आर्ट्स में कौन से सब्जेक्ट होते है पूरी जानकारी जानिए हिंदी में

कोई भी सरकारी नौकरी हो खासतौर पर लोक सेवा आयोग की परीक्षा हो तो लोग आर्ट्स विषय के बारे में अधिक ध्यान देते है। प्रणाली में आर्ट्स का काफी अधिक महत्व है इस विषय में आपको किस प्रकार के सब्जेक्ट के बारे में पढ़ना होगा यह जानना आवश्यक है इस वजह से Arts Me Kaun Se Subject Hote Hai के बारे में संपूर्ण जानकारी आज के लेख में दी गई हैं।

आज के समय में लोग सरकारी नौकरी के लिए कितना मेहनत कर रहे है यह किसी से नहीं छुपा है। अगर आप किसी भी सरकारी नौकरी के प्रश्न उत्तर प्रणाली को देखकर विचार करेंगे तो यह समझ पाएंगे कि अधिकतर प्रश्न आर्ट्स विषय से पूछे जाते है, अर्थात अगर आप किसी सरकारी कार्यालय का हिस्सा होना चाहते है तो आप आर्ट्स के विषयों से अपना पीछा नहीं छुड़ा सकते इस वजह से आर्ट्स में कौन-कौन सब्जेक्ट पढ़ाया जाता है क्या जानना आवश्यक है और यह जानने के लिए इस लेख के साथ अंत तक बने रहे। 

आर्ट्स क्या है

आर्ट्स एक अंग्रेजी शब्द है जो कुछ विषयों के समूह को दर्शाता है आर्ट्स शब्द जिन विषयों के समूह को दर्शाता है उन्हें सोशल स्टडी या सामाजिक परिचय वाले किताब कहते है। इस अंग्रेजी शब्द का हिंदी अर्थ कला होता है कला क्षेत्र के किताबों में आप किसी कला के बारे में नहीं सीखते बल्कि विभिन्न प्रकार के सामाजिक दृष्टिकोण के जरिए समाज का कल, आज और प्रकृतिय अस्तित्व को समझने का प्रयास करते हैं।

आर्ट्स में अब जिन सामाजिक परिचय वाले किताबों को पढ़ते है उनमें इतिहास, भूगोल, सामाजिक विज्ञान, अर्थशास्त्र, दर्शनशास्त्र, मनोविज्ञान जैसे किताब आते है। हर किताब में समाज का एक अलग परिचय दिया जाता है जैसे इतिहास में आपको हमारे आसपास के समाज का इतिहास अर्थात कल कैसा था यह बताया जाता है और भूगोल में बताया जाता हैं। 

कि हमारा आज का पर्यावरण या यह पठार पर्वत धरती किस प्रकार तैयार हो पाए इसके अलावा मनोविज्ञान में आपको मानव के मस्तिष्क के बारे में अध्ययन कराया जाता है दर्शनशास्त्र एक ऐसा शास्त्र है जिसे भारत में कई हजार वर्ष पहले खोजा गया था जिसका पूर्ण उद्देश्य दिखने वाली चीजों पर अध्ययन करना था इसके अलावा आपको अर्थशास्त्र और राजनीति विज्ञान के जरिए हमारे समाज के बारे में गहन अध्ययन करवाया जाता हैं।

आर्ट्स में आपको क्या पढ़ाया जाता है

जैसा कि हमने आपको बताया आर्ट्स में आपको समाज से जुड़े किताब के बारे में अध्ययन करवाया जाता है। सरल शब्दों में कहें तो आर्ट्स में कुछ ऐसे विषयों के बारे में पढ़ाया जाता है जिसे पढ़ने के बाद आप समाज की स्थिति को और बेहतर तरीके से समझ पाएंगे और उससे स्वयं को जोड़ पाएंगे। जिस प्रकार विज्ञान आपको सोचने पर मजबूर करता है और कोई भी चीज हमारे समाज में किस प्रकार कार्य कर रही है इसके बारे में विचार करने पर मजबूर करता है गणित हमें हिसाब किताब करने के बारे में अध्ययन करवाता है उसी प्रकार आर्ट्स एक विषयों का समूह है जिसमें समाज से जुड़ने वाले किताबों को रखा जाता हैं।

