विज्ञान किसे कहते है (परिभाषा और प्रकार) । Vigyan Kise Kehte Hai

आज मानव के जीवन में जितने भी संसाधन उपलब्ध है वह सभी विज्ञान की वजह से ही संभव हो पाए है। आज मानव जीवन में जो भी सुविधाएं और जो भी रिसोर्सेज पहले के मुकाबले बड़े है उन सभी का कारण विज्ञान नहीं है परंतु क्या आपने कभी यह जानने का प्रयास किया कि आखिर Vigyan Kise Kehte Hai यह एक ऐसा प्रश्न है जो हमारे स्कूल के कक्षाओं में भी बताया और पढ़ाया जाता हैं।

विज्ञान का जितना आधुनिक हो चुका है कि जो चीज संभव नहीं है विज्ञान के जरिए वह संभव हो जाती है। आज अगर विज्ञान नहीं होता तो शायद इतने सारे आविष्कार और इतने सारे मनुष्य के जीवन को आसान करने वाले सुविधाएं उपलब्ध नहीं हो पाती। 

जब विज्ञान इतना ही महत्वपूर्ण है तो क्यों न विज्ञान के बारे में आज पूरी जानकारी प्राप्त कर ले। आज हम अपने इस लेख में आप सभी लोगों को विज्ञान किसे कहते है? के बारे में पूरी विस्तार पूर्वक जानकारी देंगे अगर आपको विज्ञान को जानना है तो आपको यह लेख पढ़ना होगा।

विज्ञान किसे कहते है

सुसंगठित, सुसज्जित, सुव्यवस्थित एवं क्रमबद ज्ञान को ही विज्ञान कहते है। विज्ञान दो शब्दों के मिलन से बना है पहला विशेष और दूसरा ज्ञान मतलब विज्ञान के अंतर्गत हम जो भी अध्ययन करते है या फिर सीखते है उसे आप विशेष ज्ञान का भी दर्जा दे सकते हो। दूसरे शब्दों में स्तुओं की व्यवहार, गुण और प्रकृति का पता लगाना ही विज्ञान कहलाता हैं।

विज्ञान के जरिए ही दुनिया का कोई भी पदार्थ, कोई भी वस्तु कोई भी जीव जंतु एवं प्रकृति से संबंधित जब कोई अध्ययन किया जाता है या फिर किसी चीज के बारे में पता लगाया जाता है तो उसे विज्ञान के माध्यम से स्टेप बाय स्टेप तरीके से परत दर परत अच्छे से अध्ययन किया जाता है ताकि कुछ विशेष पदार्थ, वस्तु, प्राकृतिक के बारे में पूरी इंफॉर्मेशन निकाली जा सके और उसके बारे में ज्यादा से ज्यादा ज्ञान हासिल करना ही विज्ञान कहलाता हैं।

आज हम विज्ञान के वजह से ही चांद पर पहुंच सके है और इतना ही नहीं कई ऐसे चीजों के बारे में विशेष जानकारी प्राप्त कर चुके है जो मानव जीवन के लिए काफी उपयोगी है और उससे मानव जीवन को काफी सरलता एवं सुगमता प्राप्त होती है। विज्ञान का अध्ययन कभी भी खत्म नहीं होगा और विज्ञान हमेशा किसी न किसी चीज के बारे में जानता रहेगा और उस पर अध्ययन करता रहेगा ताकि हम चीजों को और भी ज्यादा बेहतर तरीके से सीख सकें एवं संभवतः अपने ज्ञान को और भी विकसित कर सकें। 

विज्ञान के प्रकार

दोस्तों जब विज्ञान चीजों के अध्ययन के लिए जाना जाता है तो यह कितने प्रकार का होता है और यह कितने प्रकार के अध्ययन के लिए जाना जाता है यह जानना भी बेहद जरूरी है मुख्यतः विज्ञान तीन प्रकार का होता है जिसकी जानकारी नीचे विस्तार पूर्वक से बताई गई हैं।

1. रसायन विज्ञान

रसायन विज्ञान विज्ञान की उस शाखा को कहते है जिसके जरिए हम पदार्थ के गुण, पदार्थ की संरचना व भिन्न-भिन्न पदार्थ आपस में रासायनिक क्रियाओं आदि का अध्ययन करते, विज्ञान के इस शाखा के अध्ययन को ही रसायन विज्ञान के नाम से जाना जाता है या फिर इसे रसायन विज्ञान कहते हैं।

