डॉक्टर कैसे बने पूरी जानकारी जानिए हिंदी में

पढ़ाई कर रहे ज्यादातर स्टूडेंट का सपना होता है कि वह Doctor Kaise Bane या फिर DSP कैसे बने तो दोस्तों एक इंसान तभी सफल कहलाता है जब वह अपने जीवन में कुछ करके दिखाता है। डॉक्टर हो या फिर चाहे डीएसपी, आईएएस ऑफिसर ही क्यों ना हो इन पद पर काम करने वाला व्यक्ति खुद को बहुत ही सौभाग्यशाली समझता हैं। 

Table Of Contents
  1. डॉक्टर कौन होता हैं
  2. डॉक्टर कैसे बने
  3. नीट क्या हैं
  4. नीट एंट्रेंस एग्जाम के आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज
  5. नीट एंट्रेंस एग्जाम के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करें
  6. डॉक्टर बनने के लिए कौन सा कोर्स करें
  7. MBBS क्या हैं
  8. BDS क्या हैं
  9. B.Sc. नर्सिंग क्या हैं
  10. B. Pharm क्या हैं
  11. Pharm D क्या हैं
  12. BAMS क्या हैं
  13. BHMS क्या हैं
  14. BUMS क्या हैं
  15. BPT क्या हैं
  16. BVSc & A.H क्या हैं
  17. डॉक्टर बनने से संबंधित पूछे जाने वाले प्रश्न

इतना ही नहीं इन पदों पर काम करने वाले लोगों को समाज सम्मान की दृष्टि से देखता है। इसीलिए आज हम आपको अपने इस आर्टिकल में आपके डॉक्टर बनने के सपने को कैसे पूरा करना है? इस विषय पर विस्तार पूर्वक से जानकारी लेकर प्रस्तुत हुए हैं। 

इसमें हम डॉक्टर बनने की कंपलीट प्रोसेस को विस्तार से बताने वाले है और इतना ही नहीं हम आपको इसमें डॉक्टर बनने के लिए कौन-कौन से कोर्स करने चाहिए? इस पर भी जानकारी प्रदान करेंगे और उन कोर्स को पूरा करने में क्या समय अवधि लगेगी? आपको यह सब कुछ भी आज के इसी आर्टिकल में जानकारी मिलने वाली हैं।  

कुल मिलाकर आज का आर्टिकल आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण और हेल्पफुल होने वाला है। इसे आप को अंतिम तक पढ़ना ही होगा ताकि आप अपने डॉक्टर बनने के सपने को बिना किसी रूकावट के पूरा कर सकें।

डॉक्टर कौन होता हैं

जब हमें किसी भी प्रकार की बीमारी होती है तब हम उसे ठीक करने के लिए चिकित्सक के पास जाते है और जो चिकित्सक हमारे बीमारी का इलाज करता है उसे इंग्लिश में डॉक्टर कहते है। आज के समय में डॉक्टर को भगवान का दर्जा दिया गया है क्योंकि डॉक्टर के हाथ में ही किसी मरीज का इलाज करके उसे दोबारा से जीवन दान देने का वरदान होता है। वैसे अब आपको पता चल गया होगा कि डॉक्टर कौन होता है? अब चलिए इसके आगे की प्रोसेस को नीचे समझने का प्रयास करते हैं। 

डॉक्टर कितने प्रकार के होते हैं

जैसा कि हम सभी लोग जानते है वैदिक चिकित्सा प्रणाली से लेकर आधुनिक चिकित्सा प्रणाली तक के अलग-अलग प्रकार के डॉक्टर यानी के चिकित्सक होते है। अलग-अलग चिकित्सा प्रणालियों के अनुसार कुल करीब 4 प्रकार के होते है और उनकी जानकारी इस प्रकार में निम्नलिखित हैं।

एलोपैथिक डॉक्टर

ज्यादातर लोग एलोपैथिक डॉक्टर के पास जाना पसंद करते है क्योंकि एलोपैथिक डॉक्टर के इलाज में हमें जल्दी राहत मिलती है। आपने किसी न किसी के जरिए सुना होगा कि इस बीमारी का इलाज एलोपैथिक में उपलब्ध है तो दोस्तों हम जो अंग्रेजी दवाइयां खाते है वह सभी एलोपैथिक चिकित्सा प्रणाली के अंतर्गत आती है। ज्यादातर आपको एलोपैथिक डॉक्टर ही मिलेंगे।

