सों में फिट किया जाता था। जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी विकसित होती गई वैसे-वैसे टीवी टेक्नोलॉजी में भी काफी ज्यादा विकास हुआ और आज के समय में अनेकों प्रकार की हाई रेजोल्यूशन वाली टीवी मौजूद हैं। 

इतना ही नहीं आज के समय में टीवी का आकार बड़ा बड़ा रहता है मगर यह काफी स्लिम डिजाइन में आ रहा है जो अपने आप में काफी आकार से भी रखता है और आप तो स्मार्ट टीवी भी आ गए है जिसमें हमें कई सारे एडवांस फीचर उपयोग में करने के लिए मिलते हैं।

Television कैसे काम करता है 

टेलीविजन कई सारे अलग-अलग पार्ट से होकर बनता है और सबसे मुख्य पास टेलीविजन में उसका डिस्प्ले और सेटेलाइट से प्रोग्राम को रिसीव करने वाला डिवाइस होता है। टेलीविजन में हमें कई सारे छोटे-छोटे बिंदु ध्यान से देखने पर दिखाई देते है और यही बिंदु काफी संख्या में होते है जो चलचित्र का निर्माण करते हैं।

टीवी में प्रोग्राम को देखने के लिए हमे एक अलग से डिश एंटीना की जरूरत होती है जो सेटेलाइट से पिक्चर रिसीव करता है और यही रिसीवर हमारी टीवी में चित्र को दिखाने का काम करता है। टीवी को चलाने के लिए हमें बिजली की आवश्यकता होती है बिना बिजली के टीवी चलचित्र नहीं दिखा सकता हैं।

Television का आविष्कार किसने किया

टेलीविजन का आविष्कार 1 साल या फिर 2 साल में नहीं बल्कि इसका आविष्कार दिन प्रतिदिन होता गया और इसके टेक्नोलॉजी में हर बार कुछ न कुछ नया सुधार करने की कोशिश की गई ताकि इसे और भी बेहतर बनाया जा सके। 

वैसे तो टेलीविज़न का आविष्कार सर्वप्रथम सन 1925 में जॉन लॉगी बेयर्ड द्वारा किया गया। जॉन ने अपने इस अविष्कारक उपकरण का नाम टेलीविज़न नहीं बल्कि ‘The Televisor’ रखा था। 

जॉन ने टेलीविजन का आविष्कार करके इस पर लोगों को कठपुतली का प्रसारण करके इसका प्रीव्यू दिखाया था। उन्होंने टेलीविजन पर प्रसारित किए जाने वाले कठपुतली का नाम स्टिकी बिल रखा था। बता दें की अपने इस आविष्कार को को बढ़ावा देने के लिए जॉन डेली एक्सप्रेस अखबार के दफ्तर में चले गए थे। 

और इनके पहली बार किए गए टेलीविजन के अविष्कार को देखकर अखबार संपादक आश्चर्यचकित रह गया और उसे यह समझ नहीं आ रहा था कि आखिर यह चीज का मतलब क्या है और यह क्या है क्योंकि उस समय यह काफी नया नया अविष्कार था जो अपने आप में दुर्लभ था। 

Television का इतिहास

दोस्तों आप में से कितने सारे लोग टेलीविजन के इतिहास के बारे में जानते है? हमारे हिसाब से बहुत कम लोग ही होंगे जिनको टेलीविजन के इतिहास के बारे में पूरी जानकारी होगी। अगर आपको टेलीविजन के इतिहास के बारे में जानकारी नहीं है तो आपको बिल्कुल भी फिक्र करने की जरूरत नहीं है अब हम यहां पर आपको नीचे अच्छे से पॉइंट के माध्यम से टेलीविजन के इतिहास के बारे में विस्तृत जानकारी देंगे ताकि आपको इस विषय पर भी सब कुछ पता हो तो चलिए इस जानकारी को नीचे जानते हैं।

