डॉक्टर कैसे बने जानिए पूरी जानकारी हिंदी में

अगर आप डॉक्टर बनना चाहते है तो ये लेख आप ही के लिए है। क्योंकि इस लेख में मैं आपको बताने वाला हूँ एक सफल Doctor Kaise Bane वह भी स्टेप बाय स्टेप। इसलिए इस लेख को पूरा पढ़े ताकि आपको डॉक्टर बनने के बारे में पूरी जानकारी मिल सके।

Table Of Contents
  1. डॉक्टर कैसे बने
  2. नीट क्या हैं
  3. डॉक्टर बनने के लिए कौन सा कोर्स करें
  4. MBBS क्या हैं
  5. BDS क्या हैं
  6. B.Sc. नर्सिंग क्या हैं
  7. B. Pharm क्या हैं
  8. Pharm D क्या हैं
  9. BAMS क्या हैं
  10. BHMS क्या हैं
  11. BUMS क्या हैं
  12. BPT क्या हैं
  13. BVSc & A.H क्या हैं
  14. डॉक्टर बनने से संबंधित पूछे जाने वाले प्रश्न

डॉक्टर कैसे बने

डॉक्टर बनने से पहले मैं आपको एक बात बता देना चाहता हूँ की डॉक्टर बनने के लिए आपके पास डिग्री होनी चाहिए जैसे कि ग्रेजुएशन और इस डिग्री को हासिल करने के लिए आप नीट का एग्जाम दे सकते है और इस एग्जाम को देने के लिए आपको इन पांच स्टेप्स को फॉलो करना होगा।

1. 10वीं पास करने के बाद मेडिकल सब्जेक्ट चुने

डॉक्टर बनने के लिए आपको सबसे पहले 10वी जमात पास करना होगा। 10वी जमात को पास करने के बाद आपको मेडिकल का सब्जेक्ट लेना होगा 11वी और 12वी जमात में।

2. 12वीं जमात पास करें अच्छे मार्क्स के साथ

नीट का एग्जाम देने के लिए आपको 12वी जमात में अच्छे खासे मार्क्स होने चाहिए तभी आप नीट का एंट्रेंस दे सकते है। इसलिए 11वी और 12वी में आप खूब सारा मेहनत करें।

3. नीट के लिए तैयारी करें

12वी जमात पास करने के बाद आपको नीट एंट्रेंस एग्जाम को देने के लिए इसकी तैयारी करनी होगी। मुझे पता है कि ये आप बड़ी ही आसानी से किसी भी कोचिंग सेंटर में जा कर या घर में बैठ कर ही कर सकते हैं।

4. नीट एग्जाम के लिए अप्लाई करें

नीट एंट्रेंस एग्जाम देने के लिए आपको नीट की Official वेबसाइट पर जाना होगा। वेबसाइट पर जाने के बाद आपको Fill Application Form पर क्लिक करके नीट एंट्रेंस एग्जाम के लिए फॉर्म भरना होगा।

5. नीट के परिणाम की प्रतीक्षा करें

नीट का फॉर्म भरने के बाद आपको नीट में एग्जाम देना होगा और उसके बाद आपको अपने परिणाम का प्रतीक्षा करना होगा। अगर आप नीट के एग्जाम में पास होते है तो फिर आपको सरकार की तरफ से किसी भी मेडिकल कॉलेज में दाखिला मिल जायेगा और जो सरकार आपको कॉलेज देगी वहाँ पर आप कम फीस में डॉक्टर की डिग्री हासिल कर सकते हैं।

मेरे खयाल से आपको तो अब पता चल ही गया होगा की कम फीस में आप डॉक्टर की डिग्री कैसे हासिल कर सकते है। लेकिन मेरे ख्याल से आपके मन में भी ये सवाल जरूर आया होगा की आखिर नीट क्या है? और इस नीट के द्वारा पास करने के बाद हमें क्यों कम फीस लगती है डॉक्टर की डिग्री हासिल करने में? तो चलिए इसका सवाल का जवाब हम जान लेते हैं।

नीट क्या हैं

नीट एक ऐसा एंट्रेंस एग्जाम है जो की NTA के द्वारा लिया जाता है और इस एंट्रेंस एग्जाम को केवल मेडिकल के छात्र डॉक्टर बनने के लिए दे सकते है। अगर कोई छत्र इस एंट्रेंस एग्जाम को पास करता है तो फिर वह छत्र कम फीस में डॉक्टर बनने का सपना पूरा कर सकता हैं।