आज रसायन विज्ञान के वजह से हमें कई चीजों के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हो चुकी है जो इस प्रकार से है परमाणु संरचना, रासायनिक बंधन, लवण, क्षार, अम्ल, ऑक्सिकरण, अवकरण, विलियन, हाइड्रोकार्बन, प्लास्टिक, रबर, धातुएं, अधातुएँ, धातुओं के यौगिक, गैस, सल्फर, फास्फोरस, ऑक्सीजन, कांच, हेलोजन आदि। सभी चीजों के बारे में हमें रसायन विज्ञान के अध्ययन से पता चला है और इन्हीं के जरिए कई सारे महत्वपूर्ण कार्यों को भी अंजाम दिया जा रहा हैं।

2. जीव विज्ञान

यह विज्ञान की वह शाखा है जिसके जरिए सभी प्रकार के जीव और यहां तक कि मनुष्य जीव के बारे में अध्ययन किया जाता है। जीव विज्ञान के अंतर्गत हम जीवों की संरचना, विकास, उत्पत्ति, कार्य और उनके निरंतर विकास के बारे में अध्ययन करते हैं। 

आपको ये जानकर हैरानी होगी की हर साल 1100 नए-नए जीव जंतुओं के प्रजाति के बारे में अध्ययन किया जाता है और आप खुद सोच सकते है कि आज भी हमारे पृथ्वी पर न जाने कितने ऐसे जीव जंतु की प्रजातियां उपलब्ध है जिनके बारे में अभी हम पूरे तरीके से जान नहीं पाए और उन सभी अध्ययन को जीव विज्ञान के अंतर्गत ही किया जाता हैं।

उदाहरण के रूप में मान लीजिए जीव विज्ञान के अंतर्गत किसी नए जीव प्रजाति के बारे में पता चला है अब हम उस प्रजाति के बारे में जीव विज्ञान के जरिए पूरा अध्ययन करेंगे और इस अध्ययन में हम किस तरह अपनी जिंदगी जीते है और दूसरे जीवों के साथ उनका व्यवहार कैसा होता है और प्राकृतिक वातावरण के साथ उनके कैसे रिश्ते है। यह सब कुछ हम उसके बारे में जीव विज्ञान के जनक जान सकते हैं।

जीव विज्ञान के दो अलग-अलग भागों में विभाजित किया गया है पहला बॉटनी और दूसरा जूलॉजी अब चलिए इनको हम बिस्तर से नीचे समझने का प्रयास करते हैं।

3. बॉटनी

बॉटनी को वनस्पति विज्ञान के नाम से जाना जाता है। इसमें आप लिविंग ऑर्गेनाइज्म के बारे में अध्ययन करते हो। वनस्पति विज्ञान वह शाखा है जिसमे पेड़ पौधों के बारे में अध्ययन किया जाता है। वनस्पति विज्ञान में पौधों के जीवन, इनके द्वारा उत्पन्न होने वाली ऑक्सीजन उनके जीवन चक्र और पर्यारवण पर होने वाले उनके प्रभाव के बारे में अध्ययन करते हैं।

4. जूलॉजी 

जूलॉजी को जंतु विज्ञान के नाम से भी जाना जाता है। जन्तु विज्ञान, विज्ञान की ऐसी शाखा है जिसमे जीवों के बारे में अध्ययन किया जाता है बल्कि यूँ कहें की इसमें सिर्फ जीवों का ही नहीं बल्कि उनके वर्गीकरण, उनके जीवन का इतिहास, उनकी षारीरिक बनावट, उनका खानपान और उनके विकास के बारे में जानकारी इकठ्ठा की जाती है। मतलब की जंतु विज्ञान में जीव के जीवन से लेकर उसकी मृत्यु सर्कल में जो भी प्रतिक्रिया होती है उसे अध्ययन करने का काम जंतु विज्ञान के अंतर्गत ही किया जाता हैं।

