Printer Kitne Prakar Ke Hote Hain – प्रिंटर कितने प्रकार के होते हैं?

यदि आप प्रिंटर लेने की सोच रहे हो और आपको समझ में नहीं आ रहा है कि आप के लिए कौन सा बेस्ट प्रिंटर सही होगा और साथ ही साथ आपको Printer Kitne Prakar Ke Hote Hain इसके बारे में भी जानकारी हासिल करनी है ताकि आप बेस्ट प्रिंटर आसानी से चुन सको और उसका उपयोग बिना किसी समस्या के कर सको तो ऐसे में आपको आज का हमारा यह महत्वपूर्ण लेख शुरू से लेकर अंतिम तक जरूर पढ़ना चाहिए।

हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में प्रिंटर से संबंधित लगभग सभी प्रकार की आवश्यक और महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में विस्तार से बताया हुआ है और हमें उम्मीद है कि अगर आपको प्रिंटर से संबंधित जानकारी चाहिए तो आपको वह सभी महत्वपूर्ण जानकारी इस लेख में जरूर मिलेगी। यदि आप प्रिंटर के प्रकार के बारे में विस्तार से जानना चाहते हो तो ऐसे में आप लेख में दी गई जानकारी को बिल्कुल भी मिस ना करें और इसको शुरुआत से लेकर अंतिम तक ध्यान पूर्वक से पढ़े ताकि आप से एक भी महत्वपूर्ण जानकारी मिस ना होने पाए और आपको हमारा यह लेख आसानी से समझ में भी आ सके।

प्रिंटर किसे कहते है

दोस्तों प्रिंटर एक ऐसा चीज होता है जिसके जरिए आप कोई भी फोटो कॉपी करा सकते हो फोटोकॉपी कराने के लिए आपके पास प्रिंटर होना चाहिए और यह कंप्यूटर के साथ कनेक्ट होता है इस तरीके से प्रिंटर काम करता है इसी को हम प्रिंटर कहते हैं।

दोस्तों अगर आप कभी भी ऑनलाइन फॉर्म भरते हो तो ऐसे फॉर्म कंप्लीट करने के बाद आपको उसका होम पेज चाहिए होता है ताकि आपके पास फॉर्म भरने का प्रूफ रह सके दोस्तों आज के समय में प्रिंटर वायरलेस ब्लूटूथ जैसे भी आ रहे हैं अगर आप ब्लूटूथ के प्रिंटर लेते हो तो आप बहुत ही आसानी से किसी भी चीज का प्रिंट करने का काम कर सकते हो क्योंकि प्रिंटर से बहुत ही ज्यादा दूर हो ऐसे मैं आपको किसी भी चीज की प्रिंट करने की आवश्यकता पड़ जाती है तो आप ब्लूटूथ के जरिए उस चीज को प्रिंट कर सकते हो।

दोस्तों प्रिंटर अपना काम बहुत ही आसानी से और अच्छे से करता है प्रिंटर कॉपी करने के साथ-साथ अक्षरों का भी कॉपी करता है अगर आप किसी ऐसी चीज की कॉपी कराना चाहते हो जिसे आप पढ़ना चाहते हो जैसे आधार कार्ड पैन कार्ड इत्यादि चीज इस चीज की कॉपी आप प्रिंटर के जरिया करवा सकते हो इस तरीके से प्रिंटर काम करता हैं।

अगर आपको इस विषय से संबंधित और भी ज्यादा जानकारी चाहिए तो ऐसे में आप हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को शुरू से अंत तक अवश्य पढ़ें ताकि आपको हमारा या ले समझ में आ सके और कहीं पर भी भटकने की आवश्यकता बिल्कुल भी ना पड़े।

प्रिंटर कैसे काम करता है

जैसा कि दोस्तों आपने ऊपर यह जाना की प्रिंटर क्या होता है अब हम बात करेंगे कि प्रिंटर कैसे काम करता है ऐसे में हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पेंटर को काम करने के लिए आपके पास कई चीजें होने चाहिए जिसके बारे में नीचे हमने विस्तार से बताया हुआ है जिसे आप पढ़ कर बहुत ही आसानी से समझ सकते हो।