होम्योपैथिक डॉक्टर

जब किसी बीमारी को जड़ से खत्म करने की बात आती है तब होम्योपैथिक डॉक्टरों की तरफ लोग अपना रुख करते है। होम्योपैथिक दवाइयां तो आपने कभी ना कभी जरूर खाई होंगी। होम्योपैथिक चिकित्सा प्रणाली के अंतर्गत मरीज का लंबे समय तक इलाज चलता है और उसके बाद उस बीमारी को जड़ से खत्म किया जाता हैं। 

आयुर्वेदिक डॉक्टर या वैद्य

इस प्रकार के डॉक्टर भारतीय पौराणिक चिकित्सा प्रणाली के अनुसार मरीजों का इलाज जड़ी बूटियों के द्वारा करते है। वैसे आज के समय में  आयुर्वेदिक डॉक्टर या वैद्य के पास लोग कम जाते है परंतु अभी भी इस प्रकार के डॉक्टरों की मांग कम नहीं हुई है। बड़ी से बड़ी बीमारियों का इलाज आयुर्वेदिक चिकित्सा प्रणाली के अंतर्गत संभव हैं। 

यूनानी या हकीम डॉक्टर

यूनानी डॉक्टर या फिर हकीम डॉक्टर के बारे में तो आपने सुना ही होगा दोनों एक ही होते है। यूनानी डॉक्टर बनने के लिए भी कोर्स उपलब्ध है और इतना ही नहीं इस में करियर का स्कोप बहुत अच्छा है और उसके बाद इसमें आपको कंपटीशन बहुत ही कम मिलने वाला हैं। 

डॉक्टर कैसे बने

Neet का एंट्रेंस एग्जाम देने के बाद आपको किसी भी मेडिकल कॉलेज में दाखिला मिलने पर ४.५ साल तक अच्छे से पढ़ाई करनी होगी। इसके अलावा आपको इसी मेडिकल कॉलेज में १ साल का इंटर्नशिप भी करना होगा ताकि आप Mbbs डॉक्टर बन सके। सरल शब्दों में बताऊं तो आपको MBBS की पढ़ाई ५.५ साल तक करनी होगी ताकि आप सफल डॉक्टर बन सके।

नीट क्या हैं

नीट का एंट्रेंस एग्जाम एनटीए द्वारा आयोजित किया जाता है। प्रत्येक वर्ष वर्ष नीट का एग्जाम केवल मेडिकल फील्ड के स्टूडेंट के लिए आयोजित किया जाता है। अगर आप नीट का एंट्रेंस एग्जाम क्लियर कर लेते है तब आप बहुत ही कम पैसों में अपने डॉक्टर बनने का सपना पूरा कर सकते हैं। 

नीट के एग्जाम के लिए रिक्वायरमेंट

नीट के एग्जाम को देने के लिए आपको कुछ रिक्वायरमेंट की आवश्यकता होगी और वह क्या होंगे इसकी जानकारी नीचे निम्नलिखित हैं। 

  • इसके लिए आप को मान्यता प्राप्त स्कूल से 12वीं की परीक्षा को क्लियर करना अनिवार्य होगा।
  • नीट का एग्जाम देने के लिए उम्मीदवारों को 12वीं कक्षा के अंतर्गत इन विषयों के संयोजन जैसे भौतिकी विज्ञान, रसायन विज्ञान, गणित, जीवविज्ञान/जैव प्रौद्योगिकी और अंग्रेजी में 50 प्रतिशत अंक (अन्य वर्ग ओबीस/एससी/एसटीके लिए 40%) के साथ होनी चाहिए।
  • दिव्यांग भाई बहनों को नीट का एग्जाम देने के लिए 12वीं में कम से कम 40% अंक प्राप्त करना अनिवार्य होगा।
  • भारत के स्टूडेंट के साथ साथ विदेशी स्टूडेंट भी नीट का एग्जाम देने के लिए योग्य है और आप इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। 

नीट एग्जाम पैटर्न

नीट एंट्रेंस एग्जाम के लिए उम्मीदवारों को दो अलग-अलग प्रकार के एग्जाम देने होते है, पहला एग्जाम सभी लोगों के लिए कॉमन एग्जाम होता है और दूसरा एग्जाम अलग-अलग विषयों के लिए अलग अलग से आयोजित किया जाता है। चलिए नीचे अब हम इसे पॉइंट के माध्यम से समझने का प्रयास करते हैं। 

  • पेपर 1 के UGC NET सिलेबस में 10 यूनिट हैं। 
  • प्रत्येक यूनिट से 5 प्रश्न पूछे जाएंगे।
  • पेपर -1 और पेपर -2 दोनों ऑनलाइन मोड में आयोजित किए जाएंगे।
  • पेपर -1 और पेपर -2 दोनों में प्रश्न वस्तुनिष्ठ प्रकार के होंगे।
  • पेपर 1 में 50 प्रश्न होंगे और पेपर 2 में 100 प्रश्न होंगे।
  • सभी प्रश्न 2 अंक का होंगे।

