कंप्यूटर कैसे चलाते है – 2022 में कंप्यूटर को चलाना ऐसे सीखिए

अगर आप अपने घर में एक कंप्यूटर खरीदना चाहते है और आज के जमाने के साथ कदम से कदम मिलाकर चलना चाहते है तो कंप्यूटर का ज्ञान सीखना आवश्यक है। तो आज आप बिल्कुल सही जगह पर है इस पोस्ट में हम आपको बताने जा रहे है कि Computer Kaise Chalate Hai? कंप्यूटर आज किस समय की मांग हो गई है और लगभाग सभी प्रकार के नौकरियों में कंप्यूटर चलाना आवश्यक होता जा रहा है। जिस वजह से हमने इस लेख में कंप्यूटर कैसे चलाते है इस बात को विस्तारपूर्वक समझाया गया हैं।

Table Of Contents
  1. कंप्यूटर क्या है
  2. कंप्यूटर की कार्य प्रणाली 
  3. कंप्यूटर कैसे चलाते है
  4. Microsoft Word ओपन कैसे करें
  5. Microsoft Excel को ओपन कैसे करें
  6. कंप्यूटर में कोई भी सॉफ्टवेयर इंस्टॉल कैसे करें
  7. कंप्यूटर से ईमेल कैसे भेजे
  8. कंप्यूटर के शॉर्टकट कीस
  9. कम्प्यूटर को बंद कैसे करें
  10. कंप्यूटर के विशेषताएँ
  11. कंप्यूटर को चलाना कैसे सीखे 
  12. कंप्यूटर कोर्सेज इन हिंदी
  13. टॉप 5 ऑनलाइन कंप्यूटर बेसिक कोर्स
  14. कंप्यूटर चलाने के फायदे
  15. कंप्यूटर चलाने के बारे में पूछे जाने वाले प्रश्न

कंप्यूटर क्या है

कंप्यूटर बिजली से चलने वाला एक यंत्र है जिससे हमारे रोजमर्रा के काम आसान हो जाते है। कंप्यूटर जानकारी को स्टोर करना, हिसाब किताब करना, फोटो एडिट करना और लोगों को इंटरनेट के जरिए जोड़ने का मुख्य कार्य करता हैं। 

कंप्यूटर को आज की जरूरत भी कह सकते है, आज कल कंप्यूटर का इस्तेमाल हम अपने रोजमर्रा के लगभग सभी कार्यों में करते है। कंप्यूटर नौकरी, में बिजनेस में और इसके साथ-साथ पढ़ाई में इस्तेमाल किया जाने वाला एक महत्वपूर्ण यंत्र बन चुका हैं।  

कंप्यूटर एक ऐसा यंत्र है जिसका ख्वाब आज से कई साल पहले देखा गया था कंप्यूटर की खोज करने का मुख्य कारण अपने रोजमर्रा के कार्य को आसान करना था। सर्वप्रथम abacus नाम के कंप्यूटर की खोज की गई, जिसका काम गिनती को आसान बनाना था धीरे-धीरे विभिन्न प्रकार के कंप्यूटरों को बाजार में लाया गया 17वी सदी में नेपर्स बोन वह पहले व्यक्ति थे जिन्होंने एक ऐसे कंप्यूटर को बनाया जो जोड़, घटाव और गुना आसानी से और जल्दी कर सकता था। 

आगे चलकर चार्ल्स बब्बेज वह व्यक्ति बने जिन्होंने एनालिटिकल इंजन और डिफरेंट इंजन नाम के कंप्यूटर से सभी प्रकार के जोड़, घटाव और गणितज्ञ काम को आसान बना दिया उनके इस कार्य की वजह से उन्हें कंप्यूटर का पितामह कहा जाता हैं।

कंप्यूटर को धीरे धीरे इतना विकसित किया गया कि आज हम जिस कंप्यूटर का इस्तेमाल कर रहे है। इसमें हम ना केवल गणित से जुड़े कार्य कर सकते है बल्कि हम इसमें अपनी जानकारी को स्टोर कर सकते है, फोटो और वीडियो को एडिट कर सकते है, और विभिन्न प्रकार के नौकरी और व्यापार से जुड़े फाइल और कागज को बना सकते हैं।

कंप्यूटर के प्रमुख भाग

कम्प्यूटर चलाने के लिए केवल कंप्यूटर को शुरु करना और बंद करना ही आवश्यक नहीं है आपको कंप्यूटर के कुछ बेसिक जानकारी को जानना भी आवश्यक है। परंतु प्यूटर में जितने भी प्रकार की चीजें होती है उन्हें दो विभिन्न श्रेणियों में बांटा गया है जिसे हम इनपुट और आउटपुट कहते हैं।

Input Device

कंप्यूटर में जितनी भी ऐसी मशीनें होती है जिनका इस्तेमाल हम कंप्यूटर को निर्देश देने के लिए करते है उन्हें हम इनपुट डिवाइस कहते है। आपको यह बात पता होगा कि कंप्यूटर हमारे दिए गए निर्देश के अनुसार कार्य करता है तो कंप्यूटर को निर्देश देने के लिए हम कुछ मशीनों का इस्तेमाल करते हैं जिन मशीन की मदद से हम कंप्यूटर को निर्देश देते है उसे हम इनपुट डिवाइस कहते हैं। 

1. Keyboard
Keyword

कंप्यूटर को निर्देश देने का जब हम बात करते है तो सबसे पहले हमारे मन में यह विचार आता है कि हम कंप्यूटर में बटन दबाकर कुछ लिखते है। तो आपको बता दें कि कंप्यूटर का वह मशीन है जिसमें हम बटन दबाते हैं उसे कीबोर्ड कहते हैं।

