Blog Meaning In Hindi

आज के समय में हर कोई काम ऑनलाइन ही होते है और जब बात आती है ऑनलाइन पैसे कमाने की तो हमें ब्लॉगिंग के बारे में सबसे पहले बताया जाता है। क्योंकि ब्लॉगिंग ही एक ऐसा रियल तरीका है जिसके माध्यम से हम घर बैठे पैसे कमा सकते हैं।

लेकिन घर बैठे ब्लॉगिंग से पैसे कमाने के लिए आपको सबसे पहले ब्लॉगिंग के बेसिक्स के बारे में जानना बहुत ही जरूरी है। यानी की सबसे पहले आपको Blog meaning In Hindi, ब्लॉग कितने प्रकार के होते है, प्रोफेशनल ब्लॉग कैसे बनाते है, ब्लॉग बनाने के बाद किन तरीकों से पैसे कमा सकते है और इसके साथ-साथ आपको ब्लॉगिंग के फायदे और नुकसान के बारे में भी जानना बहुत ही जरूरी है और तभी आप एक सफल ब्लॉगर बन सकते हैं।

Blog Meaning In Hindi

अगर मैं बात करो Blog meaning In Hindi का मतलब क्या होता है तो इसका जवाब है की आप अपने विचारों, भावनाओं या अपने ज्ञान को एक ब्लॉग में लिख कर दूसरों की मदद करना होता हैं।

ब्लॉग कितने प्रकार के होते हैं

ब्लॉग बहुत ही सारे प्रकार के होते है जैसे की Fashion Blogs, Food Blogs, Travel Blogs, Music Blogs, Lifestyle Blogs, Fitness Blogs, DIY Blogs, Sports Blogs, Finance Blogs, Political Blogs, Parenting blogs, Business Blogs, Personal Blogs, Movie Blogs, Car Blogs, Educational Blogs आदि।

इन सभी Blogs के अलावा आप Micro Niche Blog, Tools Website, Event Blogging भी कर सकते है। लेकिन जितने भी मैंने आपको ऊपर नाम बताये है आपको इन सभी पर ब्लॉग नहीं बनाना है। क्योंकि मुझे पता है आप उस चीज में हार मान जायेंगे इसलिए अगर आप अपने ब्लॉग को शुरू से शुरुआत करना चाहते है तो इसके लिए आपको मेरे दिए हुए स्टेप्स को फॉलो करना होगा। क्योंकि जो गलती मैंने आपने ब्लॉगिंग के जर्नी में की है वह गलती आप अपने ब्लॉगिंग की जर्नी में कभी भी नहीं दोहराना।

  • अपने ब्लॉग का नीच चुने
  • Keyword Research करें
  • अपने नीच से संबंधित डोमेन को खरीदे
  • होस्टिंग को खरीदे
  • अपना ब्लॉग सेटअप करें
  • हर रोज एक आर्टिकल को पब्लिश करें
  • अपने आर्टिकल्स का SEO करें

अपने ब्लॉग का नीच चुने: अपना ब्लॉग शुरू करने से पहले आपको नीच को चुनना बहुत ही जरूरी है और बहुत ही सारे नए ब्लॉगिंग गलत नीच चुनने के बाद फ़ैल हो जाते है और वह अपनी गलती की वजह से ब्लॉगिंग को दोष देते है। इसलिए अगर आप ये गलती नहीं करना चाहते है तो उसके लिए आपको ऐसा नीच चुनना होगा जिस का ज्ञान आपके पास हो।

यानी की अगर आपको Food नीच से संबंधित अच्छी जानकारी है तो आप उसी पर एक ब्लॉग बनना सकते हो। लेकिन रुकिए-रुकिए नीच को चुनने के बाद आपको ब्लॉग बनाना शुरू नहीं करना है। क्योंकि ब्लॉग बनाने से पहले आपको Keyword Research करना भी बहुत ही जरूरी हैं।

Keyword Research करें: अगर हमें अपना घर यानी मकान बनाना होता है तो उसके लिए हम पहले ज़मीन ऐसे जगह खरीदते है जहाँ पर सभी सुविधाएं हो और मेरे ख्याल से ज्यादा तर ये सुविधाएं शहर में ही होती है। ब्लॉग शुरू करने से पहले आपको भी यही चीज देखनी होती है कि जो नीच आपने चुनी होगी क्या उस नीच पर ट्रैफिक (यानी लोग) आर्टिकल पढ़ने के लिए आते है या नहीं? तो इसके लिए आपको फ्री और Paid tools का इस्तेमाल करना होगा।