जितनी भी सरकारी नौकरियां या ऐसे कार्यालय है जो समाज से जुड़े हुए है उन में आर्ट्स से अधिक सवाल पूछा जाता है इसका केवल एक ही तात्पर्य है कि आप स्वयं को कितना ज्यादा इस समाज से जोड़ पा रहे है और इसके बारे में कितनी अधिक जानकारी रखते है इस बात को समझना। 

अगर सरल शब्दों में कहें तो आर्ट्स में आपको विभिन्न प्रकार के विषय के बारे में बताया जाता है आर्ट्स का सबसे प्रमुख विषय इतिहास माना जाता है, जिसमें आपको मानव सभ्यता का कल कैसा था या हमारा समय किस प्रकार बीता है इसके बारे में संपूर्ण जानकारी दी जाती हैं। 

राजनीति विज्ञान यह आर्ट्स का दूसरा महत्वपूर्ण किताब है जिसमें आपको बताया जाता है कि इंसानी सभ्यता खुद को किस प्रकार काबू में रखती है हर व्यक्ति के लिए किस प्रकार के नियम कानून बनाकर उसे एक रूपरेखा देने का प्रयास किया गया है। भूगोल यह तीसरा महत्वपूर्ण किताब है जिसमें आपको हमारे वातावरण और प्रकृति के बारे में संपूर्ण जानकारी देने का प्रयास किया जाता है और आपको समझाया जाता है कि किस प्रकार यह पूरी दुनिया बनकर तैयार हुई हैं।

इसके अलावा आर्ट्स में मनोविज्ञान दर्शन शास्त्र अर्थशास्त्र जैसे अनेकों किताब रखे गए है जिसमें व्यक्ति को सामाजिक प्रतिक्रियाओं के अनुसार अध्ययन करवाया जाता है और किस प्रकार मानव समाज कार्य करता है इसके बारे में संपूर्ण जानकारी दी जाती हैं।

आर्ट्स में कौन-कौन सा सब्जेक्ट होता है

अगर आप आर्ट्स पढ़ने के बारे में विचार कर रहे है तो हमने इस विभाग में किस प्रकार के विषय आपको पढ़ना होगा इसके बारे में एक छोटी सी सूची प्रस्तुत की है उसे ध्यान पूर्वक देखें – 

  • इतिहास 
  • भूगोल 
  • राजनीति विज्ञान 
  • अर्थशास्त्र 
  • मनोविज्ञान 
  • दर्शनशास्त्र

आपको सभी पुस्तक चुनने की आवश्यकता नहीं है अपनी सुविधा अनुसार अब किसी भी चार पुस्तक का चयन करके दसवीं के आगे की पढ़ाई कर सकते है अगर आप नौवीं व दसवीं कक्षा में है तो आपको केवल तीन विषय के बारे में पढ़ाया जाएगा जिसमें इतिहास, भूगोल, राजनीति विज्ञान और अर्थशास्त्र आता हैं।

आर्ट्स के ऑप्शनल सब्जेक्ट

जब आप आर्ट्स विभाग से अपनी पढ़ाई आगे बढ़ाने के बारे में विचार करेंगे तब आपको कुछ ऑप्शनल विषय चुनने के बारे में कहा जाएगा। किसी भी जमात में पढ़ाई करने के दौरान कुछ ऐसे विषय चुनने की छूट दी जाती है जिसमें आपकी रुचि हो और अगर मुख्य विषय में आपका अंग कम हो जाए तो उसके स्थान पर आप अपने ऑप्शनल विषय का इस्तेमाल कर पाए। 

आर्ट्स के ऑप्शनल विषय की सूची नीचे प्रस्तुत की गई 

  • अंग्रेजी 
  • हिंदी 
  • गृह विज्ञान 
  • म्यूजिक 
  • योगा 
  • फिजिकल एजुकेशन 
  • कंप्यूटर 
  • मैथ

इसके अलावा अलग-अलग कॉलेज या स्कूल के आधार पर विषयों में बदलाव हो सकता हैं।

11वीं जमात में आर्ट्स के सब्जेक्ट

जैसा कि हम सब जानते है भारतीय शिक्षा प्रणाली के अनुसार दसवीं कक्षा पास करने के बाद एक छात्र या छात्रा को आगे विषय चयन करने के लिए छूट दी जाती है जिसके अनुसार दसवीं कक्षा पास करने के बाद एक छात्र या छात्रा आर्ट्स, विज्ञान या वाणिज्य में से किसी एक क्षेत्र में अपनी पढ़ाई को आगे बढ़ा सकता हैं।