कम्प्यूटर में जो साधारण कीबोर्ड होता है उसमे कुल 101 बटन होते है। सारे alphabet और numeric को हटाने के बाद भी कंप्यूटर में विभिन्न प्रकार के बटन होते है जिनका इस्तेमाल हम कंप्यूटर को खास प्रकार के निर्देश देने के लिए करते हैं। 

2. Mouse
mouse

कंप्यूटर में एक छोटा सा मशीन होता है जो चूहा जैसा दिखता है ये मशीन एक तार के जरिए कंप्यूटर मोनिटर से जुड़ा हुआ होता है और हम उसे माउस कहते हैं

हमारे हाथ जिस प्रकार कार्य करते है माउस भी कंप्यूटर में उसी प्रकार काम करता है माउस के जरिए हम कंप्यूटर को बताते है कि कौन सी फाइल को ओपन करना है या कौन सी फाइल को एडिट करना है कहां लिखना है या फिर कंप्यूटर को किसी भी प्रकार का निर्देश देने के लिए हमें एक तीर को कंप्यूटर स्क्रीन पर अपने जरूरत के स्थान पर लेकर जाना होता है और जिस मशीन के सहारे हम यह सब करते है उसे माउस कहा जाता हैं। 

3. CPU
CPU

इसे हम कंप्यूटर का दिमाग कहते है। ऐसा इसलिए क्योंकि हम जब भी कोई निर्देश देते है तो कंप्यूटर में सीपीयू के अंदर वह निर्देश स्टोर होता है वही कंप्यूटर अपने सभी मशीनों को बताता है कि किस प्रकार उस निर्देश का पालन करना है और हमे आउटपुट देना हैं। 

कंप्यूटर में मॉनिटर, कीबोर्ड, माउस ये सब CPU से जुड़ा होता है और कंप्यूटर में मौजूद विभिन्न प्रकार की मशीनें किस प्रकार कार्य करेंगी इस बात का निर्देशन सीपीयू उन्हें देता हैं।

आपको बता दें कि इसके अलावा और भी विभिन्न प्रकार के इनपुट डिवाइस होते है जिनका इस्तेमाल आप अपने रोजमर्रा के जीवन में करते ही होंगे मगर ऊपर बताए गए इनपुट डिवाइस वह प्रमुख डिवाइस है जिनके बारे में पता होना आवश्यक हैं।

4. Microphone
Microphone

आजकल हम जिस रफ्तार से टेक्नोलॉजी की ओर बढ़ते जा रहे है हमारा ज्यादातर काम बोलकर कंप्यूटर में हो जाता है। आप भी अक्सर जब कंप्यूटर में सर्च करने का काम करते होंगे तो लिखने की वजह बोलना ज्यादा Prefer करते होंगे। 

माइक्रोफोन एक ऐसा ही यंत्र है जो कंप्यूटर से जुड़ता है और हमारी बातों को कंप्यूटर तक पहुंचाता है माइक्रोफोन की ही वजह से हम कंप्यूटर को बोल कर अपने निर्देश दे सकते है। इस यंत्र में हम निर्देश देते हैं ताकि कंप्यूटर आगे का कार्य कर सकें इस वजह से माइक्रोफोन को हम इनपुट डिवाइस कहते हैं। 

Output Device

आपको बता दें कि जितनी भी प्रकार की जानकारी आपको कंप्यूटर से मिलती है वह सभी जानकारी को देने वाला डिवाइस आउटपुट डिवाइस कहलाता है। आसान भाषा में वह सारे मशीन जो आपके निर्देशानुसार रिजल्ट देने का कार्य करते है तो उसे हम आउटपुट डिवाइस कहते हैं।

हम यह कह सकते है कि वह सभी यंत्र जो कंप्यूटर से जुड़े होते है और हमें हमारे निर्देश के बदले रिजल्ट देने का कार्य करते है तो उसे हम आउटपुट डिवाइस कहते हैं।

कुछ प्रमुख आउटपुट डिवाइस के नाम

1. Monitor
Monitor

कंप्यूटर के स्क्रीन को हम मॉनिटर कहते है यह एक डिवाइस होता है जिसे हम किसी भी प्रकार का निर्देश नही देते मगर ये डिवाइस हमे अपने निर्देश और उसके रिजल्ट को दिखाने का कार्य करता है।

आज कल कंप्यूटर में विभिन्न प्रकार के मॉनिटर होते है और वो हमारे कंप्यूटर को और भी अच्छा बनाने का काम करते हैं हमारी जानकारी मॉनिटर की वजह से हमें अच्छी तरह से दिखती है और हमारा निर्देश किस प्रकार कंप्यूटर तक पहुंचा है यह हमें मॉनिटर से पता चलता हैं।

2. Printer
Printer

जब हम अपना किसी प्रकार का कार्य पूरा कर लेते है और हम चाहते है कि कंप्यूटर में डिजिटल तौर पर जो जानकारी हमें स्क्रीन पर दिखाई जा रही है वह हमें कागज पर लिखी हुई मिले तो उसमें प्रिंटर अहम भूमिका निभाता है। प्रिंटर वह मशीन होता है जो कम्प्यूटर के स्क्रीन पर दिखाई जा रही जानकारी को कागज में आपके समक्ष लाता हैं। 

प्रिंटर एक ऐसा यंत्र होता है जो कंप्यूटर का हिस्सा होता है और हमारी दी गई जानकारी को कागज पर लिखकर हमें देता है इसे भी हम आउटपुट डिवाइस कहते है क्योंकि यह यंत्र हमारा रिजल्ट देने का कार्य करता हैं।

3. Speaker 
Speaker 

स्पीकर भी एक आउटपुट डिवाइस होता है क्योंकि हमारे निर्देश के अनुसार हम एक गाना है क्या किसी भी प्रकार का आवाज सुनाता है। हम निर्देश की बुढ़िया माउस के जरिए कंप्यूटर की स्क्रीन पर देते है कि स्पीकर में कैसा गाना बजना चाहिए और उसके बाद स्पीकर से ध्वनि निकलती है स्पीकर एक ऐसा यंत्र हुआ है जो हमारे निर्देश के अनुसार रिजल्ट देने का कार्य करता है इस वजह से इसे भी हम एक आउटपुट डिवाइस मानते हैं। 