  • Google Adword Planner (Free)
  • Ahref (Paid)
  • Semrush (Paid)

इन tools के माध्यम से आप अपने या किसी भी नीच से संबंधित ट्रैफिक को पता कर सकते है। अगर आपके नीच में अच्छा खासा ट्रैफिक आता है तो आप बड़ी ही आसानी के साथ उस नीच पर ब्लॉग बना सकते हो।

अपने नीच से संबंधित डोमेन को खरीदे: जो भी आप नीच चुनोगे उससी नीच से संबंधित आपको अपना TLD डोमेन (यानी .com, .Net, .In या Org) को खरीदना होगा। और अगर मैं बात करो कौन सा TLD डोमेन आपके लिए अच्छा रहेगा तो मैं आपको बता देता हूँ कि आप .com डोमेन को ही खरीदना और .com डोमेन आपको Rs. 800 में GoDaddy, Hostinger या Namecheap से एक साल के लिए मिल जायेगा। (जहाँ से भी आप अपना डोमेन खरीदेंगे आप try करें कि आपका डोमेन short हो जैसे कि WikiCatch.com और ये हर किसी को याद भी रहता है। इसलिए आप भी केवल दो शब्दों का डोमेन खरीदे)।

होस्टिंग को खरीदे: जो भी आप डोमेन लेंगे वह एक केवल नाम होता है और उस नाम को चलाना के लिए आपको एक होस्टिंग खरीदनी होती है। आसान भाषा में बताऊं तो डोमेन आपकी ज़मीन है और इस ज़मीन पर मकान यानी वेबसाइट/ब्लॉग बनाने के लिए आपको एक होस्टिंग की जरूरत होती है। जब आपके पास होस्टिंग होगी तो उसके बाद ही आप अपना ब्लॉग बना सकते है और अगर मैं बात करो डोमेन और होस्टिंग का कितना खर्चा आता है एक साल का ? तो इसका जवाब Rs. 5000 – 6000 हैं।

लेकिन अगर आप मेरे ब्लॉग को बहुत पहले से फॉलो करते है तो मैंने एक बहुत ही बड़ी कंपनी से बात करके एक coupon code को Generate करवाया है। इस coupon के माध्यम से आपको Rs. 300 – 400 कम हो जायेंगे और इसके अलावा आपको .com डोमेन बिलकुल फ्री में मिल जायेगा और अगर मैं बात करो आपको एक साल के लिए कितना देना होगा डोमेन और होस्टिंग का? तो इसका जवाब Rs. 3000 है।

अगर आप भी डोमेन और होस्टिंग को Rs. 3000 में एक साल के लिए खरीदना चाहते है तो उसके लिए आपको नीचे दिए गये लिंक पर क्लिक करना होगा उसके बाद ही आप डोमेन और होस्टिंग को Rs. 3000 में खरीद सकते हो।

BUY Hosting and Get .com Domain For Free

अपना ब्लॉग सेटअप करें: जब आप डोमेन और होस्टिंग खरीदेंगे तो उसके बाद आपको अपने होस्टिंग के HPanel में जाकर WordPress को इंस्टॉल करना होगा। इंस्टॉल करने के बाद आपको अपनी वेबसाइट का नाम लिखना होगा और उसके बाद आपको आपकी वेबसाइट दिख जाएगी। अपने वेबसाइट को सेटअप करने के लिए आपको अपने वेबसाइट के डैशबोर्ड में जाना होगा। डैशबोर्ड में जाने के लिए आपको अपने वेबसाइट का नाम जैसे कि example.com/wp-admin लिखना होगा और उसके बाद आपको अपने वेबसाइट में लॉग इन करने के लिए वह यूजरनेम और पासवर्ड देना होगा जो की आपने WordPress की वेबसाइट को इंस्टॉल करते समय रखा होगा।