11वी जमात या 11वीं कक्षा में आर्ट्स के विषय के बारे में एक छोटी सी सूची नीचे प्रस्तुत की गई है। 

  • इतिहास 
  • भूगोल 
  • राजनीति विज्ञान 
  • दर्शनशास्त्र 
  • मनोविज्ञान 
  • अर्थशास्त्र

ऊपर बताए गए विषय आर्ट्स के मुख्य विषय है मगर आप इन में से किसी 3 विषय का चयन कर सकते है। बाकी के दो विषय में से एक विषय कोई भाषा होगी और एक आपका ऑप्शनल।

12वीं जमात में आर्ट्स के सब्जेक्ट

12वीं कक्षा में आर्ट्स के कौन से विषय आपको पढ़ने है इसके बारे में एक छोटी सी सूची नीचे प्रस्तुत की गई है उसे ध्यानपूर्वक पढ़ें। 

विषयों की सूची प्रस्तुत करने से पहले हम आपको यह बता देना चाहते है कि ग्यारहवीं के बाद जब आप 12वीं कक्षा में जाते है तो आप के विषय में किसी भी प्रकार का परिवर्तन नहीं किया जाता है केवल पढ़ने की सामग्री और किताबों में बदलाव किया जाता है इसके अलावा आप का विषय है वही रहता है जिसे आपने 11वीं कक्षा में चुना था। 

  • भूगोल 
  • राजनीति विज्ञान 
  • इतिहास 
  • मनोविज्ञान 
  • दर्शनशास्त्र 
  • अर्थशास्त्र

इसके अलावा आपने जो ऑप्शनल चुना था वह भी आपके समक्ष होगा याद रखें यह सभी विषय आपको नहीं पड़ने है इनमें से केवल तीन विषय आपको पढ़ना है जो आप का मुख्य विषय होगा बाकी के दो में से एक ऑप्शनल और एक कोई भाषा होगी जिसमें मुख्य तौर पर हिंदी या इंग्लिश होती हैं।

आर्ट्स में कौन सा कोर्स किया जाता है

आर्ट्स के कोर्स का अर्थ होता है आर्ट्स की पढ़ाई करना दसवीं के बाद आपको यह छूट दि जाती है कि आप अपने विषय का स्वयं चयन कर सकते है और इस चैनल प्रणाली में के विषयों को चुन सकते है। 

मुख्य तौर पर आर्ट्स के कोर्स से तात्पर्य आर्ट्स के स्नातक डिग्री से है। जब आप ऊपर बताए गए विषयों के अनुसार चयन करके अपने 11वीं और 12वीं कक्षा की पढ़ाई पूर्ण कर लेते है तो आपके पास आर्ट्स के अनुसार IA तक की पढ़ाई पूरी हो जाती है इसके बाद की पढ़ाई के लिए आपको उन विषयों में से किसी एक विषय का चयन करना होता हैं। 

अगर आप आर्ट्स के सभी विषयों में से इतिहास का चयन करते है और उसमें अपनी स्नातक की पढ़ाई पूर्ण करते है तो आप BA HISTORY HONOURS केहलाएंगे। इसी तरह विभिन्न विषयों का चयन करने पर आप विभिन्न विषयों में BA की डिग्री हासिल कर सकते है अगर आप किसी एक विषय का चयन करके उसके बारे में संपूर्ण तरीके से नहीं पढ़ना चाहते तो आप ऑनर्स के बिना केवल BA भी कर सकते है जिसमें आप ऊपर बताए गए सभी विषयों के बारे में थोड़ी थोड़ी जानकारी के ऊपर अध्ययन करेंगे। 

अंततः सरल शब्दों में हम यह कह सकते है कि आर्ट्स की पढ़ाई को आगे जारी रखने पर जब आप ही 11वीं और 12वीं से आगे आर्ट्स के किसी विषय का चयन करके स्नातक की पढ़ाई पूर्ण करते है तो आपको BA कोर्स के डिग्री मिलती हैं।