  • जोसेफ हेनरी और माइकल फैराडे द्वारा 1831 में खोज की गई विद्युत चुम्बकीय तरंगों के नियम, टेलीविजन के आविष्कारक सबसे प्रमुख आधार माना जाता है। इतना ही नहीं इसी जगह सेइलेक्ट्रॉनिक युग का संचार प्रारंभ हुआ और अब तक टेलीविजन का विकास तेजी से जारी हैं। 
  • वर्ष 1876 में सेलेनियम कैमरे का आविष्कार किया गया और इसका कार्य विद्युत तरंगों के ऊपर अपनी नजरें जमाए रखने का था। यूजेन गोल्डस्टीन ने वैक्यूम ट्यूब में प्रकाश तरंगों के शॉट को कैथोड किरणें का नाम भी दिया।
  • वर्ष 1884 में जर्मन के एक जाने-माने वैज्ञानिक ‘Paul nipkow’ एक इलेक्ट्रिक टेलीस्कोप नामक एक धातु की पट्टी का उपयोग करके इलेक्ट्रॉनिक छवियां भेजने में सफलता प्राप्त की थी।
  • वर्ष 1888 में लिक्विड क्रिस्टल का आविष्कार किया गया और इस अविष्कार को आस्ट्रेलिया के एक वनस्पतिशास्त्री ‘Friedrich reinitzer’ और बाद में यही लिक्विड क्रिस्टल एलसीडी बनाने के लिए कच्चा माल के रूप में उपयोग में लाया जाने लगा। 
  • वर्ष 1938 में एक जर्मन इंजीनियर के द्वारा शैडो मास्क कलर टीवी का निर्माण किया गया और इस इंजीनियर का नाम ‘Werner Flechsig’ था। 
  • वर्ष 1987 में ‘CODEC’ के द्वारा पहली बार ओलेड डिस्प्ले डिवाइस का आविष्कार करके अपना पेटेंट करवा लिया।
  • वर्ष 1995 में ‘Larry weber’ ने एक लंबे वक्त तक टेलीविजन पर शोध करते रहे और आखिरकार उनकी प्लाजमा स्क्रीन प्रोजेक्ट का काम पूरे तरीके से पूर्ण हुआ, फिर Weber ने ‘Matsushita Company’ से 26 मिलियन अमेरिकी डॉलर के साथ अपने शोध को पूरा किया और अब टीवी का लगभग अविष्कार पूरा हो चुका था।
  • टेलीविजन का इतिहास लगभग वर्ष 2000 तक चलता रहा और अब उसके बाद से तरह तरह की टेक्नोलॉजी का प्रयोग करके  LCD, LED, OLED, Plasma और CRT Panel का निर्माण किया गया हैं।
  • आप के समय में टीवी का क्या वर्जन है इसके बारे में लोगों को बताने की बिल्कुल भी आवश्यकता नहीं है क्योंकि अब हर घर में लगभग आपको धीरे-धीरे स्मार्ट टीवी दिखने लग रहा हैं।

निष्कर्ष

अगर आपको Television Ka Avishkar Kisne Kiya लेख हेल्पफुल रहा है तो फिर आप यह लेख अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करना और इसके अलावा अगर आपको इस लेख से संबंधित कोई भी जानकारी चाहिए तो उसके लिए आप नीचे कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Abhishek Maurya

मेरा नाम अभिषेक मौर्य है और मैं उत्तर प्रदेश वाराणसी डिस्ट्रिक्ट का रहने वाला हूं और मैं एक दिव्यांग हूं। मुझे अलग-अलग विषयों पर आर्टिकल लिखना बहुत अच्छा लगता है और इसी को मैंने अपना जुनून बनाया है। मैं पिछले 3 वर्षों से आर्टिकल लेखन का कार्य कर रहा हूं। आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख कैसे लगते हैं? आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। मेरा भी एक हिंदी ब्लॉग है जिस पर मैं रिलेशनशिप के ऊपर आर्टिकल लिखता हूं जिसका यूआरएल इस प्रकार से है। माय वेबसाइट यूआरएल - https://hindibaatchit.com/

Leave a Reply