भारत के यातायात के नियम, चिन्ह का मतलब – Traffic Rules In Hindi

नियम कानून सभी लोगों के लिए बहुत आवश्यक है भारतीय रोड एक ऐसी जगह है जहां लोग नियम कानून का बहुत अधिक उल्लंघन करते है इसके परिणाम स्वरूप आए देना हमें रोड दुर्घटना के संदेश मिलते रहते हैं। हम इन सब के बारे में अच्छे से समझते है इस वजह से आपको Traffic Rules In Hindi को अच्छे से समझने की सलाह देते है अगर आप को ट्रैफिक के नियम समझ नहीं आते तो आज के लेख में हम आपको उन नियमों के बारे में विस्तारपूर्वक और सरल भाषा में जानकारी देने का प्रयास किए हैं। 

Table Of Contents
  1. ट्रैफिक रूल्स किसे कहते है
  2. ट्रैफिक नियम के निर्देश
  3. Traffic Rules In Hindi
  4. ट्रैफिक सिग्नल के क्या संकेत होते है
  5. ट्रैफिक नियमों के फायदे

किसी भी देश की तरक्की उसके यातायात संसाधन पर भी निर्भर करती है इस वजह से आज Traffic rules in hindi के इस लेख के माध्यम से हम हर किसी को रोड पर लगभग ना के बराबर पालन किए जाने वाले नियमों की संपूर्ण जानकारी देने का प्रयास करेंगे। 

ट्रैफिक रूल्स किसे कहते है

अगर आप इस बात को नहीं समझते कि आखिर इस तरह के नियम किसे कहते है तो आपको बता दें की ट्राफिक का अर्थ होता है भीड़ और सबसे अधिक बेकाबू भीड़ आपको रोड पर देखने को मिलती है इस वजह से उन्हें खासतौर पर ट्रैफिक शब्द से संबोधित किया जाता हैं। 

उस भीड़ को अगर का गुणा किया गया तो दुर्घटनाओं के अस्तर बढ़ जाएंगे और लोगों की मृत्यु भी हो सकती है इस वजह से सरकार ने रोड पर बेकाबू घूम रहे लोग और गाड़ियों के लिए कुछ खास नियम बनाएं जिन नियमों को ट्रैफिक रूल्स कहते हैं। 

ट्रैफिक नियम के निर्देश

ट्रैफिक नियम किस प्रकार के होते है और किस निर्देश को देख कर आपको कैसा बर्ताव करना चाहिए इस बारे में हमने विस्तारपूर्वक जानकारी प्रस्तुत की है नीचे दी गई टेबल को ध्यान पूर्वक देखें और अब समझ पाएंगे कि ट्राफिक नियम क्या कहता हैं। 