डॉक्टर बनने के लिए कौन सा कोर्स करें

जैसे कि मैंने आपको ऊपर बताया है आपको नीट का एग्जाम पास करना होता है डॉक्टर की डिग्री हासिल करने के लिए। लेकिन यहाँ पर अब बात आती है कि जो कोर्स आप करना चाहते है वह कोर्स आप नीट के द्वारा कर सकते है? तो इसका जवाब है हाँ।

लेकिन नीट में आपको जितने मार्क्स मिलेंगे उसी के हिसाब से आपको कोर्स दिया जायेगा। इसलिए जितना ज्यादा हो सके उतनी ही ज्यादा आप नीट एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करें।

अब तो आपको पता चल ही गया होगा नीट एग्जाम को पास करने के बाद आपको कौन सा कोर्स मिल जायेगा। लेकिन अब बात आती है उन छात्रों की जो कि नीट में पास नहीं होते है और वह छात्र प्राइवेट कॉलेजस में जा कर अपने सपनों को पूरा करते हैं।

इसलिए मैं नीचे कोर्सस की लिस्ट देता हूँ ताकि आपको भी पता चले कौन सा कोर्स कितने टाइम का होता हैं।

  • MBBS
  • BDS
  • B.Sc. Nursing
  • B. Pharm
  • Pharm D
  • BAMS
  • BHMS
  • BUMS
  • BPT (Physiotherapy)
  • BVSc & A.H

MBBS क्या हैं

MBBS का मतलब BACHELOR OF MEDICINE AND BACHELOR OF SURGERY होता है। अगर आप MBBS की डिग्री हासिल करता है तो वह बड़ी ही आसानी के साथ किसी भी सरकारी या प्राइवेट अस्पताल में जूनियर डॉक्टर या जूनियर सर्जन बन सकता है। डॉक्टर बनने के अलावा आप मेडिकल प्रोफेसर या लेक्चरर भी बन सकते हैं।

MBBS फुल फॉर्म इन हिंदी

MBBS का फुल फॉर्म BACHELOR OF MEDICINE AND BACHELOR OF SURGERY होता है और MBBS को हिंदी में चिकित्सा स्नातक और शल्य चिकित्सा स्नातक कहते हैं।

MBBS कोर्स कितने साल का होता हैं

MBBS का कोर्स आप 12वी के बाद कर सकते है और इस कोर्स को करने के लिए आप नीट एंट्रेंस को पास कर सकते है। नीट के अलावा आप किसी भी recognized प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में भी कर सकते हैं।

अब यहाँ पर हम बात करते है इस पूरे कोर्स को करने के लिए कितना समय लग जाता है? अगर मैं पूरे कोर्स की बात करूँ इंटर्नशिप लेकर तो फिर MBBS कोर्स को करने में 5 साल 6 महीना लग जाते हैं।

BDS क्या हैं

हम सब को तो ये पता ही है कि हमारे शरीर के सभी अंगों का अलग-अलग डॉक्टर होता है और अगर मैं BDS डॉक्टर की बात करो तो वह दांतों को इलाज कर सकता है। अगर आप भी दांतों के डॉक्टर बनना चाहते है तो फिर आपको यही कोर्स करना होगा ताकि आप भी दांतों के स्पेशलिस्ट बन सके।

BDS फुल फॉर्म इन हिंदी

BDS का फुल फॉर्म Bachelor of Dental Surgery होता है। और हिंदी में BDS को दंत शल्य चिकित्सा स्नातक कहते हैं।

BDS कोर्स कितने साल का होता हैं

BDS का कोर्स भी आप 12वी के बाद ही कर सकते है और इसको करने के लिए आप नीट एंट्रेंस एग्जाम दे सकते है। इसके अलावा आप इस कोर्स को किसी भी प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में BDS की डिग्री हासिल कर सकते हैं।

मैं आपको बता दूं इस कोर्स को पूरा करने के लिए चार साल का समय लग जाता है। इसके साथ-साथ आपको एक साल की इंटर्नशिप भी करनी होती है और अगर मैं पूरे कोर्स की बात करूँ तो फिर आपको BDS का कोर्स पांच साल में पूरा होता हैं।

यह भी पढ़ें

B.Sc. नर्सिंग क्या हैं

B.Sc. एक Science कोर्स है जो हमारे देश में सबसे अधिक साइंस स्टूडेंट्स के द्वारा किया जाता है। BA और B. Com की तरह ही B.Sc. भी एक वर्सेटाइल कोर्स है और इसे काफी सारी Branches के साथ विशेष रूप से किया जा सकता है। अगर आप मेडिकल की फील्ड में जाना चाहते है तो कई अन्य कोर्सेज के साथ B.Sc. नर्सिंग का कोर्स भी आपके लिए एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता हैं।