आर्ट्स पढ़ने से क्या होता है

यह सवाल अक्सर लोग पूछते है कि दसवीं के बाद या 12वीं के बाद किस विषय का चयन करना चाहिए और यह वो समय होता है जब लोग एक ऐसे दोराहे पर आकर खड़े हो जाते है जब उनके समक्ष आगे बढ़ने के लिए तीन रास्ते खुले होते है जिसमें विज्ञान वाणिज्य और कला मुख्य हैं।

आमतौर पर लोग दसवीं कक्षा पास करने के बाद ही अपने विषय को चयन करना शुरू कर देते है अगर आप भी ऐसे किसी समय में है और अपनी पढ़ाई को आगे जारी रखने के लिए आर्ट्स विषय का चयन करते है। तो इस भाग में हम आपको आर्ट्स पढ़ने से क्या होता है के बारे में बताने जा रहे हैं।

आपको बता दें कि आज एक ऐसा विषय है जिसे पढ़ने के बाद आप समाज से स्वयं को और निकटता से जोड़कर देख पाएंगे उदाहरण के तौर पर भारतीय इतिहास में क्या हुआ यह समझने पर आप स्वयं को भारत देश से और अधिक जुड़ा हुआ पाएंगे। इसी प्रकार भूगोल में आप यह पढ़ पाएंगे कि भारत देश के इस प्रकार निर्मित हुआ अर्थशास्त्र में भारत की अर्थव्यवस्था कैसे काम करती है और मनोविज्ञान में इंसानी मस्तिक से कैसे काम करता है दर्शनशास्त्र में आप पढ़ेंगे कि किस प्रकार भारत के साधु संत और उनके ग्रंथों ने हमें बिना किसी सबूत के एक रास्ता दिखाया जो आगे चलकर सत्य साबित हुआ। 

शुरुआत में यह लग सकता है कि इस तरह के ज्ञान से आपको किसी भी तरह का मुनाफा नहीं होगा मगर हम आपको बता दें कि इस तरह के ज्ञान से आपको खुद को समाज से जुड़ पाएंगे और जितनी भी सरकारी संस्थाएं है वह ऐसे प्रश्नों को अपने परीक्षाओं में पूछती है जिससे सही व्यक्ति को चयन किया जा सके इस वजह से अगर आप लोक सेवा आयोग की तैयारी करना चाहते है तो आपको आर्ट्स विषय के बारे में पढ़ना चाहिए। 

केवल इतना ही नहीं आर्ट्स विषय को पड़ने पर आप इस कदर से स्वयं को तैयार कर पाएंगे कि भारत के लिया विश्व की किसी भी क्षेत्र में आप स्वयं को बाकी लोगों से आगे रख पाएंगे इस वजह से बहुत सारे एक्सपर्ट का मानना है कि लोक सेवा आयोग में जिन आर्ट्स विषयों के बारे में अध्ययन करवाया जाता है उनके बारे में हर व्यक्ति को एक बार अध्ययन करना चाहिए। साथ ही आर्ट्स विषय पढ़ने के बाद आप विश्व का कोई भी करियर चुन सकते हैं।

निष्कर्ष

अगर आपको Arts Me Kaun Se Subject Hote Hai लेख हेल्पफुल रहा है तो फिर आप यह लेख अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करना और इसके अलावा अगर आपको इस लेख से संबंधित कोई भी जानकारी चाहिए तो उसके लिए आप नीचे कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Abhishek Maurya

मेरा नाम अभिषेक मौर्य है और मैं उत्तर प्रदेश वाराणसी डिस्ट्रिक्ट का रहने वाला हूं और मैं एक दिव्यांग हूं। मुझे अलग-अलग विषयों पर आर्टिकल लिखना बहुत अच्छा लगता है और इसी को मैंने अपना जुनून बनाया है। मैं पिछले 3 वर्षों से आर्टिकल लेखन का कार्य कर रहा हूं। आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख कैसे लगते हैं? आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। मेरा भी एक हिंदी ब्लॉग है जिस पर मैं रिलेशनशिप के ऊपर आर्टिकल लिखता हूं जिसका यूआरएल इस प्रकार से है। माय वेबसाइट यूआरएल - https://hindibaatchit.com/

Leave a Reply