अपने वेबसाइट के डैशबोर्ड में जाने के बाद आपको अपना ब्लॉग डिज़ाइन करना होगा। मुझे पता है कि आपको अपनी वेबसाइट बनानी नहीं आएगी इसलिए आप यूट्यूब पर ब्लॉग कैसे सेटअप करें लिख कर कोई भी अच्छा सा विडियो देख कर अपना एक प्रोफेशनल ब्लॉग बना सकते हैं।

हर रोज एक आर्टिकल को पब्लिश करें: अपना पूरा ब्लॉग सेटअप करने के बाद आपको हर रोज एक या इससे ज्यादा आर्टिकल पब्लिश करने होंगे। क्योंकि अगर मैं अपने ब्लॉगिंग के जर्नी की बात करो तो मैंने एक साल में केवल 26 आर्टिकल्स ही अपने ब्लॉग पर पब्लिश किए थे और इसी गलती की वजह से मुझे आज 30000 का ट्रैफिक आता है।

लेकिन अगर मैं 26 आर्टिकल्स के बजाये 100 या 200 आर्टिकल्स भी लिखता तो मुझे आज के समय पर लाखों में ट्रैफिक आता। इसलिए जो मैंने गलती की है वह आप अपने ब्लॉगिंग के जर्नी में कभी भी नहीं दोहराना।

अपने आर्टिकल्स का SEO करें: जब आपके ब्लॉग पर 100 से ज्यादा आर्टिकल्स पब्लिश होंगे तो उसके बाद ही आप अपने आर्टिकल्स का SEO करना। क्योंकि तब तक आपका ब्लॉग Google Sand BOX से बहार आया होगा और अगर मैं बात करो sand Box की तो इसकी वजह से आपके आर्टिकल्स तब तक रैंक नहीं होते जब तक की गूगल आपके ब्लॉग पर ट्रस्ट नहीं करेगा।

अगर आप जल्दी से जल्दी अपने आर्टिकल्स को गूगल या किसी भी सर्च इंजन में रैंक करवाना चाहते है और गूगल sand box से अपने वेबसाइट को बहार लाना चाहते है तो इसके लिए आपको 15 या 20 दिन के बाद से ही Profile Backlinks बनाने होंगे अपने डोमेन के लिए ताकि गूगल आपके डोमेन पर धीरे-धीरे ट्रस्ट करना शुरू करें।

जब आपके आर्टिकल गूगल के Top 10 Pages में दिखना शुरू हो जायेगा तो उसके बाद आप आपको अपने आर्टिकल्स पर Backlinks बनाने होंगे और अगर आप विस्तार से जानना चाहते है Backlink क्या है और कैसे बनाये तो इसके लिए आप Backlinks कैसे बनाये लेख पढ़ सकते हैं।

यह भी पढ़ें

अपने ब्लॉग से पैसे कैसे कमाए

आज के समय पर अपने ब्लॉग से पैसे कमाना बहुत ही आसान हो गया है। क्योंकि इंटरनेट के यूजर्स दिन प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहे है इसलिए गूगल से या किसी भी सर्च इंजन से अगर हमारे ब्लॉग पर ट्रैफिक आता है तो उस ट्रैफिक के माध्यम से हम बहुत ही सारे तरीकों से पैसे कमा सकते हैं।

जब आपके ब्लॉग पर भी अच्छा खासा ट्रैफिक आएगा तो उसके बाद आप गूगल ऐडसेंस और एफिलिएट मार्केटिंग का इस्तेमाल करके पैसे कमा सकते है और सभी नए bloggers ब्लॉगिंग के शुरुआत में इन ही दो तरीकों को इस्तेमाल करके पैसे कमाते हैं।

गूगल ऐडसेंस: जब हम अपनी वेबसाइट बनाते है और उसके बाद उस वेबसाइट में थोड़ा-थोड़ा ट्रैफिक  आने लगता है तो उसके बाद हमें गूगल ऐडसेंस को अप्लाई करना होता है। ऐडसेंस में अप्लाई करना बहुत ही आसान है। क्योंकि ऐडसेंस को अप्लाई करने के लिए आपके पास email id होनी चाहिए और उसके बाद आपको Adsense.com पर जाना होगा और वहां पर आपको signup करना होगा। Signup करने के बाद आपका ऐडसेंस Review में जायेगा। अगर आपकी वेबसाइट गूगल ऐडसेंस के नियमों को फॉलो करती होगी तो आपको approval एक या दो दिन में मिल जायेगा और अगर आपकी वेबसाइट गूगल ऐडसेंस केनियमों को फॉलो नहीं करता है तो आपका ऐडसेंस रिजेक्ट भी हो सकता हैं।