B.Sc. नर्सिंग 4 साल का एक अंडरग्रेजुएट कोर्स है जो 12वी क्लास पास करने के बाद किया जा सकता है। B.Sc. नर्सिंग का कोर्स करने के बाद आप सरकारी व प्राइवेट मेडिकल संस्थानों में जॉब प्राप्त कर सकते हैं।

B.Sc. फुल फॉर्म इन हिंदी

अगर B.Sc. नर्सिंग  की फुल फॉर्म की बात की जाए तो इसको Bachelor of Science in Course  और अगर इसी फुल फॉर्म को हिंदी में देखा जाए तो इसको नर्सिंग विज्ञान में स्नातक कहते हैं।

B.Sc. कोर्स कितने साल का होता हैं

बैचलर ऑफ साइंस अर्थात B.Sc. की अधिकतर ब्रांच एक मुख्य रूप से 3 साल की होती है। लेकिन बैचलर ऑफ साइंस इन नर्सिंग 4 साल का कोर्स होता है। लगभग सभी नर्सिंग कोर्स की तरह इस कोर्स में भी किताबी ज्ञान के साथ प्रैक्टिकल नॉलेज पर भी बल दिया जाता है और इंटर्नशिप भी कोर्स में शामिल होता हैं।

B. Pharm क्या हैं

B. Pharma कोर्स मेडिसिंस के क्षेत्र में देश में कराए जाने वाले सबसे लोकप्रिय और पोटेंशियल कोर्सेज में से एक है। यह 4 साल का एक अंडरग्रेजुएट कोर्स है जिसे 12वी क्लास के बाद साइंस स्ट्रीम के छात्र कर सकते है। मेडिसिंस (दवाइयों) की नॉलेज लेने के लिए और क्षेत्र में एक्सपेर्टीजमेंट प्राप्त करने के लिये यह कोर्स सबसे बेहतर माना जाता है। जो छात्र आगे जाकर Pharmacist बनना चाहते है उनके लिए भी यह कोर्स सबसे बेहतर विकल्पों में से एक हैं।

B. Pharm फुल फॉर्म इन हिंदी

B. Pharm का फुल फॉर्म Bachelor of Pharmacy होता है और B. Pharm को हिंदी में फार्मेसी में स्नातक कहते हैं।

B. Pharm कोर्स कितने साल का होता हैं

12वी क्लास करने के बाद साइंस स्ट्रीम के छात्र बैचलर ऑफ फार्मेसी का कोर्स करते है। बैचलर ऑफ फार्मेसी के कोर्स की एवरेज ड्यूरेशन 4 साल होती है और इसमें 6 से 8 सेमेस्टर होते है जो कोर्स वर्क और प्रैक्टिकल सेशन पर डिपेंड करता है। मुख्य रूप से फार्मासिस्ट बनने और फार्मेसी के क्षेत्र के अन्य रोजगार अवसरों का लाभ उठाने के लिए यह कोर्स किया जाता हैं।

Pharm D क्या हैं

Pharm D या फिर कहा जाए तो डॉक्टर ऑफ फार्मेसी 6 साल का एक प्रोफेशनल लर्निंग डिग्री कोर्स होता है जिसमें एक साल की इंटर्नशिप भी शामिल होती है। Pharm D का कोर्स मेडिकल में फार्मेसी के क्षेत्र में डॉक्टर लेबल का कोर्स होता है। Pharm D डॉक्टर की एक ऐसी डिग्री है जिसे सीधा 12वी पास करने के बाद किया जा सकता है। एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से इस कोर्स में एडमिशन लिया जाता है और B. Pharm के ग्रेजुएट्स के द्वारा भी Pharm D कोर्स किया जा सकता हैं।

Pharm D फुल फॉर्म इन हिंदी

अगर Pharm D के कोर्स की फुल फॉर्म की बात की जाए तो इसको Doctor of Pharmacy कहते है और अगर Pharma D की हिंदी फुल फॉर्म की बात की जाए तो इसको हिंदी में फार्मेसी के डॉक्टर कहते हैं।

Pharma D कोर्स कितने साल का होता हैं

अगर डॉक्टर ऑफ फार्मेसी की कोर्स ड्यूरेशन की बात की जाए तो यह 6 साल का होता है जिसमें इंटर्नशिप शामिल होती है। 12वी क्लास के बाद साइंस बायोलॉजी स्ट्रीम के छात्र यह कोर्स कर सकते हैं। इस कोर्स में 5 साल की एकेडमिक स्टडी और 1 साल की रेजीडेंसी इंटर्नशिप करनी होती हैं।