नीट एंट्रेंस एग्जाम के आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज

अगर आप नेट का एंट्रेंस एग्जाम देना चाहते है तो सबसे पहले आपको इसका आवेदन देना होता है और योग्यताओं को पूरा करने के बाद आपको सबसे पहले आवेदन के दौरान कुछ आवश्यक दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी और उनकी जानकारी इस प्रकार से नीचे निम्नलिखित हैं। 

  • 12वीं पास की मार्कशीट
  • जाति प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • करैक्टर सर्टिफिकेट
  • उम्मीदवार का कोई भी पर्सनल आईडेंटिफिकेशन कार्ड
  • विदेशी छात्रों के लिए पासपोर्ट का नंबर
  • उनका कोई भी दूसरा आईडेंटिफिकेशन कार्ड
  • कंट्री का नेशनलिटी प्रमाण पत्र
  • उम्मीदवार का नवीनतम दो पासपोर्ट साइज फोटो
  • ईमेल आईडी
  • एक स्थाई मोबाइल नंबर की आवश्यकता होगी 
  • उम्मीदवार का थंब इंप्रेशन और सिग्नेचर लगेगा

नीट एंट्रेंस एग्जाम के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करें

अगर आप नीट का एंट्रेंस एग्जाम देना चाहते है तो इसके लिए आपको सबसे पहले अपना यूजीसी के नीट के आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करना होगा।

Step 1.  नीट एग्जाम के रजिस्ट्रेशन के लिए आपको सबसे पहले यूजीसी नेट के आधिकारिक वेबसाइट पर चले जाना है और इसके होम पेज को ओपन कर लेना हैं। 

Step 2. अब आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर आपको ‘एप्लीकेशन फॉर्म’ नाम का एक लिंक मिलेगा और आपको इस लिंक पर क्लिक कर देना हैं। 

Step 3. अब इतना करने के बाद आपके सामने एक नया इंटरफेस फुल कर आएगा और यहां पर आपको ‘न्यू रजिस्ट्रेशन’ नाम का एक लिंक दिखाई देगा और आपको इस लिंक पर क्लिक कर देना हैं। 

Step 4.  अब आपके सामने एक नई विंडो खुल जाएगी और यहां पर आपको नीट एग्जाम के रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन फॉर्म दिया जाएगा और आपको सबसे पहले यहां पर दी गई सभी जानकारियों को ध्यान पूर्वक से पढ़ना हैं। 

Step 5. जानकारी को ध्यानपूर्वक पढ़ने के बाद आपको इसमें जो भी जानकारियां बढ़ने के लिए कहीं जा रही है उनको एक एक करके बड़े ही ध्यान पूर्वक से और सही जानकारी भरें। 

Step 6. आवेदन फॉर्म में जानकारियों को भरने के बाद आपको अंतिम में मांगे जा रहे है सभी प्रकार के आवश्यक दस्तावेजों को आधिकारिक वेबसाइट पर स्कैन करके एक एक करके अपलोड करना हैं। 

Step 7. अब रजिस्ट्रेशन के अंतिम प्रोसेस में आपको रजिस्ट्रेशन का फीस भरने के लिए कहा जाएगा और जो भी फीस का अमाउंट आपको दिखाई दे रहा हो उस पर आप क्लिक करें और आगे आपको एक नए पेज पर रीडायरेक्ट कर दिया जाएगा।

 Step 8. अब यहां पर आपको पेमेंट करने के लिए कई सारे ऑप्शन मिलेंगे और आप अपनी सुविधा अनुसार किसी भी ऑप्शन का चुनाव कर सकते हैं। 

 Step 9. अब अंतिम में आप अपने पेमेंट को कन्फर्म करें और अपने आवेदन फॉर्म को सबमिट कर दें बस हो गया आपका नेट एग्जाम के लिए रजिस्ट्रेशन पूरा। 

डॉक्टर बनने के लिए कौन सा कोर्स करें

जैसे कि मैंने आपको ऊपर बताया है आपको नीट का एग्जाम पास करना होता है डॉक्टर की डिग्री हासिल करने के लिए। लेकिन यहाँ पर अब बात आती है कि जो कोर्स आप करना चाहते है वह कोर्स आप नीट के द्वारा कर सकते है? तो इसका जवाब है हाँ।