चिन्हचिन्ह का नामचिन्ह का अर्थ
एक तरफाएक तरफा वाहनइसका अर्थ है कि आप जहां वाहन चला रहे है आपको वहा एक साइड में वाहन चलाना चाहिए। गलत साइड वहन चलाना एक दंडनीय अपराध हैं। 
दोनो तरफ से गाड़ी लाना वर्जित हैदोनो तरफ से गाड़ी लाना वर्जित हैअगर आप रास्ते पर ये साइन देखते है तो इसका अर्थ होता है की दोनो ओर से गाड़ी ले कर जाना वर्जित कर दिया गया हैं। 
बाएं हाथ के तरफ गाड़ी मोड़ना वर्जित है।बाएं हाथ के तरफ गाड़ी मोड़ना वर्जित है।इस बोर्ड का अर्थ होता है की आप बाई ओर अपनी गाड़ी नहीं मोड़ सकते। जिस जगह पर बाई ओर कोई काम चल रहा हो या लोगों का इस तरफ जाना वर्जित हो उस जगह इस बोर्ड का इस्तमाल करते हैं। 
दाहिनी तरफ गाड़ी मोड़ना वर्जित है दाहिनी तरफ गाड़ी मोड़ना वर्जित है यह बोर्ड भी पहले वाले की तरह ही दिखता है मगर जरा सा बदलाव होता है जिसके कारण इसका अर्थ होता है कि आप दाहिनी ओर अपनी गाड़ी नहीं मुड़ सकते अगर आप किसी रास्ते पर यह बोर्ड देखते है तो इसका अर्थ है कि उस रास्ते में दाहिनी ओर नहीं मोड़ना हैं। 
नो स्टॉपिंगनो स्टॉपिंगयह बोर्ड बड़े हाई-फाई रास्तों में लगा होता है जिसका अर्थ होता है कि गाड़ी रुकना वर्जित है अर्थात जब आप ऐसा बोर्ड देखे तो इसका अर्थ है कि आप जिस रास्ते में चल रहे है वहां गाड़ी नहीं रोकी जा सकती। 
स्पीड ब्रेकर हैस्पीड ब्रेकर हैइस चिन्ह का अर्थ होता है कि आपको रास्ते में आगे स्पीड ब्रेकर दिखेगा अर्थात अनुरोध किया जाता है कि अपने वाहन को काबू में रखें क्योंकि रास्ते के स्पीड ब्रेकर पर आपको अपनी रफ्तार कम करनी होगी
U TURNU turnजब आप इस तरह का बोर्ड रास्ते में देखे तो इसका अर्थ होता है कि आगे से यू टर्न करने वर्जित हैं। अर्थात आप चलते वक्त अपने वाहन को पीछे की दिशा में नहीं मुड़ सकते। 
पैदल चलने वाले व्यक्ति वर्जित हैपैदल चलने वाले व्यक्ति वर्जित हैअगर आप इस तरह का बोर्ड रास्ते में देखे तो इसका अर्थ है कि किसी भी पैदल चलने वाले व्यक्ति को उस जगह से जाने की अनुमति नहीं हैं।  
सभी मोटर वाहन वर्जित हैसभी मोटर वाहन वर्जित हैजब आप इस तरह का बोर्ड रास्ते पर लगा हुआ देखे तो इसका अर्थ होता है कि जिस रास्ते पर आप जा रहे है उस रास्ते पर किसी भी मोटर वाहन को ले जाना वर्जित कर दिया गया हैं। 
आगे रेलवे फाटक हैआगे रेलवे फाटक हैकभी वाहन से रेलवे फाटक पार करते वक्त आपने यह देखा होगा कि ट्रेन आने की स्थिति में फाटक को बंद कर दिया जाता है इस वजह से इस तरह के बोर्ड का इस्तेमाल काफी पहले किया जाता है ताकि लोगों को यह पता चल सके कि इस रास्ते में अगर वह आगे बढ़ेंगे तो उन्हें रेलवे फाटक मिलेगा। 
नो ओवरटेकनो ओवरटेकइस चिन्ह से तात्पर्य है कि आप जहा है वहा आप ओवरटेक नही कर सकते। अगर आप किसी भी गाड़ी को ओवरटेक करते है तो यह दुर्घटना होने की संभावना काफी अधिक हैं। 
साइकिल वर्जित हैसाइकिल वर्जित हैजब आप इस तरह का साइन रास्ते में देखे तो यह समझ जाए कि उस रास्ते में साइकिल ले कर जाना वर्जित कर दिया गया हैं। 

ट्रैफिक रूल्स की क्या आवश्यकता है

नियम जीवन के हर संदर्भ में आवश्यक होता है बिना नियम के अब किसी भी काम को सफलतापूर्वक नहीं कर सकते। अगर आपको अपने जीवन में सफल होना है तो अपने सभी कार्य को नियमानुसार करना होगा जब गाड़ी का आविष्कार हुआ तब उसका इस्तेमाल लोग अपनी मर्जी से कहीं भी कैसे भी करने लगे क्योंकि उस वक्त तक लोगों को गाड़ी में काफी मजा आता था और एक स्थान से दूसरे स्थान तक जल्दी पहुंचने का यह एकमात्र साधन था। 

वक्त के अनुसार लोगों ने तरक्की की और गाड़ी के विभिन्न रूप हमारे समक्ष प्रस्तुत किए गए। धीरे-धीरे हर किसी को यह समझ में आने लगा कि 1 दिन गाड़ी की मात्रा इतनी अधिक हो जाएगी की पैदल घूमने वाले लोगों के लिए समस्या बन जाएगी इसी समस्या का समाधान ढूंढते हुए सरकार ने कुछ ऐसे नियम बनाए जिससे गाड़ी चालक और रोड पर पैदल घूमने वाला व्यक्ति दोनों अपने आप को सुरक्षित महसूस कर सके। 