BAMS क्या हैं

भारतीय संस्कृति में आयुर्वेद का अपना एक अलग ही महत्व है। बिना साइड इफेक्ट्स के बेहतरीन और असरदार उपाय के लिए आयुर्वेद को ही चुना जाता है। आज भी देश में रहने वाले करण लोग आयुर्वेद को ही प्रेफर करते है और यही कारण है कि इस क्षेत्र में डॉक्टरों की डिमांड तेजी से बढ़ रही है। BAHM का कोर्स आयुर्वेद और मॉडर्न मेडिकल सिस्टम को साथ में समझने के लिए एक बेहतरीन कोर्स विकल्प हैं।

BAHM फुल फॉर्म इन हिंदी

BAHM के फुल फॉर्म की बात की जाए तो इसको Bachelor of Ayurveda Medical & Surgery कहते है अगर BAHM को हिंदी में आयुर्वेद और शल्य चिकित्सा के स्नातक को कहते हैं।

BAHM कोर्स कितने साल का होता हैं

अगर BAHM कोर्स  की ड्यूरेशन की बात की जाए तो यह 5 साल का एक अंडर ग्रैजुएट प्रोग्राम होता है। करीब साढ़े 5 साल के इस कोर्स में एक साल की अनिवार्य इंटर्नशिप भी शामिल होती है। इस कोर्स को करने के बाद कैंडिडेट डॉक्टर कहलाने और एक निजी क्लिनिक खोलने या फिर क्लिनिक में काम करने के लिए एलिजिबल हो जाता हैं।

BHMS क्या हैं

BHMS एक अंडर ग्रैजुएट डिग्री कोर्स है जो होम्योपैथी की नॉलेज से भरपूर होता है और छात्र होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिये इस कोर्स को करते है। BHMS के कोर्स में होम्योपैथिक दवाइयों की जानकारी छात्रों को दी जाती हैं।

BHMS फुल फॉर्म इन हिंदी

BHMS की फुल फॉर्म Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery होती है और हिंदी में BHMS को होम्योपैथिक चिकित्सा एवं शल्यचिकित्सा स्नातक कहते हैं।

BHMS कोर्स कितने साल का होता हैं

BHMS कोर्स की ड्यूरेशन की बात की जाए तो वह 5.5 साल है। अर्थात BHMS का कोर्स 5.5 साल का होता है जिसमें 4.5 साल की एकेडमी की स्टडी और 1 साल की अनिवार्य इंटर्नशिप शामिल होती हैं।

BUMS क्या हैं

चिकित्सा और शल्य चिकित्सा की यूनानी प्रणाली दुनिया की सबसे प्राचीन चिकित्सा प्रणालियों में से एक है जिसकी स्टडी BUMS कोर्स में कराई जाती है। एक अंडर ग्रैजुएट डिग्री कोर्स है जिसमें यूनानी चिकित्सा के बारे में पढ़ाया जाता हैं।

BUMS फुल फॉर्म इन हिंदी

BUMS के फुल फॉर्म की बात की जाए तो इसको Bachelor of Unani Medicine & Surgery कहते है और हिंदी में BUMS को चिकित्सा और सर्जरी में स्नातक कहते हैं।

BUMS कोर्स कितने साल का होता हैं

अगर BUMS के कोर्स की बात की जाए तो यह कोर्स 5 साल का एक रेगुलर स्टडी कोर्स होता है जिसमें इंटर्नशिप भी शामिल होती हैं।

BPT क्या हैं

चिकित्सा का क्षेत्र काफी वर्सेटाइल है जिसमें काफी सारी स्पेसिफिक प्रणाली होती हैं और ऐसी ही एक प्रणाली फिजियोथेरेपी भी है और BPT के कोर्स में फिजियोथेरेपी की स्टडी की जाती हैं।

BPT फुल फॉर्म इन हिंदी

अगर BPT कोर्स की फुल फॉर्म की बात की जाए तो इसको Bachelor of Physiotherapy कहते है और  BPT को हिंदी में भौतिक चिकित्सा के स्नातक कहते हैं।

BPT कोर्स कितने साल का होता हैं

BPT कोर्स 4 साल का एक अंडरग्रेजुएट कोर्स हैं। इस कोर्स में 4 साल की रेगुलर स्टडी करवाई जाती है जिसमें फिजिकल मूवमेंट साइंस, प्रिवेंट डिसेबिलिटी चैनलाइजिंग आदि के बारे में पढ़ाया जाता हैं।

BVSc & A.H क्या हैं

BVSc & A.H जानवरों पशु पक्षियों आदि की चिकित्सा को सीखने के लिए बनाया गया एक कोर्स है। इस कोर्स को करने के बाद आप सरकारी और निजी अस्पतालों में नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

