SDM कैसे बने पूरी जानकारी जानिए हिंदी में

आज कंपटीशन का लेवल काफी ज्यादा बढ़ चुका है और लगभग आपको हर क्षेत्र में कंपटीशन देखने को मिलेगा कई सारे लोग SDM Kaise Bane आईएएस ऑफिसर कैसे बने, आईएएस ऑफिसर कैसे बने, और डॉक्टर कैसे बने?  इन विषयों पर जानकारी इंटरनेट पर रहते है। दोस्तों किसी भी विषय पर जानकारी तलाशने से पहले हमें अपना लक्ष्य डिसाइड करना बहुत ही जरूरी है। जानकारी तो बहुत जल्दी आजकल इंटरनेट पर उपलब्ध है परंतु क्या आपने आपका अब तक लक्ष्य डिसाइड किया हैं। 

अगर आप पहले से अपना लक्ष्य डिसाइड कर लेंगे तब आपको किसी भी प्रकार के कंपटीशन में खुद को बेहतर प्रस्तुत करने के लिए काफी आसानी होगी, क्योंकि आप पहले से ही अपना लक्ष्य डिसाइड करके उसी को प्राप्त करने के लिए सही मार्ग में आगे बढ़ते रहेंगे। इसीलिए आपको सबसे पहले अपना लक्ष्य डिसाइड करना है और अब चलिए हम आपको एसडीएम बनने सभी महत्वपूर्ण प्रोसेस को विस्तार से लेख में बताते हैं।

SDM कौन होता हैं

किसी भी जिले को उसकी कुशलता और प्रशासनिक सुविधा को बरकरार करने के लिए कुछ उपखंडों में विभाजित किया जाता है। जिले के प्रत्येक को उपखंडों ध्यान रखने के लिए और उनसे नियंत्रण में रखने के लिए एसडीएम अधिकारी जिम्मेवार होता हैं।

राज्य प्रशासनिक सेवा में एसडीएम का कार्यभार बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। एसडीएम ऑफिसर को राज्य सरकार के द्वारा कई सारे महत्वपूर्ण अधिकार और शक्तियां प्रदान की जाती है। जिसका इस्तेमाल वे राज्य को अपराध मुक्त और राज्य में चैनो अमन कायम करने के लिए होता हैं।

SDM का क्या काम होता हैं

अगर राज्य और जिले में एसडीएम का पद जब खाली रहता है, तब राज्य और जिला के अंदर प्रशासनिक नियंत्रण नहीं रहेगा और अपराध चरम सीमा तक बढ़ जाएंगे इतना ही नहीं उस राज्य और जिले में चैनो अमन का नामोनिशान ही खत्म हो जाएगा और लोग अनियंत्रित हो जाएंगे। एसडीएम का कार्य किसी भी राज्य और जिले को चलाने के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। चलिए आगे जानते है कि एसडीएम के अंतर्गत आपको कौन-कौन से कार्यों को करना अनिवार्य होगा और आप के क्या क्या अधिकार होंगे।

  • राज्य के प्रत्येक जिलों में और उसके उपखंड में प्रशासनिक व्यवस्था को बनाए रखने के लिए और अपराध एवं अन्य नकारात्मक गतिविधियों को रोकने के लिए जो राज्य है या फिर उस जिले को हानि पहुंचा सकती है, उसके लिए  एसडीएम ऑफिसर पूरी तरीके से जिम्मेदार होता हैं।
  • प्रशासनिक व्यवस्था को बरकरार रखने के साथ-साथ नए न्यायिक कानूनों पर अमल करने एवं उसके अनुसार जिले में कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए एक एसडीएम ऑफिसर जिम्मेदार होता हैं।
  • विवाह रजिस्ट्रेशन संबंधित सभी प्रकार के गतिविधियों और व्यवस्थाओं को बनाए रखने के लिए एक एसडीएम अधिकारी अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता हैं।
  • किसी भी प्रकार के लाइसेंस को जारी रखने के लिए या उसे सत्यापित करने का काम एक एसडीएम ऑफिसर ही करता हैं।
  • लोकसभा विधानसभा सदस्य का चुनाव करवाने का कार्य एक एसडीएम आफिसर पूरा करवाता हैं। 
  • विकासखंड स्तरीय अपराधिक प्रक्रिया संहिता 1973 सहित बहुत सारे कार्यों के लिए मजिस्ट्रेट का कार्य एक एसडीएम ऑफिसर करता हैं।
  • जनहित और राज्य हित के लिए सभी प्रकार के महत्वपूर्ण फसलों पर एसडीएम अधिकारी अपनी महत्वपूर्ण प्रक्रिया रहता है और सरकार को सही फैसला या सही कानून व्यवस्था या नियमों का निर्माण करने के लिए वह अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता हैं।