जब हम गाड़ी में घूमने की बात करते है तो ना केवल अपने यातायात को सरल बनाते है बल्कि जीवन में कुछ रिस्क को भी आने की अनुमति देते है। अगर हम रोड पर गाड़ी चलाते है और पैदल भी घूमते है तो गाड़ी चलाने वाले व्यक्ति और पैदल घूमने वाले व्यक्ति एक दुर्घटना में दोनों को बराबर मात्रा में नुकसान पहुंचने की संभावना होती है ऐसे में अगर हमारे पास कुछ ऐसे नियम होंगे जिनके पालन करने से हम खुद को रोड पर सुरक्षित रख सके और यह सुनिश्चित कर सकें कि अगर कोई व्यक्ति इस नियम को पालन नहीं करेगा तो उसकी दुर्घटना हो सकती है तो हर व्यक्ति के लिए यातायात और आसान हो जाएगा इस वजह से हर व्यक्ति के लिए ट्रैफिक रूल्स आवश्यक हैं। 

Traffic Rules In Hindi

अगर आप कुछ ट्रैफिक रूल्स के बारे में समझना चाहते है तो आज आप बिल्कुल सही जगह पर है नीचे हमने कुछ महत्वपूर्ण ट्रैफिक रूल्स के बारे में बताया है जिन्हें पढ़ने के बाद आप स्वयं को रोड पर सुरक्षित कर सकते है – 

1. रोड पर हमेशा बाईं ओर चलें

जब भी हम रोड के नियम या ट्राफिक रूल्स की बात करते है तो जो सबसे पहला नियम हमारे दिमाग में आता है वह यह है कि हमें हमेशा रोड पर बाएं तरफ चलना चाहिए यह नियम बचपन से एक छोटे बच्चे के दिमाग में डाल दिया जाता है ताकि वह रोड पर अपने आप को सुरक्षित रख सके। जब सबसे पहले गाड़ियों का आविष्कार हुआ तब अचानक होने वाले दुर्घटना और लगने वाले जाम की परेशानी काफी अधिक पड़ गई। इस वजह से यह फैसला लिया गया कि रोड पर खास किस्म के चलने के नियम बनाए जाएंगे। 

सबसे सरल अच्छा और पहला ट्राफिक रूल जो आपको हमेशा अपने जीवन में याद रखना चाहिए वह यह है कि रोड पर हमेशा बाई तरफ चले जब भी आप कहीं जा रहे हो अपने बाएं हाथ है या लेफ्ट हैड के तरफ चले। अगर जाने वाला हर कोई यह सोचेगा तो रोड दो बराबर हिस्सों में बट जाएगा एक जाने वाले व्यक्ति के लिए जिसके लिए बाईं तरफ होगा और एक आने वाला व्यक्ति जब यही चीज सोचेगा तो उसका बायां तरफ रोड के दूसरे साइड आएगा। 

2. पार्किंग पर भी ध्यान दें

यह आश्चर्य की बात है मगर अधिकतर दुर्घटना गाड़ी के रुकने के दौरान होता है। किसी भी नए गाड़ी चालक को जो सबसे अधिक परेशान करता है वह यह है कि रोड पर वह कहां गाड़ी रोके। एक चार पहिया वाहन का आकार रोड पर मौजूद बाकी गाड़ियों के मुकाबले थोड़ा बड़ा होता है जिस वजह से उसे कहीं भी रोक देने से बाकी लोगों को परेशानियां शुरू हो जाती है और दुर्घटना होने की संभावना बढ़ जाती है इस वजह से आपको अपनी गाड़ी रोक दें या पार्क करते वक्त ध्यान रखना चाहिए। 

इस वजह से प्रत्येक गाड़ी चालक से अनुरोध है कि वह इस बात का संपूर्ण ध्यान रखें कि वह गाड़ी कहां रोक रहा है भले ही अब थोड़ी देर के लिए गाड़ी रोक रहे हो मगर गाड़ी को हमेशा उसी जगह रखें जहां पार्किंग की सुविधा मौजूद हो या पार्किंग का निशाना बनाया गया हो। 