  • सबसे पहले आपके पास प्रिंटर को काम करने के लिए कंप्यूटर होना चाहिए।
  • किसी भी चीज की प्रिंट करवाना चाहते हो जैसे फोटो या डॉक्यूमेंट
  • ऐसे में सबसे पहले आपको प्रिंटर के अंदर पेपर डाल देना हैं।
  • जब आप पेपर को प्रिंटर के अंदर डाल देते हो तो प्रिंटर मैं आपको कई ऑप्शन देखने को मिल जाते है ऐसे में आपको प्रिंट के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।
  • जब आप प्रिंट के ऑप्शन पर क्लिक कर देते हो तो प्रिंटर के अंदर छापने की क्रिया चालू हो जाती है इस तरीके से प्रिंटर अपना काम करता हैं।

प्रिंटर कितने प्रकार के होते हैं

दोस्तों अगर आपको प्रिंटर के जरिए किसी भी हार्ड कॉपी को प्रिंट करना होता है तो ऐसे में आपको थोड़ा समय देना होता है क्योंकि हार्ड कॉपी का प्रिंटर थोड़ा स्लो काम करता है प्रिंटर हमारे भारत में दो प्रकार के होते है जिनके नाम हमने नीचे आपको बताया हुआ हैं।

  • Impact Printer
  • Non impact printer

1. Impact Printer

दोस्तों यह एक ऐसा प्रिंटर है जो अक्षरों को साफ-साफ छापने के लिए कागज और रिबन का इस्तेमाल बार बार करते है इसी को हम इंपैक्ट प्रिंटर कहते हैं।

2. Non impact printer

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर ऐसा प्रिंटर होता है जो अक्षरों को साफ साफ प्रिंट करने के लिए कागज का उपयोग केवल एक ही बार करता है और यह हमारे भारत में बहुत ही ज्यादा प्रसिद्ध है इसी को हम नॉन इंपैक्ट प्रिंटर कहते हैं।

इंपैक्ट प्रिंटर के प्रकार

दोस्तों अगर आप सरल भाषा में यह जाने की इंपैक्ट प्रिंटर किसे कहते है तो ऐसे में हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह किसी भी चीज को प्रिंट करने के लिए बार-बार इंक का इस्तेमाल करता है इसी को हम इंपैक्ट प्रिंटर कहते है इंपैक्ट प्रिंटर कई प्रकार के होते है जिनके बारे में हमने नीचे आपको बताया हुआ है जिसे आप पढ़ कर बहुत ही आसानी से समझ सकते हो।

  • लाइन प्रिंटर
  • ड्रम प्रिंटर
  • करैक्टर प्रिंटर
  • डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर
  • एयर क्वालिटी प्रिंटर

1. लाइन प्रिंटर

दोस्तों अगर आप यह जानना चाहते हो कि लाइन प्रिंटर का क्या काम होता है तो ऐसे में हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि लाइन प्रिंटर का काम कागजों पर लाइन प्रिंट करने का काम होता है इसी को हम लाइन प्रिंटर कहते है लाइन प्रिंटर हमारे भारत में कई प्रकार के होते है जैसे ड्रम प्रिंटर इत्यादि।

2. ड्रम प्रिंटर

दोस्तों ड्रम प्रिंटर इलेक्ट्रिक प्रिंटर होता है इस प्रिंटर की सबसे खास बात यह है कि यह बहुत ही स्पीड से अपना काम करता है इसकी रफ्तार 200 से लेकर 2000 प्रति मिनट के बीच में रहता है यह भी प्रिंटर लाइनों का ही काम करता है हमारे भारत में इसकी डिमांड बहुत ही ज्यादा है और यह भारत का सबसे महंगा प्रिंटर माना जाता है इस तरीके से आप ड्रम प्रिंटर के बारे में जान सकते हो।

3. करैक्टर प्रिंटर

दोस्तों करैक्टर प्रिंटर हमारे भारत में बहुत ही कम चलते है क्योंकि यह अपना काम बहुत ही धीमी गति से करता है इसकी स्पीड 300 से लेकर 600 के बीच में ही अक्षरों को छापने की क्षमता रखता है इसी कारण हमारे भारत में इसकी डिमांड दिन प्रतिदिन कम होती जा रही है इस प्रिंटर की सबसे अहम बात यह है कि यह एक बार ने केवल एक ही अक्षर को प्रिंट करने का पावर रखता है इसी को हम करैक्टर प्रिंटर कहते हैं।

4. डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर

दोस्तों यह प्रिंटर हमारे भारत में बहुत ही ज्यादा प्रसिद्ध है क्योंकि इसकी क्वालिटी बहुत ही अच्छी होती है अगर आप इस प्रिंटर की छापने की क्षमता थोड़ी कम कर देते हो तो यह बहुत ही सुंदर अक्षर छापने की पावर रखता है इसी कारण इस प्रिंटर की मांग हमारे भारत में बहुत ही ज्यादा बढ़ती जा रही है यह प्रिंटर दाएं से बाएं और बाएं से दाएं लाइनों को प्रिंट करता है इसी को हम डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर कहते है इस तरीके से आप डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हो।

5. एयर क्वालिटी प्रिंटर

दोस्तों इस प्रिंटर का इस्तेमाल पहले के समय में किया जाता था यह प्रिंटर केबल डिजाइनिंग का काम करता था हमारे कहने का यह मतलब है कि इस प्रिंटर के जरिए आप किसी भी चीज का डिजाइनिंग करवा सकते हो जैसे फूल वेजिटेबल कंप्यूटर इत्यादि चीज का ड्राइंग इस प्रिंटर के जरिए लोग करवाते थे और आज के समय में यह प्रिंटर सबसे कम उपयोग किया जाने वाला प्रिंटर होता है इस तरीके से इस प्रिंटर के बारे में आप जानकारी हासिल कर सकते हो।

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के प्रकार

नॉन इंपैक्ट प्रिंटर हमारे भारत में सबसे तेज गति से काम करने वाला प्रिंटर माना जाता है इस प्रिंटर का उपयोग अत्यधिक जगह पर किया जाता है नॉन इंपैक्ट प्रिंटर कई प्रकार के होते है जिनके बारे में हमने आपको जानकारी दी हुई है जिसे आप पढ़कर बहुत ही आसानी से समझ सकते हो।

  • इलेक्ट्रोमैग्नेटिक प्रिंटर
  • थर्मल प्रिंटर
  • इंकजेट प्रिंटर
  • लेजर प्रिंटर

1. इलेक्ट्रोमैग्नेटिक प्रिंटर

दोस्तों इस प्रिंटर का इस्तेमाल बड़े-बड़े तकनीकों में किया जाता है इस प्रिंटर का इस्तेमाल हम तभी कर सकते हैं जब पेपर पर पाउडर लगाया गया होगा और यह अपना काम बहुत ही आसानी से कर लेती है क्योंकि यह आउटपुट डिवाइस से कनेक्ट होता है इस तरीके से आप इस प्रिंटर के बारे में जानकारी एकत्रित कर सकते हो।

2. थर्मल प्रिंटर

दोस्तों अगर आपके पास थर्मल प्रिंटर है ऐसे में आपको थर्मल प्रिंटर का इस्तेमाल करने नहीं आता है ऐसे में हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आप थर्मल प्रिंटर का इस्तेमाल आप तभी कर पाओगे जब आप पेपर को गर्म किए रहे होगे थर्मल प्रिंटर गर्म पेपर पर किसी भी चीज को पेंट करने का पावर रखता है इसी को हम थर्मल प्रिंटर कहते हैं।

3. इंकजेट प्रिंटर

इस प्रिंटर का इस्तेमाल सीआई के जरिए किया जाता है अगर आप किसी भी चीज का फिगर बनाना चाहते हो तो ऐसे में आप इंकजेट प्रिंटर के जरिए उस चीज का फिगर बना सकते हो ऐसे में आपको केवल एक पेपर पर इंक छिड़ककर इंकजेट प्रिंटर में डाल देना है ऐसे में आपका वह फिगर प्रिंट हो जाता है इस तरीके से इंकजेट प्रिंटर अपना काम करता हैं।

4. लेजर प्रिंटर

दोस्तों अगर आप लेजर प्रिंटर के बारे में जानना चाहते हो तो सबसे पहले आपको लेजर लाइट के बारे में पता होना चाहिए लेजर प्रिंटर लेजर लाइट की तरह काम करता है लेजर प्रिंटर किसी भी चीज को प्रिंट करने के लिए लेजर लाइट की एक किरण की आवश्यकता पड़ती है यह प्रिंटर भारत का सबसे महंगा प्रिंटर माना जाता है इस प्रिंटर को हमारे भारत में बहुत ही कम लोग खरीद पाते हैं क्योंकि इसे समय-समय पर सर्विसिंग करने की आवश्यकता पड़ जाती है इस तरीके से लेजर प्रिंटर अपना काम करता हैं।