कंप्यूटर की कार्य प्रणाली 

चलिए आप हम आपको कंप्यूटर की कार्यप्रणाली के बारे में जानकारी दे देते है जिसके बारे में हमने नीचे विस्तार पूर्वक आपको समझा हुआ है।

इनपुट (Input) → प्रोसेसिंग (Processing) → आउटपुट (Output)

1. Input

अगर आप कंप्यूटर में कोई भी इनपुट नहीं दोगे तो वह आपको जानकारी नहीं देगा और ना ही कोई प्रोसेसिंग कर पाएगा। उदाहरण के तौर पर अगर आपको इंटरनेट पर कोई भी जानकारी सर्च करनी है या फिर आपको आपने कंप्यूटर में कोई एप्लीकेशन नहीं खोलना है तो आपको सबसे पहले उसका इनपुट देना होगा। जिस प्रकार से आप अपने मोबाइल फोन में एप्लीकेशन को ओपन करने के लिए उस पर क्लिक करते हो ठीक उसी प्रकार से हमें कंप्यूटर में भी कोई जानकारी देने के लिए या फिर कोई भी काम करने के लिए इनपुट देना होता है।

2. Processing

दोस्तों जब हम कंप्यूटर को कोई इनपुट देते है तो कंप्यूटर हमारे उस इनपुट को समझने के लिए अपनी भाषा में प्रोसेसिंग करने का काम शुरू करता है। अगर हम अपने कंप्यूटर पर ए टाइप करते है तो कंप्यूटर सबसे पहले उसे अपनी लैंग्वेज में प्रोसेसिंग करेगा फिर वह उसी हिसाब से आगे की जानकारी को वह हमें प्रदर्शित करता है।

3. Output

दोस्तों कंप्यूटर का आखरी काम इनपुट, प्रोसेसिंग के बाद आउटपुट का होता है। हमारे द्वारा दिए गए कमांड के अनुसार कंप्यूटर अपने प्रोसेसिंग को कंप्लीट करने के पश्चात हमें आउटपुट के जरिए वह जानकारी दिखाता है जिसका हमने उसे कमांड दिया था। कंप्यूटर की यही तीन कार्यप्रणाली बहुत ही महत्वपूर्ण है और इसी कार्य प्रणाली के आधार पर कंप्यूटर वर्क करता हैं।

कंप्यूटर कैसे चलाते है

कंप्यूटर चलाना बहुत आसान है नीचे बताए गए कुछ निर्देशों का आदेश अनुसार पालन करने के बाद आप कंप्यूटर को बड़ी आसानी से चला सकते हैं।

1. सबसे पहले UPC को ON करें

जब आपके कंप्यूटर को सेटअप किया गया होगा तो कंप्यूटर के प्लग को UPS में लगाया जाता है और यूपीएस का प्लग अप बोर्ड में लगाते है तो सबसे पहले आप अपने यूपीएस का प्लान पॉवर बोर्ड में लगाएं।

2. अब CPU का बटन दबाएँ

जब आप प्लग को पावर में लगा दें तो UPS के बटन को ऑन करें उसके बाद आप CPU के बटन को ऑन करें।

3. अब आप कंप्यूटर का Password इंटर करें

अगर आपने अपने कंप्यूटर में पासवर्ड सेट किया होगा तो आपका कंप्यूटर आप से पासवर्ड मांगेगा तो उस पर पासवर्ड टाइप कर दें।

4. अब आपका कंप्यूटर चालू हो गया है

अब आपका कंप्यूटर चालू हो चुका है अगर अपने अपने कंप्यूटर में पासवर्ड नहीं लगाया है तो दूसरे निर्देश के बाद आपका कंप्यूटर शुरू हो जाएगा। 

Microsoft Word ओपन कैसे करें

दोस्तों अगर आपको कंप्यूटर में माइक्रोसॉफ्ट वर्ड ओपन करना नहीं आता है तो कोई बात नहीं यहां पर हमने शॉर्टकट की के जरिए और कंप्यूटर में स्टेप बाय स्टेप प्रोसेस को पूरा करके एमएस वर्ड को ओपन कर सकते है तो चलिए आगे जानते है कि माइक्रोसॉफ्ट वर्ड को ओपन करने का तरीका क्या है? जिसके बारे में नीचे हमने विस्तार पूर्वक से जानकारी प्रदान की हुई है।

  • एमएस वर्ड को ओपन करने के लिए सबसे पहले आप अपने कंप्यूटर में ‘स्टार्ट’ बटन पर क्लिक करें।
  • इतना करने के बाद आपको ‘ऑल प्रोग्राम’ का एक ऑप्शन दिखाई देगा और आपको इस वाले ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।
  • अब अगर आपके कंप्यूटर में एमएस वर्ड इनस्टॉल होगा तो आपको वहां पर एमएस वर्ड दिखाई देगा और आप उस पर माउस का डबल क्लिक करके ओपन कर सकते हो।

Microsoft Word को शॉर्टकट कीस के जरिए कैसे ओपन करें

  • एमएस वर्ड शॉर्टकट की के जरिए ओपन करने के लिए आपको सबसे पहले Window Key + R बटन को एक साथ प्रेस करें।
  • जैसे ही इतना प्रोसेस कंप्लीट करते हो वैसे ही आपके सामने एक ‘रन डायलॉग बॉक्स खुल कर आएगा।
  • इतना करने के बाद अब आपको विन वर्ल्ड टाइप करके सर्च कर देना है फिर आपके सामने एमएस वर्ड आ जाएगा और आप इस पर क्लिक करके इसे ओपन कर सकते हो।