3. सड़क पर चलते वक्त कभी भी किसी दूसरे वाहन को ओवरटेक ना करें

ओवरटेक का साधारण अर्थ होता है कि आगे चल रहे किसी गाड़ी से तेज चल कर उसके आगे चले जाना। आपको बता दें कि रोड पर आगे चल रहे व्यक्ति से लैस लगाना और जबर्दस्ती अपने वाहन को उसके वाहन से तेज चला करो उसके आगे चले जाना एक अपराध है ऐसा करके अपना केवल अपना बल्कि सामने वाले व्यक्ति के जीवन के साथ भी खिलवाड़ कर रहे हैं। 

आपको बता दें कि सड़क पर चलते वक्त दूसरे वाहन को ओवरटेक करने से सबसे अधिक दुर्घटना होने की संभावना होती है। ऐसा इस वजह से है क्योंकि जब आप ओवरटेक कर रहे होते है तब सामने से भी गाड़ियां आती रहती है इस वजह से सिंगल वे रोड पर तो कभी भी ऐसी हरकत नहीं करनी चाहिए मगर कभी-कभार लोग डबल वे रोड पर भी इस तरह की हरकत करते है वह भी यह बहुत बड़ा गुनाह है क्योंकि आप से पीछे चल रहा व्यक्ति अगर अपनी गाड़ी को तेज कर ले या फिर आप जैसे ओवरटेक करने का प्रयास कर रहे है उसे ओवरटेक करने के दौरान ही अगर उसने अपनी गाड़ी को तेज कर दिया तो आप दोनों रोड को पूरी तरह छेक लेंगे जिससे दुर्घटना की संभावना कहीं हद तक बढ़ जाएगी। 

भूलकर भी रोड पर कभी किसी गाड़ी को ओवरटेक करने का प्रयास ना करें ऐसा करने पर आप एक दंडनीय अपराध करेंगे और अगर आपको कोई दंड नहीं देने वाला है तो भी आप अपने जीवन के साथ इतना बड़ा खिलवाड़ कर रहे है कि आप अचानक अपाहिज हो सकते हैं। 

4. वाहन चलाते समय बार-बार होरन का प्रयोग ना करें

हर गाड़ी में हॉर्न की सुविधा दी जाती है जिसे दबाकर आप लोगों को अपने गाड़ी का संदेश दे सकते है और रोड को खाली करवा सकते है। जब आप अपनी गाड़ी में होरन दबाते है तब लोगों को इसके बारे में पता चलता है कि आपकी गाड़ी आ रही है बस यह बताने के लिए कुछ लोग बेफिजूल में हॉर्न दबाते है जिससे रोड पर चल रहे लोगों को परेशानी होती है और आप से आगे चल रहे गाड़ी को समझ नहीं आता कि आप उससे कितनी दूर है और उसे आप को कितनी जगह देने की आवश्यकता हैं। 

इससे ना केवल आप लोगों को परेशान और चिड़चिड़ा कर रहे है बल्कि रोड पर चल रहे अन्य गाड़ियों को भी आप परेशान कर रहे है और उन्हें असमंजस में डाल रहे है जिससे दुर्घटना होने की संभावना बढ़ती हैं। 

5. हेलमेट पहनकर ही गाड़ी चलाएं

यह एक ऐसा नियम है जिसे आप लगभग अपने जीवन में रोज सुनते होंगे और उसके बावजूद इस नियम का उल्लंघन होते हुए देखते होंगे। इस नियम का पालन करिए यह बोल बोल कर सरकार भी थक चुकी है ना जाने कितने समाजसेवक सरकार या एनजीओ की संस्था इस बारे में मुहिम चला रही है और हर किसी से अनुरोध कर रही है कि कृपया हेलमेट पहनकर गाड़ी चलाएं मगर भारतीय लोग इस बारे में कुछ नहीं कर रहे। 

आपको यह समझना होगा कि आपके 2 मिनट की सुंदरता की वजह से आप जीवन भर के लिए अपाहिज और अपने घर पर एक बहुत बड़ा बोझ बन सकते है। भारतीय रोड एक ऐसी जगह है जहां पर लोगों की बेकाबू भीड़ काफी तेज रहती है। भारत के लगभग हर जगह है आपको ऐसी रोड देखने को मिलेगी जो लोगों की खचाखच भीड़ से भरी हुई रहती है और इस वजह से लोग परेशान रहते हैं। 