लेकिन नीट में आपको जितने मार्क्स मिलेंगे उसी के हिसाब से आपको कोर्स दिया जायेगा। इसलिए जितना ज्यादा हो सके उतनी ही ज्यादा आप नीट एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करें।

अब तो आपको पता चल ही गया होगा नीट एग्जाम को पास करने के बाद आपको कौन सा कोर्स मिल जायेगा। लेकिन अब बात आती है उन छात्रों की जो कि नीट में पास नहीं होते है और वह छात्र प्राइवेट कॉलेजस में जा कर अपने सपनों को पूरा करते है। इसलिए मैं नीचे कोर्सस की लिस्ट देता हूँ ताकि आपको भी पता चले कौन सा कोर्स कितने टाइम का होता हैं।

  • MBBS
  • BDS
  • B.Sc. Nursing
  • B. Pharm
  • Pharm D
  • BAMS
  • BHMS
  • BUMS
  • BPT (Physiotherapy)
  • BVSc & A.H

MBBS क्या हैं

एमबीबीएस का फुल फॉर्म Bachelor of Medical and bachelor of surgery होता है। अगर आप इस डिग्री को हासिल कर लेते है तब आपको बड़ी ही आसानी से किसी भी सरकारी या फिर प्राइवेट हॉस्पिटल में जूनियर डॉक्टर या फिर जूनियर सर्जन बनने का मौका प्राप्त हो जाता है। इसके अतिरिक्त अगर आप चाहे तो प्रोफेसर या फिर लेक्चरर के रूप में भी जॉब कर सकते हैं। 

MBBS फुल फॉर्म इन हिंदी

एमबीबीएस का फुल फॉर्म Bachelor of Medical and bachelor of surgery होता है और एमबीबीएस को हिंदी में चिकित्सा स्नातक और शल्य चिकित्सा स्नातककहते हैं। 

MBBS कोर्स कितने साल का होता हैं

एमबीबीएस का कोर्स करने के लिए आपको 12वीं के बाद नीट के एंट्रेंस एग्जाम को क्लियर करना होता है और उसके बाद आपको इस कोर्स को करने के लिए सरकारी कॉलेज में दाखिला मिल जाता है और अगर आप चाहे तो किसी प्राइवेट रिकॉग्नाइज्ड कॉलेज से भी इस कोर्स को पूरा कर सकते है। इस कोर्स को पूरा करने के लिए उम्मीदवारों को 5.5 वर्ष का पूरा समय लग जाता हैं। 

BDS क्या हैं

जैसा कि हम सभी लोगों को बहुत ही अच्छे तरीके से पता है कि हमारे सभी शारीरिक अंगों के अलग-अलग स्पेशलिस्ट डॉक्टर होते है और इस कोर्स के अंतर्गत दातों के स्पेशलिस्ट डॉक्टर बना जा सकता है। अगर आप दांतों के स्पेशलिस्ट डॉक्टर बनना चाहते है तब आपको ऐसे में इस कोर्स को पूरा करना होगा।

BDS फुल फॉर्म इन हिंदी

बीडीएस का फुल फॉर्म Bachelor of dental surgery होता है। और इसे हिंदी में दंत शल्य चिकित्सा स्नातक कहते हैं। 

BDS कोर्स कितने साल का होता हैं

इस कोर्स को करने के लिए भी आपको नीट का एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करना होता है और उसके बाद आपको सरकारी कॉलेज में कोर्स को करने के लिए सीट मिल जाती है। इसके अतिरिक्त आप चाहे तो किसी प्राइवेट कॉलेज से भी इस पोस्ट को कर सकते है इस कोर्स को करने के लिए आपको करीब 4 वर्षों का समय लगेगा और 1 वर्ष का इंटर्नशिप आपको इसके अंतर्गत करना होगा। कुल मिलाकर इस कोर्स को पूरा होने में आपको करीब 5 वर्ष का समय लग सकता हैं। 

यह भी पढ़ें

B.Sc. नर्सिंग क्या हैं

बीएसईबी बीए और बीकॉम की तरह एक वर्षा टाइल कोर्स होता है। बेसिकली इस कोर्स को साइंस के स्टूडेंट करना पसंद करते है। इस कोर्स के अंदर कई सारी ब्रांचेस होती है जोकि स्टूडेंट के लिए विशेष डिग्री हासिल करने में सहायता प्रदान करती है। अगर आप मेडिकल के फील्ड में जाना चाहते है तब ऐसे में आप कई अन्य कोर्सो के साथ-साथ बीएससी नर्सिंग के कोर्स को भी कर सकते है। बीएससी नर्सिंग एक अंडर ग्रेजुएशन कोर्स होता है और इसे करने के बाद आप सरकारी और प्राइवेट संस्थाओं में आसानी से जॉब प्राप्त कर सकते हैं। 