5. भौतिक विज्ञान

भौतिक विज्ञान विज्ञान की सभी महत्वपूर्ण शाखा की मूलभूत शाखा कहलाती है। ज्ञान के इस महत्वपूर्ण शाखा के अंतर्गत आप ऊर्जा और प्रकाश के बारे में अध्ययन करते हो। विज्ञान की यह बहुत ही पुरानी एवं विकसित विशाखा है। इस विज्ञान के अंतर्गत ब्रह्मांड के सभी भौतिक गतिविधियों के बारे में अध्ययन किया जाता हैं। 

आपने न्यूटन के नियम के बारे में तो जरूर पढ़ें और सुना होगा जब न्यूटन पेड़ के निचे बैठा हुआ था तो एक सेब निचे गिरा और उसे सोचा की आखिर ये सेब नीचे क्यों गिरा ऊपर क्यों नहीं गया। इस तरह गुरुत्वाकर्षण बल का खोज किया और इस पर कई दूसरे वैज्ञानिको ने भी अध्ययन किया और इसकी सचाई को सत्यापित किया। 

विज्ञान के इस शाखा के जरिए ब्रह्मांड के सभी फिनोमिना के बारे में जानने और सीखने को मिलता है। और ये विज्ञान की सबसे बेसिक भाग है। ये हर तरह के विज्ञान के लिए एक आधार की तरह भी काम करता है। भौतिक विज्ञान के बिना रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान का मूल धारण नहीं बनता। फिजिक्स एक विशेष शाखा है जिसके अंतर्गत अनेक प्रकार के नियमों के बारे में सीखने को मिलता हैं।

विज्ञान के कितने वर्गीकरण होते है

विज्ञान के वर्गीकरण के आधार पर यह मुख्यतः दो प्रकार के होते है जिनकी जानकारी नीचे विस्तार पूर्वक से बताई गई हैं।

1. सामाजिक विज्ञान

सामाजिक विज्ञान का का तात्पर्य समाज से होता है और इसमें मनुष्य की भी गिनती की जाती है और इतना ही नहीं इन्हें आधारभूत विज्ञान नही माना जाता है। आपको बताते चले इनमें मुख्य रूप से इतिहास, भूगोल, समाजशास्त्र, अर्थशास्त्र आदि आते है। हमें उम्मीद है कि सामाजिक विज्ञान किसे कहते है? के बारे में आपका डाउट आसानी से क्लियर हुआ होगा।

2. प्राकृतिक विज्ञान

प्राकृतिक विज्ञान विज्ञान की मूलभूत शाखा कही जाती है। प्राकृतिक विज्ञान के अंतर्गत पदार्थ और प्राकृतिक के बीच अध्ययन करने का काम किया जाता है। प्राकृतिक विज्ञान के अंतर्गत, भौतिक विज्ञान, रसायनिक विज्ञान और जीव विज्ञान के बारे में हमें जानने एवं पढ़ने को मिलता है। हमें उम्मीद है कि अब आपको प्राकृतिक विज्ञान किसे कहते है? के बारे में सारा डाउट क्लियर हो गया होगा और आपको इसकी परिभाषा भी समझ में आ गई होगी।

निष्कर्ष

अगर आपको Vigyan Kise Kehte Hai लेख हेल्पफुल रहा है तो फिर आप यह लेख अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करना और इसके अलावा अगर आपको इस लेख से संबंधित कोई भी जानकारी चाहिए तो उसके लिए आप नीचे कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।


Abhishek Maurya

मेरा नाम अभिषेक मौर्य है और मैं उत्तर प्रदेश वाराणसी डिस्ट्रिक्ट का रहने वाला हूं और मैं एक दिव्यांग हूं। मुझे अलग-अलग विषयों पर आर्टिकल लिखना बहुत अच्छा लगता है और इसी को मैंने अपना जुनून बनाया है। मैं पिछले 3 वर्षों से आर्टिकल लेखन का कार्य कर रहा हूं। आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख कैसे लगते हैं? आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। मेरा भी एक हिंदी ब्लॉग है जिस पर मैं रिलेशनशिप के ऊपर आर्टिकल लिखता हूं जिसका यूआरएल इस प्रकार से है। माय वेबसाइट यूआरएल - https://hindibaatchit.com/

Leave a Reply