किसी दूसरे की गलती की वजह से भी अगर आप किसी दुर्घटना के शिकार हो जाते है तो एक हेलमेट आपके जीवन को बचा सकता है। आपको यह बात समझने की आवश्यकता है कि हेलमेट उन आवश्यक वस्तुओं में से है जो आपको रोड पर सुरक्षित रखने के लिए आवश्यक हैं। 

6. एक तरफा रोड के नियम का पालन करें

ऊपर बताई गई जानकारी को पढ़ने के बाद आप यह बात समझ पाएंगे कि भारत में रोड पर लोगों की भीड़ इतनी अधिक रहती है और इसके बावजूद यहां के लोग ट्रैफिक नियम का सही तरीके से पालन नहीं करते अगर आप इस लेख को पढ़ रहे है तो यह अनुरोध है कि आप एक तरफा रोड के नियम का पालन करें। 

इस बात को अच्छे से याद रखें कि ट्रैफिक रूल्स के नियम का पालन करने से आपको कभी भी नुकसान का सामना नहीं करना पड़ेगा। अगर आप सभी नियमों का अच्छे से पालन करते है तो आप ना केवल खुद को बल्कि अपने आसपास चल रहे लोगों को भी सुरक्षित करेंगे। 

7. गाड़ी चलाते वक्त सिग्नल का सही इस्तेमाल करें

आपने देखा होगा कि लगभग सभी प्रकार के वाहन में इंडिकेटर नाम के लाइट दिए रहते है जिनका मुख्य रूप से काम चलते वक्त अपनी दिशा बताना होता है। अगर आप ऐसे रास्ते पर चल रहे है जहां लोगों को यह बताने की आवश्यकता है कि आप किस दिशा में मोड़ने वाले है तो उस दिशा की ओर अपने इंडिकेटर लाइट का इस्तेमाल करें। 

कई जगहों पर लोग अपने हाथ के सिग्नल का इस्तेमाल करके भी गाड़ी को मोड़ने का प्रयास करते है आपको इसका भी सही तरीके से इस्तेमाल करना चाहिए अगर लाइट या किसी भी प्रकार के सिग्नल का आप गलत इस्तेमाल करते है कि ना केवल अपना बल्कि दूसरों के जीवन के साथ भी एक बड़ा खिलवाड़ करते हैं। 

8. वाहन गति पर प्रतिबंध लगाएं

वाहन का तेज चलना ना केवल बाकी लोगों के लिए बल्कि उस वाहन के लिए भी हानिकारक है। जिस वाहन को अत्यधिक समय तक तेज रफ्तार से चलाया जाता है उस वाहन के खराब होने की संभावना कहीं हद तक बढ़ जाती हैं। अगर आप ऐसा करेंगे तो आपको काफी बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ सकता हैं। 

अपने रोड पर बमफर या स्पीड ब्रेकर देखा होगा जिसका इस्तेमाल करके गाड़ियों को धीरे करने का प्रयास किया जाता है इस वजह से हर किसी को यह बताया जाता है कि आगे जब स्पीड ब्रेकर हो तो अपनी गाड़ी को तेज रफ्तार में ना चलाएं वरना आपकी गाड़ी पलट सकती है। इसके साथ ही आपको यह भी बता दें कि दुर्घटना की सबसे अधिक संभावना खाली रोड पर होती है क्योंकि आप एक खाली रोड पर अपनी गाड़ी की रफ्तार अत्यधिक तेज कर देते है और जब अचानक उस गाड़ी के रफ्तार को काबू करने की बात आती है तो यह आपसे हो नहीं पाता और आप दुर्घटना ग्रसित हो जाते हैं। इस वजह से यह अनुरोध किया जाता है कि गाड़ी की रफ्तार को पूर्ण काबू में रखने का प्रयास करें। 

9. भीड़ वाली जगह पर अपने गाड़ी की रफ्तार 20 किलोमीटर प्रतिघंटा या उससे भी कम रखें