Microsoft Excel को ओपन कैसे करें

अगर आपको माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल ओपन करना है और आपको समझ में नहीं आ रहा है कि आप अपने कंप्यूटर में माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल को ओपन कैसे कर सकते हो तो कोई बात नहीं यहां पर हमने माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल को ओपन करने का दो बेहतरीन प्रोसेस बताया है जिसकी जानकारी नीचे हमने विस्तार पूर्वक से आपको समझ आई हुई हैं।

  • सबसे पहले आप अपने कंप्यूटर में ‘स्टार्टबटन पर क्लिक करें।
  • अब इतना प्रोसेस कंप्लीट कर लेने के बाद आपको ‘ऑल प्रोग्राम का एक ऑप्शन दिखाई देगा और आपको इस वाले ऑप्शन पर क्लिक कर देना होगा।
  • आप इतना प्रोसेस कंप्लीट कर लेने के पश्चात आपको माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल का लोगो दिखाई देगा और आपको इस वाले ऑप्शन पर क्लिक कर देना होगा जैसे ही आप इतना करते हो वैसे ही आपके कंप्यूटर में माइक्रोसॉफ्ट एक्सल ओपन हो जाता है।

Microsoft Excel को शॉर्टकट कीस के जरिए कैसे ओपन करें

  • अगर आप माइक्रोसॉफ्ट एक्सल को शॉर्टकट की का यूज करके ओपन करना चाहते हो तो इसके लिए आपको अपने कंप्यूटर पर ‘Window Key + R’ बटन को साथ में प्रेस करना होगा।
  • इतना प्रोसेस कंप्लीट कर लेने के पश्चात हम आपके सामनेरन डायलॉग बॉक्सओपन होकर आ जाएगा और आप इसमें किसी भी एप्लीकेशन को या फिर जिस भी कंप्यूटर प्रोग्राम को ओपन करना चाहते हो उसका नाम लिखना होता है और हम यहां पर इस परिस्थिति में माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल लिखेंगे और फिर ‘इंटर बटन पर क्लिक कर देंगे।
  • इतना प्रोसेस कंप्लीट कर लेने के पश्चात आप बड़ी ही आसानी से माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल कंप्यूटर में ओपन करना सीख जाते हो।

कंप्यूटर में कोई भी सॉफ्टवेयर इंस्टॉल कैसे करें

दोस्तों हम कंप्यूटर में अपने आवश्यकता अनुसार तरह-तरह के सॉफ्टवेयर डाउनलोड करते रहते है परंतु बहुत सारे लोगों को कंप्यूटर में कोई भी सॉफ्टवेयर कैसे डाउनलोड किया जा सकता है इसके बारे में जानकारी नहीं होती अगर आपको भी कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर डाउनलोड करने का प्रोसेस नहीं पता है तो कोई बात नहीं नीचे हमारे द्वारा दी गई जानकारी को आप पढ़कर कंप्यूटर में कोई भी सॉफ्टवेयर आसानी से इंस्टॉल कर सकते हो।

  • कंप्यूटर में कोई भी सॉफ्टवेयर डाउनलोड करने के लिए आपको सबसे पहले सॉफ्टवेयर का नाम पता होना चाहिए और आप गूगल पर जाकर सॉफ्टवेयर का नाम लिखकर उसके ऑफिशियल वेबसाइट को ओपन कर लीजिए।
  • किसी भी सॉफ्टवेयर की ऑफिशियल वेबसाइट पर से जाकर उसे इंस्टॉल करना पूरी तरीके से सुरक्षित रहता है।
  • ऑफिशल वेबसाइट पर जाने के पश्चात आपको सॉफ्टवेयर डाउनलोड करने का वहां पर ऑप्शन दिखाई देगा और आपको उस वाले ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपके कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर का सेटअप डाउनलोड होना शुरू हो जाएगा।
  • जैसे कि आपके कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर डाउनलोड हो जाए आप उसे ओपन करें। 
  • अब आपको सॉफ्टवेयर को कंप्यूटर में पूरी तरीके से इंस्टॉल करने के लिए उसे ‘रनकरवाना होगा। 
  • जैसा ही कंप्यूटर में आपके सॉफ्टवेयर रन होने लगेगा वैसे ही सॉफ्टवेयर कंप्यूटर में इंस्टॉल होने का प्रोसेस स्टार्ट हो जाएगा और इस दौरान आपसे सॉफ्टवेयर कुछ परमिशन और इंस्ट्रक्शन भी देने के लिए कहेगा और अब आप सॉफ्टवेयर द्वारा दिए जा रहे इंस्ट्रक्शन को फॉलो करते जाना है।
  • जैसे ही आप सारे इंस्ट्रक्शन को फॉलो कर लेते हो वैसे ही आपके कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर पूरे तरीके से इंस्टॉल हो जाता है और आप इसका यूज कर पाते हो।

कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर अनइनस्टॉल कैसे करें

दोस्तों अगर आपने अपने कंप्यूटर में कोई अननेसेसरी सॉफ्टवेयर डाउनलोड कर लिया है और आप उसे आप अनइनस्टॉल करना चाहते हो परंतु आपको सॉफ्टवेयर को अनइनस्टॉल करने की प्रोसेस नहीं पता है तो कोई बात नहीं अब हम आपको नीचे कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर को अनइनस्टॉल करने की कंपलीट प्रोसेस बताने वाले है और हमारे द्वारा दी गई जानकारी को पढ़कर आप बड़ी ही आसानी से सॉफ्टवेयर को अनइनस्टॉल कर सकते हो।

  • कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर को अनइनस्टॉल करने के लिए आपको ‘स्टार्ट मैन्यू’ पर क्लिक करना होगा।
  •  इतना प्रोसेस कंप्लीट करने के पश्चात आपको यहां पर ‘कंट्रोल पैनल’ का एक ऑप्शन दिखाई देगा और आपको इस वाले ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।
  • जैसे ही आप कंट्रोल पैनल के ऑप्शन पर क्लिक करते हो वैसे ही आपके सामने एक नया इंटरफ़ेस खुलकर आता है और यहां पर आपको कई सारे अलग-अलग ऑप्शन दिखाई देते हैं।
  • सभी ऑप्शन में से आपको ‘प्रोग्राम’ नामक ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप प्रोग्राम वाले ऑप्शन पर क्लिक करते हो वैसे ही आपके सामने ‘Uninstall A Program’ का ऑप्शन दिखाई देगा और आपको इस वाले ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।
  • अब आगे आपको उस सॉफ्टवेयर को चले करना है जिसे आप अनइनस्टॉल करना चाहते हो।
  • सॉफ्टवेयर को सेलेक्ट कर लेने के पश्चात अब आपको आगे की प्रोसेस को कंप्लीट करने के लिए दिखाई दे रहे ‘Uninstall/Change’ नामक दिखाई दे रहे ऑप्शन पर क्लिक कर देना होगा।
  • अब आपको आगे कुछ इंस्ट्रक्शन दिखाई देंगे और आपको इंस्ट्रक्शन को पढ़ना है फिर आपको दिखाई दे रहे ‘नेक्स्ट’ नामक एक बटन पर क्लिक कर देना है।
  • बस इतना प्रोसेस कंप्लीट करते ही कंप्यूटर में जिस भी सॉफ्टवेयर को अनइनस्टॉल करना चाहते हो वह आसानी से अनइनस्टॉल हो जाता हैं।

यह भी पढ़ें

कंप्यूटर से ईमेल कैसे भेजे

अगर आपको कंप्यूटर से ईमेल करना है और आपको समझ में नहीं आ रहा है कि कंप्यूटर से ईमेल कैसे किया जाता है तो कोई बात नहीं यहां पर हमने कंप्यूटर से ईमेल करने से संबंधित कंपलीट प्रोसेस के बारे में विस्तार से जानकारी दी है और आप नीचे दी गई जानकारी को पढ़कर बड़ी ही आसानी से कंप्यूटर के जरिए ईमेल करना सीख सकते हो। बस नीचे दी गई जानकारी को ध्यान से जरूर पढ़ें।

  • अगर आपको कंप्यूटर से ईमेल करना है तो सबसे पहले आपके पास गूगल का अकाउंट होना चाहिए।
  • अब आप अपने कंप्यूटर में ब्राउज़र की सहायता से गूगल को ओपन कर लीजिए।
  • गूगल को ओपन करने के पश्चात आप इसके सर्च बॉक्स में ‘ईमेल लिखिए’ और ‘सर्च बटन’ पर क्लिक कर दीजिए। 
  • अब आपके सामने ऑफिशियल गूगल मेल खुलकर आ जाएगा और आप यहां पर अपने गूगल के जीमेल आईडी और पासवर्ड के जरिए लॉगिन हो सकते हो।
  • अगर आपने कंप्यूटर में अपने गूगल अकाउंट के जरिए लॉगइन किया हुआ है तो आपको जीमेल ओपन करने के लिए लॉगिन आईडी और पासवर्ड की बिल्कुल भी जरूरत नहीं होगी।
  • अब आप ई-मेल के ऑफिशियल इंटरफ़ेस पर चले जाओगे और आपके सामने अनेकों प्रकार के ऑप्शन आपको दिखाई देने लगेंगे।
  • अब आपको जिस किसी को भी ईमेल करना है उसके लिए आपको आपके सामने दिखाई दे रहे ‘कंपोज’ के एक ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • आप यहां पर आपको ईमेल का टाइटल और आपको जिससे ईमेल करना है उसका ईमेल एड्रेस इंटर करने के लिए कहा जाएगा और आप इतना काम कंप्लीट करें।
  • आप यहां पर अगर आपको ईमेल पर कोई भी लिखित रूप से जानकारी किसी और को ईमेल के माध्यम से भेजना है तो आपको यहां पर अपना मैसेज टाइप करना होगा और अगर आपको कोई डॉक्यूमेंट ईमेल के जरिए शेयर करना है तो आपको नीचे ‘अटैचमेंट’ का एक ऑप्शन दिखाई देगा और आपको इस वाले ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप अटैचमेंट वाले ऑप्शन पर क्लिक करोगे वैसे ही आपके कंप्यूटर में फाइल ओपन करने के लिए लोकेशन दिखाई देगा और आपने जहां पर भी अपनी फाइल सेव रखी है उस लोकेशन को आप सेलेक्ट कर लीजिए और ‘ओपन बटन’ पर क्लिक कर दीजिए।
  • जैसे ही आप इतना प्रोसेस कंप्लीट करते हो वैसे ही आपके ईमेल पर फाइल अपलोड हो जाती है और फाइनली ईमेल भेजने के लिए आपको ‘सेंड’ का एक ऑप्शन दिखाई देगा और आपको इस वाले ऑप्शन पर क्लिक कर देना होगा। 
  • बस आप इतना प्रोसेस कंप्लीट करते ही किसी को भी कंप्यूटर के जरिए एक ईमेल भेज सकते हो। 

यह भी पढ़ें

कंप्यूटर के शॉर्टकट कीस

कंप्यूटर में अपने काम को आसानी से करने के लिए बहुत सारे शॉर्टकट की होते है अर्थात ऐसे बटन होते है जिन्हें दबाकर आप अपना कार्य बड़ी आसानी से कर सकते हैं। 

हम आपको नीचे कुछ ऐसे बटन बता रहे है जिन्हें दबाकर आप कंप्यूटर में अपना कार्य जल्द ही पूरा कर सकते हैं। 