SDM का फुल फॉर्म इन हिंदी

अगर आप एसडीएम ऑफिसर बनना चाहते है तो आपको इस का फुल फॉर्म भी पता होना बेहद अनिवार्य है। एसडीएम का फुल फॉर्म ‘Sub divisional magistrate’ होता है और इसी को हिंदी में हम ‘उप प्रभागीय मजिस्ट्रेट’ कहते हैं। 

SDM कैसे बने

एसडीएम का पद हासिल करने के लिए आपको यूपीएससी में अंतर्गत होने वाली CSE एग्जाम को पास करना होता है। जब आप इस एग्जाम को पास करेंगे तो फिर आप आईएएस अधिकारी बन जायेंगे। आईएएस अधिकारी बनने के बाद आपको सबसे पहला पद एसडीएम का ही मिलता हैं।

प्रत्येक वर्ष एसडीएम के पद के लिए परीक्षा आयोजित की जाती है और उस परीक्षा में लगभग हर साल 8 लाख से 10 लाख तक कैंडिडेट पार्टिसिपेट करते है। परंतु उनमें से 500 से लेकर 600 के बीच में ही कैंडिडेट क्वालीफाई कर पाते हैं।

जैसा कि हमने आपको प्रारंभ में ही बताया था आज के इस कंपटीशन के समय में आपको अपना लक्ष्य पहले से ही निर्धारित करना है और अगर आप ने एसडीएम बनने का दृढ़ संकल्प कर लिया है तब आपको 10वीं और 12वीं कक्षा में से ही इसकी तैयारी करनी प्रारंभ कर देनी है इसके लिए पहले से परिश्रम करना प्रारंभ कर देना हैं।

एसडीएम बनने के लिए कोचिंग में लगने वाले पैसे को नहीं उठा सकते है तब ऐसे में आप यूपीएससी के आधिकारिक वेबसाइट पर आपको काफी सारी हेल्प मिल जाएगी और आपको इस वेबसाइट पर जाना है अपने सवालों के जवाब ढूंढना है और सवालों के जवाब मिलने पर उस पर अमल करना हैं।

यूपीएससी के अंतर्गत सीएससी एग्जाम के सिलेबस के बारे में पता करें और उस सिलेबस को रिपेयर करना शुरू कर दें और दोस्तों अगर आपके मन में दृढ़ संकल्प होगा और आप अपने इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सदैव आगे बढ़ते रहेंगे और इसके लिए सपोर्ट करते रहेंगे तब आप एक दिन अवश्य इस एग्जाम को क्वालीफाई कर पाएंगे। आज के समय में इंटरनेट पर सी एस सी के एग्जाम को क्वालीफाई करने के लिए कई सारी बुक्स मौजूद है और इतना ही नहीं पुराने क्वेश्चन पेपर भी आप इंटरनेट पर ढूंढ सकते है और इसे प्रिपेयर कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें

SDM के लिए एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया

एसडीएम बनने के लिए हमें सबसे पहले एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया पर भी ध्यान देना चाहिए और वह इस प्रकार से नीचे निम्नलिखित हैं।

Qualification: एसडीएम के लिए आवेदन करने हेतु आपको सबसे पहले स्नातक की डिग्री को पूरा करना अनिवार्य है और यह डिग्री मान्यता प्राप्त कॉलेज से होनी चाहिए और अगर आप स्नातक के अंतिम वर्ष में है सब आप इस परिस्थिति में भी अपना आवेदन कर सकते है। स्नातक का किसी भी विषय पर कर सकते है परंतु कम से कम इतना तक करना आपके लिए अनिवार्य हैं।

Nationality: भारत के मूल्य नागरिक ही एसडीएम के लिए अपना आवेदन कर सकते है फिर चाहे वे अपने देश के किसी भी राज्य या फिर किसी भी जिले के रहने वाले ही क्यों ना हो।

SDM के लिए आयु

  • अगर आप जनरल कैटेगरी के अंतर्गत आते है तब आपकी आयु कम से कम 21 वर्ष से लेकर 32 वर्ष के बीच में होनी चाहिए अगर आपकी आयु सीमा इस मापदंड पर है तब आप एसडीएम हेतु आवेदन कर सकते हैं।
  • ओबीसी कैटेगरी के अंतर्गत आने वाले कैंडिडेट को एसडीएम के लिए आयु सीमा में कम से कम 3 वर्षों की छूट प्रदान की जाती हैं।
  • एससी/एसटी कैटेगरी के अंतर्गत आने वाले कैंडिडेट को एसडीएम की आयु सीमा में करीब 5 वर्षों की छूट प्रदान की जाती हैं। 