B.Sc. फुल फॉर्म इन हिंदी

अगर हम बीएससी नर्सिंग के फुल फॉर्म की बात करें तो Bachelor of Science in course होता है और इसे हिंदी में नरसिंह विज्ञान में स्नातककहते हैं। 

B.Sc. कोर्स कितने साल का होता हैं

बीएससी के अधिकतर ब्रांच लगभग 3 वर्षों तक के होते है।  मगर बीएससी नर्सिंग का कोर्स 4 वर्षों का होता है। किताबी ज्ञान के साथ-साथ इसमें आपको प्रैक्टिकल जान भी प्रदान किया जाएगा और इसके लिए आपको करीब 1 वर्षों का इंटर्नशिप करना होगा। कुल मिलाकर आपको इस कोर्स को पूरा करने में लगभग 5 वर्षों का समय लग सकता हैं। 

B. Pharm क्या हैं

मेडिसिस के क्षेत्र में बी फार्मा का कोर्स बहुत ही लोकप्रिय और पोटेंशियल भरा कोर्स है। यह एक अंडर ग्रेजुएशन कोर्स है और 12वीं के बाद एंट्रेंस एग्जाम नीट की तैयारी करने के बाद और उसे क्लियर करने के बाद आप इसे कर सकते है। दवाइयों की जानकारी के लिए और एक्सपर्टीजमेंट के लिए इस कोर्स को छात्रों के लिए सबसे बेस्ट कोर्स माना जाता है।  आप मेडिकल के क्षेत्र में भी अपना करियर बना सकते हैं। 

B. Pharm फुल फॉर्म इन हिंदी

बीफार्मा का फुल फॉर्म Bachelor of Pharmacy होता है और इसे हिंदी में फार्मेसी में स्नातककहते हैं।

B. Pharm कोर्स कितने साल का होता हैं

यह कोर्स भी एक अंडर ग्रेजुएशन कोर्स होता है और इसे करने के लिए उम्मीदवारों को लगभग 4 वर्षों का समय लगता है। इन 4 वर्षों में उम्मीदवारों को 6 से लेकर 8 सेमेस्टर की पढ़ाई करनी होती है जो कोर्स वर्क और प्रैक्टिकल सेशन पर डिपेंड करता है। फार्मेसी के क्षेत्र में स्पेशलिस्ट बनने और इस क्षेत्र में रोजगार को ढूंढने के लिए आपके लिए यह सबसे बेस्ट कोर्स हो सकता हैं। 

Pharm D क्या हैं

फार्मा डी या फिर कहा जाए तो डॉक्टर ऑफ़ फार्मेसी का 6 वर्षों का यह कोर्स एक प्रोफेशनल लर्निंग डिग्री कोर्स होता है। यह कोर्स फार्मेसी के क्षेत्र में डॉक्टर के लेवल का कोर्स होता है। 12वीं को क्लियर करने के बाद आप इस कोर्स को बड़ी ही आसानी से कर सकते है। इस कोर्स को एंट्रेंस एग्जाम के जरिए भी किया जा सकता है और इतना ही नहीं बी फार्मा कोर्स के देखने को हासिल करने के बाद भी आप इसे करने के लिए योग्य हैं। 

Pharm D फुल फॉर्म इन हिंदी

फार्मा डी का फुल फॉर्म Doctor of pharmacy होता है और इसे हिंदी में फार्मेसी के डॉक्टर कहते हैं। 

Pharma D कोर्स कितने साल का होता हैं

इस कोर्स को करने के लिए स्टूडेंट को करीब 6 वर्षों का समय देना होता है क्योंकि इसमें 5 साल की एजुकेशनल डिग्री की पढ़ाई कराई जाती है और वही 1 साल प्रैक्टिकल के लिए स्टूडेंट्स को  रेजीडेंसी इंटर्नशिप करना होता हैं। 

BAMS क्या हैं

आज ऐसे हजारों साल पहले मरीजों का इलाज करने के लिए और अलग-अलग असाध्य रोगों का इलाज करने के लिए भारतीय पौराणिक संस्कृति के अनुसार चिकित्सा की जाती थी। आज भी हमारे देश में पौराणिक चिकित्सा प्रणाली के अनुसार लगभग कई तरह गंभीर रोगों का उपाय किया जाता है और इसीलिए आप इस मेडिकल क्षेत्र के कोर्स को पूरा कर सकते है। आयुर्वेदिक चिकित्सा प्रणाली और आधुनिक चिकित्सा प्रणाली को समझने के लिए आप इस कोर्स को कर सकते है। आयुर्वेद के डॉक्टरों की डिमांड भी आज के समय में काफी ज्यादा बढ़ चुकी है अर्थात इस कोर्स को करना आपके लिए बेहतर करियर ऑप्शन हो सकता हैं। 