  • Ctrl + A – सभी Text को सेलेक्ट करने के लिए इस शॉर्टकट का इस्तेमाल किया जाता है
  • Ctrl + B – Text को बोल्ड करने के लिए
  • Ctrl + F – Find विंडो खोलकर किसी Text को खोजने के लिए
  • Ctrl + H – माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में किसी Text को Find और Replace करने के लिए
  • Ctrl + I – Selected Text को Italic बनाने के लिए
  • Ctrl + J – ब्राउज़र में डाउनलोड देखने के लिए और वर्ड में Text को Align करने के लिए
  • Ctrl + K – माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में Highlighted Text का Hyperlink बनाने के लिए
  • Ctrl + M – वर्ड प्रोसेसर में Selected वर्ड को आगे खिसकाने के लिए
  • Ctrl + N – नया पेज या Document बनाने के लिए
  • Ctrl + U – Selected Text को अंडरलाइन करने के लिए
  • Ctrl + V – copy किए गए Text को पेस्ट करने के लिए
  • Ctrl + W – Selected Text को कट करने के लिए
  • Ctrl + X – Selected Text को कट करने के लिए
  • Ctrl + Y – किसी भी कार्य को Redo और Undo करने के लिए
  • Ctrl + Z – किसी भी कार्य को Undo करने के लिए
  • Ctrl + End – कर्सर को डॉक्यूमेंट के End में ले जाने के लिए
  • Ctrl + PgDn – अगला Tab खोलने के लिए
  • Ctrl + Esc – कंप्यूटर के स्टार्ट मेनू को खोलने के लिए
  • Ctrl + Delete – अगले वर्ड को डिलीट करने के लिए
  • Ctrl + Shift + Esc – टास्क मैनेजर खोलने के लिए

कम्प्यूटर को बंद कैसे करें

अगर आप ऊपर बताए गए निर्देशों का पालन करेंगे तो आपका कंप्यूटर शुरू हो जाएगा अपने कंप्यूटर को बंद करने के लिए और नीचे बताए गए निर्देशों का आदेश अनुसार पालन करें। 

  • आपके कंप्यूटर में बाएं ओर सबसे निचले कोने में स्टार्ट का एक बटन होगा जिस बटन पर क्लिक करते हीआपके समक्ष दाएं ओर पावर बटन का विकल्प आएगा। 
  • जब आप पावर बटन पर क्लिक करेंगे तो आपके समक्ष शट डाउन का विकल्प आ जाएगा जिस पर क्लिक करते ही आपका कंप्यूटर बंद हो जाएगा।
  • कंप्यूटर बंद होते वक्त शटिंग डाउन लिखता है अगर आप Alt + F4 का बटन दबाते है तो ये कंप्यूटर को बंद करने का shortcut हैं।

कंप्यूटर के विशेषताएँ

अगर आपसे कोई कंप्यूटर के फीचर्स के बारे में जानकारी पूछे तो शायद आप बता नहीं पाओगे परंतु आपको खुद भी कंप्यूटर चलाने से पहले आपको इसके फीचर्स के बारे में पूरी जानकारी मालूम होनी चाहिए क्योंकि यह आपके काफी काम की हो सकती है। कंप्यूटर के फीचर्स के बारे में जानने के लिए नीचे दी गई जानकारी को ध्यानपूर्वक से पढ़े।

  • कंप्यूटर काफी तीव्रता से कार्य करने की क्षमता रखता हैं।
  • कंप्यूटर कभी भी कोई भी गलती नहीं करता और यह पूरी सटीकता से अपना काम करता हैं।
  • अगर आपको किसी भी काम को करने के लिए 10 आदमी की जरूरत है जो कंप्यूटर से अकेले ही नहीं बल्कि 100 आदमियों का काफी आसानी से कर सकता हैं।
  • कंप्यूटर के बिना थके और बिना रुके आसानी से काम करने की क्षमता रखता हैं।
  • अगर आप कंप्यूटर में कोई जानकारी फीड कर देते हो और कंप्यूटर को उसी इंस्ट्रक्शन पर काम करने के लिए कहते हो तो कंप्यूटर ऑटोमेशन पर काम करता है और उसमें गलती होने की भी संभावना नहीं होती हैं।
  • कंप्यूटर एक साथ अनेकों प्रकार के काम को आसानी से कर सकता हैं।

कंप्यूटर को चलाना कैसे सीखे 

आपको कंप्यूटर चलाना सीखना है तो यहां पर हमने कंप्यूटर चलाने के बारे में दो बेहतरीन निशुल्क माध्यम के बारे में जानकारी दी हुई है। हमारे द्वारा दी गई जानकारी को पढ़कर आप बड़ी ही आसानी से फ्री में कंप्यूटर चलाना सीख सकते हैं।

1. यूट्यूब के जरिए 

दोस्तों आप यूट्यूब के जरिए कंप्यूटर चलाना सीख सकते हो। आजकल यूट्यूब पर कंप्यूटर चलाने से संबंधित अनेकों प्रकार के वीडियो कंटेंट उपलब्ध है और आप अपने क्वायरी के अनुसार यूट्यूब पर कंप्यूटर चलाने से संबंधित वीडियो देखकर कंप्यूटर चलाना फ्री में सीख सकते हो।

2. गूगल के जरिए

दोस्तों अगर आप टेक्सुअल जानकारी चाहते हो तो ऐसे में आपके लिए कंप्यूटर सीखने के लिए गूगल सबसे बेस्ट ऑप्शन हो सकता है और यहां पर आप अपने क्वायरी अनुसार जानकारी गूगल पर सर्च कर सकते हो और टेक्स्ट के रूप में जानकारी को पढ़कर कंप्यूटर चलाना फ्री में सीख सकते हो। आज के समय में कंप्यूटर चलाने से संबंधित और कंप्यूटर प्रॉब्लम से संबंधित अनेकों प्रकार के टेक्स्ट कंटेंट बेस्ट से बेस्ट आसान भाषा में आपको आसानी से मिल जाएंगे। 