SDM बनने के लिए कितनी हाइट चाहिए

  •  जिस प्रकार से अनेकों प्रकार के डिफरेंट संबंधित पदों पर हार्ड कौर फिजिकल हेल्थ मैटर करती है, परंतु देखा जाए तो एसडीएम के लिए कोई भी हाइड या फिर कोई भी फिजिकल हेल्थ मायने नहीं रखती हैं।
  • एवरेज हाइट वाले भी एसडीएम बनने के लिए योग्य है और वे अपने कर्तव्य और निष्ठा से इस पद पर काम करने के लिए योग्य माने जाते हैं। 
  • अगर आप दिव्यांग है परंतु आपके भीतर कर्तव्यनिष्ठ और कड़क और सटीक निर्णय लेने का जज्बा है और आप एसडीएम के पद के लिए क्वालीफाई कर जाते है तब भी आपको इस पद पर आसीन होने का पूरा अधिकार हैं।

UPSC में आईएएस के लिए अप्लाई कैसे करें

अगर आप में स्नातक की पढ़ाई पूरी कर ली है या फिर आप इतना तक की पढ़ाई में अंतिम वर्ष में है तब आप ऐसे में आईएएस की परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते है। आईएएस के परीक्षा के लिए आवेदन करने हेतु आपको सबसे पहले क्या अधिकारी वेबसाइट पर चले जाना है और उसके बाद वहां पर आप आवेदन कर सकते है। यूपीएससी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आईएएस के लिए आवेदन करने की क्या प्रोसेस है? इसकी जानकारी इस प्रकार से नीचे स्टेप बाय स्टेप बताई गई हैं।

Step 1. सबसे पहले आपको यूपीएससी के upsc.gov.in आधिकारिक वेबसाइट पर चले जाना है और उसके बाद इसके होम पेज को ओपन कर लेना हैं।

Step 2. अब आपको आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर एक ‘Examination’ का एक विकल्प दिखाया जाएगा और आपको इस विकल्प पर क्लिक कर देना हैं।  

Step 3. अब इतनी प्रोसेस को पूरा करने के पश्चात आपको आगे ‘Apply online’ का विकल्प दिखाई देगा और आपको इस विकल्प पर क्लिक कर देना हैं।

Step 4. इतनी प्रोसेस को कंप्लीट करने के पश्चात आपके सामने एक नया टैब दिखाई देगा और यहां पर आपको ‘Online application for various examination’ नामक एक विकल्प दिखाई देगा और आपको इस विकल्प पर क्लिक कर देना हैं।

Step 5. आप इतना करने के बाद आपके सामने एक और नया ऑप्शन दिखाई देगा इसमें आपको ‘civil services ( Preliminary) Examination’ आईएस के आवेदन के लिए विकल्प दिखाई देगा और आपको इस विकल्प पर क्लिक कर देना हैं।

Step 6. अब आपके सामने आवेदन करने हेतु फाइनली ‘Start registration for IAS part-1’ नामक विकल्प दिखाई देगा और आपको इस विकल्प पर क्लिक कर दीजिए।

Step 7. अब इतना करने के बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलकर आएगा और इस आवेदन फॉर्म में आपको पूछी जा रही जानकारियों को एक-एक करके सबसे पहले ध्यान पूर्वक से पढ़ना है और उसके बाद इसे बड़े ही ध्यान पूर्वक से भरना हैं। 

Step 8. अब आप जिस भी स्थान पर जाकर एग्जाम देने की सोच रहे है उस स्थान का आपको यहां पर चुनाव कर लेना हैं।

Step 9. अब आपको आधिकारिक वेबसाइट पर पासपोर्ट साइज फोटो को अपलोड करना है और  साथ ही में आपको किसी ब्लैंक पेपर पर अपना सिग्नेचर करना है और उसे स्कैन करके आधिकारिक वेबसाइट पर अपलोड कर देना।

Step 10. अब आपको एक बार अपने द्वारा भरे गए आईएस के एप्लीकेशन को पूरे तरीके से वेरीफाई करना है और अगर आपने कोई गलती की है तो उसे एडिट करके सही करें और अंतिम में ₹100 की फीस के साथ अपने आवेदन फॉर्म को ‘Submit’ का विकल्प दिखाई देगा और इस विकल्प पर क्लिक करके अपने आईएस के आवेदन फॉर्म सबमिट कर देना हैं।

Step 11. अब आपको अंतिम में अपने द्वारा आवेदन किए गए फॉर्म का प्रिंट आउट निकाल लेना है और इसे सुरक्षित रख देना है आगे चलकर यह आपके काम में आएगा।

UPSC क्या हैं

यूपीएससी हमारे देश में सभी प्रकार के सिविल परीक्षाओं को आयोजित करने का कार्य करती है। जितने भी सिविल परीक्षाएं चाहे वह हायर पद के लिए हो या फिर लोअर पद के लिए सभी के लिए यूपीएससी की परीक्षा आयोजित करवाता हैं।