BAHM फुल फॉर्म इन हिंदी

इस का फुल फॉर्म Bachelor of Ayurveda Medical and surgery होता है और इसे हिंदी मेंआयुर्वेद और शल्य चिकित्सा के स्नातक कहते हैं। 

BAHM कोर्स कितने साल का होता हैं

इस कोर्स को करने के लिए स्टूडेंट को लगा 5 वर्षों का समय देना होता है और उसके बाद एडिशनल प्रैक्टिकल नॉलेज के लिए स्टूडेंट को करीब 1 वर्षों का इंटर्नशिप करना होता है मतलब की कुल मिलाकर आपको इस कोर्स को कंप्लीट करने में 6 वर्षों का समय लगने वाला है। फिर इसके बाद आप खुद की क्लीनिक खोल सकते है या फिर आप चाहे तो कहीं पर जॉब कर सकते हैं। 

BHMS क्या हैं

अगर आप होम्योपैथिक के क्षेत्र में कोर्स करना चाहते है और कोई बढ़िया कोर्ट ढूंढ रहे है तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह एक ऐसा कौन है जो होम्योपैथिक कोर्स के लिए सबसे बेस्ट कोट साबित हो रहा है। इस कोर्स के अंतर्गत स्टूडेंट को होम्योपैथिक की दवाइयों और एक सफल डॉक्टर बनने की पूरी जानकारी प्रदान की जाती है। यह कोर्स भी एक अंडर ग्रेजुएशन कोर्स होता है और इसे आप 12वीं के बाद कर सकते हैं। 

BHMS फुल फॉर्म इन हिंदी

बीएचएमएस का फुल फॉर्म  Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery होता है और इसे हिंदी में होम्योपैथिक चिकित्सा और शल्य चिकित्सा स्नातककहते हैं। 

BHMS कोर्स कितने साल का होता हैं

इस कोर्स को पूरा करने के लिए स्टूडेंट को लगभग 4.5 वर्ष का समय लगता है और इसके अतिरिक्त प्रैक्टिकल के रूप में डिग्री हासिल करने के लिए आपको 1 वर्षों का अतिरिक्त इंटर्नशिप करना होगा और साथ आपको कुल मिलाकर 5.5 वर्ष इस कोर्स को पूरा करने में अपने व्यतीत करने होंगे।

BUMS क्या हैं

अगर आप यूनानी चिकित्सा प्रणाली के खेत में डिग्री हासिल करना चाहते है और इसी क्षेत्र में करियर बनाना चाहते है तो आपके लिए यह पोस्ट सबसे बेस्ट कोर्स हो सकता है। इसे भी अंडर ग्रेजुएशन कोर्स के अंतर्गत कर सकते है और इसके अंतर्गत आपको यूनानी चिकित्सा प्रणाली की सारी जानकारी प्रदान की जाती है। इसे पूरा करने के बाद आप सरकारी या फिर प्राइवेट संस्था में नौकरी कर सकते है या फिर आप चाहे तो खुद का क्लीनिक भी खोल सकते हैं। 

BUMS फुल फॉर्म इन हिंदी

बी यू एम एस का फुल फॉर्म  Bachelor of Unani medicine and surgery होता है और इसे हिंदी मेंचिकित्सा और सर्जरी में स्नातककहते हैं। 

BUMS कोर्स कितने साल का होता हैं

अगर इस कोर्स को पूरा करने की बात करें तो स्टूडेंट को लगभग 5 वर्षों तक का या कोर्स करना होता है और उसके बाद 1 वर्ष के इंटर्नशिप मतलब कि अगर आपकी इस कोर्स के लिए एक शौक है तो आपको अपना लगभग 6 वर्षों का समय देना होगा। 

BPT क्या हैं

चिकित्सा का क्षेत्र बहुत ही विशाल है और इसमें हर एक अलग अलग श्रेणियों में कोर्स उपलब्ध है और अब हम आपको ऐसे ही एक वर्सेटाइल कोर्स के बारे में बताने वाले है जो कि फिजियोथेरेपिस्ट में रुचि रखने वाले लोगों के लिए होता है। इस कोर्स के अंतर्गत अलग-अलग बीमारियों के लिए फिजियोथेरेपी की प्रैक्टिस कराई जाती है और फिजियोथेरेपी आज के समय में काफी ज्यादा डिमांड में है अर्थात आपके लिए यह कोर्स एक सुनहरा अवसर प्रदान करता हैं। 