सबसे अच्छा प्रिंटर कौन सा होता है

सबसे अच्छा प्रिंटर एचपी नेवर स्टॉप लेजर मल्टी फंक्शन का प्रिंटर होता है इस प्रिंटर का इस्तेमाल हमारे भारत में सबसे अधिक होता है और यह भारत का सबसे अच्छा प्रिंटर माना जाता है इस तरीके से आप इस प्रिंटर के बारे में जान सकते हो।

दोस्तों अगर आप यह सोच रहे हो कि यह प्रिंटर कैसा होता है और इसका इस्तेमाल कहां पर किया जाता है तो ऐसे में हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस प्रिंटर का इस्तेमाल हम दुकान और ऑफिस में करते है और यह प्रिंटर कंप्यूटर से कनेक्ट होता है इस प्रिंटर के जरिये किसी भी चीज का प्रिंट बहुत ही आसानी से करवा सकते हो।

इस प्रिंटर का खरीदने के लिए आपके पास करीबन 150000 से ₹200000 रहना चाहिए अगर आप इस प्रिंटर का खरीद लेते हो तो ऐसे में आपको इसे कंप्यूटर से कनेक्ट करने के लिए यूएसबी की आवश्यकता पड़ जाती है और ऐसे में आपको यह कंपनी 1 साल की गारंटी भी देती है इस तरीके से आप इस प्रिंटर के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हो।

Printer Kitne Prakar Ke Hote Hain FAQs

Q. प्रिंटर कौन सी डिवाइस हैं?

प्रिंटर एक आउटपुट डिवाइस है इसका इस्तेमाल कंप्यूटर से बहुत ही आसानी से कर सकते हैं।

Q. आउटपुट को क्या कहते हैं?

दोस्तों आउटपुट को हिंदी भाषा में निर्गम कहते है और निर्गम का मतलब होता है निकालना या निकालने की छमता रखना।

Q. इनपुट डिवाइस कितने होते हैं?

हमारे भारत में इनपुट डिवाइस कई प्रकार के होते हैं अगर आप इनपुट डिवाइस कौन कौन से होते हैं इस विषय पर जानकारी पाना चाहते हो तो ऐसे में आप इंटरनेट का उपयोग कर सकते हो इस तरीके से आप इनपुट डिवाइस के बारे में जानकारी एकत्रित कर सकते हो।

निष्कर्ष

अगर आपको पता नहीं था कि Printer Kitne Prakar Ke Hote Hain और आप अपने रिक्वायरमेंट के अनुसार अपने लिए कौन सा बेस्ट प्रिंटर चुन सकते हो तो ऐसे में हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई इस विषय पर आज की यह जानकारी आप लोगों के लिए काफी सहायक और उपयोगी साबित हुई होगी।

यदि आप लोगों को प्रिंटर के प्रकार के ऊपर दी गई यह विस्तृत जानकारी पसंद आई हो या फिर आप के लिए जरा सी भी उपयोगी साबित हुई हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी प्रकार के सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले और साथ ही साथ किसी भी प्रकार के सवाल या फिर जानकारी के लिए नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल करना भी ना भूले।

Abhishek Maurya

मेरा नाम अभिषेक मौर्य है और मैं उत्तर प्रदेश वाराणसी डिस्ट्रिक्ट का रहने वाला हूं और मैं एक दिव्यांग हूं। मुझे अलग-अलग विषयों पर आर्टिकल लिखना बहुत अच्छा लगता है और इसी को मैंने अपना जुनून बनाया है। मैं पिछले 3 वर्षों से आर्टिकल लेखन का कार्य कर रहा हूं। आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख कैसे लगते हैं? आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। मेरा भी एक हिंदी ब्लॉग है जिस पर मैं रिलेशनशिप के ऊपर आर्टिकल लिखता हूं जिसका यूआरएल इस प्रकार से है। माय वेबसाइट यूआरएल - https://hindibaatchit.com/

Leave a Reply