यहां भीड़ शब्द से हमारा तात्पर्य एक ऐसी जगह से है जहां स्कूल कॉलेज कोई कार्यालय या बस्ती वाला इलाका हो। ऐसी किसी इलाका के समीप लोगों की भीड़ काफी अधिक मात्रा में मौजूद होती है इस वजह से इस इलाके से थोड़ी दूरी पर आपको एक बोर्ड दिखाई देगा जो बोर्ड आपको संकेतिक करेगा कि आगे आपको अपने गाड़ी की रफ्तार 20 किलोमीटर प्रति घंटा या उससे भी कम रखनी हैं। 

आपको बता दें कि इस तरह के इलाकों की जानकारी अवश्य रखें ताकि अनजाने में कभी आप उस बोर्ड को ना देख पाए तब भी आपको समझ में आ जाए कि कब आप को अपने वाहन की रफ्तार कम करनी है। हालांकि सबसे अच्छा तरीका होता है कि आप अपने वाहन को पूरी तरह अपने काबू में रखने का प्रयास करें। मगर जब आप तेज वाहन चला रहे है और ऐसा कोई बोर्ड देखते है तो तुरंत अपने वाहन की रफ्तार कम कर लें। 

10. ट्रैफिक सिग्नल का इस्तेमाल करें

आपको यह मालूम ही होगा कि लगभग सभी बड़े और अच्छे रोड पर एक ट्रैफिक लाइट लगी होती है जिसमें 3 किस्म की रोशनी जलती है। हर रोशनी का अपना एक अर्थ होता है अगर उसके अर्थ को समझकर सही तरीके से फैसला लेकर गाड़ी चलाई जाए तो आप कभी भी दुर्घटना ग्रसित नहीं होंगे। 

इस तरह के लाइट का पालन करना काफी आवश्यक है ऐसे जगह पर आपको ट्रैफिक पुलिस भी मिल जाएगा जो रोड पर होने वाले किसी परेशानी में आपकी मदद भी कर सकता है। इस वजह से इस तरह के रोशनी का क्या अर्थ होता है और कैसे आपको प्रत्येक रोशनी के अनुसार बर्ताव करना चाहिए इस बारे में जानकारी नीचे दी गई हैं। 

ट्रैफिक सिग्नल के क्या संकेत होते है

जैसा कि हमने आपको बताया ट्रैफिक लाइट के विभिन्न प्रकार के सिग्नल होते है और प्रत्येक रोशनी का एक अलग अर्थ होता है जिसके बारे में जानकारी नीचे दी गई है उसे पढ़ने पर अब यह समझ पाएंगे कि किस रोशनी पर आपको अपने वाहन के साथ कैसा बर्ताव करना हैं। 

1. लाल रंग का संकेत

रोड पर जो ट्रैफिक लाइट दिखता है उसमें सबसे पहला रंग लाल रंग का होता है जब वह लाल रोशनी जलती है तो उसका तात्पर्य होता है कि वह आपके गाड़ी को रुकने का संकेत दे रही हैं। आप जब तेजी से ट्रैफिक लाइट की तरफ आते है और लाल रंग की रोशनी को जलता हुआ पाते है तो इस बात को समझ ले कि आपको अपने वाहन को तुरंत रोक लेना है अगर आप उस लाइट को बिना रुके पार कर लेते है तो आप पर जुर्माना हो सकता हैं। 

इस रोशनी के जलने का अर्थ होता है कि किसी दूसरे रास्ते से कुछ लोग या दूसरे वाहन पर हो रहे है अगर आप अपनी गाड़ी नहीं रोकेंगे तो दूसरे वाहन या व्यक्ति के साथ टकराव हो सकता हैं। 

2. नारंगी रंग का संकेत

ट्रैफिक लाइट में जो दूसरी रोशनी आपको दिखाई देती है वह ऑरेंज या नारंगी रंग की होती हैं। कई जगहों पर इसे पीला रंग से भी संबोधित किया जाता हैं। इस रोशनी का तात्पर्य होता है कि वह आपके गाड़ी को शुरू करने का संकेत दे रही हैं। 

जब लाल रंग को देखकर आप अपनी गाड़ी को रोकेंगे तो उसे दोबारा शुरू करने और इंजन को तैयार करने साथ ही स्वयं को आगे बढ़ने के लिए उत्साहित करने के लिए आपको थोड़ा वक्त लगेगा इस वजह से आपको पीले रंग की रौशनी दी जाती है जिसे देखकर अपनी गाड़ी को चालू करके तैयार हो जाएं। 