कंप्यूटर कोर्सेज इन हिंदी

दोस्तों अगर आप कंप्यूटर में कोई कोर्स करना चाहते हो या फिर कोई डिप्लोमा हासिल करना चाहते हो तो यहां पर हमने कुछ कंप्यूटर कोर्सेज की जानकारी सूची के माध्यम से दी हुई है और आप इस जानकारी को पढ़कर अपने अनुसार कोई भी कंप्यूटर का कोर्स आसानी से कर सकते हो। 

  • हार्डवेयर मेंटेनेंस
  • टैली
  • वीएफएक्स एंड एनीमेशन
  • वेब डिजाइनिंग
  • माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस एंड टाइपिंग कोर्स
  • साइबर सिक्योरिटी कोर्स
  • डिप्लोमा इन आईटी एंड कंप्यूटर साइंस
  • सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग

ध्यान दें: कुछ इसी प्रकार के कई अन्य कंप्यूटर कोर्सेज आज के समय में ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही तरीके से उपलब्ध है और आप जैसे चाहो वैसे अपने रिक्वायरमेंट के अनुसार कंप्यूटर कोर्स कर सकते हो।

टॉप 5 ऑनलाइन कंप्यूटर बेसिक कोर्स

आज के समय में कंप्यूटर के उपयोगिता को देखते हुए अगर आपने इसका कोई भी बेसिक कोर्स नहीं किया तो समझ लीजिए आप बहुत बड़ी गलती कर रहे है, क्योंकि आज के समय में हर एक व्यक्ति को कंप्यूटर की बेसिक जानकारी का होना बेहद जरूरी है। आप कहीं पर भी कोई नौकरी करने जाओगे तो आपको सबसे पहले कुछ कंप्यूटर की बेसिक जानकारी के बारे में पूछा जा सकता है इसीलिए आपको कंप्यूटर के कुछ बेसिक कोर्स करना अनिवार्य है और हम यहां पर आप सभी लोगों को 5 बेहतरीन ऑनलाइन कंप्यूटर के बेसिक कोर्स के बारे में जानकारी देंगे और यह कोर्स बिल्कुल फ्री में आप आसानी से कर सकते हो और इन कोर्स के बारे में जानने के लिए नीचे दी गई जानकारी को ध्यान से पढ़ें।

1. कंप्यूटर का परिचय: हार्डवेयर एंड सॉफ्टवेयर

कंप्यूटर के इस बेसिक कोर्स के अंतर्गत आपको कंप्यूटर के परिचय के बारे में पूरी जानकारी दी जाएगी और साथ ही में आपको कंप्यूटर के हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बारे में भी डिटेल में जानकारी को समझाया जाएगा। कंप्यूटर का बेसिक कोर्स इसी पाठ से प्रारंभ होता हैं।

2. ऑपरेटिंग एवं उनके प्रकार का परिचय

इस दूसरे नंबर के कोर्स के अंतर्गत आपको कंप्यूटर के ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में पूरी डिटेल जानकारी प्रदान की जाएगी और साथ ही में आपको बताया जाएगा कि कंप्यूटर के ऑपरेटिंग सिस्टम कितने प्रकार के होते है और आपको इसके बारे में जानना बेहद जरूरी हैं।

3. वर्ल्ड वाइड वेब का परिचय

कंप्यूटर के इस बेसिक कोर्स के अंतर्गत आपको वर्ल्ड वाइड वेब के बारे में पूरी जानकारी दी जाएगी यानी कि आपको इंटरनेट से संबंधित सभी प्रकार की आवश्यक जानकारी के बारे में सब कुछ सिखाया जाएगा और यह सब कुछ आप बिल्कुल ऑनलाइन से सीख पाओगे।

4. कंप्यूटर का संचालन और नेटवर्क

आप यहां पर कंप्यूटर के संचालन और उसकी नेटवर्किंग सिस्टम को आसानी से सीख पाओगे। आजकल कंप्यूटर के एंट्रेंस एग्जाम और कई सारे इंटरव्यू में कंप्यूटर का संचालन और नेटवर्किंग के बारे में जानकारी पूछी जाती है और आपको इसके बारे में पूरा पता होना बेहद जरूरी है और आपको इस कोर्स में यह सब कुछ सीखने को मिलने वाला हैं।

5. इंटरनेट और इसके अनुप्रयोग

आपको कंप्यूटर के इस कोर्स के अंतर्गत इंटरनेट और इसके अनुप्रयोग के बारे में पूरी जानकारी को डिटेल में समझाया जाएगा और आपको आज के समय में कंप्यूटर से संबंधित इंटरनेट और इसके अनुप्रयोग के बारे में जानकारी का होना बेहद जरूरी है और आपको इस कोर्स के अंतर्गत इन सभी चीजों के बारे में डिटेल से जानकारी पढ़ने को मिलेगी और आपको इनके बारे में अच्छे से समझाया भी जाएगा।

कंप्यूटर चलाने के फायदे

दोस्तों क्या आपको पता है कि कंप्यूटर चलाने के क्या-क्या फायदे हो सकते है? अगर आपको नहीं पता तो कोई बात नहीं हम यहां पर आपको कंप्यूटर चलाने के कुछ बेहतरीन फायदों के बारे में बताएंगे और इसके लिए आप नीचे दी गई जानकारी को विस्तार पूर्वक से पढ़ें।