अगर आपका ऐडसेंस किसी भी कारण से रिजेक्ट होता है तो आपको गूगल ऐडसेंस क्यों रिजेक्ट हुआ है उसका कारण भी बताते है और अगर उन कारणों को अपने वेबसाइट में सुधारते है तो आपको का ऐडसेंस approve हो जायेगा।

ऐडसेंस का Approval मिलने के बाद आपको गूगल ऐडसेंस में जाकर auto ads को enable करना होगा और उसके बाद आपके वेबसाइट में भी मेरे वेबसाइट की तरह विज्ञापन शो हो जायेगा। विज्ञापन शो होने के बाद जितने भी आपके यूजर्स आपके वेबसाइट के विज्ञापन पर क्लिक करेंगे तो आपको मिल जायेंगे पैसे ऐडसेंस में और ये पैसे आपको ऐडसेंस हर महीने के 26 तारिक को आपके bank account में transfer करती हैं। (पैसे आपको तभी मिल जायेंगे जब आपके ऐडसेंस में $100 होंगे या इससे भी ज्यादा)।

एफिलिएट मार्केटिंग: अगर आप अपने ब्लॉग में किसी product या सर्विस के बारे में लिख रहे है तो आप उसी product की एफिलिएट मार्केटिंग करके अपने ब्लॉग से पैसे कमा सकते है। लेकिन इस को करने के लिए आपको सबसे पहले product के बारे में जानना बहुत ही जरूरी है। यानी की अगर आप Gaming Chairs के बारे में लिख रहे है तो इसका एफिलिएट करने के लिए आप amazon या flipkart के Affiliate Program में join हो सकते हैं।

Join होने के बाद आपको उस product का नाम amazon या flipkart पर लिखना होगा और उसके बाद आपको ऊपर यानी Header में Get Link का विकल्प शो हो जायेगा। जब आप इस Get Link के विकल्प पर क्लिक करेंगे तो उसके बाद आपको एक छोटा सा URL शो हो जायेगा और आपको इसी URL को copy करके उस आर्टिकल के एंड में डालना होगा या आप Buy Now का आइकन अपने आर्टिकल में add करके उसी आइकन पर उस एफिलिएट लिंक को insert कर सकते हैं।

इस सभी प्रक्रिया को करने के बाद अगर कोई भी व्यक्ति आपके उस एफिलिएट लिंक से वह gaming Chair खरीदता है तो आपको मिल जायेगा commission और ये commission amazon या flipkart आपको आपके bank account में transfer करेंगे।

मैं आपको बता देना चाहता हूँ गूगल ऐडसेंस या एफिलिएट मार्केटिंग के द्वाराआप हर महीने लाखों में पैसे कमा सकते हो। लेकिन ब्लॉगिंग में success होने के लिए आपके पास patience होने चाहिए और अगर मैं अपनी बात करो तो मुझे पांच साल के करीब लगे इस मुकाम तक पहुँचने के लिए और अगर आप मेरे बारे में और विस्तार से जानना चाहते है तो उसके लिए आप About Us पेज पढ़ सकते हैं।

यह भी पढ़ें

निष्कर्ष

अगर आपको Blog Meaning In Hindi लेख हेल्पफुल रहा है तो फिर आप इस लेख को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें और अगर आपको इस लेख से संबंधित कोई भी जानकारी चाहिए तो उसके लिए आप नीचे कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Junaid Bashir

Hi friends!! मेरा नाम Junaid Bashir है और मैं इस ब्लॉग का मालिक हूँ। इसके साथ-साथ मैंने इस ब्लॉग इसलिए बनाया है। क्योंकि मुझे लोगों की मदद करना बहुत ही अच्छा लगता है और अगर आप मेरे बारे में विस्तार से जानना चाहते है तो फिर उसके लिए आप इस ब्लॉग का About Us पेज पढ़ सकते हैं।

Leave a Reply