BVSc & A.H फुल फॉर्म इन हिंदी

अगर BVSc & A.H कोर्स की फुल फॉर्म की बात की जाए तो इसको Bachelor of Veterinary Science कहते है और हिंदी में BVSc & A.H को पशु चिकित्सा विज्ञान स्नातक कहते हैं।

BVSc & A.H कोर्स कितने साल का होता हैं

अगर BVSc & A.H कोर्स के ड्यूरेशन की बात की जाए तो वह 5.5 साल है। BVSc & AH 5.5 साल का एक अंडर ग्रैजुएट कोर्स होता है जिसमें इंटर्नशिप और रेगुलर एकेडमी के स्टडी शामिल होती हैं।

डॉक्टर बनने से संबंधित पूछे जाने वाले प्रश्न

सवाल: 12वीं के बाद डॉक्टर कैसे बने?

जवाब: 12वीं के बाद डॉक्टर बनने के लिए आपको नीट का एग्जाम देना होता है। अगर आप इस एग्जाम में पास होते है तो फिर आपको किसी भी मेडिकल कॉलेज में डॉक्टर बनने का सपना पूरा कर सकते हो।

सवाल: डॉक्टर बनने में कितना पैसा लगेगा?

जवाब: सरल शब्दों में बताऊं तो डॉक्टर बनने के लिए आपको 30 – 40 लाख लग जायेंगे और इतने पैसे आपको तभी लगेंगे जब आप किसी Private कॉलेज से MBBS की डिग्री हासिल करेंगे।

सवाल: डॉक्टर बनने के लिए कौन सी पढ़ाई करनी पड़ती हैं?

जवाब: डॉक्टर बनने के लिए आपको सबसे पहले 11वीं और 12वीं जमात में मेडिकल का सब्जेक्ट लेना होता है और जब आप 12वीं जमात अच्छे मार्क्स के साथ पास करेंगे तो उसके बाद आपको नीट का एंट्रेंस एग्जाम देना होता है। इस एग्जाम को देने के बाद आप किसी भी मेडिकल कॉलेज में MBBS की डिग्री हासिल कर सकते हैं।

सवाल: MBBS कितने साल का होता हैं?

जवाब: MBBS का कोर्स करने के लिए आपको 5 साल 6 महीने लग जाते हैं।

सवाल: डॉक्टर बनने के लिए कितने परसेंटेज चाहिए क्लास 10वीं और 12वीं में?

जवाब: डॉक्टर बनने के लिए आपको 10वीं और 12वीं में 60% से ज्यादा मार्क्स होने चाहिए तभी आपको किसी अच्छे मेडिकल कॉलेज में दाखिला मिल सकता हैं।

निष्कर्ष

अगर आपको Doctor कैसे बने लेख हेल्पफुल रहा है तो फिर आप इस लेख को अपने फेसबुक या अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें ताकि वह भी जान सके डॉक्टर कैसे बनते है। और अगर आपको कोई भी जानकारी इस लेख से संबंधित चाहिए तो फिर आप नीचे कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Junaid Bashir

Hi friends!! मेरा नाम Junaid Bashir है और मैं इस ब्लॉग का मालिक हूँ। इसके साथ-साथ मैंने इस ब्लॉग इसलिए बनाया है। क्योंकि मुझे लोगों की मदद करना बहुत ही अच्छा लगता है और अगर आप मेरे बारे में विस्तार से जानना चाहते है तो फिर उसके लिए आप इस ब्लॉग का About Us पेज पढ़ सकते हैं।

This Post Has 12 Comments

  1. Neet nta ki jankari

    Sir
    Aap aap ne bhot accha jankari diye

  2. Samu

    Thanks for giving information about how to become a doctor.
    Really nice article????????

  3. Shubham

    Discuss about the diploma in pharmacy please sir

      1. Himanshu

        Thank you very much 🙏🙏🙏🙏sir add diploma in doctor mbbs

        1. Junaid Bashir

          Already Bataya hai mai ne Oopar MMBS ke baare me Himanshu Ji.

  4. Khushi Kumari Gupta

    12th ke baad neet ke saath or kuch bhi
    paper dena hota hai kya

    1. Junaid Bashir

      Hi Khushi,

      12th Ke baad aapko Keval Neet Ka Entrance Exam paas karna hoga hai. Entrance exam ko paas karne ke baad aapko kisi bhi Govt medical college mai Admission ho jayega.

  5. Subhash Rawat

    Kya ise karne k liye humara pass PCM hona sabse jyada jaruri h

Leave a Reply