  • अगर आपको कंप्यूटर चलाना आता है तो आपको आसानी से कहीं भी प्राइवेट या फिर गवर्नमेंट  फील्ड में कोई भी जॉब मिल सकती है।
  • आप घर बैठे सभी आवश्यक कार्यों को ऑनलाइन भी कर सकते हो और वह सब कुछ अपने कंप्यूटर की सहायता से आप बड़ी ही आसानी से कर पाओगे।
  • आप कहीं पर भी कंप्यूटर की छोटी मोटी दुकान खोल सकते हो और उससे पैसा कमा करते हो या फिर आप कंप्यूटर सेंटर भी खोल के कंप्यूटर सीखने वाले लोगों को कंप्यूटर के कोर्स को पढ़ा करके अच्छा पैसा कमा सकते हो।
  • आज आप अपने कंप्यूटर का घर बैठे यूज करके आसानी से ऑनलाइन पैसा भी कमा सकते हो।
  • आप कंप्यूटर की सहायता से अनेकों प्रकार के काम को आसानी से कुछ ही समय में निपटा सकते हो।
  • अगर आपको मैन्युफैक्चरिंग या फिर प्रोडक्शन के काम को ज्यादा से ज्यादा करना है तो आप कंप्यूटर में ऑटोमेशन का यूज करके इस काम को आसानी से बहुत ही कम लोगों को काम पर लगा कर समय पर काम पूरा कर सकते हो।
  • आज आप कंप्यूटर की सहायता से घर बैठे ऑनलाइन शिक्षा ग्रहण कर सकते हो और किसी भी कोर्सेज को कर सकते हो।

कंप्यूटर चलाने के नुकसान

जिस प्रकार से कंप्यूटर चलाने की अपनी बहुत सारे फायदे हो सकते है ठीक उसी प्रकार से कंप्यूटर चलाने की कुछ अपने नुकसान भी है और अगर आपको कंप्यूटर चलाने के नुकसान के बारे में जानना है तो नीचे दी गई जानकारी को ध्यान से पढ़ें।

  • अगर आप ज्यादा से ज्यादा देर तक कंप्यूटर चलाते हो तो आपके आंखों में और आपके सिर में दर्द हो सकता हैं।
  • कंप्यूटर चलाने से आपको दृष्टि दोष भी हो सकता हैं।
  • आजकल कंप्यूटर का यूज़ स्टूडेंट ज्यादा करते है परंतु वे पढ़ाई करने के अलावा कुछ और ही काम कंप्यूटर पर करने लगते है और उनका ध्यान पढ़ाई में धीरे-धीरे हटने लगता हैं।
  • जब आप ज्यादा से ज्यादा कंप्यूटर चलाने लगते हो और कंप्यूटर पर काम करने के लिए खुद को  निर्भर कर देते है तब हम बिना कंप्यूटर के कोई भी कार्य नहीं कर पाते और और हमारी मानसिक बुद्धिमता में भी कमी आती हैं।

कंप्यूटर चलाने के बारे में पूछे जाने वाले प्रश्न

यहाँ पर मैंने ऐसे कुछ सवालों के जवाब दिए है जो की अक्सर लोग कंप्यूटर चलने के बारे में पूछते रहते हैं।

Q. कंप्यूटर की खोज किसने की?

कंप्यूटर किसी एक व्यक्ति के द्वारा खोजा नहीं की मगर आज के कंप्यूटर का चित्र और इसे बनाने के लिए जरूरी यंत्रों का खोज चार्ल्स बबेज ने किया था जिस वजह से कंप्यूटर को बनाने का श्रेय हम चार्ल्स बबेज को देते हैं।

Q. कंप्यूटर का पिता कौन हैं?

कंप्यूटर में सभी जरूरी खोज करने की वजह से हम कंप्यूटर के पिता का श्रेय चार्ल्स बबेज को देते हैं।

Q. कंप्यूटर में इनपुट डिवाइस किसे कहते हैं?

कंप्यूटर के बहुत सारे यंत्र जिनकी मदद से हम कंप्यूटर को निर्देश देने का कार्य करते हैं उसे हम कंप्यूटर का इनपुट डिवाइस कहते हैं।

Q. कंप्यूटर में आउटपुट डिवाइस किसे कहते हैं?

कंप्यूटर के वह सभी यंत्र जिनसे हमें हमारे निर्देश के बाद रिजल्ट मिलता है उसे हम आउटपुट डिवाइस कहते हैं।

Q. कंप्यूटर का सबसे अहम पार्ट कौन सा होता हैं?

कंप्यूटर में बहुत सारे यन्त्र जुड़े होते है और कंप्यूटर के विभिन्न कार्य में मदद करते है मगर कंप्यूटर के सीपीयू को हम कंप्यूटर का दिमाग कहते है जो कंप्यूटर के निर्देश को इकट्ठा करना और उन निर्देशों पर कार्य करता है। तू कंप्यूटर का दिमाग यानी CPU सबसे अहम होता हैं।

निष्कर्ष

अगर आपको Computer Kaise Chalate Hai लेख हेल्पफुल रहा है तो फिर आप यह लेख अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करना। इसके अलावा अगर आपको इस लेख से सम्बंधित कोई भी जानकारी चाहिए तो उसके लिए आप निचे कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

Abhishek Maurya

मेरा नाम अभिषेक मौर्य है और मैं उत्तर प्रदेश वाराणसी डिस्ट्रिक्ट का रहने वाला हूं और मैं एक दिव्यांग हूं। मुझे अलग-अलग विषयों पर आर्टिकल लिखना बहुत अच्छा लगता है और इसी को मैंने अपना जुनून बनाया है। मैं पिछले 3 वर्षों से आर्टिकल लेखन का कार्य कर रहा हूं। आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख कैसे लगते हैं? आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। मेरा भी एक हिंदी ब्लॉग है जिस पर मैं रिलेशनशिप के ऊपर आर्टिकल लिखता हूं जिसका यूआरएल इस प्रकार से है। माय वेबसाइट यूआरएल - https://hindibaatchit.com/

Leave a Reply