अगर आपको आईएएस बनना है, आईपीएस बनना है, एसडीएम बनना है, डीएम बनना है या फिर कोई अन्य सिविल संबंधित पद को ज्वाइन करना है तो आपको सबसे पहले यूपीएससी के अंतर्गत अपना आवेदन देना होगा और वहां पर जाकर आप जिस भी सिविल परीक्षा में participate करना चाहते है, उसकी जानकारी को fill-up करना हैं।

और जब यूपीएससी आपके द्वारा चुनी गई सिविल परीक्षा आयोजित करवाया जाएगा तब आपको उसमें बैठना है और उसका एग्जाम देना है। यूपीएससी का मुख्य उद्देश्य देश के सभी विभिन्न पदों पर होनार कर्तव्यनिष्ठ और दृढ़ संकल्प के साथ निर्णय लेने वाले कैंडिडेट को चुनने का काम करता हैं।

मुझे पता है की आपके मन में यह सवाल जरूर आया होगा की यूपीएससी के अंतर्गत एसडीएम बनने के लिए कितने exams को पास करना होता हैं? सरल शब्दों में बताऊं तो आपको इन तीन exams को पास करना होता हैं।

  • Preliminary Exam
  • Mains Exam
  • Interview

Preliminary Exam

सबसे पहले हमें आगे की परीक्षा में बैठने के लिए Preliminary एग्जाम देना होता है और इसे पास करने के बाद ही हम आगे की परीक्षा में बैठने योग्य हो पाते है। एग्जाम में बैठने वाले कैंडिडेट को ऑब्जेक्टिव टाइप के क्वेश्चन पेपर को सॉल्व करना होता है। एग्जाम क्वालीफाई करने के बाद आप Mains exam की तरफ बढ़ जाते हैं।

Mains Exam

आईएएस के एग्जाम के अंतर्गत कैंडिडेट को डिस्क्रिप्टिव टाइप के क्वेश्चन का आंसर देना होता है और परीक्षा में पास होने के पश्चात उम्मीदवार आगे की प्रोसेस में अग्रसर होता है जिसमें उम्मीदवार को इंटरव्यू देना होता हैं।

Interview

अंतिम के चरण में उम्मीदवार को इंटरव्यू से होकर गुजर ना होता है और इस इंटरव्यू में बड़े बड़े ऑफिसर और बड़े बड़े अनुभवी अधिकारी पद पर बैठे हुए लोग उपस्थित होते है जो आपका इंटरव्यू लेने का कार्य करते है। इंटरव्यू में उम्मीदवार उसके प्रेजेंस ऑफ माइंड, सोचने समझने की क्षमता, विषम परिस्थितियों में सही लेने की क्षमता, आवश्यकता पड़ने पर महत्वपूर्ण सरकारी नीतियों पर अपना योगदान देने की क्षमता और इतना ही नहीं राज्य जिले एवं अपने अपने अधिकारी क्षेत्रों में आईएएस ऑफिसर किस प्रकार से सही निर्णय लेकर क्षेत्र में न्यायिक व्यवस्था और  चैनो अमन कायम करने में सक्षम है या नहीं इसकी जांच की जाती है। इंटरव्यू में आपको बिल्कुल सरलता और शांत स्वभाव के साथ सटीक उत्तर देना है और जब आप इस इंटरव्यू को पास कर लेते है तब आपको ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है और आपका सिलेक्शन हो जाता हैं।

अगर आप इस इंटरव्यू को भी क्वालीफाई करते है तो फिर आपको LBSNAA में आईएएस की ट्रेनिंग के लिए भेज दिया जायेगा. जब आपकी ट्रेनिंग पूरी हो जाएगी तो फिर आपको पहला पद एसडीएम मिल जायेगा।

निष्कर्ष

अगर आपको SDM Kaise Bane लेख हेल्पफुल रहा है तो फिर आप इस लेख को उन दोस्तों के साथ शेयर करना जो की सरकारी मुलाजिम बनना चाहते है। इसके अलावा अगर आपको कोई भी जानकारी इस लेख से संबंधित चाहिए तो उसके लिए आप नीचे कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Junaid Bashir

Hi friends!! मेरा नाम Junaid Bashir है और मैं इस ब्लॉग का मालिक हूँ। इसके साथ-साथ मैंने इस ब्लॉग इसलिए बनाया है। क्योंकि मुझे लोगों की मदद करना बहुत ही अच्छा लगता है और अगर आप मेरे बारे में विस्तार से जानना चाहते है तो फिर उसके लिए आप इस ब्लॉग का About Us पेज पढ़ सकते हैं।

Leave a Reply