BPT फुल फॉर्म इन हिंदी

बीपीटी कोर्स का फुल फॉर्म Bachelor of physiotherapist होता है और इसे हिंदी मेंभौतिक चिकित्सा के स्नातक कहते हैं। 

BPT कोर्स कितने साल का होता हैं

यह कोर्स करीब 4 वर्षों का होता है और इसके अंतर्गत स्टूडेंट को फिजिकल मोमेंट साइंस, प्रिवेंट डिसेबिलिटी चैनेलाइजिंग की जानकारी प्रदान की जाती है। 4 वर्षों के इस कोर्स को करने के बाद आप एक फिजियोथेरेपिस्ट के रूप में जाने जाते है और उसके बाद आप कहीं सरकारी संस्था में या प्राइवेट संस्था में जॉब कर सकते है और इसके अतिरिक्त आप चाहे तो खुद फिजियो थेरेपी सेंटर भी खोल सकते हैं। 

BVSc & A.H क्या हैं

अगर आप जानवरों और पशु पक्षियों का डॉक्टर बनना चाहते है तब ऐसे में आपको इस कोर्स को पूरा करना होगा और इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप सरकारी संस्थाओं और प्राइवेट संस्थाओं में आसानी से नौकरी प्राप्त कर सकते है। इसके अतिरिक्त आप चाहे तो पशु चिकित्सा अस्पताल भी चला सकते हैं। 

BVSc & A.H फुल फॉर्म इन हिंदी

इस का फुल फॉर्म Bachelor of veterinary होता है जिसे हम BVSc & A.H के नाम से भी जानते हैं। 

BVSc & A.H कोर्स कितने साल का होता हैं

यह कोर्स लगभग 5.5 वर्षों का होता है और इसके अंतर्गत स्टूडेंट को 1 वर्षों का इंटर्नशिप करना होता है जिसमें रेगुलर एकेडमी स्टडी भी शामिल हैं। 

डॉक्टर बनने से संबंधित पूछे जाने वाले प्रश्न

यहाँ पर मैंने ऐसे पांच सवालों के जवाब दिए है जो की अक्सर लोग डॉक्टर बनने के बारे में पूछते रहते हैं।

Q. 12वीं के बाद डॉक्टर कैसे बने?

12वीं के बाद आप नीट के एग्जाम के लिए एंट्रेंस एग्जाम दे सकते है और उसके बाद आप किसी भी डॉक्टर के स्ट्रीम में अपने मन पसंदीदा कोर्स को पूरा करके डॉक्टर बन सकते हैं। 

Q. डॉक्टर बनने में कितना पैसा लगेगा?

अगर आप नीट के एंट्रेंस एग्जाम को क्लियर कर लेते है तब ऐसी परिस्थिति में आप को आगे सरकारी संस्था कोर्स को पूरा करने के लिए प्रदान की जाती है जिसमें आपका कम से कम खर्चा होता है और अगर आप प्राइवेट सेक्टर में किसी भी डॉक्टरी कोर्स को करते है तब आपको ₹500000 से लेकर करीब ₹1000000 के बीच तक का निवेश करना होगा।

Q. डॉक्टर बनने के लिए कौन सी पढ़ाई करनी पड़ती हैं?

डॉक्टर बनने के लिए अलग-अलग प्रकार के कोर्स उपलब्ध है और आप अपने रूचि और सुविधा अनुसार कोई भी कोर्स की पढ़ाई कर सकते हैं। 

Q. MBBS कितने साल का होता हैं?

एमबीबीएस लगभग 4.5 वर्षों का कोर्स होता है और 1 वर्ष का आपको इसमें इंटर्नशिप करना होता है। जिसे कुल मिलाकर यह कोर्स करीब 5.5 वर्षों का हो जाता हैं। 

Q. डॉक्टर बनने के लिए कितने परसेंटेज चाहिए क्लास 10वीं और 12वीं में?

डॉक्टर बनने के लिए आपको दसवीं और बारहवीं में कम से कम 50% से भी अधिक अंक प्राप्त करने होंगे। 

निष्कर्ष

अगर आपको Doctor कैसे बने लेख हेल्पफुल रहा है तो फिर आप इस लेख को अपने फेसबुक या अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें ताकि वह भी जान सके डॉक्टर कैसे बनते है। और अगर आपको कोई भी जानकारी इस लेख से संबंधित चाहिए तो फिर आप नीचे कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Junaid Bashir

Hi friends!! मेरा नाम Junaid Bashir है और मैं इस ब्लॉग का मालिक हूँ। इसके साथ-साथ मैंने इस ब्लॉग इसलिए बनाया है। क्योंकि मुझे लोगों की मदद करना बहुत ही अच्छा लगता है और अगर आप मेरे बारे में विस्तार से जानना चाहते है तो फिर उसके लिए आप इस ब्लॉग का About Us पेज पढ़ सकते हैं।

This Post Has 28 Comments

  1. Neet nta ki jankari

    Sir
    Aap aap ne bhot accha jankari diye

  2. Samu

    Thanks for giving information about how to become a doctor.
    Really nice article????????