3. हरे रंग का संकेत

ट्रैफिक लाइट का यह तीसरा और आखिरी रंग होता है जिसे देखकर यह संकेत दिया जाता है कि अपने वाहन को अब आगे बढ़ा सकते हैं। जब दूसरे रास्ते से आने वाली गाड़ी या व्यक्ति चले जाते है तब आपको आगे जाने के लिए संकेत दिए जाते है और इस संकेत के लिए हरे रंग की रोशनी का इस्तेमाल किया जाता हैं। 

याद रखें ऊपर बताए गए सभी ट्रैफिक लाइट के नियम या Traffic rules in hindi के सभी जानकारी और निर्देश का आदेश अनुसार पालन करना चाहिए सर्वप्रथम अगर आप ऐसा नहीं करते तो यह एक दंडनीय अपराध है जिसके लिए आपको पैसे का भुगतान करना पड़ सकता है और दूसरा यह काफी खतरनाक हो सकता है आपके और बाकी लोगों के जीवन के लिए। 

ट्रैफिक नियमों के फायदे

ट्रैफिक नियम क्या है और यह किस प्रकार यातायात को सुगम बनाता है इस संबंध में हमने आपको विस्तार पूर्वक जानकारी दी अब हम आपको कुछ महत्वपूर्ण बातें बताने जा रहे है जिनकी मदद से आप ट्रैफिक नियमों के फायदे को अच्छी तरह समझ पाएंगे। 

  • जैसा कि हमने आपको पहले भी बताया की गाड़ियां आकार में बड़ी होती है अगर वह बेकाबू लोगों के बीच रोड पर चलेगी तो इससे लोगों को जान माल की हानि हो सकती है इस वजह से इसका पहला फायदा गाड़ियों की रफ्तार पर काबू पाना हैं। 
  • ट्रैफिक नियमों की वजह से लोग रोड पर सही सलामत चल पाते है वाहन चालक और पैदल चलने वाले लोग दोनों ही अपनी सुरक्षा सुनिश्चित कर पाते हैं। 
  • ट्रैफिक नियमों की वजह से वाहन और पैदल चल रहे लोगों के बीच अंतर बन पाता है और रोड पर जाम और भीड़-भाड़ की संभावना कम हो पाती है हर किसी को अपना एक जगह मिल पाता है जिस वजह से यातायात आसान हो जाता हैं। 

ट्रैफिक नियम के नुकसान

अगर आप यह कहेंगे कि ट्रैफिक नियमों के वजह से आपको हेलमेट पहनना पड़ता है जो आपकी खूबसूरती खराब कर देती है तो इसका सीधा अर्थ है कि आप अपने जीवन के साथ समझौता कर रहे है अर्थात वह लोग जो अपने जीवन के साथ समझौता करने को तैयार है उन्हें केवल ट्रैफिक नियम में नुकसान नजर आते हैं। 

ट्रैफिक नियमों में किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं है आपको इसमें काफी फायदा नजर आएगा मगर शबाब अपने जीवन और कार्य को संजीदा नहीं लेंगे तब आपको नुकसान नजर आने लगेंगे जिससे केवल आपका ही नुकसान हैं। 

निष्कर्ष

अगर आपको Traffic Rules In Hindi लेख हेल्पफुल रहा है तो फिर आप यह लेख अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करना और इसके अलावा अगर आपको इस लेख से संबंधित कोई भी जानकारी चाहिए तो उसके लिए आप नीचे कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Abhishek Maurya

मेरा नाम अभिषेक मौर्य है और मैं उत्तर प्रदेश वाराणसी डिस्ट्रिक्ट का रहने वाला हूं और मैं एक दिव्यांग हूं। मुझे अलग-अलग विषयों पर आर्टिकल लिखना बहुत अच्छा लगता है और इसी को मैंने अपना जुनून बनाया है। मैं पिछले 3 वर्षों से आर्टिकल लेखन का कार्य कर रहा हूं। आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख कैसे लगते हैं? आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। मेरा भी एक हिंदी ब्लॉग है जिस पर मैं रिलेशनशिप के ऊपर आर्टिकल लिखता हूं जिसका यूआरएल इस प्रकार से है। माय वेबसाइट यूआरएल - https://hindibaatchit.com/

Leave a Reply