  3. Shubham

    Discuss about the diploma in pharmacy please sir

      1. Himanshu

        Thank you very much 🙏🙏🙏🙏sir add diploma in doctor mbbs

        1. Junaid Bashir

          Already Bataya hai mai ne Oopar MMBS ke baare me Himanshu Ji.

  4. Khushi Kumari Gupta

    12th ke baad neet ke saath or kuch bhi
    paper dena hota hai kya

    1. Junaid Bashir

      Hi Khushi,

      12th Ke baad aapko Keval Neet Ka Entrance Exam paas karna hoga hai. Entrance exam ko paas karne ke baad aapko kisi bhi Govt medical college mai Admission ho jayega.

  5. Subhash Rawat

    Kya ise karne k liye humara pass PCM hona sabse jyada jaruri h

  6. Vivek Kumar

    Sir mera 60% se kam marke h

  7. Sudheer

    Sir mai bhms krna chahta hu aur mai pcm se 12th pass kiya hai kya hm bhms private college me admission le skta hu

    1. Junaid Bashir

      BHMS Course karne ke liye aapko 12th Paas karna hota hai. Lekin jaise ki aap bol rahe hai mai ne PCM se 12th paas kiya hai to yah aapko kisi college me jakar k pata karna hoga.

  8. Navneet Kumar

    MBBS Docdor

  9. DMLT information

    very good informaion in this post ,thank you so much sharing this informain.

  10. Yogendra Singh

    Mbbs me pravesh kaise milta hai. Jankari dijiye.

    1. Junaid Bashir

      Yogendra Ji, MBBS me Pravesh karne ke liye aapko Neet Ka Entrance Test qualify karna hota hai aur agar aap isko Qualify nahi kar sakte hai to phir aap kisi Private College mai apni MBBS ki Degree karni hogi.

  11. Gufran Ahmed

    Kisi bacchai nai Arts li h 11th mai to kya vho bhi neet exam dai sakta h 12th kai baad ya nhi.

    1. Junaid Bashir

      Hi Gufran, Jis bhi Bacche ne 11th Mai Arts liye hai to Neet Ka Exam nhi de sakta. Agar Woh Neet ke liye apply bhi karega to uska form Reject ho jayega.

      1. Gufran Ahmed

        Oky..thanks aur agar vho doctor banna chata h usnai kisi problem ki vajha sai Arts li h to fr vho kya kar sakta h koi aur solution h neet exam dainai ka kueki vho doctor hi banna chata h ussai kisi problem ki vajha sai Arts laini padhi ab 12 th kai baad vho bhi neet exam daina chata h….. koi aur solution h

  12. Gufran Ahmed

    Oky..thanks aur agar vho doctor banna chata h usnai kisi problem ki vajha sai Arts li h to fr vho kya kar sakta h koi aur solution h neet exam dainai ka kueki vho doctor hi banna chata h ussai kisi problem ki vajha sai Arts laini padhi ab 12 th kai baad vho bhi neet exam daina chata h….. koi aur solution h

  13. Faizan pasha

    Sir me abhi 12th me hu aur me mbbs karna chahta huu aur mere 10th me 75.5 persent hai aur me general category se huu aap bataiye ki mujhe kitna time padan chahiye aur 12th baad kya karna chahiya aur aap apna phone number bhi bata deejiye

    1. Junaid Bashir

      Hello Faizan, Sabse pehle aap 12th Clear kardo. And uske baad kisi bhi Coaching Centre me jave jahan par aapko NEET ki Preparation karni hogi. NEET Ki Preparation karne ke baad aapko Neet Ke liye apply Karna hoga taki aap iska Entrance de pawo. Agar aap is Entrance exam mai paas hote hai to phir aap kisi bhi Govt Medical College MBBS ka Course Kam paiso mai kar sakte ho.

      Aur rahi mere Number ki baat to uske liye mai shamaa chahta hoon aapse.. Agar aapko koi bhi Personal Jaankri chahie to aap mujhe is email ID: [email protected] par email Kar sakte ho.

Leave a Reply